विज्ञापन

लुधियाना

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पंजाब: लुधियाना में दो दिन से लापता युवक का शव मिला, बटाला में झाड़ियों में लाश मिलने से सनसनी

लुधियाना के नूरवाला गांव के नजदीक सोमवार को उस समय सनसनी फैल गई, जब दो दिनों से लापता युवक का शव संदिग्ध हालात में बरामद हुआ। राहगीरों ने युवक का शव देखते ही थाना मेहरबान की पुलिस को सूचित कर दिया। पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। 

मृतक की पहचान फिल्लौर निवासी 26 वर्षीय सचिन भट्टी के रूप में हुई है। थाना मेहरबान के एसएचओ हरप्रीत सिंह ने बताया कि युवक अपने पिता के साथ ही काम करता था। वह 16 अप्रैल को घर से अपनी बहन की एक्टिवा पर जॉब के लिए इंटरव्यू देने निकला था। उस समय वह अपना मोबाइल भी घर पर ही छोड़ गया था। जब वह घर नहीं पहुंचा तब उसके परिजन ढूंढने निकले लेकिन सोमवार को उसका शव नूरवाला गांव के नजदीक क्षत-विक्षत हालत में मिला है। 

पुलिस की टीम ने मौके पर जाकर देखा कि मृतक के शव पर कोई घाव नहीं मिला। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। मंगलवार को मेडिकल बोर्ड पोस्टमार्टम करेगा। मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा।

बटाला में रेलवे लाइन के पास झाड़ियों में शव मिला
बटाला के मुर्गी मोहल्ला के नजदीक रेलवे लाइन के पास सोमवार को झाड़ियों में एक अज्ञात युवक का शव बरामद हुआ। मौके पर पहुंची बटाला जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। खबर लिखे जाने तक रेलवे पुलिस जांच पड़ताल में जुटी रही। इस संबंध में जीआरपी प्रभारी गुरनाम सिंह ने बताया कि सोमवार शाम को लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि एक युवक का शव झाड़ियों में पड़ा है। उन्होंने बताया कि मृतक युवक की उम्र करीब 30 साल है। इस संबंध में 174 की कार्रवाई की गई है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों की पुष्टि हो सकेगी।
... और पढ़ें

लुधियाना: तेजधार हथियार से हमला कर रियल एस्टेट कारोबारी की पत्नी को किया अगवा, कीमती सामान लूटा, गाड़ी लेकर भागे

लुधियाना के केसरगंज मंडी में व्यापारी से लूट की वारदात अभी सुलझी भी नहीं थी कि बाइक सवार लुटेरों ने सिविल लाइन स्थित होटल सिल्वर सपून के बाहर रियल एस्टेट कारोबारी पर हमला कर उसकी पत्नी और पिता को अगवा कर लिया। आरोपियों ने पिता को भी मारपीट कर गाड़ी से उतार दिया और पत्नी को करीब दो घंटे तक घुमाते रहे और उसे जगरांव पुल पर छोड़ कर फरार हो गए। 

भागने से पहले लुटेरे लाखों के जेवरात, मोबाइल फोन और एप्पल की घड़ी ले गए। पुलिस ने इस मामले में रियल एस्टेट कारोबारी न्यू टैगोर नगर निवासी सन्नी गोयल की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ अपहरण और गाड़ी लूटने का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मंगलवार की शाम मुंडियां कलां इलाके से गाड़ी बरामद कर ली। रियल स्टेट कारोबारी सन्नी गोयल ने बताया कि उसके चचेरे भाई की शादी है और सोमवार की रात महिला संगीत का समारोह था। समारोह के बाद वह पत्नी, माता-पिता और बहन के साथ घर चला गया, ताकि मां और बहन को छोड़ दे।
... और पढ़ें

लुधियाना में बड़ी वारदात: अकाली नेता ने साथियों के साथ मिलकर कांग्रेस नेता को पीट-पीटकर मार डाला, इलाका पुलिस छावनी में तब्दील

पंजाब के लुधियाना में रविवार देर शाम अकाली नेता व उसके साथियों ने कांग्रेस के वार्ड प्रधान मंगत राय को पीट-पीटकर मार डाला। पुलिस ने मामले में अकाली दल के जिला महासचिव परमजीत सिंह पम्मा, सुमित अरोड़ा और रंजीत बजाज समेत अन्य लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। देर रात पुलिस ने अकाली नेता पम्मा को हिरासत में ले लिया है, जबकि बाकी आरोपी फरार हैं।

स्वतंत्र नगर निवासी मंगत राय कांग्रेस के वार्ड 12 के प्रधान थे। उनका परमजीत सिंह और उसके साथियों से पुराना विवाद चल रहा है। मंगत के साथियों का आरोप कि पम्मा इलाके के निर्माणाधीन बिल्डिंग की शिकायतें करता रहता था। पहले भी उसकी कई बार इलाके के लोगों के साथ मारपीट हो चुकी थी। 

रविवार शाम मंगत राय इलाके में बन रहे मंदिर के बाहर बैठा था। इसी दौरान परमजीत सिंह पम्मा दोनों साथियों के साथ वहां आया। किसी बात पर उनमें फिर बहस हो गई। इसी दौरान पम्मा के कुछ साथी डंडे और लाठियां लेकर वहां पहुंचे। उन्होंने पहले मंगत राय को लाठियों-डंडों से पीटा और उसके बाद उसकी बाइक को क्षतिग्रस्त कर दिया। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए और इलाके के लोग घायल मंगत को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत बता दिया।
... और पढ़ें

Punjab News: आर्मी कैंप का वीडियो बनाने वाले तीन युवक काबू, पूछताछ में नहीं दे सके संतोषजनक जवाब

पंजाब के जगरांव में चोरी छिपे आर्मी कैंप का वीडियो बनाने के आरोप में थाना सिधवां बेट पुलिस ने तीन बाइक सवार युवकों को काबू कर मामला दर्ज किया है। थाना सिधवां बेट के एएसआई राजविंद्रपाल सिंह ने बताया आर्मी कैंप के प्रभारी अधिकारी मज विकास पैतरों ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि जब वह अपने कैंप में मौजूद थे तो उन्होंने देखा कि तीन युवक चोरी छिपे अपने मोबाइल से आर्मी कैंप का वीडियो बना रहे हैं। 

उनके मुताबिक दो युवक मोटरसाइकिल और एक युवक साइकिल पर था। उन्होंने अपने साथी आर्मी कर्मियों की सहायता से जब युवकों को काबू कर आर्मी कैंप का वीडियो बनाने के बारे में पूछा तो वह तीनों युवक कोई भी संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके। इसके बाद उन्होंने इस सारी घटना की जानकारी थाना सिधवां बेट पुलिस को दी। 

एएसआई राजविंद्रपाल सिंह ने बताया कि जब पुलिस ने तीनों आरोपियों को काबू कर उनसे सख्ती से पूछताछ की गई तो तीनों ने अपनी पहचान हरप्रीत सिंह, अर्शदीप सिंह और बिहार के रहने वाले रंजन कुमार के रूप में बताई। पुलिस ने आर्मी कैंप प्रभारी अधिकारी मज विकास पैतरों की शिकायत के आधार पर चोरी छिपे आर्मी कैंप का वीडियो बनाने के आरोप में मामला दर्जकर मामले की गंभीरता से जांच शुरू कर तीनों के बैकग्राउंड को खंगाल रही है।
... और पढ़ें
सांकेतिक सांकेतिक

Suicide case in Ludhiana: 32 वर्षीय युवक ने नहर किनारे पेड़ से फांसी लगाई, वीडियो वायरल होने पर चला पता

पंजाब के लुधियाना में एक 32 वर्षीय युवक ने नहर किनारे पेड़ से फंदा लगा आत्महत्या कर ली। घटना का पता उस समय चला जब एक राहगीर वहां से निकल रहा था तो उसने वीडियो बनाकर इसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया और कंट्रोल रूम को सूचना दी। सूचना मिलने के बाद थाना डेहलों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। मृतक मंजीत सिंह गांव शंकर का रहने वाला था। पुलिस ने घटना की सूचना परिवार को दी।

जांच के बाद पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है। थाना डेहलों के एसएचओ परमदीप सिंह ने बताया कि मंजीत सिंह गांव शंकर का रहने वाला था और वहीं पर उसकी गाड़ी की एसी रिपेयरिंग की दुकान थी। पिछले कुछ दिनों से उसका परिवार के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा चल रहा था। 

गुरुवार की सुबह भी उसका घरेलू बातों को लेकर परिवार के साथ झगड़ा हुआ और वह परिवार से झगड़ा करने के बाद बैग पैक कर अपनी जेन कार लेकर घर से निकला था। उसके बाद वह सीधे कैंड नहर के पास पहुंचा और गाड़ी खड़ी करने के बाद रस्सी के सहारे पेड़ से लटककर जान दे दी। उन्होंने बताया कि मृतक के कब्जे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। वीडियो वायरल होने और कंट्रोल रूम से सूचना मिलने के बाद वह मौके पर पहुंचे और वहां से कागजात के जरिये परिवार वालों को पता लगाया गया है। जांच की जा रही है, जांच के बाद पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंपा जाएगा।
... और पढ़ें

झकझोर देने वाली वारदात: कुकर्म के बाद चार साल के बच्चे की निर्मम हत्या, परिवार के साथ ढूंढने का नाटक करता रहा आरोपी

पंजाब के लुधियाना में रविवार शाम उस समय दहशत का माहौल बन गया जब चार साल के एक बच्चे को खेलते समय उसका एक जानकार अपने साथ फैक्टरी में ले गया और कुकर्म के बाद उसका मुंह दबाकर निर्मम हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी ने बच्चे का शव हाल में पड़े कपड़े के थान के नीचे दबा दिया। इसके बाद आरोपी ऐसे घूमने लगा जैसे कुछ हुआ ही नहीं। 

वारदात का पता उस समय चला जब बच्चे की मां उसे ढूंढने लगी लेकिन बच्चा नहीं मिला। इसकी जानकारी पुलिस को दी। सूचना मिलते ही थाना सलेम टाबरी की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने जब आसपास के सीसीटीवी कैमरे जांचे तो पता चला कि आरोपी अजय ही अपने साथ बच्चे को लेकर फैक्टरी की तरफ गया था। इसके बाद पता चला कि बच्चे का शव फैक्टरी की पहली मंजिल पर बने हाल में कपड़े के थान के नीचे दबा है। थाना सलेम टाबरी की पुलिस ने आरोपी अजय को काबू कर लिया और शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। 

थाना सलेम टाबरी के एसएचओ कुलवंत सिंह ने बताया कि बच्चे का पिता मूलरूप से बिहार का रहने वाला है। पति-पत्नी एक होजरी फैक्टरी में काम करते हैं और वहीं बने कमरे में तीनों रहते थे। कुछ दिन पहले ही पति गांव गया था। पत्नी बेटे के साथ रह रही थी। आरोपी अजय का एक दोस्त उसी फैक्टरी में काम करता था, जिससे मिलने आरोपी फैक्टरी में आता-जाता था। 
... और पढ़ें

हैवानियत: तीन महीने तक नाबालिग से करता रहा दुष्कर्म, पेट में दर्द हुआ तो खुला बड़ा राज

पंजाब के लुधियाना में एक युवक ने पड़ोस में रहने वाली नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। आरोपी धमकी देकर नाबालिग के साथ तीन महीने तक दुष्कर्म करता रहा। जब नाबालिग के पेट में दर्द हुआ तो सिविल अस्पताल में जांच करवाई गई तो पता चला कि वह गर्भवती है। इसके बाद परिवार ने इसकी जानकारी थाना टिब्बा की पुलिस को दी। 

पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्जकर लिया है। एसआई ने बताया कि आरोपी मोहित डरा धमका कर पीड़िता से काफी समय से दुष्कर्म कर रहा था। डरते हुए पीड़िता ने किसी को बताया भी नहीं था। कुछ दिनों पहले पीड़िता के पेट में दर्द हुआ था।

परिवार वाले सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे तो जांच में वह डेढ़ महीने की गर्भवती निकली। इसके बाद परिवार वालों के पूछने पर उसने सारी बात बताई। इसके बाद पुलिस को शिकायत दी गई और पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पर केस दर्जकर काबू कर लिया है।
... और पढ़ें

लुधियाना: मामूली कहासुनी के बाद चले ईंट-पत्थर, गैंगस्टर जिंदी ने चलाई गोलियां, घर के बाहर खड़ा बुजुर्ग घायल

सांकेतिक तस्वीर
लुधियाना के शक्ति नगर इलाके में शनिवार देर रात को गैंगस्टर जिंदी ने अंधाधुंध गोलियां चलाईं। इससे पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया। मामूली बात पर हुई कहासुनी के बाद दो गुटों में ईंट पत्थर चले और बाद में गैंगस्टर जिंदी ने साथियों के साथ गोलियां चला दीं। एक गोली घर के बाहर खड़े व्यक्ति को जा लगी। जिससे वह बुरी तरह से घायल हो गया। उसे निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया। बाद में आरोपी धमकियां देते हुए फरार हो गए। सूचना के बाद पुलिस अधिकारी सहित थाना टिब्बा की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को मौके से गोलियों के आठ खोल बरामद हुए हैं। मामले में पुलिस ने करण शर्मा की शिकायत पर जतिंदर उर्फ जिंदी, लाडी, डंग और अज्ञात पर हत्या के प्रयास, घर में घुसकर मारपीट और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

करण शर्मा ने बताया कि वह अपने दोस्त सैंडी के साथ एक ही फैक्टरी में काम करता है। शनिवार रात को दोनों बाइक पर घर पर आए थे। सैंडी उसे घर के बाहर छोड़कर जाने वाला था। उसने बाइक रोकी तो पीछे से स्कोडा गाड़ी आई जिसमें आरोपी बैठे थे। उन्होंने बाइक साइड पर करने के लिए कहा, तो करण ने कहा कि उसका घर है, वह उतर रहा है। इस पर कार सवारों ने गालियां देनी शुरू कर दीं। आवाजें सुन इलाके वाले बाहर आ गए। यह देखकर आरोपी गाड़ी छोड़ कर चले गए थे।

दस मिनट बाद आरोपी अपने अन्य साथियों के साथ मौके पर आए और ईंट-पत्थर चलाने लगे। करण का कहना है कि वह जान बचाने के लिए अपने घर में चला गया तो आरोपियों ने सीधी फायरिंग शुरू कर दी। उसके घर के अंदर भी आरोपियों ने गोलियां चलाईं। फायरिंग की आवाज सुन पड़ोस में रहने वाले बुजुर्ग महिंदर सिंह घर के बाहर देखने के लिए आए थे तो एक गोली उनकी जांघ पर जाकर लग गई। वह घायल होकर नीचे गिर गए थे। करण का कहना है कि आरोपियों ने 15 से 16 फायर किए। जिसके बाद कुछ खोल आरोपी साथ उठाकर ले गए, मगर पुलिस जांच के दौरान आठ खोल मौके से बरामद हुए हैं।

घर के अंदर की तोड़फोड़, पत्थर मार शीशे तोड़े

करण का कहना है कि जब वह अपनी जान बचाने के लिए घर के अंदर भागा तो आरोपी उसके घर के अंदर दाखिल हो गए। इसके बाद आरोपियों ने उसके घर के अंदर भी गोलियां चलाई और ईंट-पत्थर मारकर घर का सामान तोड़ दिया। खिड़की और दरवाजों के शीशे तक तोड़ दिए।

क्या कहते हैं पुलिस अधिकारी

थाना टिब्बा रोड के एसएचओ इंस्पेक्टर रणबीर सिंह ने बताया कि इस मामले में तीन आरोपियों को नामजद कर कई अज्ञात पर केस दर्ज किया गया है। मौके से गोलियों के खोल बरामद हुए हैं। आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमें दबिश दे रही हैं। जल्द आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 
... और पढ़ें

लुधियाना में सुलझी दोहरे कत्लकांड की गुत्थी: छोटे बेटे के एनआरआई साले ने दिया था वारदात को अंजाम, बहन को ससुराल वाले करते थे परेशान

लुधियाना के पाश इलाके भाई रणधीर सिंह नगर इलाके में रिटायर्ड आयकर अधिकारी सुखदेव सिंह (68) और उसकी पत्नी गुरप्रीत कौर (62) की हत्या के मामले की गुत्थी को कमिश्नरेट पुलिस ने सुलझा लिया है। वारदात को अंजाम उनके छोटे बेटे के एनआरआई साले ने अंजाम दिया था। पुलिस ने जांच के दौरान सामने आए क्लू के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। 

आरोपी की पहचान गांव गिल निवासी जसदेव सिंह नगर निवासी चरणझीत सिंह उर्फ जगदेव के रुप में हुई है। आरोपी ब्रिटिश नागरिक है और लंदन में रहता है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से तेजधार हथियार भी बरामद कर लिया है जिससे वारदात को अंजाम दिया गया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है।

पुलिस कमिश्नर डॉ. कौस्तभ शर्मा ने बताया कि सुखदेव सिंह का छोटा बेटा जगमोहन सिंह भी कनाडा में रहता है। उसकी शादी 2008 में आरोपी चरणजीत की बहन के साथ हुई थी। शादी के बाद वह भी विदेश में चली गई। पुलिस के मुताबिक जगमोहन की बहन को ससुराल वालों की तरफ से तंग किया जाता था। दोनों परिवारों का आपसी कोई मतभेद था। सुखदेव सिंह का बेटा जगमोहन पहले यूके में रहा और कुछ समय पहले कनाडा में चला गया था। परिवार में काफी विवाद था। चरणजीत सिंह इस विवाद और बहन की परेशानी के पीछे सुखदेव और गुरप्रीत कौर का हाथ मानता था। जिस कारण वह उन्हें रास्ते से हटाना चाहता था। 

लंदन में ही पैदा हुआ, वहीं की सारी पढ़ाई और शादी लुधियाना में की

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि आरोपी चरणजीत सिंह लंदन में ही पैदा हुआ था और वहीं उसने सारी पढ़ाई की। वह लंदन यूनिर्वसिटी से बीएससी की पढ़ाई पूरी की। 2017 में उसकी शादी हुई और वह लुधियाना में शादी कराने के लिए ही आया था। जिसके बाद वह वापिस चला गया। कोरोना के चलते वह वापिस नहीं आ सका और जनवरी 2022 में दोबारा लुधियाना में आया था और ससुराल वालों के पास जसदेव सिंह नगर में रह रहा था।  
... और पढ़ें

दुश्मन न करे दोस्त ने वो काम किया: पहले उतारा मौत के घाट फिर आरी से शव के टुकड़े कर डाले, वजह बेहद मामूली

लुधियाना में वारदात: रिटायर्ड इनकम टैक्स अधिकारी और पत्नी की हत्या, बेटी ने फोन पर सुनीं चीखें

लुधियाना के पॉश इलाके भाई रणधीर सिंह नगर में बुधवार देर रात को आयकर विभाग के रिटायर्ड अधिकारी और उनकी पत्नी की हत्या कर दी गई। आरोपी ने तेजधार हथियार से दोनों का गला काटा और वारदात को अंजाम दे फरार हो गया। मृतकों की पहचान सुखदेव सिंह (68) और उनकी पत्नी गुरप्रीत कौर (62) के रुप में हुई है। बताया जा रहा है कि जिस समय वारदात हुई उस समय सुखदेव सिंह अपनी बेटी से बात कर रहे थे। अचानक से चीख पुकार मची और फोन कट गया। कुछ समय बाद सुखदेव सिंह की बेटी पति के साथ घर पहुंची तो माता पिता के खून से लथपथ शव पड़े थे। उन्होंने तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी। 

सीएम दौरे से एक दिन पहले लुधियाना में बड़ी वारदात के बाद पुलिस विभाग में हलचल मच गई। पुलिस कमिश्नर डॉ. कौस्तुभ शर्मा, डीसीपी वरिंदर सिंह बराड़ के साथ साथ अन्य पुलिस अधिकारी और टीमें जांच के लिए मौके पर पहुंची। पुलिस ने जांच के बाद दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी की एंट्री गेट से हुई है और वह दीवार फांद कर फरार हुआ है। बाकी सीसीटीवी कैमरे चेक किए जा रहे है ताकि कोई सुराग मिल सके। 

सुखदेव सिंह अपनी पत्नी गुरप्रीत कौर के साथ अकेले रहते थे। उनका बड़ा बेटा स्काटलैंड में जबकि छोटा बेटा कनाडा के ओंटारियो शहर में रहता है। बेटी की अग्र नगर में ससुराल है। बुधवार रात को सुखदेव सिंह अपनी बेटी के साथ फोन पर बात कर रहे थे। इसी दौरान घर की बैल बजी और सुखदेव सिंह ने दरवाजा खोला। इसके बाद बेटी का फोन होल्ड करवा सुखदेव उस व्यक्ति से बात करने लगे। बातें करते करते ही अचानक से चीखने की आवाजें आने लगी। बेटी उधर से चिल्लाती रही कि कौन है मगर कोई जवाब नहीं आया। बेटी तुरंत घर से निकली और अपने मायके पहुंची, लेकिन तब तक आरोपी हत्या की वारदात को अंजाम दे फरार हो चुका था। जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी। 

दीवार फांद कर फरार होते को इलाका निवासियों ने देखा

प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि वह इलाके में सैर कर रहे थे। इसी दौरान एक व्यक्ति सुखदेव सिंह के घर की दीवार फांद कर भाग रहा था। आरोपी को फरार होता देख व्यक्ति ने शोर भी मचाया लेकिन आरोपी फरार होने में कामयाब हो गया। इसके बाद उसने इलाका निवासियों को जानकारी दी। उधर से सुखदेव की बेटी भी मौके पर पहुंच गई। जिसके बाद सभी को पता चला कि आरोपी हत्या की वारदात को अंजाम दे फरार हुआ है। सूत्रों के अनुसार पुलिस आरोपी के काफी नजदीक पहुंच चुकी है, लेकिन अभी पुलिस अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। 

अगले सप्ताह दोनों पति-पत्नी को जाना था कनाडा 

बताया जा रहा है कि सुखदेव सिंह का छोटा बेटा कनाडा में रहता है। दोनों पति पत्नी अगले सप्ताह छोटे बेटे के पास रहने के लिए जाने वाले थे। दोनों की अगले सप्ताह की टिकट भी बुक हो चुकी थी और वीजा भी लगा हुआ था। वह बेटी के साथ भी अक्सर इसी को लेकर बातें करते थे।  
 
... और पढ़ें

दोस्त को बेरहमी से मारा: शव को टुकड़ों में बांटा, बोरों में भरकर फेंका, एक बाजू और टांग मिली, वजह सन्न कर देगी

पंजाब के लुधियाना में बड़ी खौफनाक वारदात सामने आई है। यहां 30 वर्षीय मोहम्मद इस्लाम की रुपयों के लालच में हत्या कर दी गई। मृतक उत्तर प्रदेश के शामली जिले के गांव जलालाबाद का रहने वाला था। वह करीब 15 दिन पहले 25 हजार रुपये लेकर खरीदारी करने लुधियाना पहुंचा था और अपने साथी के पास रुका था। साथी ने रुपये के लालच में वारदात को अजाम दिया। आरोपी ने शव के साथ बेरहमी भी की। टुकड़ों में काटने के बाद बोरे में भरा और सिधवां नहर में फेंक दिया। परिवार वाले इस्लाम को ढूंढने निकले तो पता चला कि आरोपी ने हत्या कर दी है। इसके बाद आरोपी को उन्होंने खुद पानीपत से काबू किया और लुधियाना लाकर थाना टिब्बा पुलिस के हवाले किया। थाना टिब्बा पुलिस ने इस्लाम के भाई महबूब की शिकायत पर मोहम्मद महफूज के खिलाफ हत्या कर शव खुर्द बुर्द करने का मामला दर्ज किया है। 
... और पढ़ें

पंजाब: महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता की घोषणा से पहले ही फर्जीवाड़ा, शिविर लगा भरवा रहे थे फार्म, विधायक ने मारा छापा

लुधियाना के दक्षिण विधानसभा के सतगुरु नगर में महिलाओं को एक हजार रुपये देने के फार्म भरवा रहे शिविर का पर्दाफाश हुआ है। इस संबंध में क्षेत्र की विधायक राजिंदर कौर छीना को सूचना मिली। इसके बाद विधायक ने खुद छापा मारकर शिविर को बंद करवाया। इस संबंध में विधायक ने पुलिस को शिकायत भी दी है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शिविर बंद करवाया और कुछ लोगों को काबू किया है। 

बता दें कि आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव में सरकार आने पर महिलाओं को 1000 रुपये महीना देने का एलान किया था। इस एलान का फायदा उठाते हुए हुए सतगुरु नगर में कुछ लोगों ने फर्जी शिविर लगाकर लोगों को 1000 रुपये पेंशन देने के नाम पर फार्म भर रहे थे। सरकार को बदनाम करने की कोशिश की जा रही थी। इसके अलावा लोगों को गुमराह किया जा रहा था। इस बारे में जब विधायक को सूचना मिली तो शिविर पर छापा मारकर बंद करवाया। 

विधायक छिना ने बताया कि कुछ लोग फर्जी शिविर लगाकर लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ बैंक अधिकारी भी ऐसे शिविरों में भाग लेते हैं, जो पूरी तरह से अवैध है। उन्हें लुधियाना दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र के मुख्य सतगुरु नगर क्षेत्र में जीतो मार्केट में एक निजी कार्यालय में आयोजित ऐसे शिविर के बारे में पता चला।  

उन्होंने कहा कि आयोजकों ने यह दावा कर महिलाओं को गुमराह किया है कि जो लोग आज फॉर्म भरेंगे, वह ही 1000 रुपये प्रति माह पेंशन के पात्र होंगे। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से गलत और अवैध है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मुझे पहले भी ऐसी शिकायतें मिलती रही हैं। उन्होंने लोगों को सतर्क रहने का आग्रह किया, क्योंकि इस संबंध में आधिकारिक शिविर केवल निर्वाचित विधायकों की उपस्थिति में सार्वजनिक स्थानों पर आयोजित किए जाएंगे। फिलहाल ऐसे शिविर अभी नहीं लग रहे हैं। उन्होंने कहा कि भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार जब भी इस योजना को शुरू करेगी। सभी पात्रों को यह पेंशन खुद मिलना शुरू हो जाएगी।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00