विज्ञापन

जालंधर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

खौफनाक कदम: गुस्से में पति ने कहा जहर खा लो... पत्नी ने दोनों बच्चों संग निकला

पंजाब के जालंधर में  कपूरथला रोड पर न्यू राज नगर में रहने वाले दर्जी ने घरेलू कलह के कारण पत्नी को गुस्से में कहा कि जहर खा लो, पत्नी ने दोनों बच्चों संग जहर निगल लिया। तीनों को निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां महिला की मौत हो गई। 14 साल के बेटे और 10 साल की बेटी की हालत गंभीर है। 

सूचना मिलते ही थाना बस्ती बावा खेल के प्रभारी अवतार सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने पति अनूप कुमार को राउंडअप कर लिया है। अनूप कुमार के भाई जसपाल ने बताया कि बीती रात उनके भाई और भाभी रेखा के बीच काफी विवाद चल रहा था। शनिवार को भी विवाद हुआ और भाई अनूप गुस्से में अपनी दुकान पर चला गया। 

भाभी रेखा ने कॉफी बनाई। खुद भी पी और बच्चों को दी, जिसके बाद तीनों की हालत बिगड़ गई। वह तुरंत तीनों को लेकर अस्पताल पहुंचा, जहां पर डॉक्टरों ने रेखा को मृत घोषित कर दिया। रेखा के 14 वर्षीय बेटे गौरव और 10 वर्षीय बेटी मन्नत की हालत गंभीर बनी हुई है। 

डीसीपी गुरमीत सिंह ने बताया कि अनूप अपनी पत्नी के चरित्र पर शक करता था। किसी ना किसी बात को लेकर किसी पराए मर्द के साथ उसका नाम जोड़कर झगड़ता रहता था। गुस्से से अनूप ने पत्नी को कहा कि जा जहर खा लो... इसके बाद उसने बच्चों संग जहर ले लिया। 
... और पढ़ें

जालंधर: बदमाशों ने बुक डिपो पर पेट्रोल छिड़क लगाई आग, चपेट में आने से दो झुलसे, एक की मौत

पंजाब के आदमपुर इलाके में तीन बदमाशों ने एक बुक डिपो में पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी। तीन बदमाशों में से दो आग की चपेट में आ गए और तीसरा मौके से फरार हो गया। आग की चपेट में आने वाले एक बदमाश की झुलसने से मौत हो गई जबकि दूसरे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। 

मृतक की पहचान बस्ती बावा खेल इलाका निवासी प्रदीप व झुलसे जितेंद्र निवासी बस्ती बावा खेल के रूप में हुई है। जितेंद्र की हालत गंभीर बनी हुई है। गंभीर रूप से झुलसे जितेंद्र को जालंधर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक आरोपी फरार चल रहा है, जिसकी पहचान सिमरनजीत के रूप में हुई है। ऐसी आशंका है कि दुकान में आग साजिशन लगाई गई है।

एएसपी आदमपुर अजय गांधी ने बताया कि यह घटना देर रात दो बजे के करीब की है। आदमपुर में कृष्णा बुक डिपो में तीन बदमाश जालंधर सिटी से आग लगाने पहुंचे थे। युवकों ने शटर तोड़कर पेट्रोल डालकर उसमें आग लगा दी और उसका शटर बंद कर दिया। दुकान काफी पुरानी थी और उसमें काफी सामान था, जिसके चलते दुकान के अंदर बड़ा धमाका हो गया और आग लगाने आए दो युवक आग की चपेट में आ गए, जिससे एक युवक प्रदीप की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई जबकि जितेंद्र गंभीर रूप से झुलस गया।

गांधी ने बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया है कि दुकान मालिक का किराएदार के साथ विवाद चल रहा था। एएसपी गांधी ने बताया कि हरजिंदर सिंह के दादा ने 60 साल पहले दुकान अजीत सिंह निवासी जालंधर से किराये पर ली थी। अब दुकान हरजिंदर सिंह के पास पर अजीत सिंह इसको खाली करवाना चाहता था। 

हरजिंदर सिंह ने बयान दिया है कि तीन बदमाश प्रदीप कुमार, जितेंद्र व सिमरजीत उसकी हत्या की नीयत से दुकान पर रात दो बजे आए और दुकान का शटर तोड़कर पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी। इसमें प्रदीप कुमार की आग से झुलसने से मौत हो गई। आदमपुर पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा के तहत केस दर्ज कर लिया है। एएसपी गांधी का कहना है कि पुलिस आरोपी जितेंद्र से पूछताछ करेगी। जितेंद्र के बयान के बाद अगर अजीत सिंह का नाम सामने आता है तो उसके खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

सीआईए को मिली सफलता: यूपी नंबर की गाड़ी से 55 किलो अफीम बरामद, नशा तस्कर युद्धवीर सिंह को भी दबोचा

सीआईए स्टाफ देहात की टीम ने एक उत्तर प्रदेश नंबर की कार से 55 किलो अफीम बरामद कर कुख्यात नशा तस्कर युद्धवीर सिंह योद्धा निवासी देवीदासपुर (जंडियाला गुरु) अमृतसर को गिरफ्तार किया है। यह अफीम किन लोगों को कहां-कहां सप्लाई की जानी थी, इसको लेकर टीम बारीकी से जांच में जुट गई है। 

प्राथमिक जांच में सामने आया है कि तस्करी के तार विदेश में बैठे नशा तस्कर नवप्रीत सिंह उर्फ नव से जुड़े हैं। डीजीपी इकबाल प्रीत सिंह सहोता ने बताया कि नशे पर लगाम लगाने के लिए एक विशेष अभियान चलाया गया है। इसके तहत जालंधर सीआईए स्टाफ देहात की टीम ने करतारपुर-किशनपुरा रोड पर नाकाबंदी की थी। इस दौरान एक अर्बन क्रूजर कार में सवार होकर आते युवक को जब रोककर तलाशी ली गई तो कार से 55 किलो अफीम बरामद हुई। 

मौका पाकर युद्धवीर का एक साथ ही पलविंदर सिंह उर्फ सन्नी निवासी अमृतसर मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया, उसकी तलाश में पुलिस की टीमें छापेमारी कर रही हैं।

जालंधर देहात के एसएसपी सतिंदर सिंह व एसपी स्पेशल ब्रांच मनप्रीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि पुलिस की शुरुआती पूछताछ में यह सामने आया है कि नशे की यह खेप युद्धवीर को कुख्यात तस्कर नवप्रीत सिंह उर्फ अन्ना निवासी वजीर भुल्लर व्यास से मिली थी। नशे के इस रैकेट को विदेश में बैठा नवप्रीत सिंह उर्फ नव चला रहा था। एसपी ढिल्लो ने बताया कि नवप्रीत पर फिल्लौर में हुए में चिंटू हत्याकांड के साथ-साथ दिल्ली से बरामद की गई 300 किलो हेरोइन मामले में भी केस दर्ज हैं। पुलिस फरार आरोपी की तलाश कर रही है। 
... और पढ़ें

अब राजस्थान में किरकिरी: बिना सूचना दिए छात्र को उठा लाई थी पंजाब पुलिस, परिजन सामने लाए सच्चाई तो डीएसपी समेत 14 पर दर्ज हुआ अपहरण का केस

दिल्ली में भाजपा नेता बग्गा की गिरफ्तारी कर किरकिरी झेल रही पंजाब पुलिस इससे पहले राजस्थान में भी ऐसा ही कारनामा कर चुकी है। कोटा इलाके से पंजाब पुलिस की दो गाड़ियां एक 21 साल के छात्र को बिना सूचना दिए उठाकर ले आईं। होशियारपुर में फर्जी नाका दिखाकर उससे 10 किलो अफीम की बरामदगी भी दिखा दी। मामले में राजस्थान पुलिस ने होशियारपुर के डीएसपी और एसएचओ सदर समेत 14 पुलिसकर्मियों को अपहरण, साजिश की धारा के तहत नामजद किया है। मामला हाईकोर्ट में भी चला गया है, जिसके बाद पंजाब पुलिस के अधिकारियों के हाथ पैर फूलने लगे हैं क्योंकि राजस्थान पुलिस के पास सीसीटीवी से लेकर मोबाइल लोकेशन समेत तमाम साक्ष्य मौजूद हैं। इसका जिक्र करते हुए ही होशियारपुर के 14 मुलाजिमों पर केस दर्ज किया गया है।

पंजाब पुलिस का दावा

सीआईए स्टाफ होशियारपुर की टीम ने राजस्थान के युवक को 10 किलो अफीम के साथ गिरफ्तार किया था। एसएसपी ध्रुमन एच निंबले ने प्रेसवार्ता में बताया था कि उनकी टीम ने चक्क साधू (पंजाब-हिमाचल के बॉर्डर का गांव) के पास नाकेबंदी के दौरान राजस्थान नंबर की एक कार को रोका। कार में हरनूर सिंह निवासी सावलपुर जिला बूंदी था। कार की तलाशी में सीट के नीचे बोरे में छिपाकर रखी 10 किलो अफीम बरामद हुई, जिसके चलते हरनूर को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। मौके पर डीएसपी को तलाशी के लिए भी बुलाया गया, जिसकी मौजूदगी में अफीम बरामद हुई।

एसएसपी ने बताया था कि आरोपी हरनूर सिंह बीए-सेकेंड ईयर में पढ़ता है। आरोपी का दादा दयाल सिंह भी अफीम तस्कर है, जो काफी समय से तस्करी करता है। उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में 3-3 पर्चे दर्ज हैं। पुलिस ने बताया कि आरोपी हरनूर के खिलाफ अभी तक कोई भी पर्चा दर्ज नहीं है, फिर भी जांच की जा रही है।

राजस्थान पुलिस कह रही अलग कहानी

वहीं राजस्थान पुलिस के मुताबिक, पंजाब पुलिस सात मार्च को हरनूर को उठा लाई थी। इसके बाद वह घर नहीं लौटा तो अगले दिन पिता निर्मल सिंह ने थाना कलेरा में गुमशुदगी दर्ज करवा दी। उन्होंने हरनूर की एप्पल आईडी के आई क्लाउड के जरिए लोकेशन ढूंढनी शुरू कर दी। हरियाणा से घूमती हुई लोकेशन होशियारपुर आकर रुक गई। इसके बाद उन्होंने पठानकोट के एसएसपी के जरिए पता करवाया तो पता चला कि हरनूर पर होशियारपुर पुलिस ने 10 किलो अफीम बरामदगी का केस दर्ज किया हुआ है। पुलिस ने आननफानन में चालान पेश कर दिया, लेकिन राजस्थान पुलिस की जांच का दायरा बढ़ने लगा। 

परिजनों ने सीसीटीवी से खोद निकाला सच

हरनूर पर केस के बारे में पता चला तो परिजनों ने पड़ताल की। पता चला कि उसकी गिरफ्तारी होशियारपुर से दिखाई गई है। इसके बाद परिजनों ने पहले उस होटल की सीसीटीवी फुटेज निकलवाई, जहां पुलिस वाले उनके बेटे से मिले थे। फिर रास्ते में एक होटल में रुककर उन्होंने खाना खाया था, वहां के भी फुटेज निकाले गए। कोटा से होशियारपुर तक के सभी टोल प्लाजा की सीसीटीवी फुटेज परिजनों ने निकलवाई। होटल क्लार्क प्रीमियर की सीसीटीवी चौंकाने वाली थी, वहां पंजाब पुलिस के मुलाजिम हरनूर के साथ दिखाई दे रहे थे। उसकी वरना कार भी दिखाई दे रही थी। आखिरकार राजस्थान पुलिस ने अपहरण केस के आरोप में थाना सदर होशियारपुर के एसएचओ लखवीर सिंह, गुरलाभ सिंह, लाल सिंह, गुरनाम सिंह, महेश शंकर, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह, सुमित कुमार, गुरप्रीत, त्रिलोक सिंह, रमन कुमार, जसप्रीत सिंह और एक डीएसपी को नामजद किया गया है। 
... और पढ़ें
पंजाब पुलिस। पंजाब पुलिस।

जालंधर: चोरी के आरोपी ने जज पर तानी खिलौना पिस्तौल, कहा-चोरी के केस के कारण काम नहीं मिल रहा... इंसाफ दो

नशा करने और चोरी के आरोप में जमानत पर चल रहे आरोपी ने मंगलवार सुबह पेशी के दौरान जज पर ही पिस्तौल तान दी जिससे कोर्ट परिसर में अफरा-तफरी मच गई। घटना जालंधर के उपमंडलीय अदालत फिल्लौर की है। पिस्तौल दिखा कर आरोपी ने जज से कहा कि अगर उसे इंसाफ नहीं मिला तो गोली मार दूंगा।

जज के चिल्लाने पर कोर्ट के बाहर खड़े एएसआई लाल चंद तुरंत कोर्ट के अंदर पहुंचे और आरोपी के हाथ से पिस्तौल छीनी। जांच में पता चला कि खिलौना पिस्तौल है। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर थाना फिल्लौर में मामला दर्ज कर लिया है। वहीं एक आरोपी कोर्ट के भीतर खिलौना पिस्तौल लेकर पहुंच गया इससे कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

चोरी के तीन मामलों में जमानत पर चल रहे आरोपी हीरा निवासी संगोवाल (फिल्लौर) की हरकतों ने उसे फिर से सलाखों के पीछे भेज दिया। हीरा ने बताया कि चोरी के आरोपों ने उसे नशे का आदी बना दिया। पत्नी गर्भवती है और घर चलाने के लिए पैसे नहीं है। जब भी कहीं काम मांगने जाता हूं तो चोरी के आरोपों के कारण कोई काम पर नहीं रखता। घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया है और समाज के तानों से वह पूरी तरह से टूट चुका है। वह अपराध नहीं करना चाहता ,लेकिन मजबूरियां उसे दोबारा फिर से चोरी-डकैती करने की तरफ धकेल रही हैं। इसलिए उसने पेशी पर आने से पहले डेढ़ सौ रुपये में खिलौना पिस्तौल खरीदी थी कि वह अदालत में आकर अपनी मनोस्थिति को बता सके, और उसे इंसाफ मिल सके। जब मामले में पेशी पर आता हूं तो कोई भी बिना पैसों के गवाही देने को तैयार ही नहीं होता।

नशेड़ी और मानसिक रूप से परेशान है आरोपी: एसएसपी

एसएसपी देहाती स्वप्न शर्मा ने बताया कि जिस जज की कोर्ट में सुनवाई थी, उनके दो पीएसओ (पर्सनल सिक्योरिटी) है लेकिन एक दूसरे जज को दिया हुआ है और दूसरा छुट्टी पर था। इस बारे में लोकल पुलिस को कोई भी जानकारी नहीं दी गई थी। कोर्ट में लगे मेटल डिटेक्टर काम कर रहे हैं या नहीं इनकी जांच की जा रही है। आरोपी नशे का आदी है और उस पर चोरी के केस चल रहे हैं। घर के हालात भी ठीक न होने के वह मानसिक रूप से परेशान था। इसलिए वह खिलौना पिस्तौल लेकर अदालत में पहुंच गया था। पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और उसे गिरफ्तार भी कर लिया है। आरोपी हीरा जमानत पर था और सीधे कोर्ट में पेशी पर आया था इसकी जानकारी भी पुलिस से सांझा नहीं की गई।

क्या लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट का मंजर भूल गई पुलिस

कुछ महीनों पहले सुरक्षा प्रबंधों की नाकामी के कारण लुधियाना कोर्ट में ब्लास्ट हुआ था। इसके बावजूद पुलिस सबक नहीं सीख रही है। अगर पिस्तौल असली होती और गोली चल जाती तो कौन जिम्मेदार होता। सुरक्षा के लिए अदालतों के बाहर मैटल डिटेक्टर लगे हुए हैं और वहां पर पुलिस कर्मचारी भी मौजूद रहते हैं, लेकिन उनका कोई फायदा नहीं है। 
... और पढ़ें

हैवान चाचा की करतूत: दो साथियों संग 13 साल की भतीजी से किया सामूहिक दुष्कर्म, नशे का इंजेक्शन लगाया

पंजाब के जालंधर में 13 वर्षीय नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। नाबालिग से उसके सगे चाचा ने दो साथियों के साथ नशे का इंजेक्शन लगाकर दुष्कर्म किया। पुलिस ने तीनों के खिलाफ धारा 376 और पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस को नाबालिग ने बताया कि कुछ दिन से चाचा उस पर बुरी नजर रख रहा था।

एक दिन जब वह बीमार हुई तो चाचा ने इलाज के बहाने हाथ में इंजेक्शन से दवाई लगाई। इसके बाद वह बेहोश हो गई। जब उसे होश आया तो चाचा और उसके दो अन्य साथी उसके साथ गंदी हरकतें कर रहे थे। जैसे ही उसने चिल्लाने की कोशिश की तो उन्होंने मुंह में कपड़ा लगा दिया और गलत काम किया। लड़की ने बताया कि पिता नशे का आदी है और मां विदेश में रहती है। दादी उसे पढ़ा रही है।

इस वारदात में ताया की लड़की भी शामिल है, जो लालच देकर घर बुलाती थी और उससे गंदे काम करने को कहती थी। नाबालिग ने बताया कि चाचा और उसके दोस्तों ने दो बार नशे की हालत में उसके साथ गंदा काम किया। नशे का बच्ची पर असर यह हुआ कि उसे बांधकर रखना पड़ रहा है।

जब नाबालिग ने दादी को सारी कहानी बताई तो उसने कुछ समाजसेवी संस्थाओं को मामले की जानकारी दी। इस मामले में पहले पुलिस ने छेड़छाड़ की धाराओं के तहत मामला दर्जकर चाचा को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन समाज सेवी संस्थाओं और पीड़ित नाबालिग ने न्याय के लिए कमिश्नर का दरवाजा खटखटाया तो मामले में 376 और पॉस्को एक्ट की धारा जोड़ी गई। चाचा के दोनों साथियों को भी नामजद किया गया है। चाचा पुलिस गिरफ्त में है, जबकि उसके दो साथी फरार हैं, जिन्हें पकड़ने का पुलिस प्रयास कर रही है।
... और पढ़ें

जालंधर में दरिंदगी: तीन साल की मासूम से दुष्कर्म, मां ने पिता, दादा और चाचा पर लगाए आरोप, सभी फरार

जालंधर में तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। थाना रामामंडी के एरिया में घर में अकेली मासूम से दुष्कर्म के मामले की सूचना मिलते ही पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। घटना छह दिन पहले की है। बच्ची को गंभीर अवस्था में जालंधर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बच्ची की मां ने बच्ची के पिता, दादा और चाचा पर आरोप लगाए हैं। उसके अनुसार, वह रात को काम पर जाती है, पीछे घर में तीनों ही मौजूद रहते हैं। वहीं मां के बयान के बाद बच्ची के पिता, दादा और चाचा फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। 

मासूम की मां एक निजी अस्पताल में नर्स है और रात को ड्यूटी करती है। जब रविवार सुबह घर लौटी तो बच्ची के कराहने की चीखें उसके कानों में पड़ी। पहले उसने इतना गंभीरता से नहीं लिया। सोचा कि कहीं गिर गई होगी। चोटिल होने के कारण रो रही होगी। जब बच्ची बार-बार दर्द होने की बात कहने लगी और उसका रोना बंद न हुआ तो बच्ची की मां को शक हुआ। उसने चेक किया तो बच्ची के प्राइवेट पार्ट में खून के निशान मिले। वह बच्ची को जांच के लिए एक निजी अस्पताल में लेकर गई। जहां चिकित्सकों ने जांच में पाया कि बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है। परिजनों ने तुरंत इस बारे में पुलिस थाना रामामंडी को शिकायत दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने भी तुरंत जांच शुरू कर दी। 

वहीं इस मामले में पुलिस कमिश्नर ने थाना रामामंडी के इंस्पेक्टर नवदीप सिंह को तलब किया है। बच्ची के साथ दुष्कर्म और 6 दिन बाद घटनाक्रम का पता चलने के बाद जबाव-तलब किया गया है। बच्ची के साथ दुष्कर्म 6 दिन पहले हुआ है इसका पता तब चला जब डॉक्टरों ने जांच के बाद मां को बताया। मां का आरोप है कि बच्ची को डराया गया है और वह कुछ भी नहीं बोल रही है। 

एएसआई ने मां से कहा- अगर कार्रवाई करवाई तो परेशान हो जाओगी

बच्ची से दुष्कर्म के बाद बयान दर्ज करने पहुंची पुलिस ने महिला को कार्रवाई करवाने पर परेशानियां गिनवाई तो वह पीछे हट गई। महिला को लगा कि उसकी 3 साल की बच्ची का भविष्य दांव पर लग जाएगा। उसे थाना रामामंडी के एएसआई ने कई और भी बातें कहीं थी। जब ये मामला मीडिया में उछला तो देर रात पुलिस ने अस्पताल जाकर मां के बयान दर्ज किए। फिलहाल बच्ची की हालत ठीक है पर वह कुछ भी नहीं बोल रही।
... और पढ़ें

जालंधर: अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल अंबिया के भाई को मिली धमकी, कहा- केस वापस न लिया तो संदीप के पास भेज देंगे

जालंधर में बच्ची के साथ दुष्कर्म।
अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल अंबिया की हत्या के मुख्य आरोपी सनावर ढिल्लो के गुर्गों ने संदीप के भाई अंग्रेज सिंह को इंटरनेट कॉल कर धमकी दी है। कहा है कि अगर केस वापस नहीं लिया तो वहीं भेज देंगे, जहां तेरे भाई को भेजा है। पुलिस थाना शाहकोट में अंग्रेज सिंह ने शिकायत दर्ज कराई है। यह केस एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स को सौंप दिया गया है।

संदीप के भाई अंग्रेज सिंह निवासी शाहकोट ने बताया कि उसे दो बार इंटरनेट कॉल से धमकी मिली। बता दें कि कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल अंबिया की 14 मार्च को नकोदर के मल्लियां कलां गांव में टूर्नामेंट के दौरान गैंगस्टरों ने गोली मार हत्या कर दी थी।
 
पुलिस ने गैंगस्टर फतेह उर्फ युवराज, कौशल चौधरी, जुझार उर्फ सिमरनजीत सनी, अमृत डागर और यादविंदर सिंह को गिरफ्तार किया है जबकि मुख्य साजिशकर्ता विदेश में बैठा सनावर ढिल्लो है। उसी के नाम से धमकी मिल रही हैैं।

अंग्रेज सिंह ने बताया कि 12 अप्रैल को रात 7:45 बजे एक इंटरनेट कॉल आई। फोन उठाते ही आवाज आई हम हरमंजीत सिंह कंग बोल रहे हैं और कनाडा के सनावर ढिल्लो के दोस्त हैं। इसके बाद वह सीधा धमकी देने लगा। कंग ने कहा कि आप अपना केस वापस ले लो। अगर केस वापस नहीं लेते हैं तो इसके बुरे परिणाम होंगे।

इसके बाद 13 अप्रैल को सुबह 9 बजे व्हाट्सएप नंबर से दूसरी कॉल आई। इस बार फोन करने वाला कंग की जगह कोई भंग था। उसने अपना नाम सतनाम सिंह भंग बताया और कहा कि वह सनावर ढिल्लो का दोस्त है।
 
आप बाज नहीं आ रहे हैं। आपको कहा था कि केस वापस ले लो, इसी में आपकी भलाई है लेकिन आपने अभी तक केस वापस नहीं लिया है। केस वापस नहीं लिया तो आपका भी वही हश्र करेंगे, जो संदीप अंबिया का किया था। आपको केस वापस न लेने पर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।
... और पढ़ें

जालंधर में फिल्मी स्टाइल में वारदात: महिला ने मांगी लिफ्ट, रोकी तो हथियार दिखा लूट ली क्रेटा, जान से मारने की धमकी भी दी

जालंधर देहात में थाना गोराया के गांव दोसांझ कलां में एक एनआरआई से लुटेरों ने हथियार दिखाकर क्रेटा कार लूट ली। लुटेरों ने वारदात को घर के पास ही अंजाम दिया। घटना दोपहर दो बजे की है। जनरैल सिंह पुत्र जगत सिंह निवासी दोसांझ कलां काम से गांव लाडोवाल जा रहा था। जैसे ही वह मेन रोड पर पहुंचे तो उन्हें एक महिला ने लिफ्ट के बहाने हाथ दिया, इस पर उन्होंने इंसानियत दिखाई और गाड़ी रोक दी। 

जैसे ही गाड़ी का शीशा नीचे कर बात की और कार का दरवाजा खोलने लगे तभी हथियारबंद दो युवक वहां आ धमके। लुटेरों ने उन्हें कार से उतरने को कहा। वह कार से बाहर निकल आए तो वे तीनों कार में सवार होकर वहां से फरार हो गए। यह पूरा वाकया सीसीटीवी में कैद हो गया। 

जरनैल सिंह ने बताया कि वह यूके में रहते हैं और दो महीने पहले ही वापस लौटे हैं और इस घटना से वह काफी डरे हैं। उक्त लुटेरे उन्हें जान से मारने की धमकी भी देकर गए हैं। थाना गोराया के प्रभारी प्रीत सिंह ने बताया कि पुलिस नाकाबंदी कर आरोपियों की धरपकड़ में जुट गई है। सीसीटीवी में दो युवक नजर आए हैं। महिला का पता नहीं चल पाया कि कौन है। जल्द ही मामले को सुलझा लिया जाएगा।
... और पढ़ें

पंजाब: भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन का दिखा असर, जालंधर डीसी दफ्तर में तैनात महिला क्लर्क काबू, 4.80 लाख रुपये की रिश्वत लेने का आरोप

पंजाब में सीएम भगवंत मान की भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन का असर दिखने लगा है। जालंधर के डीसी कार्यालय में तैनात क्लर्क मीनू को नौकरी दिलाने के नाम पर चार लाख 80 हजार की रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। मीनू के खिलाफ भगवंत मान द्वारा जारी भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत भेजी गई थी, जिसके बाद विजिलेंस ब्यूरो एक्शन में आ गई।

विजिलेंस की टीम मीनू को डीसी कार्यालय से ले गई तो पता चला कि वह दो माह की गर्भवती हैं। उनकी तबीयत बिगड़ी तो अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। मीनू के खिलाफ विजिलेंस को कई अन्य शिकायतें भी मिली थीं, जिसमें आरोप था कि वहां पर काम करवाने आने वाले लोगों से वह रिश्वत लेती है। डॉ. हरवीन कौर का कहना है कि विजिलेंस टीम मीनू को लेकर आई थी। जांच में मीनू दो माह की गर्भवती निकली। डॉक्टर ने बताया कि मानसिक दबाव के चलते मीनू की हालत बिगड़ गई थी, उसका इलाज किया जा रहा है।

मीनू के खिलाफ काफी शिकायतें लगातार आ रही थीं। वह इन दिनों डीसी कार्यालय के अधीन तहसील -1 के सेल ब्रांच में तैनात थी। विजिलेंस की टीम ने गुरुवार शाम को ही हिरासत में ले लिया था और शुक्रवार को आधिकारिक रूप से गिरफ्तारी दिखाई तो पता चला कि महिला क्लर्क को भ्रष्टाचार रोधी  हेल्पलाइन पर शिकायत के आधार पर काबू किया गया है।
... और पढ़ें

जालंधर: संदीप नंगल अंबियां की हत्या मामले में एक और गिरफ्तारी, दो पिस्तौल व वारदात में इस्तेमाल वाहन भी बरामद

अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल अंबियां की हत्या के मामले में पुलिस ने उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले के गांव अभयपुर माधोपुरा निवासी आरोपी यादविंदर सिंह गिरफ्तार कर उसके पास से दो पिस्तौल के अलावा हत्या में इस्तेमाल वाहन भी बरामद कर लिया है। यादविंदर उर्फ याद हत्या के वक्त शूटरों के साथ था और बाकायदा उनको पंजाब में वाहन मुहैया करवाने से लेकर ठहराने तक का पूरा इंतजाम आरोपी ने किया था। 

गैंगस्टर जुझार ने अपने साले यादविंदर को हत्या करने के लिए शूटरों की मदद का जिम्मा सौंपा था। एसएसपी सतिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस ने संदीप नंगल अंबियां की हत्या के आरोप में जेल में बंद गैंगस्टर कौशल चौधरी, अमित डागर, फतेह नागरी, सिमरनजीत सिंह जुझार को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाकर पूछताछ की थी। 

गैंगस्टर सिमरनजीत सिंह जुझार से हुई पूछताछ में सामने आया कि उसने पीलीभीत में रहने वाले अपने साले यादविंदर याद को संदीप नंगल अंबियां की हत्या के मामले में शूटरों की मदद करने का जिम्मा सौंपा था। इसके बाद यादविंदर याद ने ही शूटरों को पंजाब में पनाह दिलाई और बाकायदा पूरा खाका तैयार किया। 

यादविंदर ने ही शूटरों को वाहन मुहैया करवाया और साथ ही संदीप नंगल अंबियां की रेकी की। एसएसपी सतिंदर सिंह के मुताबिक हत्या वाले दिन यादविंदर याद शूटरों के साथ घटनास्थल पर मौजूद था। आरोपी से हत्या में प्रयुक्त वाहन के अलावा दो पिस्तौल व कारतूस बरामद किए गए हैं।
... और पढ़ें

जालंधर: शिअद प्रत्याशी वडाला की रैली में भिड़े समर्थक, गोली लगने से एक व्यक्ति घायल, अस्पताल में भर्ती

पंजाब के नकोदर विधानसभा क्षेत्र के गांव चूहड़ में शिरोमणि अकाली दल के प्रत्याशी गुरप्रताप सिंह वडाला की रैली में समर्थकों के बीच गोली चलने से सनसनी फैल गई। इस घटना में एक समर्थक के मुंह पर गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे जालंधर के सिविल अस्पताल में पहुंचाया गया है। घायल की पहचान चूहड़ गांव के ही सरबजीत सिंह के रूप में हुई है। गोली लगने से सरबजीत की हालत गंभीर बनी हुई है और चिकित्सक इलाज में जुटे हैं।

हमलावरों ने सरबजीत के मुंह पर गोली मारी है। उसकी हालत ठीक न होने पर सिविल अस्पताल नकोदर से जालंधर रेफर कर दिया है। सूचना पर डीसपी लखबिंदर सिंह, एसएचओ सिटी कृपाल सिंह और एसएचओ सदर परमिंदर सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी हासिल की। 

नकोदर के जिस गांव में गोली चली है, वहां अकाली दल के प्रत्याशी गुरप्रताप सिंह वडाला रैली में लोगों को संबोधित कर रहे थे। बताया जा रहा है कि कोरोना के इस दौर में भारी भीड़ जुटाकार नियम तोड़े जा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक रैली खत्म हो चुकी थी, जिसके बाद वहां समर्थकों में आपसी रंजिश में मारपीट हो गयी और एक पक्ष के बदमाशों ने गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिसमें से एक गोली सरबजीत के मुंह पर लगी। 

नौ विधानसभा हलकों में 81 उड़नदस्ते कर रहे 24 घंटे निगरानी
पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजर हर प्रकार की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। जिला प्रशासन की तरफ से नौ विधानसभा हलकों में 81 उड़नदस्ते 27 जीपीएस युक्त वाहन व 360 डिग्री कैमरों से लैस फ्लाइंग स्क्वाड की टीमें निगरानी कर रही हैं। इन सभी की डीसी कम जिला चुनाव अधिकारी घनश्याम थोरी ने समीक्षा की।

स्थानीय जिला प्रशासकीय परिसर में इन वाहनों की ऑनलाइन समीक्षा के दौरान डीसी ने कहा कि पैन टिल्ट जूम कैमरों के साथ लैस ये वाहन 24 घंटे अपने-अपने हलकों में चुनावी गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं। यदि कोई राजनीतिक पार्टी या उम्मीदवार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ भारतीय चुनाव आयोग के आदेश अनुसार कार्रवाई की जाएगी। जालंधर जिले के नौ विधानसभा हलकों में 9-9 उड़ने दस्ते तैनात है, जिनमें 3-3 टीमें ऐसे वाहनों वाली हैं, जिन पर जीपीएस व कैमरे लगे हैं। 
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00