विज्ञापन

महेंद्रगढ़/नारनौल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

नारनौल: पत्नी लंबे समय से थी बीमार, इसी से परेशान होकर पति ने कर दी हत्या

हरियाणा के नारनौल के गांव सुरानी में किराये के मकान में मृत मिली महिला के पति को पुलिस ने नारनौल बस अड्डे से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने पत्नी की हत्या इसलिए की थी, क्योंकि वह लंबे समय से बीमार चल रही थी। पत्नी की बीमारी से परेशान होकर उसने उसके सिर में डंडे से वारकर हत्या कर दी थी। आरोपी को सदर थाना और सीआईए पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया।

सदर थाना प्रबंधक निरीक्षक मुनीश कुमार ने बताया कि 29 मार्च को गांव सुरानी निवासी मान सिंह ने महिला की हत्या की शिकायत दी थी। उसने बताया था कि वह अपना पुराना मकान किराये पर दिया हुआ है, जिसमें उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के गांव बिधोली निवासी संतोष अपनी पत्नी के साथ रहता था। मान सिंह ने बताया था कि संतोष ने किराया नहीं दिया था।

वह 29 मार्च को सुबह किराया लेने के लिए गया तो दरवाजा बंद था, मगर धक्का देने पर वह खुल गया। उसने देखा कि संतोष की पत्नी मृत पड़ी है। शिकायतकर्ता ने मृतका के पति के खिलाफ हत्या करके भागने का शक जाहिर करते हुए हत्या का मामला दर्ज करवाया था।

हत्या के बाद आरोपी फरार हो गया था, जिसे शुक्रवार को नारनौल बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी कहीं अन्यत्र भागने की फिराक में था। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसकी पत्नी काफी समय से बीमार थी, जिसकी वजह से वह परेशान था। पत्नी की बीमारी से परेशान होकर उसने सिर में डंडे से चोट मारकर उसकी हत्या कर दी थी।
... और पढ़ें

नारनौल: किराये पर रह रही महिला का मकान में मिला शव, शरीर पर चोट के निशान, पति फरार, मोबाइल बंद

हरियाणा के नारनौल के गांव सुरानी में एक बंद मकान से मंगलवार को महिला का शव बरामद हुआ। महिला के सिर पर चोट के निशान थे और उसके शरीर से खून निकला हुआ था। पुलिस ने शव को नागरिक अस्पताल पहुंचा दिया है। पुलिस ने मकान मालिक के बयान पर मृतका के पति के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

गांव सुरानी निवासी मान सिंह ने बताया कि 45 वर्षीय सुमन अपने पति संतोष निवासी गांव बिदौली, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश उसके पुराने मकान में छह महीने से किराये पर रह रही थी। दोनों पति-पत्नी यहां पर मजदूरी करते थे। मान सिंह ने बताया कि वह मंगलवार सुबह किराया लेने के लिए संतोष के पास गया तो मकान बंद था, लेकिन जब उसने दरवाजे को धक्का दिया तो वह खुल गया।

अंदर जाकर देखा तो चौक (लॉबी) में चारपाई पर सुमन मृत पड़ी थी। उसने इसकी सूचना पुलिस को दी। जानकारी मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया। पुलिस ने मकान मालिक के बयान पर सुमन के पति संतोष कुमार के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। सीन ऑफ क्राइम की टीम भी मौके पर पहुंचकर मौका मुआयना किया।

तीन दिन से लापता है महिला का पति 
पुलिस ने बताया कि महिला के सिर पर चोट के निशान मिले हैं, जिससे अनुमान लगाया जा सकता है कि महिला के सिर में चोट मारकर हत्या की गई है। मृतका का पति शराब पीने का आदी है और वह तीन दिन से लापता है। उसका मोबाइल फोन भी बंद आ रहा है। पुलिस ने बताया कि यह हत्या लगभग तीन दिन पहले की गई है। 
 
... और पढ़ें

नारनौल: 25 हजार का इनामी बदमाश साथी के साथ गिरफ्तार, हत्या और लूट के आरोपी, 26 लाख रुपये भी मिले

हरियाणा के नारनौल में सीआईए पुलिस ने वांछित और फरार अपराधियों को पकड़ने में बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने उत्तर प्रदेश और राजस्थान में आधा दर्जन से अधिक मामलों में वांछित अपराधी मनीष मीणा उर्फ पूर्णमल उर्फ ठाकुर निवासी बसई, थाना कोटपुतली, राजस्थान तथा उसके साथी अजय निवासी भैसलाना, थाना सरूण्ड, जयपुर, राजस्थान को कुलताजपुर क्षेत्र से अवैध हथियार के साथ गिरफ्तार किया है।

आरोपी मनीष उत्तर प्रदेश में दर्ज हत्या, लूट और अन्य मामलों में फरार चल रहा था। उस पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने 25 हजार रुपये का इनाम रखा हुआ था। वहीं राजस्थान पुलिस द्वारा 5 हजार का इनाम रखा गया था। 

सीआईए प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि रविवार को पुलिस को सूचना मिली कि मनीष मीणा उर्फ पूर्णमल उर्फ ठाकुर निवासी बसई, थाना कोटपुतली, जयपुर, राजस्थान और अजय निवासी भैसलाना, थाना सरूण्ड, जयपुर, राजस्थान अवैध हथियार लेकर नारनौल से कुलताजपुर होते हुए राजस्थान जाएंगे।

उन पर राजस्थान और उत्तर प्रदेश में हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, चोरी, फिरौती, अपहरण आदि के कई मामले दर्ज हैं। इस पर एक टीम गठित कर बताए गए स्थान पर भेजी गई। नाकाबंदी कर वाहनों की जांच शुरू की गई। इस दौरान नारनौल की ओर से एक गाड़ी आती हुई दिखाई दी। पुलिस को देखकर आरोपी बैरियर के साइड से गाड़ी लेकर भागने की कोशिश की मगर पकड़ लिए गए।

सीआईए प्रभारी ने बताया कि आरोपी अजय कुछ दिन पहले जमानत पर आया था। आरोपी मनीष उत्तर प्रदेश के बरेली में दर्ज हत्या और लूट के मामले में फरार चल रहा था। पुलिस ने पता लगाया है कि बरेली में हुई हत्या के मामले में रघुनाथपुरा, नारनौल निवासी राजवीर भी इनके साथ था। राजवीर के साथ आरोपी यहां आए थे और भीलवाड़ा में लूट की वारदात को अंजाम देने जा रहे थे। पुलिस ने आरोपियों से 26 लाख रुपये भी बरामद किए हैं।

सीआईए पुलिस ने आरोपी मनीष से एक देसी पिस्तौल, पांच कारतूस तथा अजय से कट्टा और एक कारतूस बरामद किया है। अवैध हथियार सहित पकड़े गए दोनों बदमाशों पर राजस्थान में लूट, हत्या का प्रयास, डकैती, चोरी, सेंधमारी, अपहरण और आर्म्स एक्ट के तहत 2 दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं।  
... और पढ़ें

महेंद्रगढ़: विजिलेंस ने दो एसआई को रिश्वत लेते दबोचा, आरोपियों को केस से बाहर निकालने की एवज में लिए थे रुपये

महेंद्रगढ़ जिला विजिलेंस टीम ने महेंद्रगढ़ और कनीना थाने में छापे मारकर दो पुलिस कर्मचारियों को रिश्वत की राशि सहित रंगे हाथों दबोचा है। विजिलेंस टीम ने पहले मामले में महेंद्रगढ़ सदर थाने में तैनात एक एसआई नरेश को दो लाख रुपये तो दूसरे मामले में दूसरी टीम ने कनीना थाने से एसआई नरेंद्र को 15 हजार रुपये की रिश्वत सहित दबोचा है। जिला विजिलेंस की दो टीमों द्वारा की गई कार्रवाई के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। रिश्वत लेने के दोनों पुलिस कर्मचारियों को काबू कर पूछताछ के लिए विजिलेंस टीम अपने साथ लेकर चली गईं। 

सदर थाना महेंद्रगढ़ : नरेश ने इस मामले में ली थी दो लाख रुपये की रिश्वत 
सदर थाना महेंद्रगढ़ में चल रहे मुकदमा नंबर 304/21 में जांच अधिकारी एसआई रमेश कुमार थे। मामले में तीन-चार आरोपियों की गिरफ्तारी होनी बाकी थी। इन आरोपियों से गिरफ्तारी न करने की एवज में एसआई (सब इंस्पेक्टर) ने रिश्वत की मांग की। आरोपियों द्वारा मामले के अधिवक्ता से इसकी शिकायत की गई। 12 मई को अधिवक्ता ने आरोपियों से मुलाकात की तो उन्होंने बताया कि जांच अधिकारी द्वारा उनका नाम हटाने की एवज में 3 लाख रुपये की रिश्वत मांगी जा रही है। एसआई ने नाम हटाने की एवज में 50-50 हजार रुपये दो बार ऑनलाइन किसी अन्य खातों में ट्रांसफर कराए। इसके बाद 13 मई को एटीएम से 50 हजार रुपये भी निकलवाए। सोमवार को कोर्ट में चालान पेश करने के लिए गए एसआई ने चालान पेश करने के नाम पर दो लाख की रिश्वत की मांग की। अधिवक्ता के शिकायत देने के बाद टीम ने एसआई को दो लाख की रिश्वत सहित रंगे हाथों दबोच लिया।
विजिलेंस टीम में यह रहे शामिल

विजिलेंस टीम नवल किशोर शर्मा के नेतृत्व में पहुंची थी। कार्रवाई के लिए ड्यूटी मजिस्ट्रेट एसडीएम नारनौल मनोज कुमार को तैनात किया गया था। टीम में एसआई ईश्वर सिंह, ईएचसी मनोज कुमार, रवि कुमार, संदीप व चालक उदय सिंह शामिल रहे। 

केस...2
कनीना थाना : एसआई नरेंद्र ने केस से नाम काटने के लिए मांगे थे 30 हजार रुपये 
कनीना थाने में सोमवार को विजिलेंस टीम ने छापा मारकर एसआई नरेंद्र को रंगे हाथों रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। टीम के इंचार्ज निरीक्षक रणबीर सिंह ने बताया कि उन्हें कोका निवासी धर्मसिंह ने शिकायत दी थी कि कनीना थाने का एसआई नरेंद्र मामले से नाम काटने के लिए 30 हजार रुपये मांग रहा है, जिस पर गुरुग्राम से निरीक्षक रणबीर सिंह के नेतृत्व में विजिलेंस टीम कनीना थाने में पहुंची।

इस दौरान ड्यूटी मजिस्ट्रेट के रूप में सीटीएम डॉ. मंगल सैन भी मौके पर उपस्थित रहे। टीम ने धर्मसिंह को करीब 15 हजार रुपये एसआई नरेंद्र को देने के दिए। जब धर्मसिंह ने थाने में पहुंचकर एसआई नरेंद्र को रुपये थमाए तो टीम ने मौके पर ही उसे गिरफ्तार कर लिया। 

10 लोगों के खिलाफ कराया था मारपीट का मामला दर्ज 
बता दें कि गांव कोका निवासी अमिलाल के द्वारा 9 फरवरी को उसके घर में घुसकर मारपीट करने की शिकायत दी गई थी। धर्मसिंह, सिंहराम, कैलाश सहित करीब 10 लोगों के खिलाफ कनीना थाने में मामला दर्ज करवाया था। मामले में जांच अधिकारी एसआई नरेंद्र था। मामले से नाम काटने के लिए धर्मसिंह से 30 हजार रुपये की मांग की थी। धर्मसिंह ने इस संबंध में विजिलेंस टीम को सूचना दी। इस दौरान टीम निरीक्षक रणबीर सिंह, एसआई नरेश, एसआई - धर्मबीर, डीसी ऑफिस से सहायक कर्णसिंह मौके पर उपस्थित रहे।


जांच अधिकारी के रिश्वत लेने की सूचना मिली थी। महेंद्रगढ़ कोर्ट में चल रहे एक मामले में एसआई नरेश को दो लाख रुपये की रिश्वत सहित काबू किया गया है। पूछताछ के लिए टीम द्वारा एसआई को पुलिस हिरासत में लिया गया है। - नवल किशोर, विजिलेंस अधिकारी महेंद्रगढ़ 
... और पढ़ें
महेंद्रगढ़ सदर थाने में एसआई नरेश कुमार को गिरफ्तार कर गाड़ी में बैठाती विजिलेंस टीम, दूसरी ओर कनीना थाने में एसआई नरेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर गाड़ी में बैठाती विजिलेंस की टीम। महेंद्रगढ़ सदर थाने में एसआई नरेश कुमार को गिरफ्तार कर गाड़ी में बैठाती विजिलेंस टीम, दूसरी ओर कनीना थाने में एसआई नरेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर गाड़ी में बैठाती विजिलेंस की टीम।

महेंद्रगढ़: धरने पर बैठी महिला तो पुलिस ने जांच अधिकारी के खिलाफ दर्ज किया दुष्कर्म का मामला

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में सदर थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव की महिला ने उसकी ननदों के दहेज मामलों की जांच कर रहे एएसआई पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। महिला ने मामले में अपनी सास, पति और दोनों ननदों पर भी उसका सहयोग करने का आरोप लगाया है। महिला ने शनिवार को थाने के बाहर धरना दिया तो पुलिस ने बयान दर्ज कर मेडिकल कराने के बाद महिला को कोर्ट में पेश किया।

इससे पहले शुक्रवार को महिला ने एसपी कार्यालय में मामले की शिकायत दी थी। एसपी कार्यालय से भेजने के बाद भी सदर थाने ने महिला को दो घंटे बैठाए रखा और बयान दर्ज नहीं किए थे। शनिवार को पुलिस ने जांच अधिकारी एएसआई, महिला के पति, सास और ननद पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।  

महिला के अनुसार दिसंबर 2021 में उसके साथ दुष्कर्म की वारदात हुई थी। इस मामले में शुक्रवार शाम को दो घंटे थाने में बैठी रही लेकिन पुलिस द्वारा बयान दर्ज नहीं किए। इसके बाद शनिवार को एक बजे थाने पहुंची तो पुलिस द्वारा महिला पुलिसकर्मी नहीं होने का हवाला देकर इंतजार करने के लिए बाहर भेज दिया।

इसके बाद महिला अपने ननदोई और एक अन्य व्यक्ति के साथ थाना परिसर के बाहर धरने पर बैठ गई। इसके बाद पुलिस ने महिला के बयान दर्ज कर किए। पीड़िता ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि लगातार इस मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस भी अपने स्टाफ को बचाने के प्रयास में जुटी हुई है। मामले को वापस लेने के लिए लगातार उस पर दबाव बनाया जा रहा है। 

यह था मामला
महिला ने शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण कार्यालय में शिकायत देकर एएसआई रामानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। महिला ने पुलिस अधीक्षक को दी शिकायत में अपने सास, पति और दो ननदों पर दुष्कर्म कराने में सहयोग का आरोप लगाया था। पुलिस अधीक्षक को दी शिकायत में महिला ने बताया कि एएसआई पहले महेंद्रगढ़ में था, जो अब सीटी थाना नारनौल में तैनात है।

महेंद्रगढ़ सदर थाने में तैनाती के दौरान एएसआई रामानंद उसकी ननदों के चल रहे दहेज के मामलों में जांच अधिकारी था। महिला ने बताया कि दहेज के चल रहे केसों में जांच अधिकारी का उनके घर पर आनाजाना था। इस दौरान उसने कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया। इसमें उसकी सास, पति और दोनों ननद एएसआई का साथ देती रहीं। 
 
... और पढ़ें

वारदात: टोल पर बदमाशों ने फायरिंग कर की तोड़फोड़ व लूटपाट, कई कर्मचारी घायल, सीमा विवाद में उलझी राजस्थान व हरियाणा पुलिस

दिल्ली-जैसलमेर नेशनल हाईवे पर महेंद्रगढ़ जिले के मंडी अटेली क्षेत्र में राजस्थान व हरियाणा की सीमा पर बने टोल टैक्स पर बीती रात बदमाशों ने तोड़फोड़ करते हुए लूटपाट की। इतना ही नहीं बदमाशों ने कई राउंड फायर कर टोल पर काम करने वाले आधा दर्जन कर्मचारियों को घायल कर दिया। जिसमें एक की हालत गंभीर बनी हुई है। घायल को रेवाड़ी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें बदमाश तोड़फोड़ करते हुए नजर आ रहे हैं।

जानकारी अनुसार एनएच-11 पर हरियाणा व राजस्थान की सीमा राजस्थान काठूवास में तीन महीने पहले ही टोल टैक्स बना है। जिस पर बीती रात्रि को बदमाशों ने तोड़फोड़ की। इसमें अशोक नामक कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं घटना की सूचना पाकर मांढण थाना व हरियाणा कुंड चौकी पुलिस पहुंची लेकिन तब तक बदमाश फरार हो गए।

अभी दोनों राज्यों की पुलिस सीमा विवाद में उलझी होने के कारण कोई केस दर्ज नहीं हुआ है। बताया जा रहा है कि जिस हिस्से में टोल प्लाजा बना हुआ है वह राजस्थान में है जबकि दूसरी तरफ हरियाणा सीमा है। वहीं जहां घटना घटी है वह हरियाणा की सीमा में है। टोल प्लाजा की घटना को देखते हुए राजस्थान की सीमा से सटे सभी कच्चे व पक्के मार्गों पर नाकाबंदी कर दी गई है। घटना की छानबीन करने में पुलिस प्रशासन गहनता से जुटा हुआ है। 
     
... और पढ़ें

महेंदग्रढ़: साढ़े सात किलो गांजे के साथ प्रवासी महिला काबू, पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर मारा था छापा

हरियाणा के महेंद्रगढ़ शहर थाना पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर सोमवार शाम को छापा मारकर एक महिला से सात किलो 500 ग्राम गांजा बरामद किया है। साथ ही आरोपी महिला को काबू कर लिया है। पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि शहर के वार्ड नंबर एक आदर्श कॉलोनी हनुमान मंदिर के नजदीक एक महिला अवैध रूप से गांजा बिक्री का कारोबार करती है।

सूचना के आधार पर थाना शहर पुलिस टीम ने एएसआई देवेंद्र कुमार व ड्यूटि मजिस्ट्रेट राजकीय पशु चिकित्सालय दौंगड़ा के वरिष्ठ चिकित्सक अरूण कुमार की देखरेख में महिला को अवैध गांजे के साथ काबू किया। महिला मूल रूप से झारखंड निवासी बताई जा रही है जो हाल आबाद महेंद्रगढ़ शहर के वार्ड नंबर एक की आदर्श कॉलोनी में रह रही थी। पुलिस टीम द्वारा महिला को काबू कर थाने ले जाया गया है।

एएसआई देवेंद्र सिंह ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि एक महिला नशे का कारोबार करती है। सूचना मिलने के उपरांत उच्चाधिकारियों के आदेशों के बाद डॉ. अरूण कुमार ड्यूटि मजिस्ट्रेट नियुक्ति कर टीम द्वारा महिला के मकान पर छापा मारा गया। जिससे करीब सात किलो 500 ग्राम गांजा बरामद किया गया है। महिला से पूछताछ की जा रही है। महिला से पूछताछ में नशे के अवैध कारोबार में जुड़े अन्य लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी।
... और पढ़ें

रिश्तों का कत्ल: जमीन को लेकर हुआ विवाद, चाचा ने भतीजे की कुल्हाड़ी से गर्दन पर वार कर की हत्या

थाने में गांजे की जांच करती पुलिस टीम।
हरियाणा के नारनौल के गांव बापड़ोली में शुक्रवार की रात एक मोबाइल नेटवर्क कंपनी का टॉवर लगाने और जमीन को लेकर हुए विवाद में चाचा ने कुल्हाड़ी से हमला कर भतीजे सुरेंद्र (45) की हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

सुरेंद्र के पुत्र अंकित ने आरोपी दादा एवं परिवार के तीन अन्य लोगों के खिलाफ सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस को दी शिकायत में गांव बापड़ोली निवासी अंकित कुमार ने कहा है कि उनका और उनके चाचा का मकान साथ-साथ है। उसके पिता सुरेंद्र ने अपनी जगह पर मोबाइल का टॉवर लगाया हुआ है। 6 मई को टॉवर में मशीन लगाने के लिए मजदूर आए थे। उसके दादा बाबूलाल ने इसका विरोध करते हुए कहा कि यह जमीन उनकी है।

रात को उसके पिता सुरेंद्र टॉवर के पास कुर्सी पर बैठे थे। अचानक उसका दादा बाबूलाल व उसका बेटा नरवीर अपने कुल्हाड़ी लेकर आए और कुर्सी पर बैठे उसके पिता की गर्दन पर पीछे से वार कर दिया। नजदीक खड़े जागे और कपूर सिंह ने ललकारते हुए कहा कि यह बचना नहीं चाहिए।

उन्होंने कहा कि हमने अपनी रंजिश का बदला ले लिया है और उसे भी मारेंगे की धमकी देते हुए वहां से भाग गए। चोट के कारण उसका पिता लहूलुहान होकर कुर्सी से नीचे गिर गए। इसके बाद पिता को निजी वाहन से नारनौल के नागरिक अस्पताल पहुंचाया गया जहां चिकित्सक ने उनको मृत घोषित कर दिया। बाबूलाल और उसके लड़के नरवीर ने कुल्हाड़ी से हमला कर पिता सुरेंद्र की हत्या कर दी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया है। 
 
... और पढ़ें

नारनौल: एटीएम को उखाड़कर ले जाने वाला एक आरोपी गिरफ्तार, पहले से 30 के करीब मामले हैं दर्ज

हरियाणा के नारनौल में महेंद्रगढ़ रोड स्थित एक्सिस बैंक के बाहर लगी एटीएम मशीन को उखाड़ कर ले जाने के मामले में पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। पुलिस ने वारदात के महत 72 घंटों में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान राहुल मेव निवासी गांव अडबर जिला नूंह के रूप में हुई है। आरोपी एटीएम उखाड़कर ले जाने की वारदात का मुख्य सरगना है।

जिस पर पहले भी हत्या का प्रयास, एटीएम लूट और अन्य वारदात के करीब 30 मुकदमें दर्ज है। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया है। जिससे रिमांड के दौरान वारदात में शामिल अन्य लोगों व एटीएम की राशि के बारे में पता किया जाएगा। एसपी विक्रांत भूषण ने बताया कि आरोपी को जिला पुलिस की टीम ने मेवात (नूहं) से गिरफ्तार किया है। 

गत 24-25 अप्रैल की रात्रि को बदमाशों ने महेंद्रगढ़ रोड स्थित एक बैंक के एटीएम बूथ मशीन को स्कॉरपियों गाड़ी से उखाड़ कर ले गए थे। इस मशीन में 17 लाख 36 हजार 500 रुपये थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी।

बैंक के मैनेजर देवेंद्र कुमार की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी थी। आरोपियों को पकड़ने के लिए अलग-अलग टीमें बनाई गई। जिनके द्वारा विभिन्न स्थानों पर दबिश दी जा रही है। स्पेशल स्टाफ महेंद्रगढ़ और सीआईए नारनौल की टीम ने मामले में कार्रवाई करते हुए एटीएम उखाड़कर ले जाने वाले एक आरोपी को मेवात (नूहं) से गिरफ्तार किया है। आरोपी राहुल मेव नूहं मेवात के अडबर का रहने वाला है।

बदमाशों को पकड़ने के लिए चार टीमें की गई गठित
बदमाशों को पकड़ने और मामले के खुलासे के लिए पुलिस अधीक्षक ने डीएसपी राजीव कुमार की अध्यक्षता में चार टीमों का गठन किया गया। जिसमें थाना शहर प्रबंधक नारनौल, सीआईए प्रबंधक नारनौल और स्पेशल स्टाफ प्रबंधक महेंद्रगढ़ के पुलिसकर्मियों की टीमों को शामिल किया गया। एसपी ने इस वारदात को गंभीरता से लेते हुए सीआईए नारनौल और स्पेशल स्टाफ महेंद्रगढ़ की टीमें गठित की। पुलिस टीम ने गहनता से जांच करते हुए सीसीटीवी फुटेज की जांच तथा सूत्रों की मदद से 72 घंटे के अंदर वारदात को सुलझाते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी को रिमांड पर लेकर की जाएगी पूछताछ
वारदात में शामिल जिला नूहं के गांव अडबर निवासी राहुल से पूछताछ की तो आरोपी ने वारदात को अंजाम देने में शामिल होना स्वीकार किया है। आरोपी को वीरवार को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान आरोपी से उसके साथियों के बारे में पूछताछ की जाएगी और एटीएम से लूटी गई नकदी बरामद की जाएगी। 

दिल्ली, राजस्थान में दे चुका है वारदात को अंजाम
पुलिस जांच में सामने आया है कि आरोपी पर पहले भी करीब ढाई दर्जन मामले दर्ज हैं। जिसमें हत्या का प्रयास, एटीएम चोरी और अन्य वारदातें शामिल है। पुलिस ने पता लगाया कि आरोपी हत्या के प्रयास के मामले में जेल में बंद था। 17 फरवरी को वह जेल से बाहर आया है। बाहर आने के बाद उसने दिल्ली के बदरपुर एवं हाली गांव में एटीएम चोरी की वारदात को अंजाम दे चुका है। तीसरी वारदात नारनौल में की है। 

पांच आरोपी जल्द होंगे गिरफ्तार
एसपी विक्रांत भूषण ने बताया कि शेष पांच आरोपी भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। गिरफ्तारी के बाद उनसे बहुत से खुल्लासे होंगे। न केवल हरियाणा, राजस्थान,  दिल्ली, एनसीआर, महाराष्ट्र क्षेत्र की वारदात के खुलासे होने की संभावना है। 

पुलिस कप्तान के रूप में पहली बड़ी उपलब्धि
विक्रांत भूषण झज्जर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रूप में तैनात थे। महेंद्रगढ़ में बतौर पुलिस अधीक्षक के रूप में कुछ दिन पहले ही ज्वाइन किया था। उनके आते ही पंजाब नेशनल बैंक में चोरी का प्रयास तथा एटीएम चोरी की दो बड़ी वारदात हो गई लेकिन वारदात के 72 घंटे बाद ब्लाइंड चोरी का मुख्य आरोपी गिरफ्तार करना बतौर पुलिस अधीक्षक एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है।
... और पढ़ें

महेंद्रगढ़: घर से सामान लेने के लिए निकला था युवक, दो गाड़ियों में सवार बदमाशों ने उठाया, चेन और मोबाइल छीनकर छोड़ा

हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के मंडी अटेली क्षेत्र में घर से सामान लेने के लिए युवक की कार और बोलेरो सवार बदमाशों ने उनिंदा मोड़ से अपहरण कर लिया। सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे हुई वारदात के दौरान युवक बदमाशों ने बचने के लिए एक व्यक्ति के घर में घुस गया, बदमाशों ने उसे वहां से निकालकर गाड़ी में डाल लिया।

हथियार के बल पर युवक के अपहरण की जानकारी मिलने पर पुलिस टीम तथा उप पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मौके पर पहुंचे। पुलिस प्रशासन से सक्रिय होने पर आरोपी युवक को गोकलपुर के पास पेट्रोल पंप के समीप छोड़कर फरार हो गए। जाते-जाते बदमाश उसकी चांदी की चेन और मोबाइल साथ ले गए। युवक की शिकायत पर अटेली पुलिस ने आधा दर्जन से अधिक युवकों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

 गांव बेगपुर निवासी 18 वर्षीय प्रवीण कुमार ने बताया कि वह सोमवार सुबह साढ़े 9 बजे अपने घर से अटेली सामान लेने जा रहा था। जब वह उनिंदा मोड़ पर पहुंचा तो वहां पर उसे तुर्कियावास निवासी ऋषभ मोटरसाइकिल लेकर मिला। जैसे ही वह उसकी मोटरसाइकिल पर बैठने लगा तो वहां पर एक बोलेरो और एक कार आकर रुकी।

उसमें से लाठी-डंडे लेकर 7-8 युवक निकले और उसकी ओर दौड़े। वह उन्हें देखकर पास के एक मकान में घुस गया, लेकिन बदमाशों ने उसे जबरन उठाकर गाड़ी में डाल लिया। उसके साथी ने इसकी जानकारी डायल 112 पर दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंच गई।

प्रवीण का कहना है कि अपहरणकर्ताओं ने गाड़ी में डालने के बाद उसकी पिटाई की। आरोपी आपस में एक-दूसरे का नाम लेकर बात कर रहे थे। एक युवक ने खुद को माजरा का फौजी तथा दूसरा सोनू सुरानी बता रहा था। अपहरणकर्ताओं ने युवक का मोबाइल फोन तथा चांदी की चेन छीनकर गोकुलपुर पेट्रोल पंप के पास छोड़कर फरार हो गए।

प्रवीण ने किसी अन्य व्यक्ति के मोबाइल से फोन कर इसकी सूचना परिजनों को दी। परिवार के लोग मौके पर पहुंचे और उसे अस्पताल लेकर गए। चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार देकर उसे छुट्टी दे दी। पुलिस ने युवक के बयान पर अज्ञात युवकों के खिलाफ आर्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करने के बाद आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

हरियाणा: नूंह में एटीएम चोर को पकड़ने गई महेंद्रगढ़ सीआईए टीम पर हमला, आरोपी को छुड़वाय

हरियाणा के जिला नूंह मेवात के पल्ला गांव में आरोपी राहुल को अल सुबह 2.30 बजे एटीएम चोरी के मामले में पकड़ने गई महेंद्रगढ़ सीआईए टीम पर ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। इस दौरान उनके साथ मारपीट कर उनके दो पिस्टल छीन लिए और हिरासत में लिए आरोपी राहुल को छुड़वाकर ले गए। इसके अलावा पुलिस की बोलेरो गाड़ी के शीशे भी तोड़ दिए। इस दौरान छह पुलिस कर्मचारियों को चोटें भी लगीं। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना किया। सीआईए टीम महेंद्रगढ़ इंचार्ज उमर मोहम्मद की शिकायत पर 15 नामजद और 20 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।  

बता दें कि रविवार-मंगलवार की रात को स्टेट हाईवे स्थित एक्सिस बैंक का एटीएम चोरी कर ले गए थे, जिसमें लगभग 17 लाख 35 हजार 600 रुपये थे। आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने सीआईए महेंद्रगढ़, सीआईए नारनौल और थाने की टीम गठित की थी। पुलिस तीन-चार दिनों से आरोपियों को पकड़ने के लिए मेवात में ही दबिश दे रही है। 
 
सूत्रों से सीआईए टीम को पता चला कि गांव पल्ला जिला नूंह में राहुल नामक युवक एटीएम कटर का कार्य करता है। इसके बाद सीआईए टीम ने वीरवार अल सुबह 2.30 बजे उसके मकान में दबिश देकर सो रहे युवक को हिरासत में लिया था। मौके पर वहां शोरशराबा हो गया। आवाज सुनकर गांव के लोग एकत्रित हो गए। इस दौरान उन्होंने लाठी-डंडों से पुलिस कर्मचारियों के साथ मारपीट की।

साथ ही उनकी बोलेरो गाड़ी के शीशे तोड़ दिए और दो पिस्टल भी छीन लिए। इस दौरान इंचार्ज उमर मोहम्मद, सिपाही संदीप, रविंद्र, राकेश, दीपक, प्रविंद्र को हलकी चोटें आईं।  इसके बाद टीम इंचार्ज उमर मोहम्मद ने इसकी सूचना नूंह सदर थाने में दी। मौके पर पहुंचे स्थानीय पुलिस कर्मचारियों ने मौका मुआयना किया। इसके बाद थाना उमर मोहम्मद की शिकायत 15 नामजद और 20 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया। 

दबिश में चूक : स्थानीय पुलिस का नहीं लिया सहयोग
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीआईए की 12 सदस्यीय टीम अल सुबह गांव पल्ला पहुंच गई थी। टीम के सभी सदस्य सादी वर्दी में थे। रेड के समय उन्होंने स्थानीय पुलिस को भी साथ नहीं लिया और न ही वहां के पुलिस अधीक्षक को जानकारी दी गई। अगर स्थानीय पुलिस को साथ लेकर गांव का घेराव किया जाता तो सफलता हाथ लग सकती थी।

लापरवाही की वजह से शक के आधार पर हिरासत में लिए गए राहुल को भी ग्रामीण छुड़वा ले गए और पुलिस को मार भी खानी पड़ी। होडल रोड से दूसरे आरोपी राहुल निवासी अरबड को गिरफ्तार किए जाने पर पता चला कि पहले वाला राहुल भी इस मामले में आरोपी था। सूत्रों के अनुसार राहुल एटीएम कटर का काम करता है। वह नूंह क्षेत्र में इन मामलों संलिप्त रहता है। अगर वह हिरासत में आ जाता तो पुलिस को एटीएम चोरों के बारे में जानकारनी हाथ आ सकती थी। 

एक टीम दे रही उत्तर प्रदेश में दबिश
सूत्रों के अनुसार एटीएम चोरों को पकड़ने के लिए एक टीम उत्तर प्रदेश के मऊ (आगरा) में दबिश दे रही है। इस समय पुलिस उनकी मोबाइल लोकेशन से ट्रैस कर रही है। वर्तमान में उनकी लोकेशन मऊ में मिली है तो पुलिस वहां उन्हें गिरफ्तार करने गई हुई है।
 
 
... और पढ़ें

नारनौल:  स्टेट हाईवे स्थित 17.35 लाख रुपयो से भरा एटीएम उखाड़ ले गए नकाबपोश, दोपहर बाद गांव कांटी से बरामद की टूटी एटीएम

हरियाणा के नारनौल में नकाबपोश बदमाश रविवार रात को महेंद्रगढ़-नारनौल स्टेट हाईवे पर स्थित एक्सिस बैंक के बाहर लगी एटीएम मशीन उखाड़ ले गए। इसमें लगभग 17,35,600 रुपये की नकदी थी। बदमाशों ने पुलिस कप्तान एवं डीसी आवास से मात्र 150 मीटर दूरी पर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने टूटी हुई एटीएम गांव कांटी से बरामद की। पुलिस ने बैंक मैनेजर देवेंद्र कुमार की शिकायत पर मामला दर्ज कार्रवाई आरंभ कर दी है। पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई।

जानकारी अनुसार रविवार की रात को करीब डेढ़ बजे 5-6 बदमाश काले रंग की स्कॉर्पियो में आए। आते ही नकाबपोश बदमाशों ने वहां लगे सीसीटीवी कैमरों पर स्प्रे कर दिया। पुलिस के अनुसार जिस तरह वारदात को अंजाम दिया है उससे लगता है कि बदमाशों ने लोहे की चेन एटीएम में बांधकर उसे गाड़ी से खींचा जिससे वह उखड़ गई और वे उसे गाड़ी में डालकर फरार हो गए।

एटीएम में लगभग 17,35,600 रुपये की नकदी थी। सूचना मिलने पर रात को ही बैंक मैनेजर बैंक पहुंच गए थे। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने मौका मुआयना किया तथा सीसीटीवी फुटेज चेक किए। सोमवार को पुलिस ने गांव कांटी से टूटी हुई एटीएम बरामद कर ली। पुलिस आरोपियों को पकड़ने में जुटी हुई है। 

सुरक्षा व्यवस्था शून्य
बता दें कि एटीएम बूथ पर सुरक्षा व्यवस्था बिल्कुल शून्य रही। एटीएम बूथ पर गार्ड तैनात नहीं था तथा एटीएम बूथ खुला हुआ था। एक सप्ताह में दो घटना होने के बाद भी बैंक मैनेजर एटीएम तथा बैंकों की सुरक्षा के लिए सचेत नजर नहीं आ रहे हैं। इस मामले में डीसी ने बैठक कर बैंक अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश भी दिए थे।

बदमाशों के हौसले इतने बुलंद थे कि एक तो महेंद्रगढ़-नारनौल स्टेट हाईवे पर अंजाम दिया जहां पर 24 घंटे वाहनों का आवागमन रहता है। वहीं इसी रोड पर एक्सिस बैंक से 150 मीटर दूरी पर पुलिस कप्तान तथा डीसी का आवास है तथा महाबीर पुलिस चौकी भी है। 
 
... और पढ़ें

महेंद्रगढ़: नवजात की हत्या की आशंका, श्मशान से शव निकाला, चिकित्सकों के बोर्ड ने किया पोस्टमार्टम

महेंद्रगढ़ के गांव डेरोली जाट में करीब एक सप्ताह पूर्व जन्मी नवजात कन्या की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत पर ग्रामीणों द्वारा मामले की जांच की मांग को लेकर पुलिस को शिकायत दी। शिकायत के बाद विभिन्न विभागों की टीमों ने गांव में पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल पहुंचाया। शव का चिकित्सकों के बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करवा शव ग्रामीणों को सौंप दिया।

बुधवार को ग्रामीणों गांव डेरोली जाट के ग्रामीणों ने शिकायत देकर नवजात की मौत की जांच कराने की मांग की गई थी। बुधवार शाम को ही एसडीएम दिनेश कुमार की देखरेख में ड्यूटी मजिस्ट्रेट जन स्वास्थ्य विभाग के अभियंता प्रदीप कुमार, सदर थाना पुलिस, चिकित्सकों की टीमें मौके पर पहुंच गई। शाम को श्मशान घाट से शव नहीं निकालने के कारण वहां ग्रामीणों एवं पुलिस की तैनाती कर दी गई। शुक्रवार सुबह चार बजे सभी टीमों ने पहुंचकर शव को निकालकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़ पहुंचाया। चिकित्सकों के बोर्ड द्वारा शव का पोस्टमार्टम किया गया। 

ग्रामीणों ने यह दी थी शिकायत 
डेरोली जाट के ग्रामीणों द्वारा गांव के ही एक व्यक्ति पर एक सप्ताह पूर्व जन्मी कन्या की हत्या का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की थी। ग्रामीणों द्वारा दी गई शिकायत में आरोप लगाया है कि यह व्यक्ति आपराधिक प्रवृत्ति का है तथा इसने करीब डेढ़ वर्ष पूर्व अपने माता-पिता की भी हत्या कर दी थी लेकिन इसके तीन बेटियां होने के कारण ग्रामीणों ने इसकी कोई शिकायत नहीं दी थी। ग्रामीणों का आरोप है कि तीन बेटियां होने के बाद अब चौथी संतान के रूप में बेटी होने पर नवजात के पिता ने ही अपनी पत्नी के साथ मिलकर कन्या की हत्या की है। ग्रामीणों द्वारा इस मामले में पुलिस द्वारा शीघ्र जांच प्रक्रिया पूरी कराने की मांग भी गई है। 
   
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00