बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

कोरोना के चलते इटली नहीं गया, फिर भी यमराज ले गए उसे, लाठी-डंडों से पीट-पीट कर मार डाला

एक युवक कोरोना के चलते इटली नहीं जा पाया, लेकिन फिर भी उसे मौत आ गई। कुछ युवकों ने लाठी-डंडों और रॉड से पीट-पीटकर उसी हत्या कर दी। मामला हरियाणा के करनाल जिले का है। तरावड़ी के गांव रमाणा रमाणी में बाइक पर सवार होकर मां को दवा दिलाने गये इकलौते बेटे की गांव के ही कुछ व्यक्तियों ने लाठी डंडे और लोहे की रॉड से मारकर हत्या कर दी।

इस दौरान युवक की मां भी चोटिल हो गई। दोपहर तक मृतक युवक के परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी पर अड़े रहे। गिरफ्तारी नहीं होने तक उन्होंने पोस्टमार्टम कराने से भी इंकार कर दिया। तरावड़ी थाना प्रभारी सचिन ने परिजनों को समझाया तो दोपहर बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इसके बाद अंतिम संस्कार भी कर दिया गया।

मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है। दूसरी ओर वारदात के बाद आरोपी पक्ष ने युवक के खिलाफ लड़की से छेड़छाड़ की शिकायत दी है। पुलिस के अनुसार जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

करनाल: कार में मिला जज के पति का शव, मुंह से निकल रहा था झाग, जताई गई हत्या की आशंका

करनाल जिला कोर्ट में तैनात एक महिला जज (ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी) के पति का शव निसिंग थाना क्षेत्र में गांव औगंद से गोंदर जाने वाली सड़क पर बंद ऑल्टो कार में मिला। मृतक के मुंह से झाग निकल रहा था। पुलिस ने शिकायत के आधार पर हत्या का केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

पुलिस को दी गयी शिकायत में ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी पवनदीप कौर ने बताया कि वह अपने बेटे के साथ 13 मार्च को मायके पानीपत मॉडल टाउन चली गई थीं। वहीं पति रवि वर्मा 31 वर्षीय करनाल में सेशन मार्ग स्थित सरकारी निवास- 8 में थे। दोपहर 1.30 बजे पति रवि वर्मा से फोन पर बातचीत हुई थी तो उस समय अन्य लोगों की भी आवाज आ रही थी।

उसके बाद रवि वर्मा से कोई संपर्क नहीं हुआ। शनिवार सुबह निसिंग थाना से ही रवि वर्मा के शव मिलने की सूचना मिली। आरोप है कि किसी ने पति की हत्या कर शव कार में डाला है। ऑल्टो कार कुछ दिन पहले ही खरीदी गयी थी। इससे पहले घटना की सूचना पर डीएसपी असंध दलबीर सिंह, निसिंग थाना प्रभारी रामफल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस के अनुसार कार में रवि वर्मा बायीं सीट पर पड़े थे। वहीं एफएसएल टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाये।

इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के शव गृह में पहुंचाया। वहां पवनदीप कौर के अलावा जिला सेशन जज जगदीप जैन समेत अन्य कई न्यायाधीश भी पहुंचे। उन्होंने मामले की पूरी जानकारी लेकर परिजनों का ढांढस बंधाया। पुलिस का कहना है कि विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा होगा।
... और पढ़ें

गार्ड पर बंदूक तनी देख 100 नंबर पर किया कॉल, 3 मिनट में पहुंची पीसीआर, एटीएम लुटने से बचा

हरियाणा के करनाल जिले में सेक्टर-3 की मार्केट में स्थित एचडीएफसी बैंक के एटीएम को फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों ने लुटने के बचा लिया। एटीएम लूटने आए बदमाशों ने जैसे ही सिक्योरिटी गार्ड पर बंदूक तानकर भगाया, फुटपाथ पर लेटे मजदूरों ने यह देखकर 100 नंबर पर कॉल कर दिया।

वीटी होने के बाद तीन मिनट बाद ही पीसीआर सायरन बजाते हुए मौके पर पहुंच गई। तभी सायरन की आवाज सुनकर चाराें बदमाश देसी कट्टा, कुल्हाड़ी व 27 लाख से भरा रस्सी से बंधा एटीएम आदि मौके पर छोड़कर फरार हो गए। एसपी सुरेंद्र भौरिया ने सीआईए-1, सीआईए-2 समेत चार टीमों को जांच में लगाया है। आरोपियों के आने-जाने की फुटेज तलाश की जा रही है।

सिक्योरिटी गार्ड पर देसी कट्टा तान मौके से भगाया....
एचडीएफसी बैंक सेक्टर-3 के मैनेजर गौरव अरोड़ा ने बताया कि आधी रात करीब 1.30 बजे उसके पास बैंक के सिक्योरिटी गार्ड चंद्र प्रकाश का फोन आया। उसने बताया कि अभी-अभी एक ब्रेजा कार में से करीब 4 व्यक्ति एटीएम पर आए और इनमें से एक के हाथ में देसी कट्टा, दूसरे के हाथ में कुल्हाड़ी व एक के हाथ में मोटा रस्सा था।

उन्होंने उसे देशी कट्टा दिखाते हुए कहा कि यहां से भाग जा और दरवाजा खोलकर एचडीएफसी बैंक के एटीएम में रस्सा डालकर उसे कार से बांधकर बाहर खींच लिया और गाड़ी में डालने का प्रयास करने लगे। तभी फुटपाथ पर लेटे मजदूरों यह देखकर 100 नंबर पर पुलिस को सूचना दी।

करीब 3 मिनट के अंदर पीसीआर-5 सायरन बजाती हुई आ गई और बदमाश एटीएम मशीन छोड़कर भाग गए। इस सूचना पर वे तुरंत भी मौके पर पहुंचे। एटीएम लूटने आए आरोपी मौके पर देसी कट्टा, कुल्हाड़ी व रस्सा छोड़कर भाग गए। उन्होंने चेक किया तो एटीएम में लगभग 27 लाख रुपये का कैश सुरक्षित था और मशीन टूटी थी।
... और पढ़ें

परिजनों को हत्या की आशंका: घर में मिला बुजुर्ग महिला का शव, जांच में मिली कोरोना पॉजिटिव

हरियाणा के करनाल में जुंडला गेट स्थित लाल कुआं के समीप शुक्रवार को एक बुजुर्ग महिला का शव मिला है, जिसके आसपास खून पड़ा था। घर में महिला का शव होने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल की। पुलिस के अनुसार जांच के लिए महिला का कोरोना सैंपल जांच को भेजा गया, जो पॉजिटिव आया है। इस कारण उसका पोस्टमार्टम भी नहीं कराया गया। 

दूसरी ओर मामले में परिजनों ने पड़ोसी पर हत्या का आरोप लगाया है। शिकायत के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर रही है। गांव बलड़ी निवासी राहुल ने बताया कि मृतक बुजुर्ग महिला जमनादेवी उसकी नानी थी। वह घर पर अकेली ही रहती थी। उसकी मां बलड़ी से नानी के पास आती जाती थी। 

कई बार नानी ने बताया कि पड़ोस का लड़का उनके साथ झगड़ता है। कई बार उसने मारपीट भी की है। आरोप है कि वह मकान को बेचने का दबाव बनाता था। इस कारण परिजनों को आशंका है कि उसी ने बुजुर्ग महिला की हत्या की है। परिजनों का आरोप है कि शिकायत के बाद भी पुलिस उनकी सुनवाई नहीं कर रही है।

दूसरी ओर सिटी थाना प्रभारी संदीप कुमार का कहना है कि एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया गया था लेकिन महिला के शरीर पर किसी प्रकार का चोट का निशान नहीं है। इस मामले की जांच की जा रही है। महिला कोरोना पॉजिटिव निकली है, इस कारण पोस्टमार्टम नहीं कराया जा सका है।
... और पढ़ें
जांच करती पुलिस टीम। जांच करती पुलिस टीम।

हरियाणा : करनाल में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई किशोरी ने फंदा लगाकर दी जान

दो साल पहले सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई एक किशोरी ने शुक्रवार को फंदे पर लटककर जान दे दी। आरोप है कि आरोपियों के परिजनों की ओर से लगातार धमकी दी जा रही थी लेकिन शिकायत के बावजूद पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे तंग आकर किशोरी आत्मघाती कदम के लिए मजबूर हो गई। किशोरी के परिजनों का कहना है कि यदि पुलिस मामले को पहले गंभीरता से लेती तो शायद किशोरी आत्महत्या नहीं करती। 

घटनाक्रम के अनुसार दो साल पहले करनाल की एक कालोनी में रहने वाली किशोरी से चार आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। शिकायत के बाद केस दर्ज कर पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया था। इसके बाद से आरोपियों के परिजन केस वापस लेने के लिए पीड़िता के परिजनों पर दबाव बनाते रहे और धमकी देते रहे। 

परिजनों के अनुसार सामूहिक दुष्कर्म के बाद से किशोरी परेशान चल रही थी। वहीं आरोपियों के परिजनों की ओर से पिता को भी जान से मारने की धमकी दी गई थी। इस कारण नाबालिग के पिता ने वहां से घर छोड़कर कहीं और ले लिया। इसके बाद भी आरोपियों ने पीछा नहीं छोड़ा। खुद को बचाने के लिए पीड़िता के परिजनों ने कई जगह घर बदला। इस दौरान पुलिस से भी मदद मांगी लेकिन सहायता नहीं मिल सकी। 
... और पढ़ें

करनाल में हादसा : डेरी से निकले दो चचेरे भाइयों पर पलटा कंटेनर, दोनों की जान गई 

करनाल में सोमवार सुबह जीटी रोड पर गांव श्यामगढ़ के पास उत्तर प्रदेश के रहने वाले दो चचेरे भाइयों की मौत हो गई। हादसा सुबह करीब 6 बजे हुआ। दोनों भाई मॉडर्न डेरी से अपना काम कर घर की तरफ निकले थे।

इसी दौरान एक कंटेनर अनियंत्रित होकर उनके ऊपर पलट गया, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और क्रेन की मदद से दोनों भाइयों को कंटेनर के नीचे से निकाला। दोनों भाइयों के शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है। 


मृतकों के भाई विकास ने बताया कि वह उत्तर प्रदेश में जिला सहारनपुर के गांव धुंधा माजरा के रहने वाले हैं। उसका सगा भाई हिमांशु (23) और चचेरा भाई दीपक (35) श्यामगढ़ स्थित मॉडर्न डेरी में काम करते थे। सोमवार सुबह 6 बजे उनकी शिफ्ट खत्म हुई तो वह बाइक पर उत्तर प्रदेश में अपने घर की ओर जा रहे थे। 

जैसे ही वह डेरी से बाहर निकले तो जीटी रोड पर एक अनियंत्रित कंटेनर उनकी बाइक के ऊपर पलट गया जिससे वह कंटेनर के नीचे दब गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। तरावड़ी थाना के जांच अधिकारी सुखविंदर इस मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है और कंटेनर को कब्जे में ले लिया है। 
 
... और पढ़ें

धुंध में हादसा : कैंटर की टक्कर से स्कॉर्पियो सवार पांच जख्मी, सीट के नीचे मिले 16 लाख रुपये

हरियाणा के करनाल में जीटी रोड के समीप पश्चिमी यमुना नहर बाईपास पर गहरी धुंध के कारण एक स्कॉर्पियो और कैंटर की आमने-सामने की टक्कर हो गई, जिसमें स्कॉर्पियो सवार पांच लोग घायल हो गये। इनमें तीन व्यक्ति पंजाब के पटियाला और संगरूर जिले के रहने वाले हैं, जबकि दो व्यक्ति करनाल के शामगढ़ के हैं।

दुर्घटना की सूचना पर एंबुलेंस और सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। घायलों को अस्पताल में दाखिल कराया गया। वहीं पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त गाड़ी की सीट के नीचे से 16 लाख रुपये बरामद किये हैं। इस संबंध में घायलों को कहना है कि वह कंबाइन खरीदने के लिये जींद जा रहे थे। 

सदर थाना जांच अधिकारी संजय ने बताया कि करनाल के शामगढ़ निवासी दिलराज, रामरतन, पटियाला के गांव करसू कलां निवासी अमृतपाल, गांव नाबा निवासी अमरीक और संगरूर के गांव लाडेवाल निवासी हकम सिंह स्कॉर्पियो में सवार होकर शामगढ़ से जींद के लिए चले थे, जहां से उन्हें कंबाइन खरीदकर लानी थी। 



सुबह के समय जब वह जीटी रोड कर्ण लेक के समीप से गुजर रहे थे। तभी पश्चिमी यमुना नहर बाईपास पर गहरी धुंध के कारण उनकी गाड़ी सामने से आ रहे कैंटर से टकरा गई। हादसे में स्कॉर्पियो सवार सभी घायल हो गये। उन्हें प्राइवेट अस्पताल में दाखिल कराया गया। 

सूचना पर पहुंची पुलिस को उन्होंने बताया कि गाड़ी की सीट के नीचे कुछ रुपये रखे हैं। मौके पर जाकर पुलिस ने 16 लाख रुपये बरामद किये। घायलों के अनुसार वे 31 लाख रुपये लेकर कंबाइन खरीदने के लिए जींद जा रहे थे। बाकी के 15 लाख रुपये घायलों के पास ही थे। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

करनालः घर से 200 मीटर की दूरी पर मिलीं तीन भाइयों की लाशें, एक की अगले माह थी शादी

स्कॉर्पियों में सीट के नीचे मिले 16 लाख रुपये।
हरियाणा के करनाल जिले के असंध में कबुलपुर खेड़ा के समीप शनिवार रात को तीन चचेरे भाइयों की जान चली गई। इनमें से एक भाई की शादी मार्च में थी तो वहीं दूसरा भाई अपनी होने वाली संतान का चेहरा भी नहीं देख पाया। उसकी पत्नी गर्भवती है। इनमें दो भाई चचेरे हैं तो एक बुआ का लड़का है। हालांकि परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी लेकिन पुलिस का कहना है कि किसी अज्ञात वाहन की चपेट में आने से तीनों की मौत हुई है।

पुलिस ने पोस्टमार्टम करा शवों को परिजनों को सौंप दिया है। बता दें कबुलपुर खेड़ा निवासी बंटी, अक्षय व कुंजपुरा के गांव खराजपुर निवासी रविंद्र पानीपत के मतलौडा में पिज्जा की दुकान पर काम करते थे। बंटी और अक्षय दोनों चचेरे भाई थे और रविंद्र इनकी बुआ का लड़का। वह अपने मामा के घर कबुलपुर खेड़ा में ही रहता था। 

रविंद्र की मार्च में शादी होनी थी और बंटी की पत्नी को इसी माह संतान होना है। ये तीनों भाई शनिवार रात को बाइक पर सवार होकर मतलौडा से गांव कबुलपुर खेड़ा आ रहे थे। लेनिक वह घर नहीं पहुंचे। सुबह तीनों भाइयों के शव गांव के समीप व घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर गन्ने के खेत में सड़क के किनारे मिला। तीनों के चेहरे पर गहरी चोट लगी है। मौके पर एक लोहे की रॉड पड़ी थी। सूचना मिलने पर परिजन मौके पर पहुंचे और पुलिस भी मौके पर पहुंची। परिजनों ने हत्या का शक जाहिर किया लेकिन पुलिस फिलहाल इसे सड़क हादसा बता रही है और मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

हादसे पर हादसा : करनाल में एक ही जगह पर दो सड़क हादसे, तीन की मौत, चार घायल

मूनक रोड घोघड़ीपुर फ्लाईओवर के समीप शुक्रवार रात करीब नौ बजे एक ही जगह पर दो सड़क हादसे हो गए। जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई। करीब चार लोग घायल हो गए। मूनक की ओर से ट्रैक्टर ट्राली चालक अशोक कालोनी करनाल निवासी अंकेश अपने एक साथी के साथ शहर की ओर आ रहा था तभी पीछे से आए तेज रफ्तार डंपर ने ट्रैक्टर ट्राली को टक्कर मार दी। इस हादसे में ट्रैक्टर चालक अंकेश की मौके पर ही मौत हो गई, दूसरा साथी घायल हो गया।। 

इस हादसे के बाद सड़क पर राहगीर एकत्र हो गए और पुलिस जांच कर ही रही थी कि मूनक की ओर से आ रही एक तेज रफ्तार कार भीड़ में घुस गई जिससे यहां खड़े बाइक सवार कुटेल निवासी जसवीर व गगसीना निवासी जगबीर गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को नागरिक अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। चार अन्य लोग चोटिल हो गए हैं। इस हादसे की सूचना पर सदर थाना प्रभारी बलजीत भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। मृतकों को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया है।

शराब के नशे में था कार चालक
राहगीरों ने बताया कि जिस वरना कार ने लोगों को टक्कर मारी है। उसके अंदर दो व्यक्ति सवार थे। जो नशे में दिख रहे थे। इसी कारण वह कार को तेज रफ्तार चला रहे थे। इस कार ने दो बाइकों को टक्कर मारी है और एक बाइक सवार को अपने साथ ही करीब 50 मीटर तक घसीटते हुए ले गए। इसके बाद लोगों ने उस बाइक सवार को अस्पताल पहुंचाया।
... और पढ़ें

सीआईडी व आयकर अधिकारी बन वारदात करता है ये गिरोह, पूर्व मंत्री के फार्म पर डाली थी डकैती

अधिकारी बनकर घरों में लूट, डकैती की वारदातों को अंजाम देने वाले एक गिरोह के चार बदमाशों को पुलिस की सीआईए-वन टीम ने गिरफ्तार किया है। इन बदमाशों ने 2019 और 2020 में हुई डकैती व लूट की छह बड़ी वारदातों का पर्दाफाश किया है। पूछताछ में सामने आया है कि ये लुटेरे फिल्मी अंदाज में सीआईडी व इनकम टैक्स अधिकारी बनकर घरों में घुसते थे और घर के सभी सदस्यों को पिस्तौल के बल पर बंधक बनाकर डकैती व लूट करते थे। 

एसपी गंगा राम पूनिया ने बताया कि सीआईए-1 टीम के इंचार्ज निरीक्षक दिपेंद्र सिह के नेतृत्व में सीआईए-1 की टीम ने सबसे पहले संदीप उर्फ सोनू निवासी सुंदर नगर चौसाना, जिला शामली को 22 दिसंबर को काबू किया था। जिससे पूछताछ के बाद राहुल, सुमित उर्फ काला व मोहित उर्फ काली निवासी गांव गढ़ी झंझारा थाना गन्नौर, सोनीपत को 23 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया।


जब आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि किसी मुखबिर द्वारा महत्वपूर्ण सूचना उपलब्ध करायी जाती थी जिसके बाद इनके द्वारा उस स्थान की रेकी कर हथियारों के बल पर वारदात की जाती थी। जांच के दौरान यह भी सामने आया है कि आरोपियों में सोनू, राहुल व प्रकाश का पूर्व आपराधिक इतिहास भी रहा है। पुलिस ने चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है।
... और पढ़ें

करनाल में पुलिस चौकी के पास बड़ी वारदात, राइस मिलर के परिवार को बंधक बना लाखों की लूट

करनाल में पुलिस चौकी के समीप शनिवार रात को पिस्तौल व चाकू की नोक पर राइस मिलर के परिवार को बंधक बनाकर तीन बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया। तीनों बदमाश घर से करीब 15 लाख रुपए की नकदी एक किलो सोना व चांदी के गहने लूट कर ले गए और जाते हुए बदमाश राइस मिलर की क्रेटा गाड़ी भी साथ ले गए। 

इस वारदात के करीब दो घंटे बाद परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। फिलहाल पुलिस ने घरौंड़ा के समीप जीटी रोड से राइस मिलर की क्रेटा गाड़ी को बरामद कर लिया है। परिवार में इस वारदात के बाद डर बना है। सेक्टर- नौ निवासी राजेश सिंगला ने बताया कि शनिवार रात करीब 8:00 बजे तीन बदमाश उनके घर में घुसे।

पहले उन्होंने उनके नौकर को गन प्वाइंट पर लिया फिर उन्होंने घर के अंदर घुसकर सभी सदस्यों को बंधक बना लिया और उसके बेटे को चाकू की नोक पर लेकर घर से करीब 15 लाख रुपए नकद और एक किलो सोने-चांदी के गहने लूट लिए। जाते-जाते बदमाश अपने साथ क्रेटा कर भी ले गए। वारदात के बाद वह डरे हुए थे। काफी समय बाद उन्होंने इसकी सूचना अपने भाई को दी और फिर उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी।

पुलिस की सीआईए सहित कई टीमें मौके पर पहुंची और एसपी गंगाराम पूनिया ने भी मौके पर पहुंच कर परिजनों से बात की। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने मामला दर्जकर लिया है और जांच शुरू कर दी है। एसपी गंगाराम पूनिया का कहना है कि मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी है। आस-पास के सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। पुलिस अलग-अलग पहलुओं पर जांच कर रही है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

हादसे : किसान आंदोलन में जा रहे युवक की मौत, कुरुक्षेत्र में किसान की गई जान, छह अन्य घायल

पंजाब के होशियारपुर जिले के ठाणा गांव से सिंघु बार्डर पर किसान आंदोलन में जा रहे एक युवक की ट्राली से गिरकर मौत हो गई। जानकारी के अनुसार मंगलवार रात करीब साढ़े दस बजे बाद जब किसानों की ट्राली करनाल के नमस्ते चौक के समीप फ्लाइओवर से गुजर रही थी तभी उसमें बैठा 16 वर्षीय गुरजिंद्र सिंह अचानक सड़क पर गिर गया और पीछे से आ रहे अज्ञात वाहन ने उसे कुचल दिया जिससे उसकी मौत हो गई। 

पंजाब से कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज पहुंचे परिजनों और ग्रामीणों ने बताया कि जब मंगलवार को आंदोलन में जाने के लिए ट्राली तैयार की तो गुरजिंद्र ने भी जाने की जिद की। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। मामा मंदीप सिंह ने बताया कि गुरजिंद्र ने इसी साल दसवीं उत्तीर्ण की थी। वह परिवार का इकलौता बेटा था। उसकी एक बहन है। जब गुरजिंद्र पांच साल का था तब उसके पापा जसविंद्र सिंह अमेरिका चले गए थे। करीब दस साल से वह वहीं रहते हैं। सेक्टर-चार चौकी प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि पंजाब के होशियारपुर निवासी युवक की मौत हो गई है। मृतक का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है।


ट्रैक्टर ट्रॉली को ट्रक ने मारी टक्कर, किसान की मौत
उधर, कुरुक्षेत्र के शाहाबाद के निकट जीटी रोड पर मोहड़ा के निकट दिल्ली से लौट रही एक ट्रैक्टर ट्राली को ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में एक किसान की मौत हो गई, जबकि छह किसान गंभीर रूप से जख्मी हो गए। हादसे का शिकार हुए किसानों को तत्काल जीटी रोड पर स्थित मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां गंभीर रूप से घायल पंजाब के नवांशहर निवासी किसान गुरप्रीत (22) को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने हादसे की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

करनाल में पुलिस के सामने ताबड़तोड़ फायरिंग, तीन लोगों की मौत, नौ घायल, थाना प्रभारी सस्पेंड

करनाल के मूनक थाना क्षेत्र के गांव गगसीना में बुधवार सुबह जमीन विवाद को लेकर पुलिस की मौजूदगी में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर तीन लोगों की हत्या कर दी। वहीं नौ लोग घायल हो गए। जिसमें दो लोगों की हालत गंभीर बनी है। हमलावरों ने कई राउंड फायरिंग किए और हथियार लहराते हुए भाग निकले। 

घायलों को घरौंडा के सरकारी अस्पताल में दाखिल कराया गया है और गंभीर रूप से घायल दो व्यक्तियों को रेफर कर दिया। आक्रोशित परिजनों ने मौके पर मौजूद दो मृतकों के शवों को उठाने नहीं दिया। वे वारदात के लिए पुलिस प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हुए मूनक थाना प्रभारी को सस्पेंड करने व हत्यारोपियों की गिरफ्तारी पर अड़ गए।


करीब पांच घंटे बाद एसपी गंगाराम पुनिया मौके पर पहुंचे और परिजनों की मांग पर मूनक थाना प्रभारी एसआई कुलदीप को सस्पेंड कर जांच के निर्देश दे दिए। तब जाकर ग्रामीणों ने मृतकों के शव उठाने दिए। गांव में तनाव के चलते भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। साथ ही विरेंद्र की शिकायत पर गोली चलाने वाले एक पक्ष के करीब 38 लोगों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्जकर लिया। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन