विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाणा की बेटी ने जीता गोल्ड मेडल, चीन की सरजमी में फहराया तिरंगा, कई रिकॉर्ड हैं नाम

महिला कुश्ती प्रतियोगिता में 53 किलोग्राम कैटेगरी में निर्मला ने गोल्ड मेडल जीत कर देश, हरियाणा और पुलिस का नाम रोशन किया है।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

फतेहाबाद

बुधवार, 21 अगस्त 2019

‘स्वतंत्रता दिवस के साथ जुड़ी है देशभक्तों की गौरव गाथा’

फतेहाबाद। जिला स्तरीय 73वां स्वतंत्रता दिवस समारोह धूमधाम के साथ स्थानीय पुलिस लाइन के प्रांगण में मनाया गया। समारोह में मुख्यातिथि हिसार मंडलायुक्त विनय सिंह ने ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण किया। इससे पूर्व उन्होंने लघु सचिवालय के नजदीक स्थित शहीदी स्मारक पर शहीदों की प्रतिमाओं पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर उपायुक्त धीरेन्द्र खड़गटा और पुलिस अधीक्षक विजय प्रताप सिंह भी उपस्थित थे। परेड का नेतृत्व डीएसपी सुभाष चंद्र कर रहे थे।
मुख्यातिथि मंडलायुक्त विनय सिंह ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के इस पावन पर्व के साथ हमारे देशभक्तों के त्याग, तप और बलिदान की एक लंबी गौरव गाथा जुड़ी हुई है। इस शुभ अवसर पर मैं देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले सभी ज्ञात व अज्ञात शहीदों को नमन करता हूं। इसके साथ ही मैं उन बहादुर सैनिकों को भी सलाम करता हूं, जिन्होंने आजादी के बाद देश की एकता व अखंडता और सीमाओं की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए।
उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में हरियाणा का योगदान अविस्मरणीय रहा है। सन 1857 की क्रांति सबसे पहले अंबाला छावनी से शुरू हुई थी। आजादी की लड़ाई के दौरान और आजादी के बाद देश की सरहदों की रक्षा के लिए हरियाणा के वीर शहादत देने में हमेशा अग्रिम पंक्ति में रहे हैं। आज भी हमारी सशस्त्र सेनाओं में औसतन हर दसवां जवान हरियाणा से है।
वन रैंक-वन पेंशन लागू कर सरकार ने बढ़ाया सैनिकों का मनोबल
मुख्यातिथि ने कहा कि वन रैंक-वन पेंशन की वर्षों पुरानी मांग को पूरा करके केंद्र सरकार ने वीर सैनिकों का मनोबल बढ़ाया है। भारतवर्ष के नागरिकों की भावनाओं के अनुरूप जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के एक खंड को छोड़ बाकी सभी को समाप्त कर केंद्र सरकार ने ऐतिहासिक निर्णय लिया है। हिसार मंडलायुक्त ने कहा कि हरियाणा देश का पहला राज्य है, जिसने प्रदेश में बागवानी गांव विकसित करने की नई पहल की है। इसके तहत फतेहाबाद में 46 बागवानी गांव घोषित किए जा चुके हैं। आगामी तीन वर्षों में प्रदेश के हर जिले में बागवानी फसलों के लिए उत्कृष्टता केंद्र स्थापित करने की योजना है।
स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों की विधवाओं को किया सम्मानित
इस अवसर पर मुख्यातिथि ने स्वतंत्रता सेनानियों, कारगिल शहीदों की विधवाओं व आश्रितों को स्मृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया। उन्होंने खिलाड़ियों, सामाजिक-धार्मिक संगठनों, ग्राम पंचायतों, अधिकारियों व कर्मचारियों को उल्लेखनीय कार्य करने पर प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। इस मौके पर स्कूली बच्चों द्वारा भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम में शांति निकेतन पब्लिक स्कूल ढिंगसरा प्रथम
सांस्कृतिक कार्यक्रम में शांति निकेतन पब्लिक स्कूल ढिंगसरा प्रथम, क्रिसेंट पब्लिक स्कूल फतेहाबाद द्वितीय तथा आर्यभट्टू हाई स्कूल फतेहाबाद ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। परेड में हरियाणा पुलिस की टुकड़ी ने प्रथम, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय फतेहाबाद के एनसीसी लड़के ने द्वितीय तथा रॉयल इंटरनेशनल स्कूल खारा खेड़ी के बैंड ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। जिला स्तरीय समारोह में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एके जैन, उपायुक्त धीरेन्द्र खडग़टा, एडीजे बलवंत सिंह, संदीप गर्ग, सीजेएम रामावतार पारीक, पुलिस अधीक्षक विजय प्रताप सिंह, एडीसी महावीर प्रसाद, एसडीएम सुरजीत सिंह नैन, भाजपा जिलाध्यक्ष वेद फुलां, पूर्व विधायक रविंद्र बलियाला, आरएसएस विभाग कार्यवाह बजरंग गोदारा, जिला संघ चालक गुरबख्श मोंगा, दर्शन नागपाल, एडवोकेट प्रवीण जोड़ा, आत्म प्रकाश मेहता, पीसी शर्मा आदि मौजूद रहे। ... और पढ़ें

समैण में मजदूर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

टोहाना। उपमंडल के गांव समैण में एक व्यक्ति के संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। सूचना पाकर पहुंची सदर पुलिस ने परिजनों के बयान पर शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया। जानकारी के अनुसार गांव समैण निवासी 18 वर्षीय जगमीत दिहाड़ी मजदूरी का काम करता था। परिजनों के मुताबिक जगमीत कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान चल रहा था। जब सुबह जगमीत घर में अकेला था तो उसने यह कदम उठा लिया। जगमीत का शव उसके ही घर के एक कमरे में लगे पंखे से लटका मिला। सूचना मिलते ही सदर पुलिस मौके पर पहुंची और जगमीत के शव को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के हवाले कर दिया है। ... और पढ़ें

कभी शहर की शान थे फव्वारे, आज बने गंदगी के ढेर

फतेहाबाद। कभी शहर की शान रहे फव्वारों को भूल जाएं क्या साहब! ये सवाल आजकल हरेक उस इंसान के दिलो-दिमाग में कौंधता है जिसने कभी इन फव्वारों की शान-शौकत देखी हो। शहर के सुंदरीकरण को चार चांद लगाने वाले फतेहाबाद शहर के सभी फव्वारे आजकल महज गंदगी के ढेर और कूड़ेदान माफिक बनकर रह गए हैं। इनकी हालत देखकर तो ये कतई नहीं लगता कि नगर परिषद या जिला प्रशासन शहर के सुंदरीकरण को लेकर तनिक भर भी गंभीर है।
लाल बत्ती चौक से जवाहर चौक की ओर जाते हुए हंस मार्केट मोड़ हुआ करता था। इसके बाद तत्कालीन उपायुक्त महताब सिंह सहरावत व नगर पालिका एमई हरिकिशन शर्मा के प्रयासों की बदौलत रातोंरात प्रशासन ने यहां पर शानदार रंग-बिरंगा फव्वारा लगवा दिया। और इस चौक का नाम ही फव्वारा चौक पड़ गया। इस बेहतरीन फव्वारे की सबसे खास बात ये थी कि इसकी एक भी बूंद फव्वारा की चारदीवारी से बाहर नहीं गिरती थी। लेकिन अफसर बदले तो इनके हालात भी बदले। पिछले कुछ सालों से इस बेहतरीन फव्वारे को जैसे लापरवाही और अफसरी ढिलाई की नजर लग गई। अब यहां पर चौक का नाम तो फव्वारा चौक है, लेकिन फव्वारा कभी चलता नहीं दिखता।
कभी दो फव्वारे थे ताऊ देवी लाल मार्किट की पहचान, अब बने महज कूड़ेदान
ताऊ देवी लाल मार्किट की पहचान रहे दो बेहतरीन फव्वारे भी अब अपनी पहचान खो चुके हैं। पूर्व उपप्रधानमंत्री चौ. देवीलाल की प्रतिमा के दोनों तरफ बनाए गए शानदार फव्वारे कभी इस मार्किट की पहचान हुआ करती थी। लेकिन अफसरी लापरवाही इसे भी लील गई। एक बार ये फव्वारे खराब हुए तो दोबारा इसे रिपेयर करवाने की किसी ने जहमत तक नहीं उठाई। जब ये चलने ही बंद हो गए थे तो इसे कूड़ेदान का ढेर बनते देर कहां लगनी थी और कमोबेश हुआ भी कुछ ऐसा ही। फव्वारे के नाम पर सिर्फ कुछ निशानियां बची हैं बाकी तो सब यहां गंदगी के ढेर ही दिखते हैं। सत्ताधारी बीजेपी का जिला कार्यालय इस मार्किट में खुला था तो लगने लगा था शायद अब इन फव्वारों के दिन फिरेेंगे लेकिन ऐसा हुआ नहीं।
पपीहा पार्क का तो सुधार हुआ, लेकिन फव्वारे सुधारना भूल गया प्रशासन
कभी वक्त हुआ करता था कि सांझ होते ही पपीहा पार्क में लोगों की भीड़ सिर्फ इसलिए लगती थी ताकि पानी को बेहतरीन कलाबाजियां खिलाते फव्वारों के दीदार हो सके। बच्चों के बीच सबसे लोकप्रिय रहे पपीहा पार्क के फव्वारे अब बंद हुए जमाना बीत चुका है। इस बीच प्रशासन ने इस पपीहा पार्क का सुधारीकरण करवाया। ओपन एअर जिम शुरू की गई है, सालों पुरानी शौचालय की मांग पूरी की जा चुकी है, लेकिन इन सबसे इतर कभी सबकी आंखों का तारा रहे यहां के फव्वारों को सुधारना जिला प्रशासन भी भूल गया।
वर्जन
शहर के सुंदरीकरण का मामला मेरे संज्ञान में है। फव्वारों की रखरखाव के बारे में अधिकारियों से बात करूंगा और उम्मीद है कि जल्द ही फव्वारे शहर की शान होंगे।
- दर्शन नागपाल, नगर परिषद अध्यक्ष, फतेहाबाद । ... और पढ़ें

उलटे झाडू लेकर सड़कों पर उतरे नगरपरिषद कर्मचारी

नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर नगरपरिषद कर्मचारियों ने आज झाडू़ लेकर शहर में रोष प्रदर्शन किया। कर्मचारी झाडू़ उलटे कर सड़कों पर उतरे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन की अध्यक्षता प्रधान राजाराम टाक ने की व संचालन सचिव सतबीर सहारण ने किया। कर्मचारियों को संबोधित करते हुए टाक ने कहा कि हरियाणा सरकार ने कर्मचारियों के साथ जो वायदा किया था, उसे पूरा नहीं किया जिससे कर्मचारियों में सरकार के प्रति भारी रोष है। इसको लेकर नगरपरिषद कर्मचारी 22 अगस्त को टूल डाउन-पैन डाऊन करके एक दिन की सांकेतिक हड़ताल पर जाएंगे। नगरपालिका कर्मचारी संघ ने शहरवासियों से भी समर्थन की अपील करते हुए कहा कि वे सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ कर्मचारियों का साथ दें। जिला प्रधान सत्यवान टाक ने जिलाभर की नगरपालिका कर्मचारियों से आगामी प्रदर्शनों व 22 की हड़ताल में बढ चढ़कर भाग लेने का आह्वान किया। सचिव सतबीर सहारण ने फायरमैन व ड्राइवरों के बीच से ठेकेदार हटाकर नगरपरिषद पैरोल पर करने, रिस्क अलाउंस लागू करने, 100-100 वर्ग गज के प्लाट देने सहित अनेक मांगों को उठाया। उन्होंने कहा कि सरकार कर्मचारियों के साथ वायदा खिलाफी कर रही है। आगामी 27, 28 व 29 अगस्त को सभी कर्मचारी हड़ताल पर जाएंगे। यदि सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानीं तो यह हड़ताल अनिश्चितकालीन होगी। इस अवसर पर ओमप्रकाश लोट, नरेश राणा, शकुंतला, किरण बाला, विजय, बीरू, सुशील फायरमैन, राकेश फायरमैन, विनोद खिचड़ सहित अनेक कर्मचारी मौजूद रहे। ... और पढ़ें
फतेहाबाद में प्रदर्शन करते नगरपरिषद कर्मचारी। फतेहाबाद में प्रदर्शन करते नगरपरिषद कर्मचारी।

सालों से सिंचाई विभाग की जमीन पर कब्जा किए बैठे थे 46 परिवार, विभाग ने पीला पंजा चला गिरवाए अवैध निर्माण

हिसार रोड को बीघड़ रोड, भट्टू रोड से होते हुए सिरसा रोड से जोड़ने वाले मिनी बाईपास के साथ लगती जमीन पर अवैध कब्जे आखिरकार सिंचाई विभाग ने जेसीबी की मदद से गिरवा ही दिए। विभाग पिछले लंबे समय से 46 परिवारों को नोटिस जारी कर अवैध कब्जे हटाने को कह रहा था, लेकिन किसी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों की बात को गंभीरता से नहीं लिया। जिसके बाद सिंचाई विभाग के एसडीओ रणजीत सिंह की अगुवाई में गठित एक विशेष टीम ने जेसीबी की मदद से 46 परिवारों द्वारा सिंचाई विभाग की जमीन पर बनाए गए अवैध कब्जे एक के बाद एक ध्वस्त कर दिए। सुरक्षा के लिहाज से भारी पुलिस बल भी विभाग की टीम के साथ मौजूद रहा।
जेसीबी की मदद से एक-एक कर सभी को ढहाया
तकरीबन 12 साल पहले जब हिसार रोड चुंगी से लेकर बीघड़ रोड और भट्टू रोड होते हुए सिरसा रोड तक मिनी बाईपास बनाया गया था, उस समय यहां बहने वाले पानी के खाल को बंद कर दिया गया था। खाल के साथ लगती जमीन पर इस दौरान मकान बनते चले गए। लेकिन यहां रहने वाले 46 परिवारों ने अपने मकानों के बैकसाइड में लगने वाले खाल के पास की जमीन को भी अवैध अस्थाई और स्थाई निर्माण बनाकर अपने कब्जे कर लिए। इन परिवारों में से अधिकतर ने इस जमीन को गाय-भैंस के तबेले के रूप में इस्तेमाल किया तो कुछ लोगों ने पशुओं का चारा, कबाड़ का सामान रखने के लिए गोदाम तो कुछ लोगों ने अपने घर के बैकसाइड में किचन गार्डन बनाकर यहां पर विभिन्न प्रकार की सब्जियां उगा रखी थी। मंगलवार को विभाग की टीम ने जेसीबी की मदद से एक-एक करके इन सभी निर्माणों को उखाड़ दिया।
सिंगल रोड पर बोझ होगा कम
मिनी बाईपास फिलहाल सिंगल रोड है और इस पर भारी वाहनों का काफी प्रेशर है। ट्रैफिक पुलिसकर्मी शहर में घुसने वाले बड़े वाहनों को मिनी बाईपास के रास्ते सिरसा रोड पर डायवर्ट कर देते हैं ताकि भारी वाहनों से शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या न आए। लेकिन इस प्रैक्टिस से मिनी बाईपास पर बड़े वाहनों का आवागमन बढ़ गया है। ऐसे में पिछले लंबे समय से जरूरत महसूस की जा रही थी कि मिनी बाईपास पर खाल के साथ लगती जमीन पर नई सड़क का निर्माण करवाया जाए। इसके लिए आवश्यक था कि यहां पर लोगों द्वारा किए गए अवैध कब्जों को हटाया जाए। ऐसे में सिंचाई विभाग द्वारा अवैध कब्जों को हटाए जाने के बाद अब यहां पर सड़क बनाने का रास्ता निकल सकता है।
पिछले लंबे समय से कई बार इन लोगों को अवैध कब्जे हटाने के नोटिस दिए गए थे। लेकिन कोई अवैध कब्जे हटा ही नहीं रहा था। बीते दिनों इन अवैध कब्जों की निशानदेही करके गए थे इसी आधार पर अवैध कब्जे हटा दिए गए हैं। कोई अनावश्यक विरोध न करे, इसके लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को भी तैनात करवाया गया था। -रणजीत सिंह, एसडीओ, सिंचाई विभाग, फतेहाबाद । ... और पढ़ें

बैंक स्कवायर की जगह बनेगा नया नप दफ्तर, तीन साल लटकने के बाद नप प्रशासन से छिना सीसीटीवी प्रोजेक्ट

फतेहाबाद। शहर के बीचोंबीच से गुजर रही मुख्य सड़क पर स्थित पुराने एसडीएम निवास की जगह पर अब नगर परिषद का नया कार्यालय बनाने की तैयारी है। ये जगह बैंक स्क्वायर के लिए स्वीकृत की गई थी, लेकिन सीएम घोषणा में होने के बावजूद इस प्रोजेक्ट को ड्रॉप कर दिया और अब इस जमीन पर नगर परिषद का नया कार्यालय बनाने के एजेंडे को प्रधान दर्शन नागपाल की अध्यक्षता में हुई नप पार्षदों की बैठक में पास भी कर दिया गया।
उधर, शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रोजेक्ट फिर लटक गया है। तीन साल तक लटकने के बाद अब सरकार ने नगर परिषद से सीसीटीवी लगाने की पावर छीनकर पुलिस विभाग को दे दी है। इसका मतलब ये हुआ कि पुलिस विभाग अब सारी प्रक्रिया को दोबारा से शुरू करेगा। बैठक में नप अध्यक्ष दर्शन नागपाल, सभी पार्षद, कार्यकारी अभियंता महेंद्र सिंह, एमई पंकज ढांडा, जेई सुखविंद्र धुडिय़ा, सफाई निरीक्षक ओमकार सहित सभी पार्षद व अधिकारी मौजूद रहे।
पार्षदों के बवाल के बीच अंतिम पांच मिनट में 31 एजेंडे हुए पास
सोमवार को नगर परिषद कार्यालय के बैठक कक्ष में हुई पार्षदों की बैठक हंगामेदार रही। लगभग दो घंटे तक चली बैठक में पौने दो घंटे से ज्यादा समय तक पुराने लंबित मुद्दों पर ही बवाल होता रहा। बवाल का आलम ये था कि सफाई निरीक्षक ओमकार को 30 प्रस्तावों का एजेंडा तक पढ़ने नहीं दिया गया। बवाल खत्म होने के बाद बैठक के अंतिम मिनटों में ओमकार एजेंडे के सभी प्रस्तावों को पढ़ पाए और पार्षदों ने ध्वनिमत से इसे पारित कर दिया। इस एजेंडे में 12 नई टाटा एस गाड़ियां खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। इन टाटा एस को कचरा उठाने के काम में इस्तेमाल किया जाएगा।
50 नए सफाई कर्मी होंगे नियुक्त
बैठक के दौरान जिन महत्वपूर्ण प्रस्तावों को पारित किया गया, उनमें 50 नए सफाईकर्मियों की नियुक्ति प्रमुख है। इन सफाईकर्मियों को डीसी रेट पर रखा जाएगा और इनसे कुछ सफाई कर्मियों को रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था में इस्तेमाल किया जाएगा और बाकी कर्मचारियों को उन वार्डों में भेजा जाएगा, जहां पर सफाई कर्मचारी काफी कम हैं। इसके अलावा शहर के तीन प्रमुख बाजारों में स्थित शौचालयों के रेनोवेशन को लेकर भी प्रस्ताव पारित किया गया। इनमें थाना रोड, ऊधम सिंह मोड़ व रतिया मोड़ के शौचालय शामिल हैं। इसके अलावा नप सफाईकर्मियों को जूते-यूनिफार्म, प्रॉपर्टी टैक्स व लेखा अधिकारी के कार्यालय में एसी लगाने, हाउस टैक्स शाखा में प्रॉपर्टी मालिकों के नाम बदलवाने, पार्कों के रखरखाव का जिम्मा आरडबल्यूए को सौंपने, सफाई के लिए इस्तेमाल होनी वाली टाटा एस गाड़ियों में जीपीएस लगाने, नप के इस्तेमाल के लिए दो बोलेरो गाड़ियों को किराए पर चलाने, नगर परिषद की विभिन्न शाखाओं में इनवर्टर बैटरी आदि लगाने सहित कई प्रमुख प्रस्ताव पारित किए गए। ... और पढ़ें

सफाई न होने से नाराज दुकानदारों ने किया प्रदर्शन

रतिया। फतेहाबाद रोड पर पिछले काफी दिनों से सफाई न होने से गुस्साए दुकानदारों ने सोमवार को नगरपालिका प्रशासन के खिलाफ रोष जाहिर किया और इसकी शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय व सीएम विंडो में की। दुकानदारों ने चेतावनी दी कि अगर फतेहाबाद रोड पर सफाई व्यवस्था बहाल नहीं करवाई गई तो आंदोलन करना पड़ेगा और वह इस बारे में उच्चाधिकारियों से भी मिलेंगे।
फतेहाबाद रोड के दुकानदार नरेश कुमार, सुरजीत सिंह, जीत सिंह, प्रेम कुमार, विकी कुमार, राजेंद्र कुमार, जगदीश कुमार और अन्य ने बताया कि संजय गांधी चौक से लेकर सरदूलगढ़ के नीचे तक फतेहाबाद रोड पर सफाई व्यवस्था का बुरा हाल है। सफाई कर्मचारियों द्वारा उचित सफाई न करने के कारण रोड पर मिट्टी व धूल जमा हो गई है और जब भी वहां आते जाते हैं तो धूल मिट्टी उड़ने के कारण दुकानदार परेशान हैं। दुकानदारों का काम धंधा भी चौपट हो गया है। दुकानदारों ने आरोप लगाया कि वह कई बार उचित सफाई न होने की शिकायत नगरपालिका के सफाई निरीक्षक व नगरपालिका के अधिकारियों को भी दे चुके हैं, लेकिन बार-बार शिकायत देने के बाद भी फतेेहाबाद रोड पर सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं किया जा रहा। उन्होंने आरोप लगाया कि जो कर्मचारी ड्यूटी पर आते हैं वह अपने कार्य की इतिश्री कर लेते हैं और सफाई कार्य को सुचारू रूप से नहीं करते रोड पर काफी बुरे हालात हैं। उन्होंने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री करते हुए चेतावनी दी कि अगर शीघ्र सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया तो वह आंदोलन करेंगे। इस बारे में जब नगर पालिका के सफाई दरोगा कुलदीप सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि फतेहाबाद रोड पर सफाई व्यवस्था विशेष कर्मचारी नियुक्त कर रोड पर सफाई करवाई जाएगी। ... और पढ़ें

नशा चुनावी नहीं, युवाओं को बचाने का मुद्दा बने: प्रवीन काशी

फतेहाबाद। मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सांझा प्रयास कमेटी की मांग पर सिरसा संसदीय क्षेत्र को नशा नियंत्रित स्पेशल जोन बनाए जाने का आश्वासन मिलने के बाद से ही सामाजिक कार्यकर्ता प्रवीन काशी के नेतृत्व में कमेटी जनसंपर्क अभियान चलाए हुए है। इस अभियान के तहत कमेटी सदस्य हंस कालोनी और बीघड रोड स्थित आरके कॉलोनी में पहुंचे। यहां युवाओं को नशे के खिलाफ जारी मुहिम से जोड़ते हुए वक्ताओं ने उन्हें एक बड़े बदलाव का भागीदार बनने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान आरके कॉलोनी में बच्चों ने देशभक्ति से प्रेरित कार्यक्रम की प्रस्तुति दी। युवाओं को प्रवीन काशी के अलावा अशोक पूनिया, पूनमचंद रत्ति, अंगद ढिंगसरा, सुरेंद्र पूनिया, पूर्व पार्षद सुभाष पपीया, हरदीप सिंह, सुशील कुमार और बल्लू यादव ने भी जागरूक किया।
प्रवीन काशी ने कहा कि पंजाब सीमा से सटा होने की वजह से सिरसा संसदीय क्षेत्र के दोनों जिलों में हेरोइन, स्मैक जैसे गंभीर नशों की तस्करी का जाल बड़ी तेजी से फैला है। दर्जनों युवाओं को इस नशे ने मौत के घाट उतार दिया तो सैकड़ों जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में सांझा प्रयास कमेटी संग दो माह से चल रहे आंदोलन का असर लोगों की जुबां पर व नेताओं के चुनावी भाषणों में तो दिखने लगा है लेकिन जमीनी स्तर पर युवाओं की नशों में घर कर चुके इस नशे को खत्म करने के लिए अभी एकजुटता के साथ मजबूत लड़ाई लड़ने की जरूरत है। इस अवसर पर रवि कुमार, इंद्रजीत हांडा माजरा, गुरप्रीत सिंह, साहिल कुमार, अजय कुमार, सोनू डबास और मुकेश राणा आदि उपस्थित रहे। ... और पढ़ें

खेमा खाती चौक का नाम बदलकर पंजाबी चौक करने के मुद्दे पर भिड़े कुक्कड़ और जांगड़ा

फतेहाबाद। नगर परिषद में सोमवार को हुई पार्षदों की बैठक में डीएसपी रोड पर स्थित खेमा खाती चौक का नाम बदलकर पंजाबी चौक करने की मांग को लेकर पार्षद प्रतिनिधि सोनू कुक्कड़ व पार्षद राजेश जांगड़ा के बीच जमकर बहस हुई और नौबत गाली-गलौच तक आ गई। तीन साल पहले नगर परिषद की सबसे पहले बैठक में पारित हुए साउंड सिस्टम को अभी तक न लगने के विरोध में पार्षद वजीर जाखड़ ने जमकर बवाल मचाया। उन्होंने सीधे-सीधे नप अध्यक्ष दर्शन नागपाल की ढिलाई को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया। वैसे भी इस बैठक के दौरान विकास कार्य ना होने के कारण नगर परिषद अध्यक्ष दर्शन नागपाल पार्षदों के निशाने पर रहे।
कुक्कड़ ने उठाई पंजाबी चौक बनाने की मांग, खेमाखाती चौक का नाम लेने पर भड़के जांगड़ा
नगर परिषद पार्षदों की बैठक के दौरान पार्षद प्रतिनिधि सोनू कुक्कड़ ने डीएसपी रोड स्थित खेमा खाती चौक का नाम बदलकर पंजाबी चौक करने की मांग रखी। कुक्कड़ द्वारा ये मांग उठाते ही उनके साथ बैठे राजेश जांगड़ा भड़क गए और कहने लगे कि कोई खेमाखाती चौक को हाथ तो लगाकर दिखाए। इस पर सोनू कुक्कड़ भी भड़क गए और उनकी आपस में बहस और गाली-गलौच शुरू हो गया। बात मारपीट तक भी पहुंच सकती थी, अगर साथी पार्षदों ने दोनों को शांत न करवाया होता। दूसरी ओर नगर परिषद अध्यक्ष दर्शन नागपाल ने फिलहाल इस मामले को आगामी बैठक तक स्थगित रखने को कह दिया।
तीन साल पहले मौजूदा कमेटी का सबसे पहला एजेंडा था साउंड सिस्टम
सोमवार को बैठक शुरू होने से पहले जब कार्यकारी अभियंता महेंद्र सिंह ने एजेंडा पढ़ना शुरू किया तो पहले ही एजेंडे पर पार्षद वजीर जाखड़ भड़क गए और तीन साल से माइक सिस्टम न लगने को लेकर नप अध्यक्ष दर्शन नागपाल से सवाल-जवाब शुरू कर दिए। नागपाल ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन वो अपने स्टैंड से टस से मस नहीं हुए। वजीर जाखड़ की इस बात का कई पार्षदों ने भी समर्थन किया। पार्षदों का आरोप था कि अधिकारी हर बार अपने काम के मुद्दे बैठक में पारित करवा लेते हैं और विकास कार्यों की ओर ध्यान नहीं देते। पार्षद वजीर जाखड़ ने कहा कि साल 2016 में जब मौजूदा कमेटी का गठन हुआ था तो पहली बैठक में सबसे पहला एजेंडा था कि बैठक कक्ष में साउंड सिस्टम लगाया जाएगा ताकि पार्षद अपनी बात सही ढंग से रख सकें। लेकिन तीन साल बीतने के बाद भी अभी तक इसे लागू नहीं किया जा सके।
पहले ठेकेदार मदन को ब्लैकलिस्ट करने की उठी मांग, किरण नारंग ने पलटवार किया तो सब हुए चुप
बैठक के दौरान कई पार्षदों ने ठेकेदारों द्वारा पार्षदों को महत्व न दिए जाने का मुद्दा उठाया। इस पर नप अध्यक्ष दर्शन नागपाल ने एक ठेकेदार मदन पर गुस्सा निकालते हुए उसे ब्लैकलिस्ट करने की बात कही। इस पर अधिकांश पार्षदों ने सहमति जताई, लेकिन बैठक के अंत में पार्षद किरण नारंग ने ठेकेदार मदन के अलावा बाकी ठेकेदारों की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए उन्हें भी कार्रवाई की सूची में शामिल करने को कहा तो सभी पार्षद भी चुप हो गए। पार्षद प्रतिनिधि प्रमोद ग्रोवर डबली तो यहां तक कह गए कि नगर परिषद प्रशासन ठेकेदार ही चला रहे हैं। अगले प्लान में पार्षद बनने की बजाए ठेकेदार बनने में फायदा है। ... और पढ़ें

दादुपुर में बरसात के कारण गिरी मकान की छत

रतिया। गांव दादूपुर में बारिश के प्रभाव के चलते एक मकान की छत गिर गई। इससे मलबे के नीचे मकान का घरेलू सामान दब गया और मकान मालिक का आर्थिक नुकसान हो गया। बताया जाता है कि उपरोक्त छत रात्रि को उस समय गिरी जब पूरा परिवार घर को ताला लगाकर किसी कार्य से अन्य गांव में गया हुआ था। गांव की रेशमा बाई पत्नी मनफूल सिंह ने बताया कि कल उसका पूरा परिवार किसी कार्य से अन्य गांव गया हुआ था और घर में ताला लगा हुआ था। उन्होंने बताया कि आज सुबह आकर उन्होंने देखा तो घर के कमरे की छत गिरी हुई थी और पूरा सामान मलबे के नीचे दबा हुआ था। उन्होंने बताया कि अगर उनका परिवार घर में होता तो छत के मलबे के प्रभाव के चलते परिवार को भी जानी नुकसान हो सकता था। वृद्धा ने बताया कि मलबे के नीचे दबने से हजारों रुपये का घरेलू सामान नष्ट हो गया है। पीड़ित परिवार के अलावा पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रशासन से आह्वान किया है कि उपरोक्त परिवार को आपदा के तहत हुए नुकसान को लेकर उचित मुआवजा दिया जाए। ... और पढ़ें

जन्माष्टमी : पहली बार दुर्गा मंदिर में दिखेंगे पंचमुखी शेषनाग, काली मां और बजरंग बली

फतेहाबाद। जन्माष्टमी का त्योहार 24 अगस्त को धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए शहर के प्रसिद्ध दुर्गा मंदिर में विशेष तैयारियां की गई हैं। मंदिर में पंचमुखी देवताओं की थीम पर झांकियां तैयार होंगी। इतना ही नहीं, इस बार की जन्माष्टमी में पहली बार दुर्गा मंदिर में पंचमुखी शेषनाग, काली मां और बजरंग बली का रूप देखने को मिलेगा। अभी तक फतेहाबाद के किसी मंदिर में इस प्रकार पंचमुखी देवताओं की झांकियां प्रस्तुत नहीं की गई हैं। दुर्गा मंदिर युवा सभा के अध्यक्ष उमेश चोपड़ा ने इसकी पुष्टि की है।
इस बार भी बनेगी सेंट्रल स्टेज
दुर्गा मंदिर में सभी के आकर्षण का केंद्र बनती आई सेंट्रल स्टेज इस बार भी लोगों को आकर्षित करेगी। इस बार आयोजन कमेटी ने कई अनोखी प्रस्तुतियों को तैयार करवाया है जिसे देखकर मंदिर में मौजूद दर्शकों व श्रद्धालु अपने दांतों तले अंगुलियां दबा लेंगे। सेंट्रल स्टेज पर भगवान कृष्ण की राधा व गोपियों संग रासलीला के अलावा भगवान शिव का तांडव, मां काली का रौद्र रूप सहित कई अलौकिक प्रस्तुतियां पेश की जाएंगी।
माता का दरबार व कैलाश पर्वत भी श्रद्धालुओं को करेंगे रोमांचित
दुर्गा मंदिर में इस बार भी जन्माष्टमी के मौके पर मां दुर्गा का दरबार व भगवान शिव का कैलाश पर्वत बनाया जाएगा। हालांकि अभी ये तय करना बाकी है कि कैलाश पर्वत पर भगवान शिव का अर्धनारीश्वर रूप दिखाया जाएगा या मां पार्वती भगवान शिव के साथ मौजूद रहेंगी। दूसरी ओर माता के दरबार में मां दुर्गा के साथ साथ भगवान हनुमान की भी झांकी मौजूद रहेगी।
मेन गेट से होगी इंट्री, मिनी हॉल से बाहर निकलेंगे श्रद्धालु
श्री दुर्गा मंदिर युवा सभा के अध्यक्ष उमेश चोपड़ा ने बताया कि दुर्गा मंदिर का जन्माष्टमी उत्सव पूरे शहर में लोकप्रिय है। इसलिए श्रद्धालुओं की अत्यधिक भीड़ जुटने की संभावना के चलते व्यवस्था को पहले ही फूल प्रूफ बनाया जाएगा। इसके लिए हमेशा की तरह स्थानीय पुलिस की भी मदद ली जाएगी। उमेश चोपड़ा ने बताया कि इस बार भी श्रद्धालुओं की इंट्री दुर्गा मंदिर के मेन गेट से होगी और बैरिकेट्स की मदद से विभिन्न झांकियों का दर्शन करने के बाद श्रद्धालुओं को मंदिर के मिनी हॉल के साइड वाले गेट से बाहर की ओर भेजा जाएगा। ... और पढ़ें

बरसात से कहीं मकान का फर्श धंसा तो कहीं गिरी छत

टोहाना। बारिश के चलते शहर में कई स्थानों पर जलभराव हो गया तो वहीं रतिया रोड स्थित एक मकान का फर्श धंस गया। गनीमत रही कि मकान की छत गिरने से बच गई वरना बड़ा हादसा हो सकता था। मामले की सूचना पाकर पहुंची पार्षद सुनीता गर्ग ने परिवार को सहयोग का भरोसा दिलाया।
मकान मालिक रानी ने बताया कि वे पिछले लंबे समय से इस मकान में रह रहे हैं। उसने बताया कि रात्रि के समय हुई बारिश के चलते उसके मकान के साथ लगते प्लॉट में पानी भरकर मकान के नीचे चला गया। जिसके चलते उसके मकान के फर्श में दरार आ गई। उसने बताया कि मकान में उसके पति रामलाल, तीन बच्चे व स्वयं घर में थी। गनीमत रही कि मकान की छत गिरने से बच गई वरना कोई भी हादसा हो सकता था। महिला ने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।
इस बारे में पार्षद सुनीता गर्ग ने बताया कि रानी के मकान के नीचे से बरसाती पानी निकलने से उनके फर्श में दरार आ गई है और मकान भी धंस गया है। उसने बताया कि परिवार का प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनाने के लिए राशि मंजूर हो चुकी है, जिसके बाद मकान को दोबारा बनाया जाएगा।
इसी प्रकार शहर के सपड़ा मोहल्ला के नजदीक स्थित मस्जिद में बने मकान की छत गिरने से घरेलू सामान नष्ट हो गया। गनीमत रही कि इससे जानमाल की हानि होने से बच गई। मकान मालिक मोहम्मद अतहर के अनुसार जब उसका परिवार के घर के बाहर काम रहा था तो अचानक छत गिर गई। जिससे उनका हजारों का नुकसान हो गया है। उसने बताया कि वह मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करते है। सरकार को उनकी मदद करनी चाहिए। ... और पढ़ें

तेज रफ्तार कार बाइक को कुचलती हुई पेड़ से टकराई, युवक की मौत, दो घायल

भूना। तेज रफ्तार कार ने रविवार की सुबह 9 बजे के करीब एक बाइक को रौंद दिया। इससे बाइक पर सवार युवक की मौके पर मौत हो गई। जबकि दूसरे व्यक्ति की हालत गंभीर बनी हुई है। घटना में कार चालक को भी चोटें आई हैं। जिन्हें समुदाय स्वास्थ्य केंद्र भूना में भर्ती किया गया। मगर हालत गंभीर होने के कारण दोनों ही घायलों को हिसार रेफर कर दिया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, रविवार की 9 बजे के लगभग 23 वर्षीय प्रवीन कुमार व उसका चचेरा भाई प्रमोद भूना में शहीद भगत सिंह मार्केट में अपनी गारमेंट्स की दुकान पर जा रहे थे। जैसे ही उनकी मोटरसाइकिल नाढोड़ी रोड पर मोड़ ढाणी थापण के निकट पहुंची तो सामने से आ रही तेज गति कार ने उनको अपनी चपेट में ले लिया और रौंदते हुए पेड़ से जाकर टकरा गई। मोटरसाइकिल चालक प्रवीन कुमार की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि बाइक पर सवार प्रमोद कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया। सरपंच सुमित कुमार धारणिया व उसके परिवार के लोगों ने तुरंत मौके पर पहुंच कर घटना में घायल हुए लोगों को अस्पताल में पहुंचाया। सरपंच ने मामले की सूचना पुलिस को दी। कार चालक हनुमान सिंह पुत्र ओमप्रकाश भांभू को भी चोटें लगने के कारण अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है। पुलिस ने कार चालक हनुमान सिंह के खिलाफ तेज गति एवं लापरवाही से वाहन चलाने का मामला दर्ज कर लिया है। तेज गति के कारण मोड़ पर अनियंत्रित हुई कार
कार चालक हनुमान सिंह भूना से अपने गांव नाढोड़ी जा रहा था। कार की रफ्तार अधिक होने के कारण ढाणी थापन के नजदीक सड़क पर मोड़ के कारण गाड़ी अनियंत्रित हो गई। जो सामने से आ रहे मोटरसाइकिल को कुचलकर एक पेड़ से जा टकराई। हनुमान सिंह अपने दोस्त विनोद गिला से कार मांग कर लाया था। प्रवीन कुमार अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था और करीब 2 साल पहले ही उसकी शादी हुई थी। जिसके घर में एक बेटी भी है।
घटना के बाद शहीद भगत सिंह मार्केट बंद
गोदारा गारमेंट्स दुकान के मालिक प्रवीन कुमार की सड़क दुर्घटना में मौत होने की सूचना मिलते ही शहीद भगत सिंह मार्केट भूना के दुकानदारों ने दुकानें बंद करके दुख प्रकट किया। दुकानदारों ने कहा कि प्रवीन कुमार एक मिलनसार दुकानदार था, जो प्रत्येक दुकानदार के दुख-सुख में आगे रहता था। पुलिस जांच अधिकारी कृष्ण कुमार ने बताया कि पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। तेज गति एवं लापरवाही से कार चलाने वाले हनुमान सिंह के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। ... और पढ़ें

पड़ोसियों में झगड़ा, घर में घुसकर हमले का प्रयास, बचाव में चलाई गोली तो पड़ोसी को लगी

फतेहाबाद। सूर्या इन्क्लेव में पुरानी रंजिश के चलते पड़ोसियों के बीच हुए झगड़े के दौरान फायरिंग हो गई। फायरिंग में झगड़े को छुड़ाने आया एक तीसरा पड़ोसी पांव में गोली के छर्रे लगने से घायल हो गया। उसको उपचार के लिए सामान्य अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। उधर फायरिंग की सूचना मिलते ही शहर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और गोली चलाने वाले व्यक्ति को बंदूक सहित शहर थाने में ले गई है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है और किसी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं हुआ है।
मिली जानकारी के अनुसार सूर्या इन्क्लेव निवासी सुभाष तनेजा और अशोक नारंग के बीच सुभाष के घर के सामने बनी एक फैैक्टरी की इमारत को लेकर पुरानी रंजिश चली आ रही है। सुभाष का आरोप है कि अशोक नारंग ने पहले यहां एक फैक्टरी बना दी थी जिसमें लेबर को बिठा दिया था और इसी बात को लेकर उसकी कई बार अशोक से बहस हुई थी। सुभाष ने बताया कि रविवार सुबह अशोक नारंग की इसी फैक्टरी में रहने वाले किसी व्यक्ति को वहां से गुजर रहे रिक्शा ने टक्कर मार दी। इसके बाद नारंग के लोगों ने रिक्शा चालक की पिटाई कर दी। इस पर रिक्शा वाले ने पुलिस में शिकायत दे दी थी। सुभाष का आरोप है कि रिक्शा वाले ने उनकी शिकायत पुलिस को दी थी, लेकिन अशोक नारंग, उसके बेटे और उसके आदमियों ने पुरानी रंजिश के तहत ये समझ लिया कि उन्होंने पुलिस को सूचित किया है। आरोप है कि इस पर अशोक नारंग व उसके साथियों ने सुभाष तनेजा के घर में घुसकर पथराव कर दिया और सुभाष से मारपीट शुरू कर दी। सुभाष ने बताया कि उसने आत्मरक्षा के लिए अपनी लाइसेंसी बंदूक से जमीन पर फायर किया, जिसके छर्रे उसके एक अन्य पड़ोसी सुरेश को लग गए। सुभाष ने बताया कि इसके बाद अशोक नारंग व उसके साथी मौके से फरार हो गए।
उधर, फायरिंग होने से कॉलोनी में हड़कंप मच गया और किसी ने इसकी सूचना शहर पुलिस को दे दी। जिसके बाद मौके पर शहर पुलिस की दो टीमें कार्यकारी एसएचओ ओमप्रकाश के नेतृत्व में पहुंची। इसके बाद पुलिस टीम ने सुभाष तनेजा के घर हुए पथराव की जांच की और सुभाष तनेजा के घर पर सुभाष से घटना की जानकारी ली। फायरिंग के कारण शहर पुलिस ने सुभाष तनेजा की बंदूक को अपने कब्जे में ले लिया और सुभाष तनेजा व अशोक नारंग को हिरासत में ले लिया। समाचार लिखे जाने तक शहर पुलिस की टीम मामले की जांच कर रही थी, लेकिन दोनों पक्षों की ओर से अभी तक कोई शिकायत नहीं दिए जाने के कारण किसी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया जा सका था। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree