विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रेमी जोड़े को जूतों की माला पहना गांव से निकाला, गुप्तांग में सरिया डालने समेत लगे ये आरोप

करनाल थाना सदर क्षेत्र में एक प्रेमी जोड़े की पिटाई करने के बाद मुंह काला करने और जूतों की माला पहनाकर गांव में घुमाने का मामला प्रकाश में आया है।

22 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

चरखी दादरी

गुरूवार, 22 अगस्त 2019

रिमझिम बारिश के बीच हर्षोल्लास से मनाया जश्न-ए-आजादी पर्व

73वां स्वतंत्रता दिवस समारोह वीरवार को बलिदान स्मारक स्टेडियम परिसर में रिमझिम बारिश के बीच हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। रोहतक मंडल के आयुक्त पंकज यादव ने राष्ट्र ध्वज फहराकर परेड ग्राउंड में मार्चपास्ट की सलामी ली। समारोह में राष्ट्रभक्ति की भावना से ओत-प्रोत सांस्कृतिक कार्यक्रम स्कूली बच्चों ने प्रस्तुत किए गए।
बलिदान स्मारक स्टेडियम में रिमझिम वर्षा के बीच मुख्य अतिथि ने तिरंगा झंडा फहराया। उन्होंने मार्चपास्ट का निरीक्षण किया और उसके बाद परेड की सलामी ली। उप पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस, महिला पुलिस टुकड़ी, एनसीसी, एचसीसी व स्काउट दल ने शानदार परेड कर राष्ट्रध्वज को सलामी दी। आयुक्त पंकज यादव के साथ उपायुक्त धर्मवीर सिंह व पुलिस अधीक्षक मोहित हांडा भी मुख्य मंच पर मौजूद रहे। कमिश्रर पंकज यादव ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि आज का दिन हमारे देश के सबसे महत्वपूर्ण है। आज से 73 साल पहले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, सरदार वल्लभ भाई पटेल, नेता जी सुभाषचंद्र बोस, अटल बिहारी वाजपेयी आदि महान नेताओं की बदौलत देश को ब्रिटिश हुकूमत से स्वतंत्रता मिली थी। इस दिन के रानी लक्ष्मी बाई, रामप्रसाद बिस्मिल, चंद्रशेखर आजाद, भगतसिंह आदि वीरों ने अपना बलिदान दिया।
मुख्य अतिथि ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ओजस्वी नेतृत्व से भारत विश्व पटल पर अग्रणीय देशों में गिना जाता है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के प्रस्ताव पर संसद के दोनों सदनों ने अनुच्छेद 370 हटाकर भारत को एक सूत्र में बांधने का काम किया है। हरियाणा प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्गदर्शन में युवाओं को पारदर्शी आधार पर नौकरियां, भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन, आयुष्मान जैसी कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं। संबोधन के पश्चात आयुक्त पंकज यादव ने शहीद वीरांगनाओं और शौर्य चक्र पदक विजेताओं को शाल भेंटकर सम्मानित किया। समारोह में एक दर्जन से अधिक स्कूलों के बच्चों ने पीटी, डंबल व लेजियम शो का तालमेल के साथ बैंड की धुन पर प्रदर्शन किया।
समारोह के दौरान आयुक्त पंकज यादव की पत्नी रितु यादव, एडीजे अरविंद नासियर, सीजेएम हेमंत यादव, सिविल जज मुकेश कुमार, अमित शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष रामकिशन शर्मा, सोमबीर सांगवान, एसडीएम संदीप अग्रवाल, नगरपरिषद चेयरमैन संजय छपारिया, चेयरमैन चंद्रपाल सांगवान, डीएसपी जोगेंद्र सिंह, रमेश कुमार, नगरपरिषद सचिव राजेश वर्मा, कार्यकारी अभियंता सुरेंद्र दलाल, तहसीलदार कंवल सिंह यादव, कार्यकारी अभियंता ओमबीर सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी रामौतार शर्मा, दादरी बार एसोसिएशन के प्रधान ऋषिपाल पहल, संजीव मड़िया, प्राचार्य यशवीर सिंह, नायब तहसीलदार नरेश कुमार, सतबीर सिंह सहित अनेक अधिकारी व गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।
स्वतंत्रता दिवस समारोह में बेस मॉडल स्कूल, संस्कार पब्लिक, एपीएस, केएन स्कूल, राकवमावि, एपीजे एवं आर्य स्कूल झोझूकलां के छात्र-छात्राओं ने लोक संस्कृति व राष्ट्रभक्ति पर आधारित मनभावन कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। कमिश्रर ने जिला दादरी के प्रमुख समाजसेवी, सराहनीय कार्य करने वाले कर्मचारियों, अधिकारियों तथा खिलाड़ियों को सम्मानित किया। इसके अलावा परेड, पीटी व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सभी टीमों को ट्राफी देकर सम्मानित किया। राष्ट्रगान के साथ समारोह का समापन हुआ।
आयुक्त पंकज यादव सहित जिला उपायुक्त धर्मवीर सिंह व पुलिस अधीक्षक मोहित हांडा ने इसके बाद नागरिक अस्पताल में मुख्य अतिथि ने मरीजों को फल वितरित किए व उनका हालचाल पूछा। इससे पहले आज सुबह रोज गार्डन में शहीद स्मारक पर जाकर आयुक्त पंकज यादव ने दादरी के अमर बलिदानियों को पुष्प अर्पित कर उन्हें प्रणाम किया। दादरी जिला के उपायुक्त धर्मवीर सिंह ने समारोह से पहले सुबह अपने कैंप ऑफिस में ध्वजारोहण किया। सिविल अस्पताल में भी राष्ट्रध्वज फहराया गया।
फोटो 09  लोकगीत पर प्रस्तुति देतीं छात्राएं।
फोटो 09 लोकगीत पर प्रस्तुति देतीं छात्राएं।- फोटो : CharkhiDadri
... और पढ़ें

निष्ठावान अधिकारियों और कर्मचारियों को आयुक्त ने किया सम्मानित

स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान मुख्य अतिथि रोहतक मंडल के आयुक्त पंकज यादव ने निष्ठावान अधिकारियों-कर्मचारियों व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। समारोह में विभिन्न टुकड़ियों ने शानदार मार्च पास्ट किया और राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दी। मुख्य अतिथि आयुक्त पंकज यादव ने स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व के उपलक्ष्य में शुक्रवार को सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में बच्चों के लिए अवकाश की घोषणा की है।
समारोह के दौरान कलाली गांव से सोमबीर सिंह व वेदबाग, सुनीता कासनी, संतरा देवी, डॉ. दलीप सिंह सांगवान, जगबीर सिंह, डॉ. राकेश वशिष्ठ, पौरूष वशिष्ठ, डॉ. अंकुर नागर, मंदीप सिंह, श्री कृष्ण गोशाला व बाबा मुंगीपा गोशाला सेवा समिति शीशवाला, बलराम गुप्ता, प्रवीन कुमार, हरिचरण, मंदीप कुमार, प्रदीप, विजय कुमार, लक्ष्मण, धनपति, सतीश, संजय कुमार, हेमलता, मनोज कुमारी, कुलबीर सांगवान, सुरेश कुमार, राजेश कुमार, दलबीर सिंह, अनुराग गुप्ता, अजय कुमार, बलवान सिंह आर्य, हरि प्रसाद, अनी रूद्रा पांडे, दारा सिंह, नरेश कुमार, किशन, मंजीता, निदेश, मंजू बाला, रोशन लाल, राकेश भारद्वाज, भगत सिंह, आनंद, बलवान सिंह साहू, गुप्तचर विभाग निरीक्षक आजाद सिंह ढांडा, सतेंद्र कुमार, नरेंद्र कुमार, रवीना कुमारी, पूनम बाई, मंगल, योगेश, मोहित, अजय कुमार, अजय सिंह, सुमित कुमार, अरूण कुमार, सुरेंद्र दलाल, राम अवतार शर्मा, बसंत कुमार, मोहन सिंह, सुमन रानी, सुरेंद्र मोहन, राजकपूर, शिव कुमार, रणबीर सिंह, संजीत कुमार, संदीप कुमार, अनिल कुमार, विनोद कुमार, सुरेश कुमार, शिव कुमार, डॉ. महा सिंह, डॉ. संजय कुमार, डॉ. जगत सिंह, डॉ. सुनील कुमार, डॉ. सतीश कुमार, डॉ. हरज्ञान सिंह, डॉ. नेहा फौगाट, डॉ. पूजा गुप्ता, डॉ. बीएस गोदारा, डॉ. सुरेंद्र सिंह व डॉ. राजपाल सिंह को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। जल संरक्षण में उल्लखेनीय योगदान करने पर गांव पैंतावास खुर्द की पंचायत को विभाग को 20 हजार रुपये की राशि से सम्मानित किया गया।
समारोह में शानदार परेड रही आकर्षण का केंद्र
समारोह में पुलिस व विभिन्न स्कूलों की टुकड़ियों ने शानदार मार्च पास्ट किया जो कि आकर्षण का केंद्र रही। एएसआई सुरेंद्र व राकेश के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस की टुकड़ी, अनूप के नेतृत्व में महिला पुलिस, शिवेक कुमार के नेतृत्व में शहीद दलबीर सिंह राजकीय विद्यालय, मनीषा कुमारी के नेतृत्व में राजकीय कन्या स्कूल दादरी, जितेंद्र के नेतृत्व में जनता कॉलेज, सचिन जांगड़ा के नेतृत्व में राजकीय स्कूल दादरी, मनीषा फौगाट के नेतृत्व में एपीजे कॉलज दादरी की टुकड़ी ने मार्च पास्ट किया। ... और पढ़ें

पांचवें दिन भी नहीं हुआ किसान का पोस्टमार्टम, डीसी से बोले किसान- परिवार पर दाह-संस्कार का दबाव बना रही पुलिस

सरकार और जिला प्रशासन के मांगें न मानने पर खातीवास निवासी मृतक किसान धर्मपाल का पांचवें दिन भी पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। आक्रोशित किसानों ने शुक्रवार को शहर में रोष प्रदर्शन किया। लघु सचिवालय पहुंचे किसानों ने डीसी धर्मवीर के सामने कहा कि पुलिस मृतक के परिवार पर दाह-संस्कार का दबाव बना रही है। हालांकि वहां मौजूद डीएसपी रमेश कुमार सदर थाना पुलिस के बचाव में उतर आए। उन्होंने कहा कि यह इत्तफाकिया मौत है और पीजीआई में रखे शव के क्षतविक्षत होने की आशंका है। इसलिए शिनाख्त संबंधी कागजी कार्रवाई कराने पुलिस मृतक किसान के घर गई थी।
शुक्रवार दोपहर करीब एक बजे किसान रामनगर धरनास्थल से ट्रैक्टरों और दुपहिया वाहनों पर सवार होकर शहर में प्रदर्शन किया। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस प्रशासन पहले से ही अलर्ट था । दोपहर करीब सवा दो बजे किसान नगर परिषद कार्यालय के पिछली तरफ पहुंचे। यहां नारेबाजी करते हुए करीब तीन बजे लघु सचिवालय पहुंचे। 3:10 पर नायब तहसीलदार राजकुमार शर्मा किसानों से ज्ञापन लेने नीचे पहुंचे। उन्हें किसानों ने वापिस लौटा दिया और डीसी को ही ज्ञापन लेने के लिए भेजने की मांग उनके सामने रखी। करीब पांच मिनट बाद भी जब डीसी नहीं आए तो किसानों ने नारेबाजी शुरू कर दी। 3:28 पर डीसी धर्मवीर सिंह किसानों के बीच पहुंचे। इस दौरान रामनगर धरना संयोजक विनोद मरौड़ी ने कहा कि प्रशासन को लघु सचिवालय में मौजूद किसान चेतावनी दे रहे है कि मृतक किसान धर्मपाल के घर पुलिस दबाव बनाने न जाए। विनोद मौड़ी ने कहा कि डीसी साहब पुलिस पीड़ित परिवार के साथ अच्छा बर्ताव नहीं कर रही है। हालांकि वहां मौजूद डीएसपी रमेश कुुमार ने कहा कि पुलिस ने परिवार के किसी सदस्य पर दबाव नहीं बनाया है। पुलिस केवल कानूनी प्रक्रिया के तहत कागजी कार्यवाही करने पीड़ित के घर गई थी। किसानों ने डीसी के सामने बढ़ी मुआवजा राशि, मृतक धर्मपाल के परिवार को एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता व बेटे को सरकारी नौकरी देने की मांग रखी। इसके बाद डीसी ने कमेटी को वार्ता का निमंत्रण दिया।
बीस मिनट तक चली डीसी के साथ बंद कमरे में वार्ता
शुक्रवार को लघु सचिवालय पहुंचे किसानों के प्रतिनिधिमंडल को डीसी धर्मवीर सिंह ने वार्ता का न्योता दिया। इसके बाद किसानों का 21 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल उनके कार्यालय मेें पहुंचा। डीसी के साथ करीब बीस मिनट तक वार्ता चली और इस दौरान किसान नेताओं ने सभी मांगें उनके सामने रखी। बैठक के बाद बाहर आए अनूप फौगाट व विनोद मौड़ी ने बताया कि मांगों पर स्थिति स्पष्ट करने के लिए डीसी ने कुछ और समय मांगा है।
क्या है मामला
गांव खातीवास निवासी किसान धर्मपाल की गत 12 अगस्त को घर पर सुबह छह बजे मौत हो गई थी। मृतक के परिजनों ने पुलिस बयान में बताया था कि उनकी साढ़े तीन एकड़ जमीन एनएच-152 डी के तहत अधिगृहीत होनी प्रस्तावित है। उन्हें बेहद कम मुआवजा राशि मिल रही है और खेती-बाड़ी से ही उनकी आजीविका चलती है। जमीन अधिग्रहण होने के बाद वो भूमिहीन हो जाएंगे। धर्मपाल इसके चलते तनाव में था और इसी तनाव के चलते उसकी मौत हुई। मृतक के परिजनों ने धर्मपाल का शव हरियाणा स्वाभिमान समिति को सौंप रखा है और शव रोहतक पीजीआई के शव गृह में रखा हुआ है। हरियाणा स्वाभिमान आंदोलन समिति की मांग है कि मृतक किसान के परिजनों को एक करोड़ की सहायता राशि और बेटे को नौकरी मिले। मृतक के छह बेटे और एक बेटी है।
फोटो 50  डीसी के आने की प्रतिक्षा करते किसान।
फोटो 50 डीसी के आने की प्रतिक्षा करते किसान।- फोटो : CharkhiDadri
... और पढ़ें

बस के पायदान पर सफर कर रहा आईटीआई का छात्र पेड़ से टकराया, घायल

रोडवेज बस की पिछली खिड़की के पायदान पर यात्रा कर रहा रामबास निवासी एक आईटीआई का छात्र गोकल गांव के पास सड़क किनारे खड़े पेड़ से टकरा गया। चलती बस से गिरने पर उसे कंधे में चोटें लगीं और उपचार के लिए उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। दुर्घटना की सूचना मिलते ही रोडवेज अधिकारी भी सिविल अस्पताल पहुंचे और दुर्घटना का जायजा लिया। घायल छात्र के पिता ने बस चालक पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। वहीं, सिविल अस्पताल में मौजूद रोडवेज कर्मचारियों ने इन आरोपों को नकारा है।
घायल संदीप के पिता रामकुमार ने बताया कि उसका बेटा आईटीआई का छात्र है। बुधवार सुबह वह गांव रामबास से रावलधी आईटीआई आने के लिए दादरी जा रही बस में सवार हुआ था। बस में भीड़ होने के कारण वह पिछले खिड़की के पायदान पर सफर कर रहा था। रामकुमार ने बताया कि बस जब गोकल गांव के समीप पहुंची तो चालक के अचानक कट लगाने से उसका बेटा सड़क किनारे खड़े पेड़ के डाले से टकरा गया और उसके हाथ की पकड़ छुट गई। पेड़ से टकराने के बाद संदीप सड़क पर जा गिरा और गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल के पिता ने आरोप लगाए कि इसके बावजूद बस चालक ने काफी दूर जाकर बस रोकी। उसके साथ पढ़ने वाले आईटीआई के छात्रों ने संदीप को संभाला और उपचार के लिए दादरी सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। वहीं, रोडवेज अधिकारियों ने भी सिविल अस्पताल पहुंचकर घटनाक्रम का जायजा लिया। रामकुमार ने बताया कि उसके बेटे के कंधे में गंभीर चोट है और वह आईटीआई प्रथम वर्ष का छात्र है। ... और पढ़ें

270 कर्मचारियों को चार माह से नहीं मिला वेतन, प्रदर्शन कर डीसी से मिलने पहुंचे

जन स्वास्थ्य विभाग के 270 कर्मचारियों को चार माह के वेतनमान के रूप में 62.40 लाख रुपये नहीं मिले हैं। बुधवार को इन कर्मचारियों के समर्थन में नगर पार्षद, सर्व कर्मचारी संघ, पटवार एसोसिएशन व बिजली निगम कर्मी भी उतर आए। जन स्वास्थ्य विभाग के कच्चे कर्मचारियों ने सर्व कर्मचारी संघ के बैनर तले शहर में प्रदर्शन किया और लघु सचिवालय पहुंचकर डीसी से मुलाकात कर अपनी समस्या रखी। लघु सचिवालय ज्ञापन सौंपने पहुंचे इन कर्मचारियों ने नायब तहसीलदार और एसडीएम को लौटा दिया।
बुधवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे जन स्वास्थ्य विभाग कार्यालय से आंदोलनरत कर्मचारी चले। शहर में प्रदर्शन करने के बाद दोपहर 12 बजे वो लघु सचिवालय पहुंचे। कर्मचारियों के लघु सचिवालय पहुंचने के करीब आधा घंटे बाद नायब तहसीलदार राजकुमार शर्मा उनसे ज्ञापन लेने पहुंचे। उन्होंने डीसी धर्मवीर सिंह को बुलाने की मांग करते हुए नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपने से मना कर दिया। नायब तहसीलदार ने उनसे दस मिनट का समय मांगा और वहां से चले गए। उनके जाने के करीब 15 मिनट बाद एसडीएम संदीप अग्रवाल उनके बीच पहुंचे। प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने उन्हें भी ज्ञापन सौंपने से मना कर दिया। करीब पांच मिनट बातचीत करने के बाद एसडीएम वहां से चले गए और इसके पांच मिनट बाद डीसी की तरफ से वार्ता का संदेशा भेजा गया। इसके बाद कर्मचारियों ने अपनी एक कमेटी गठित की और इसमें पार्षदों कर्मचारी यूनियनों के पदाधिकारियों सहित आंदोलनरत कर्मचारियों को शामिल किया गया। करीब 15 मिनट तक कमेटी की डीसी के साथ बंद कमरे में वार्ता चली। कमेटी में शामिल सदस्यों ने बताया कि डीसी धर्मवीर सिंह ने जन स्वास्थ्य विभाग एसई को फोन कर मामले की अपडेट ली। डीसी ने एसई को दो दिन के अंदर बकाया वेतनमान जारी कराने के आदेश दिए हैं। वहीं, धरनारत कर्मचारियों ने बताया कि डीसी ने दो दिन में समाधान कराने का आश्वासन दिया है और बकाया वेतनमान का भुगतान होने तक जन स्वास्थ्य विभाग कार्यालय में धरना जारी रहेगा।
इन्होंने दिया कर्मचारियों को समर्थन
पार्षद महेश गुप्ता, रोहित राजपूत, कुलदीप गांधी, पार्षद प्रतिनिधि जय सिंह, दीपक चौहान, कृष्ण कुमार, विरेंद्र सांगवान, सुभाष स्वामी आदि पार्षद आंदोलनरत कर्मचारियों के पक्ष में उतर आए हैं। उनके अलावा सर्व कर्मचारी संघ प्रधान राजकुमार घिकाड़ा, पटवारी यूनियन प्रधान विजय प्रधान, बिजली निगम यूनियन की तरफ ओमवीर कालहेर, कृष्ण व विजय लांबा आदि ने समर्थन दिया। ... और पढ़ें

कार को बचाने के प्रयास में बाइक का बिगड़ा संतुलन, दो घायल

ढाणी फाटक रेलवे ओवरब्रिज पर कार से टक्कर बचाने के प्रयास में बाइक सवार अपना संतुलन खो बैठा। अनियंत्रित बाइक सड़क पर गिरने से झज्जर जिले के गांव सुंदरहेटी निवासी दो युवक घायल हो गए। उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद भिवानी सिविल अस्पताल रेफर किया गया है। शाम तक भिवानी अस्पताल में उपचाराधीन घायलों के पुलिस बयान दर्ज नहीं हो पाए थे।
सिविल अस्पताल पहुंचे घायल सुंदरहेटी निवासी मदनलाल (33) व संदीप (22) ने बताया कि वे दोनों बुधवार सुबह बाइक से दादरी आ रहे थे। उन्हें बाजार से स्प्रे टंकी खरीदनी थी। जब वे शहर के कॉलेज रोड स्थित ढाणी फाटक आरओबी पर पहुंचे तो उनकी आगे चल रही कार के चालक ने अचानक ब्रेक लगा दिया। बाइक चालक मदनलाल ने बताया कि कार के आगे कुछ नहीं था और चालक ने बेवजह ब्रेक लगाए। कार से टक्कर होने से बचने के लिए जब उसने ब्रेक लगाए तो संतुलन बिगड़ा गया और बाइक अनियंत्रित होकर सड़क पर जा गिरी। घायलों ने बताया कि दुर्घटना के बाद आरोपी चालक मौके से फरार हो गया। पीछे से आ रहे एक पुलिसकर्मी ने उन्हें संभाला और उपचार के लिए दादरी सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया। प्राथमिक उपचार के बाद मदनलाल को भिवानी सिविल अस्पताल रेफर कर दिया गया। घायलों ने बताया कि हादसे में उनकी बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई।
एंबुलेंस के लिए मना करने के लगाए आरोप
घायल मदनलाल ने बताया कि उसे भिवानी सिविल अस्पताल रेफर किया गया है। उसने एंबुलेंस के लिए कहा तो जवाब मिला कि इसका चार्ज निजी गाड़ी से अधिक पड़ेगा। घायल मदनलाल ने बताया कि इसके बाद उसने अपनी परिचित की गाड़ी दादरी सिविल अस्पताल मंगवाई और इसी गाड़ी में उसे भिवानी सिविल अस्पताल ले जाया गया। ... और पढ़ें

सात जिलों के प्रतिनिधियों ने नशामुक्ति का लिया संकल्प

विश्व युवक केंद्र नई दिल्ली के सहयोग से ग्रामीण विकास मंडल भारत विकास परिषद द्वारा यादव धर्मशाला में आयोजित नशा मुक्ति कार्यशाला संपन्न हुई। कार्यशाला के समापन सत्र में उप पुलिस अधीक्षक रमेश कुमार ने कहा कि स्वस्थ समाज में नशे का कोई स्थान नहीं हो सकता। राष्ट्र की मानव शक्ति के रूप में युवा पीढ़ी का तीव्र राष्ट्र निर्माण में योगदान सुनिश्चित करना है तो समाज से नशा का समूल नाश करना अपरिहार्य है। यह काम समाज के लोग खुद करेंगे, जिसमें सामाजिक संस्थाओं की बड़ी भूमिका हो सकती है।
उन्होंने प्रतिभागियों को आगाह किया कि प्रगतिशील हरियाणा नशा की बुराई में भी ऊपर के पायदान पर है इसके लिए जागरूक और जिम्मेदार समाज को पहल करनी होगी कार्यशाला के सत्र में विश्व युवक केंद्र के कार्यक्रम अधिकारी अजीत राय ने कहा विश्व युवक केंद्र देशभर में विभिन्न मुद्दों पर सामाजिक पहल के लिए इस प्रकार के आयोजन में सहभागी बनता है।
राष्ट्रीय दिव्यांग सेवा केंद्र लुधियाना के सहायक निदेशक पंकज जैन ने व्यक्ति विशेष कर नशा के आदी लोगों के मनोवैज्ञानिक पहलू पर दो सत्र में व्याख्या की। जनता स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर यशवीर सिंह ने नशा और युवा मानसिकता का प्रतिभागियों के साथ विश्लेषण रखा। मनोवैज्ञानिक डॉ. राधेश्याम ने नशा मुक्ति के उपायों व रणनीति पर बात रखी। योग विशेषज्ञ डॉक्टर हरीश ने योग प्राणायाम के माध्यम से नशा मुक्ति का रास्ता दिखाया । कार्यशाला के दौरान सात जिलों के प्रतिनिधियों ने भविष्य में नशा मुक्ति कार्यक्रम को नियमित रूप से जारी रखने के लिए संवाद तंत्र विकसित करने का निर्णय लिया। समापन समारोह का संचालन राजीव अरोड़ा ने किया। आगंतुकों का स्वागत राजेंद्र यादव तथा आभार ज्ञापन सुनील ने किया । आयोजन में मंजू वत्स, जय भगवान,चंद्रमोहन, मुकेश नत्थूराम, संजय एडवोकेट, सविता सोनी, कविता, आशा पाहवा का योगदान रहा। ... और पढ़ें

एलाइजा रीडर मशीन नहीं हो पाई इंस्टॉल, डेंगू और चिकनगुनिया के सैंपलों की भिवानी करवानी पड़ रही जांच

सिविल अस्पताल में करीब सवा माह पहले पहुंची एलाइजा रीडर मशीन अब तक इंस्टॉल नहीं हो पाई है। इसे इंस्टॉल करने के लिए एंक्यूवेटर और सेंट्रीफ्यूज मशीन की दरकार है। दोनों मशीनें अभी स्वास्थ्य विभाग ने सिविल अस्पताल नहीं भेजी हैं। इसके चलते डेंगू और चिकनगुनिया के सैंपलों की जांच भिवानी सिविल अस्पताल जाकर करवानी पड़ रही है। इस प्रक्रिया में एक तरफ मरीज और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को दिक्कतें होती हैं तो वहीं 72 से 96 घंटे रिपोर्ट का इंतजार भी करना पड़ता है। स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों का दावा है कि आगामी कुछ दिनों में ही दोनों मशीनें सिविल अस्पताल पहुंच जाएंगी। इसके बाद दादरी में ही सैंपलों की जांच शुरू कर दी जाएगी।
चरखी दादरी जिले में पिछले लंबे समय से स्वास्थ्य सेवाएं बेपटरी हैं। जिला अस्पताल के अलावा तीनों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और 14 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर चिकित्सकों सहित स्वास्थ्य सेवाओं का टोटा है। वहीं, पिछले लंबे समय से जिले में डेंगू और चिकनगुनिया जांच की सुविधा न होने की कमी भी खल रही है। सिविल अस्पताल में मरीज का सैंपल लेने का इंतजाम तो है, लेकिन जांच की व्यवस्था नहीं है। इसके चलते मरीजों के सैंपल भिवानी भेजने पड़ रहे हैं। सैंपल लेकर विभाग के कर्मचारी ही भिवानी की भागदौड़ करते हैं और रिपोर्ट आने के बाद ही मरीज को दी जाती है। रिपोर्ट मिलने तक मरीज अपना उपचार शुरू नहीं करवा सकता।
मरीजों और स्वास्थ्य कर्मियों की समस्याओं को देखते हुए तत्कालीन सीएमओ विरेंद्र यादव ने एलाइजा रीडर मशीन सिविल अस्पताल मंगवाई थी। इस मशीन की कीमत करीब ढाई लाख रुपये है। मशीन आने के बाद तत्कालीन सीएमओ ने इसे जल्द वर्किंग में लाने का दावा किया था, लेकिन उनका तबादला होने के बाद इस सुविधा का मरीजों का अब तक लाभ नहीं मिल पाया है। स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों की माने तो एंक्यूवेटर और सेंट्रीफ्यूज मशीन की डिमांड हेड ऑफिस भेजी जा चुकी है। जल्द ही यह मशीन सिविल अस्पताल पहुंचने की उम्मीद है।
सेटअप इंस्टॉल होने के बाद 24 घंटे में मिलेगी रिपोर्ट
सिविल अस्पताल में डेंगू और चिकनगुनिया का पूरा सेटअप अभी नहीं है। यहां मरीजों के सैंपल तो लिए जाते हैं, लेकिन जांच भिवानी सिविल अस्पताल में कराई जाती है। वहां से रिपोर्ट आने में 72 से 96 घंटे का समय लगता है और इसके बाद मरीज को रिपोर्ट सौंपी जाती है। वहीं, अगर दादरी सिविल अस्पताल में पूरा सेटअप इंस्टॉल हो जाए तो मरीज को 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट मिल जाएगी और समय से वह अपना उपचार शुरू करवा सकेगा।
पंचकूला से आनी हैं दोनों मशीनें
स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों की माने तो एंक्यूवेटर और सेंट्रीफ्यूज मशीन स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के सिविल अस्पतालों के लिए खरीद ली हैं। ये मशीनें पंचकूला रखी हुई हैं और इनके रिलीज ऑर्डर भी हो चुके हैं। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि वो उच्चाधिकारियों के संपर्क में हैं। अगले दस से पंद्रह दिन में मशीनें दादरी सिविल अस्पताल पहुंचने की उम्मीद है। इसके तुरंत बाद पूरा सेटअप इंस्टॉल कर दिया जाएगा। ये मशीनें आने के बाद थायराइड और ब्लड सैंपलों की जांच भी शुरू हो जाएगी।
450 है सिविल अस्पताल की दैनिक ओपीडी
सिविल अस्पताल की दैनिक ओपीडी करीब 450 मरीजों की है। पिछले अगर दो माह की बात करें तो बुखार के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. चंचल तोमर ने बताया कि बुखार की ओपीडी करीब पांच प्रतिशत बढ़ी है। प्राइवेट लैब पर डेंगू और चिकनुगनिया टेस्ट की फीस 600 रुपये है। भिवानी से सैंपल रिपोर्ट 72 घंटे में आने से ज्यादातर मरीज प्राइवेट लैब पर ही अपनी जांच कराने को विवश हैं।
2018 में डेंगू पॉजिटिव 34 केस आए थे सामने
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की बात करें तो 2018 में 34 लोगों के डेंगू पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई थी। इनमें से 26 केस शहर की अलग-अलग कॉलोनियों के थे, जबकि आठ केस ग्रामीण क्षेत्र के थे। इस साल की अगर बात करें तो डेंगू पॉजिटिव का कोई मामला सामने नहीं आया है। वहीं, लारवा मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने अब तक 166 लोगों को नोटिस थमाए हैं।
चरखी दादरी के डिप्टी सीएमओ डॉ. चंचल तोमर ने बताया कि अभी एंक्यूवेटर और सेंट्रीफ्यूज मशीन और आनी हैं। इनके आने के बाद ही एलाइजा रीडर मशीन वर्किंग में आ पाएगी। दोनों मशीनें भेजने के ऑर्डर हो चुके हैं और जल्द मशीनें दादरी सिविल अस्पताल पहुंच जाएंगी। फिलहाल सैंपलों की जांच भिवानी करवानी पड़ रही है। ... और पढ़ें

शिक्षा विभाग कक्षा तीन से आठ तक के बच्चों की कराएगा प्री-असेसमेंट परीक्षा

सिविल अस्पताल में लगी मरीजों की भीड़ ।
राजकीय स्कूलों में शिक्षा विभाग बच्चों की प्री-असेसमेंट परीक्षा लेगा। इससे बच्चों के अधिगम स्तर का आंकलन हो सकेगा। यह परीक्षा 22 और 23 अगस्त को आयोजित की जाएगी। इसके लिए शिक्षा विभाग तैयारियों में जुटा है। इस परीक्षा के बाद सक्षम 2.0 परीक्षा होगी। यह परीक्षा सितंबर प्रथम सप्ताह में होनी है।
शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षा में गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। इसके तहत डायरी लेखन, होमवर्क व बरखा कहानी संग्रह भी बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। इसके अलावा सक्षम अभियान भी जारी है। शिक्षा विभाग आठवीं कक्षा तक के बच्चों में अंग्रेजी, गणित, हिंदी, एसएस व साइंस विषयों में पकड़ बनाने के लिए प्रयास कर रहा है, ताकि बच्चों का अधिगम स्तर ऊंचा उठाया जा सके। इसके लिए अलावा विभाग की ओर से बच्चों के व्यक्तित्व विकास के लिए भी प्लान तैयार की जा रहा है। समय- समय पर सह्गामी क्रियाओं का आयोजन किया जाता है।
अब शिक्षा विभाग 22 और 23 अगस्त को कक्षा तीन से आठवीं तक बच्चों की प्री-असेेसमेंट परीक्षा लेगा, ताकि यह पता चल सके कि बच्चों ने अब तक कितना ग्रहण किया है। उनका अधिगम लेवल किस स्तर का है। यह परीक्षा थर्ड पार्टी एजेंसी की ओर से आयोजित की जानी है। इस परीक्षा के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूरी की जा रही हैं।
कक्षा तीन से पांचवीं के बच्चों की हिंदी, गणित व ईवीएस विषयों की परीक्षा होगी, जबकि कक्षा छह से आठवीं के बच्चों की हिंदी, गणित, एसएस और साइंस विषयों की परीक्षा होगी। प्री-असेसमेंट परीक्षा के बाद इन बच्चों की सक्षम-2.0 परीक्षा आयोजित होनी है। सक्षम 2.0 परीक्षा सितंबर प्रथम सप्ताह में आयोजित की जानी है। यह परीक्षा किसी एजेंसी के जरिए करवाई जाएगी।
विभाग के अधिकारी लगातार कर रहे मॉनीटरिंग
इन परीक्षाओं के लिए शिक्षा विभाग के सभी अधिकारी स्कूलों में विजिट कर लगातार मॉनीटरिंग कर रहे हैं। शिक्षकों को गाइड लाइन दी जा रही हैं। इस संबंध में बीईओ कुलदीप सिंह का कहना है कि इस मुहिम से गुणवत्ता में सुधार आएगा। उन्होंने शिक्षकों से अपील की है कि वे बच्चों को प्रेरित करते हुए मेहनत करवाएं। ज्ञात रहे जिले के शिक्षा बोर्ड का दसवीं कक्षा का परिणाम पिछले दो साल से प्रदेश में टॉप पर बना रहा है। डीपीसी कुलदीप फौगाट ने बताया कि प्री-असेसमेंट परीक्षा के लिए तैयारियां की जा रही हैं। इस परीक्षा के बाद सक्षम 2.0 परीक्षा होनी है। इनका उद्देश्य गुणवत्ता में सुधार लाना है। ... और पढ़ें

उचित मुआवजा के लिए किसानों ने शुरू की न्याय यात्रा

हरियाणा स्वाभिमान आंदोलन के बैनर तले संघर्ष कर रहे किसानों ने मंगलवार से अपनी किसान न्याय यात्रा की शुरुआत की। वे राष्ट्रीय राजमार्ग-152डी, 352-ए व अन्य राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण का उचित मुआवजा दिए जाने, फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोत्तरी व एसवाईएल नहर का पानी लाने की मांग कर रहे हैं। किसानों ने यात्रा को लेकर गांवों में जनसंपर्क अभियान भी चलाया।
आंदोलन व यात्रा का नेतृत्व कर रहे किसान नेता रमेश दलाल ने कहा है कि प्रदेश में विपक्ष बिल्कुल कमजोर पड़ गया है। इसके कारण सरकार ने जनता के बीच से उठ रही जायज मांगों को नजरअंदाज कर तानाशाही रवैया अपनाया रखा है। अब आखिरकार किसानों ने ही विपक्ष की भूमिका निभाने का फैसला किया है। ऐसे में जहां मुख्यमंत्री जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं, वहीं किसानों ने भी किसान न्याय यात्रा की शुरुआत कर दी है। किसान यात्रा में शामिल किसानों ने एक स्वर में ऐलान किया कि अगर किसानों को न्याय नहीं मिला तो मुख्यमंत्री मनोहरलाल को इसका खामियाजा विस चुनाव में भुगतना पड़ेगा। किसान सेवा संघ के विनोद मौड़ी ने कहा कि किसान यात्रा को लेकर क्षेत्र के किसानों में उत्साह है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को किसान यात्रा की शुरुआत छोटूराम स्मारक सांपला से हो चुकी है। यह 24 अगस्त तक चरखी दादरी जिले में पहुंचेगी। इस दौरान दादरी अनाज मंडी में किसानों की सभा होगी। अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी तो अगली रणनीति पर विचार किया जाएगा। ... और पढ़ें

सफाई व्यवस्था बदहाल, पार्षद और नप सफाई कर्मी आमने-सामने

15 दिन से सफाई कर्मियों के वार्डों में नहीं पहुंचने से शहर की सफाई व्यवस्था बेपटरी है। अधिकारियों के फोन न उठाने से खफा 12 पार्षद लामबंद होकर सोमवार सुबह नगर परिषद कार्यालय में ही धरने पर बैठ गए। इसके तुरंत बाद ईओ ने उन्हें बैठक के लिए बुला लिया। बैठक की शुरुआत में ही पार्षदों ने नप अधिकारियों पर फोन न उठाने के आरोप लगाए और इसके कुछ देर बाद ही सफाई कर्मियों ने भी नगर परिषद कार्यालय पहुंचकर पार्षदों के खिलाफ धरना शुरू कर दिया। सफाई कर्मचारी यूनियन ने आरोप लगाते हुए कहा कि पार्षद उन्हें धक्का मारते हैं और काम न करने का ताना देते हैं। सफाई कर्मियों के एकाएक धरना शुरू करने की बात पार्षदों को अखर गई और उन्होंने बैठक में ईओ से इस मामले की जांच कराने की मांग भी की। इसकी पुष्टी बैठक से बाहर पार्षद महेश गुप्ता, विरेंद्र पप्पू, कुलदीप गांधी आदि पार्षदों ने की। पार्षदों ने किसी अधिकारी का नाम तो नहीं लिया लेकिन स्पष्ट कहा कि यह किसी की शह पर हुआ है, जो जांच का विषय है। वहीं, नगर परिषद ईओ ने इस संबंध में कुछ भी बोलने से मना कर दिया है। सोमवार सुबह बेपटरी सफाई व्यवस्था को लेकर नप कार्यालय में हाई वॉल्टेज ड्रामा चला। एक तरफ अधिकारियों के रवैये से खफा पार्षदों ने चंद मिनट धरना दिया तो इसके कुछ देर बाद पार्षदों के खिलाफ करीब तीस सफाई कर्मियों ने मोर्चा खोल लिया। सफाई कर्मी पार्षदों के खिलाफ धरने पर बैठ गए। सुबह करीब दस बजे वाइस चेयरमैन बबलू श्योराण, पार्षद महेश गुप्ता, पार्षद दिनेश जांगड़ा, पार्षद विरेंद्र पप्पू, पार्षद रोहित राजपूत, पार्षद मनोज वर्मा सहित पार्षद प्रतिनिधि सुभाष स्वामी, प्रवीन सैनी, एडवोकेट विक्रम श्योराण, विरेंद्र चरखी, सतबीर चौहान, दीपक कुमार ने इकट्ठे होकर नगर परिषद कार्यालय पहुंचे। उन्होंने प्रथम तल पर सीढ़ियों के पास ही दरी बिछाकर धरना शुरू कर दिया। इसके कुछ देर बाद ही ईओ अभेसिंह यादव ने उन्हें बैठक के लिए अपने कार्यालय में बुला लिया। वहीं, मीडिया को बैठक से दूर रखा गया। मीडियाकर्मियों के वहां पहुंचने पर कमरे के गेट तक बंद करवा दिए गए। नप सूत्रों की मानें तो बैठक में काफी गहमागहमी हुई और पार्षदों ने शहर की बेपटरी सफाई व्यवस्था के लिए अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया।
पार्षदों ने कहा कि पिछले 15 दिनों से वार्डों के डंपिंग प्वाइंटों से कचरे का उठान नहीं हुआ है। पहले सीएम का राज्य स्तरीय कार्यक्रम और फिर स्वतंत्रता दिवस का हवाला देकर सफाई कर्मी कचरे का उठान करने नहीं पहुंच रहे हैं। जब वो अधिकारियों के पास फोन करते हैं तो उनकी कॉल तक रिसीव नहीं की जाती। वहीं, वार्ड के लोग कूड़ा निस्तारण संबंधी समस्याएं लेकर उनके पास पहुंच रहे हैं लेकिन वो उन्हें कोई आश्वासन नहीं दे पा रहे। पार्षदों ने कहा कि अगर किसी प्रशासनिक कार्यक्रम के लिए कर्मचारियों की जरूरत पड़ती है तो नगर परिषद वार्डों से सफाई कर्मचारी हटाकर वहां भेज देते हैं। इससे वार्ड की सफाई व्यवस्था चौपट हो जाती है। पार्षदों ने ईओ से मांग करते हुए कहा कि भविष्य में इस तरह की स्थिति न बने, इसके लिए नगर परिषद एक या दो दिन के लिए ठेकेदार की मार्फत कर्मचारी हायर करे। इस मांग को ईओ ने भी मान लिया। बैठक में नगर परिषद चेयरमैन संजय छपारिया भी मौजूद थे।
कर्मचारियों के धरने पर बैठने की भी होगी जांच : ईओ से बैठक के बाद बाहर आए पार्षदों ने कहा कि सफाई कर्मचारियों अपने आप से नहीं बल्कि किसी के कहने से धरने पर बैठे हैं। पार्षदों ने सफाई कर्मियों द्वारा लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि ईओ से उन्होंने मांग की है कि इस मामले की जांच करवाई जाए। पार्षदों की मानें तो ईओ ने इसके लिए जांच के आदेश भी दे दिए हैं। वहीं, ईओ अभेसिंह यादव ने इसे विभाग का अंदरुनी मामला बताते हुए कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।
दस दिन में समस्या का समाधान कराने के आश्वासन पर सिरे चढ़ी बात : सुबह करीब 11 बजे शुरू हुई बैठक दोपहर एक बजे तक चली। बैठक के दौरान पार्षदों ने अपनी समस्याएं ईओ के सामने रखीं। पार्षदों ने कहा कि पिछले 15 दिनों से डोर-टू-डोर कचरा उठान सेवा ठप पड़ी है। इसके अलावा वार्ड के डंपिंग प्वाइंटों से कचरा नहीं उठाया जा रहा। शहर की प्रमुख सड़कों पर भी कचरे के ढेर लगे हुए हैं।
पार्षदों और सफाई कर्मचारियों के बीच सफाई व्यवस्था को लेकर विवाद था। मैंने आज पार्षदों के साथ बैठक कर मामला सुलझवा दिया है। आगामी कुछ दिन में नए ऑटो टीपर हमारे पास पहुंच जाएंगे और दस दिन में सफाई व्यवस्था सृदुढ़ करने का आश्वासन पार्षदों को दिया गया है। -अभेसिंह यादव, ईओ, नगर परिषद।
पार्षद सफाई कर्मियों का शोषण करते हैं। हमारे साथ धक्का-मुक्की तक की जाती है। पार्षद हमें बताते हैं कि इस गली की सफाई करनी है, किसकी नहीं। हमारी मांग है कि हमें काम संबंधी दिशा-निर्देश पार्षद या पार्षद प्रतिनिधियों की बजाय अधिकार ही दें। इस मांग को लेकर हम धरने पर बैठे हैं। - सुरेंद्र, सफाई कर्मी यूनियन प्रधान।
धरने पर बैठे सफाई कर्मचारी पार्षदों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए।
धरने पर बैठे सफाई कर्मचारी पार्षदों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए।- फोटो : CharkhiDadri
  शहर में सड़क किनारे बने डंपिंग प्वाइंट पर पड़ा कचरा।
शहर में सड़क किनारे बने डंपिंग प्वाइंट पर पड़ा कचरा।- फोटो : CharkhiDadri
... और पढ़ें

खेत में सांप के डंसने से महिला की मौत

बौंदकलां-मालकोष रोड पर खेत में काम कर रही एक महिला को रविवार शाम सांप ने डंस लिया। महिला को उपचार के लिए पीजीआईएमएस रोहतक भर्ती करवाया गया जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इत्तफाकिया मौत की कार्रवाई करके पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। जानकारी अनुसार गांव बौंदकलां निवासी सुभाष की पत्नी बबीता रविवार को खेतों में काम करने के लिए गई थी। खेतों में काम करने के दौरान एक जहरीले सांप ने महिला को काट लिया। सांप के जहर के प्रभाव के कारण महिला को अचानक दिखना भी बंद हो गया। परिजन महिला को उपचार के लिए पीजीआईएमएस रोहतक ले गए जहां पर उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने सोमवार सुबह महिला का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। ... और पढ़ें

पहाड़ों पर बारिश से जिले की नहरों में बढ़ा पानी का दबाव

कुछ दिनों से हो रही बारिश के कारण नहरों में बढ़ते पानी के दबाव को देखते हुए सिंचाई विभाग सतर्क हो गया है। पंप हाउसों से लगातार पानी उठान के लिए मोटर एवं पंप आदि सिस्टम को अपडेट कर दिया गया है। विभाग कर्मचारी भी 24 घंटे निगरानी रख रहे हैं ताकि अचानक बिजली आपूर्ति बाधित हो जाने या पीछे से औचक ज्यादा मात्रा में पानी पहुंचने पर स्थिति पर नियंत्रण रखा जा सके। लोहारू नहर के समीप बने रिजर्व टैंक को भी तैयार कर रखा है ताकि अतिरिक्त पानी को इस टैंक में छोड़ा जा सके।
जिले की नहरों मे जुलाई प्रथम सप्ताह से लगातार पानी चल रहा है। प्रदेश के अलावा साथ लगते राज्यों में बारिश की अधिकता के कारण पानी पहाड़ों से नदियों में जा रहा है जिससे नदियों में पानी का प्रवाह एवं स्तर बढ़ता जा रहा है। नहरों में जल स्तर बढ़ने पर अतिरिक्त पानी को प्रदेश की सभी नहरों व माइनरों में छोड़ रखा है ताकि पानी का समायोजन होता रहे और नहरों के ओवरफ्लो की स्थिति से बचा जा सके। कई बार अचानक नहर ओवरफ्लो होने पर आसपास के खेतों व बस्ती में पानी भर जाने से बाढ़ जैसे हालात बन जाते हैं।
जिले की मेन लोहारू कैनाल , लोहारू फीडर, सतनाली फीडर, बधवाना डिस्टीब्यूट्री सहित तकरीबन सभी नहरों में पानी चल रहा है। जिले की नहरों में इस समय 800 से 900 क्यूसेक तक पानी चल रहा है। इस पानी को टेल तक पहुंचाने के लिए माइनरों व सब माइनरों में भी छोड़ रखा है ताकि फालतू पानी का सदुपयोग होता रहे।
नहरों में चल रहा पहाड़ों पर हुई बारिश का पानी : सिंचाई विभाग के अधिकारी पंप हाउसों की 24 घंटे निगरानी रखे हुए हैं। कई बार अचानक पीछे से ज्यादा मात्रा में पानी पहुंचने पर नहर ओवरफ्लो हो जाती हैं। इतना ही नहीं कई बार अचानक बिजली एवं मोटरों में फॉल्ट आ जाने पर पानी का उठान नहीं हो पाता है जिससे पंप हाउस से पीछे पानी का स्तर बढ़ जाता है और ओवरफ्लो की स्थिति बन जाती है। इस समय नहरों मेें बरसात का पहाड़ी पानी चल रहा है।
इस समय 78 नहर, माइनर और सब माइनर में बह रहा पानी : सिंचाई विभाग विभाग ने पिछले दिनो जिले के मेन पंप हाउसों पर काफी संख्या में नई मोटरें एवं पंप भी लगाए हैं लेकिन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए विभाग अधिकारी सतर्क बने हुए हैं। पंप हाउसों पर कार्यरत कर्मचारियों को भी अलर्ट कर रखा है। खासकर रात के समय विशेष सतर्कता बरती जा रही है। जिले में कुल 78 नहर, माइनर व सब माइनर हैं जिनमें इस समय पानी चल रहा है। लोहारू नहर पर गांव रावलधी के समीप करीब 10 एकड़ से ज्यादा जमीन में रिजर्व टैंक भी बना रखा है ताकि फालतू पानी को इस टैंक में डाला जा सके।
पंप हाउसों व अन्य साइटों की लगातार निगरानी रखी जा रही है। मोटर व पंप सिस्टम अपडेट कर दिए गए हैं। पंप सिस्टम की टीमें 24 घंटे निगरानी रख रही हैं। - राहुल छिल्लर, एसडीओ, सिंचाई विभाग।
  घिकाड़ा पंप हाउस के पंप से गिरता पानी।
घिकाड़ा पंप हाउस के पंप से गिरता पानी।- फोटो : CharkhiDadri
... और पढ़ें

बोलेरो ने मारी बाइक को टक्कर, चार घायल

चरखी दादरी बरसाना मोड़ के समीप एक तेज रफ्तार बोलेरो ने बाइक को टक्कर मार दी। घटना में दो महिलाओं व एक बच्चे सहित चार लोग घायल हो गए। सिविल अस्पताल में उपचाराधीन घायलों के बयान पर सदर थाना पुलिस ने आरोपी चालक पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस को दिए बयान में दगड़ोली निवासी हरेंद्र ने बताया कि गत पंद्रह अगस्त को वह अपनी बहन के घर भिवानी गया था। उसके साथ उसकी पत्नी व बेटा भी था। घायल ने बताया कि वो भिवानी से अपने गांव दगड़ोली लौटने के लिए बाइक पर सवार होकर चले थे और उनके साथ उसकी बहन की ननद भी थी। जब वो बरसाना मोड़ से करीब 200 मीटर आगे चले तो एक तेज रफ्तार बोलेरो ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। घटना में वो सभी सड़क पर जा गिरे और उन्हें चोटें लगीं। इसके बाद वहां से गुजर रहे राहगीरों ने उन्हें संभाला और उपचार के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया। पुलिस बयान में घायल ने बताया कि आरोपी चालक ने उन्हें पीछे से टक्कर मारी है। सदर पुलिस ने घायल हरेंद्र के बयान पर आरोपी चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree