विज्ञापन

भिवानी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

भिवानी: रसीद घोटाले से खरीदी जमीन की तीनों रजिस्ट्री जब्त, कोर्ट के फैसले के बाद पुलिस करेगी नीलाम

भिवानी में नगर परिषद रसीद घोटाले के आरोपी अकाउंटेंट सुरेश ने पूछताछ में बताया था कि गबन की राशि 57.72 लाख रुपये की आठ एकड़ जमीन खरीदी है। इसके बाद पुलिस ने जमीन की तीनों रजिस्ट्री जब्त कर ली हैं। इन जमीन को कोर्ट के फैसले के बाद नीलाम कर सरकारी संपत्ति की रिकवरी की जाएगी। वहीं पुलिस ने आरोपी सुरेश को धोखाधड़ी के एक और मामले में प्रोडक्शन वारंट पर लिया। इसके बाद उससे 50 हजार रुपये और बरामद किए गए। आरोपी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।

उल्लेखनीय है कि नगर परिषद में पूर्व पार्षद सुदर्शन जिंदल की शिकायत पर चेक घोटाले का खुलासा हुआ। इस मामले में आरोपी निवर्तमान चेयरमैन रण सिंह यादव, तत्कालीन कार्यकारी अधिकारी संजय यादव, अकाउंटेंट सुरेश कुमार, संजय बंसल, बैंक सेल्स मैनेजर नितेश जैन व पांच अन्य की गिरफ्तारी हो चुकी है।

चेक घोटाले के बाद रसीद घोटाला सामने आया, जिसमें फर्जी रसीदों के सहारे आमजन के साथ धोखा किया गया। समाजसेवी सुशील वर्मा की शिकायत पर धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ। नगर परिषद अधिकारियों ने भी फर्जी रसीद की शिकायत दी और यह धोखाधड़ी का अलग से मामला दर्ज हुआ।

पुलिस ने रसीद घोटाले में आरोपी अकाउंटेंट सुरेश कुमार को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर दो दिन के रिमांड पर लिया था। इसमें एक रसीद बुक के सहारे ही करीब 28 लाख का घोटाला सामने आया। दूसरी रसीद बुक मिली नहीं है और कयास लगाए जा रहे है कि दूसरे रसीद बुक के सहारे भी 25 लाख से अधिक का गबन किया गया है।

रिमांड के दौरान सुरेश कुमार ने खुलासा किया कि उसने गबन की राशि से पत्नी के नाम 57.72 लाख रुपये में तोशाम में आठ एकड़ जमीन खरीदी है। आरोपी को पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने धोखाधड़ी के तीसरे मामले में प्रोडक्शन वारंट पर लिया। जिसके दौरान 50 हजार की राशि और उससे बरामद की गई।

धोखाधड़ी के इस मामले में पुलिस ने अकाउंटेंट सुरेश से पहले नौ अप्रैल को आरोपी रजनीश निवासी आजाद नगर भिवानी को गिरफ्तार किया था। 10 अप्रैल को रजनीश के साथ कराटे कोच हरीश को गिरफ्तार किया गया। हरीश से 1.25 लाख, मोबाइल फोन, लैपटॉप, प्रिंटर बरामद किए गए थे। रजनीश से 1.10 लाख रुपये बरामद हुए थे।

कहां गई दूसरी रसीद बुक
आर्थिक अपराध शाखा के समक्ष यह बात तो सामने आई है कि फर्जी तरीके से दो रसीद बुक तैयार की गईं। एक रसीद बुक बरामद हुई, जिसमें करीब 28 लाख का गबन सामने आया। मगर दूसरी रसीद बुक अब तक नहीं मिली है। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर दूसरी रसीद बुक कहां गई। आरोपी रजनीश के तीन दिन के रिमांड, आरोपी हरीश के दो दिन के रिमांड और अकाउंटेंट सुरेश कुमार के रिमांड के बावजूद पुलिस अब तक वह रसीद बुक बरामद नहीं कर पाई है।

नहीं मिली दूसरी रसीद बुक
... और पढ़ें

भिवानी: बैंक अधिकारी के घर से सवा चार लाख के आभूषण ले उड़े चोर, हजारों की नकदी भी चोरी

भिवानी के गांव झरवाई में बैंक अधिकारी के बंद मकान से चोर सवा चार लाख रुपये के आभूषण चोरी कर ले गए। इसके अलावा करीब 20 हजार की नकदी ले गए। चोरी की सूचना के बाद चंडीगढ़ में कार्यरत बैंक अधिकारी अपने गांव झरवाई आया। जांच की तो पाया कि करीब आठ तौले सोने के आभूषण चोरी किए गए हैं। चोरी की सूचना के बाद सदर थाना पुलिस ने मौके का निरीक्षण किया। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और डॉग स्क्वायड टीम को बुलाया गया, जिन्होंने तथ्य जुटाए। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

चोरों ने झरवाई निवासी विनोद कुमार रिजर्व बैंक चंडीगढ़ में बतौर असिस्टेंट कार्यरत हैं। उन्होंने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 19 अप्रैल की शाम को गांव से उसके पास परिजन विक्रम का फोन आया और बताया कि आपके घर के ताले टूटे हुए हैं। यह सुनने के बाद वह 20 अप्रैल की सुबह ही झरवाई गांव पहुंच गया। वहां देखा कि घर के ताले टूटे हुए थे।

अंदर सारा सामान बिखरा हुआ था। घर में अलमारी, संदूक, अटैची, बेड सभी का सामान बिखरा हुआ था और अलमारी, संदूक में रखे आभूषण और नकदी गायब थी। उन्होंने बताया कि एक कमरे की अलमारी में 20 हजार की नकदी थी। दूसरे कमरे में रखे संदूक में सोने की दो चेन जो करीब पांच तौले की थीं। इसके अलावा एक सोने का कड़ा, तीन अंगूठी चोरी कर ली गई। कड़ा और अंगूठी करीब तीन तौले के थे। करीब आठ तौला सोने के आभूषण चोरी कर लिए गए। उसका करीब साढ़े चार लाख रुपये का सामान चोरी कर लिया गया। 

चोरी की सूचना सदर थाना पुलिस को दी गई। इसके बाद सदर थाना एचसी सुमित, कांस्टेबल संदीप मौके पर पहुंचे और जांच की। सीन ऑफ क्राइम टीम को सूचित किया गया। सूचना पर फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और डॉग स्क्वायड टीम को बुलाया गया। टीम ने करीब तीन घंटे तक जांच कर तथ्य जुटाए। विनोद कुमार ने बताया कि उसे भारी नुकसान हो गया है और वह नौकरी के चलते चंडीगढ़ में रहता है। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से जल्द से जल्द चोरों को गिरफ्तार कर सामान बरामदगी की मांग की। 

दिनदहाड़े चोरी होने का अंदेशा
चोरी की वारदात को दिन के समय अंजाम दिया गया है। इन दिनों गेहूं कटाई का सीजन चल रहा है और अधिकतर लोग खेतों में होते हैं। मकान के ताले टूटे भी शाम को देखे गए, जबकि सुबह ताले ठीक बताए जा रहे थे। ऐसे में चोरी की वारदात को दिनदहाड़े अंजाम दिया गया। चोरों ने मकान में हरेक चीज को खंगाला। बेड खोलकर सारा सामान देखा। अलमारी को पूरी तरह खंगाला। संदूक का सारा सामान बिखरा मिला। वहीं अटैची का भी सामान बिखरा हुआ था।

जांच की जा रही है
... और पढ़ें

भिवानी नगर परिषद घोटाला: अकाउंटेंट सुरेश ने पत्नी के नाम तोशाम में 57.72 लाख रुपये में खरीदी आठ किल्ले जमीन

हरियाणा के भिवानी में चेक घोटाले के बाद रसीद घोटाले में फंसे नगर परिषद के अकाउंटेंट सुरेश कुमार ने रसीद घोटाले की राशि से तोशाम में अपनी पत्नी के नाम 57.72 लाख रुपये में आठ किल्ले जमीन खरीदी। इस जमीन की तीन रजिस्ट्रियां करवाई गईं। यह खुलासा सुरेश कुमार ने दो दिन के रिमांड के दौरान पुलिस पूछताछ में किया है। पुलिस विभाग की आर्थिक अपराध शाखा उससे पूछताछ में जुटी है और शुक्रवार को उसे दोबारा कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

नगर परिषद में चेक घोटाले के बाद रसीद घोटाले में भी बड़े-बड़े खुलासे हो रहे हैं। मामले के आरोपी रजनीश व उसके साथी कराटे कोच से तो पुलिस को ज्यादा कुछ नहीं मिला मगर आरोपी अकाउंटेंट सुरेश को दो दिन के रिमांड पर लिया तो नए-नए खुलासे हो रहे हैं।

पहले दिन जहां एक रसीद बुक से 28 लाख का घोटाला उजागर हुआ। दूसरे दिन गुरुवार को खुलासा हुआ कि सुरेश ने रसीद घोटाले की राशि से तोशाम में अपनी पत्नी के नाम 57.72 लाख रुपये में आठ किल्ले जमीन खरीदी। जिसकी तीन रजिस्ट्रियां करवाई गई हैं।

अन्य रसीद बुक खोलेंगी घोटाला
आर्थिक अपराध शाखा के सामने अभी एक ही फर्जी रसीद बुक सामने आई है, जिसमें करीब 28 लाख का गबन सामने आया है। सूत्र बताते हैं कि ऐसी रसीद बुक और भी हैं। ऐसे में गबन की राशि करोड़ों में हो सकती है। पुलिस अब अन्य रसीद बुक की तलाश में है। आरोपी सुरेश कुमार से भी पूछताछ की जा रही है, जिसमें और खुलासे हो सकते हैं।

सामाजिक कार्यकर्ता सुशील की शिकायत पर हुई कार्रवाई
सामाजिक कार्यकर्ता सुशील ने आर्थिक अपराध शाखा भिवानी को एक शिकायत दर्ज करवाई थी। उसने बताया था कि नगर परिषद भिवानी में पिछले कुछ वर्षों से अलग-अलग तरीकों से भ्रष्टाचार और घोटाले किए गए हैं। आम जनता से ठगी कर करोड़ों रुपये का गबन किया गया है। नगर परिषद भिवानी के कार्यालय में अवैध रूप से सरकारी कर्मचारी बनकर भिवानी की आम जनता से नक्शा पास करवाने, पीआईडी बनवाने व अन्य कार्यों के लिए पैसा लेकर फर्जी रसीदें काटकर धोखाधड़ी की गई है। शहर थाने में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया।

अन्य आरोपी जल्द होंगे गिरफ्तार
... और पढ़ें

भिवानी: टिटानी गांव में चोरों का आतंक, पांच घरों में लगाई सेंध, दो घरों से 14 लाख के आभूषण और नकदी चोरी

भिवानी के गांव टिटानी में चोरों ने रविवार रात खूब आतंक मचाया। चोर दो घरों से करीब 14 लाख के आभूषण और नकदी चोरी कर ले गए। चोर तीन अन्य मकानों में भी घुसे, लेकिन इनमें सामान चोरी हुआ है या नहीं अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। एक घर में चोरों ने महिला पर हमला किया और उसकी कानों की बालियां झपट ली। एक अन्य मकान में युवक पर पिस्तौल तानी। सूचना के बाद पहुंची पुलिस केस दर्ज कर जांच में जुटी है। एफएसएल टीम ने भी मौके का निरीक्षण कर तथ्य जुटाए।

मामला रविवार रात का है। टिटानी गांव में चोर एक के बाद एक पांच घरों में घुसे। दो घरों में परिवार के सदस्य छत पर सोए हुए थे। इन दोनों घरों से चोर करीब 14 लाख की नकदी व आभूषण चोरी कर ले गए। फौजी विजय के घर से चोर एक लाख की नकदी और करीब नौ लाख के आभूषण चोरी कर ले गए। वहीं बिजली निगम के एसए के घर से चोर करीब चार लाख के आभूषण व नकदी पर हाथ साफ कर गए। 

सीआईएसएफ सचिन के घर में भी चोर घुसे जहां उनकी पत्नी पूजा अपनी दो बेटियों के साथ सो रही थी। पूजा के उठने पर चोरों ने हमला किया और कानों की बालियां उखाड़ लीं। इससे पूजा बेसुध हो गई। बाद में परिजनों ने उसे सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया। अभी भी पूजा को पूरी तरह से होश में नहीं आया है। इस घर में भी सारा सामान बिखरा हुआ है। पूजा के होश में आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी कि क्या चोरी हुआ है। 

चोर ग्रामीण संदीप के घर भी घुसे जहां संदीप के उठने पर पिस्तौल तान शोर मचाने पर गोली मारने की धमकी दी। चोरों ने एसआई कर्ण सिंह के मकान को भी निशाना बनाया। आरोपियों ने कर्ण सिंह की पत्नी को एक कमरे में बंद कर पूरा घर खंगाला। चोरी का पता पुलिस को सुबह लगा। जिसके बाद एफएसएल टीम को बुलाया गया। पुलिस ने चोरी का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले में एसएचओ जुई थाना श्रीभगवान यादव ने बताया कि शिकायतों के आधार पर जांच कर रहे है। चोरी के दो केस दर्ज कर लिए गए हैं।
... और पढ़ें
टिटानी गांव में चोरी। टिटानी गांव में चोरी।

भिवानी में दो सड़क हादसे: एक में बेसहारा पशु ने तीन बच्चों से छीना पिता का सहारा, दूसरे में तीन साल की मासूम बच्ची की मौत

लावारिस पशु लगातार जानलेवा साबित हो रहे हैं। शनिवार रात हरियाणा के भिवानी में हांसी रोड पर हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के पास लावारिस पशु के कारण बाइक का संतुलन बिगड़ गया। जिससे उस पर सवाल हलवाई की मौत हो गई जबकि एक युवक की टांग में फ्रैक्चर आया तो एक के सिर में गंभीर चोट आई। घायलों को हांसी के अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती करवाया है।

वहीं हलवाई की मौत से उसके तीन छोटे बच्चों के सर से पिता का साया उठ गया। ऐसा हादसा पहली बार नहीं है। भिवानी में अब तक अनेक दफा लावारिस पशु किसी से पिता तो किसी से इकलौता बेटा व अन्य सहारा छीन चुके हैं। कागजों में तो शहर कैटल फ्री हो चुका है मगर धरातल पर अभी लावारिस पशुओं का जमावड़ा है।

हादसा शनिवार देर रात करीब साढ़े 11 बजे हुआ। हांसी की नहर कॉलोनी वासी 36 वर्षीय अशोक सैनी दो अन्य युवाओं इसी कॉलोनी वासी मोहित और सौरभ के साथ तोशाम के पास एक गांव में शादी समारोह में आए थे। वे हलवाई का काम करते हैं। रात को शादी समारोह से लौट रहे थे। जब वे हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के पास पहुंचे तो लावारिस पशु अचानक उनकी बाइक के सामने आ गया।

जिससे बाइक का संतुलन बिगड़ गया। तीनों सड़क पर गिर गए। हादसे में घायल तीनों को उपचार के लिए नागरिक अस्प्ताल की इमरजेंसी लाया गया। जहां अशोक सैनी को मृत घोषित कर दिया गया। परिजन बाकी दोनों घायलों को उपचार के लिए हांसी के एक अस्पताल ले गए। हादसे में मोहित के पांव में फ्रैक्चर हुआ, जिसका रविवार को ऑपरेशन हुआ। वहीं युवक सौरभ के सिर और हाथ में चोट आई है।

कितनों को बेसहारा करेंगे लावारिस पशु
लावारिस पशु औसतन हर रोज हादसों का कारण बन रहे हैं। शहर की बात करें तो अनेक लोगों की जिंदगी लील चुके हैं। किसी को टक्कर मारकर तो कहीं अचानक बीच सड़क आकर। स्कूटर सवार एक हेडमास्टर की मौत के बाद तो उनकी पत्नी ने नगर परिषद पर केस भी किया था और कोर्ट ने 20 लाख रुपये नप को देने के निर्देश दिये थे। जिलेभर में अब तक करीब 25 लोगों की जान लावारिस पशुओं के कारण जा चुकी है।

ये है शहर के प्रमुख हादसे
  •  वर्ष 2018 में सेक्टर-13 में लावारिस पशु ने बुजुर्ग सेवानिवृत्त शिक्षक को टक्कर मारी, जिससे उनकी पसलियों में फ्रैक्चर आए। वे करीब महीना भर पीजीआई में रहे और बाद में दम तोड़ दिया।
  •  वर्ष 2018 में ही हुन्नामल प्याऊ के पास हुए हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। वह ऑटो में सवार था और अचानक लावारिस पशु आने से हादसा हुआ। वह परिवार का इकलौता सहारा था।
  •  दादरी गेट के पास से गुजर रहे स्कूटर सवार एक प्राइवेट स्कूल के हेडमास्टर की मौत हुई।
  •  राधा स्वामी सत्संग भवन के पास बाइक सवार एक दुकानदार की मौत हुई।
  •  चांग गांव में एक बुजुर्ग महिला को सांड़ ने टक्कर मारी, जिससे उसकी मौत हुई
  •  सेवा नगर में एक महिला को लावारिस पशु ने टक्कर मारी, जिससे उसकी मौत हुई।
  • दो जनवरी 2019 को शांति नगर में सांड़ों की लड़ाई के दौरान चपेट में आने से निजी स्कूल बस के सहायक शांति नगर गली नंबर 13 वासी करीब 58 रवि कुमार की मौत हो गई।

कागजों में अभियान, धरातल पर अव्यवस्था
फाइलों में तो भिवानी कैटर फ्री भी हो चुका है, लेकिन कागजों में आज भी लावारिस पशु पकड़ों अभियान चल रहा है मगर धरातल पर स्थिति कुछ और ही बयां कर रही है। शहर के रोहतक रोड, पुराना बस स्टैंड, कृष्णा कॉलोनी, चारा मंडी, ऑटो मार्केट, दादरी रोड, हांसी रोड, दादरी गेट, रोहतक गेट, घंटाघर चौक, दिनोद गेट, बावड़ी गेट, सब्जी मंडी, अनाजमंडी, नया बाजार में लावारिस पशुओं का जमकर लगा रहता है। ये लावारिस पशु हर रोज हादसों का सबब बन रहे हैं। लावारिस पशुओं को रोकने के लिए नंदीशाला बनाई है मगर यहां अक्सर चारे की समस्या रहती है। नगर परिषद के पास लावारिस पशु पकड़ने के लिए न कर्मचारी है और न ही संसाधन। ऐसे में सारे अभियान कागजों में ही चल रहे हैं।
... और पढ़ें

भिवानी में वारदात: बिजली कट लगने पर घर से घूमने निकला श्रमिक, रात भर ढूंढते रहे परिजन, सुबह मिला शव

हरियाणा के भिवानी में सिविल लाइन पुलिस थाना से महज कुछ गज दूर पुराना बस स्टैंड क्षेत्र के सरकुलर रोड स्थित एक निर्माणाधीन तीन मंजिला शोरूम के लिए बनाए जा रहे लिफ्ट के बेसमेंट में फैक्टरी के श्रमिक धर्मबीर सिंह का शव संदिग्ध हालत में मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने भी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच की। मृतक के सिर और कमर में चोट के निशान मिले हैं, जिससे परिजन उसकी हत्या की आशंका भी जता रहे हैं। पुलिस ने परिजनों के तहरीर पर हत्या के मामले में अज्ञात में केस दर्ज किया है। फिलहाल पुलिस ने शव को नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

सिविल लाइन पुलिस थाना के पीछे पुराना बस स्टैंड कुम्हारों की गली निवासी 47 वर्षीय धर्मबीर सिंह सोमवार खाना खाने के बाद देर रात करीब सवा दस बजे बिजली कट लगने पर घर से घूमने निकला था। इसके बाद वह लौटा नहीं। अनहोनी की आशंका में सहमे परिजन उसे रात भर ढूंढते रहे, मगर उसकी कोई खोज खबर नहीं लगी। 

मंगलवार दोपहर को डॉयल 112 के माध्यम से थाने में पुलिस को एक व्यक्ति की निर्माणाधीन शोरूम की लिफ्ट के बेसमेंट में मृत पड़े होने की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू की। इसी दौरान धर्मबीर के परिजन भी थाने में शिकायत लेकर पहुंच गए। पुलिस ने उन्हें शव के बारे में जानकारी दी। परिजन घटनास्थल पर पहुंचे और मृतक की पहचान की।

मृतक के चाचा पवन कुमार ने बताया कि धर्मबीर क्राउन प्लाजा के समीप ही एक फैक्टरी में काम करता था। उसके दो बेटे हैं। बड़ा रोहन व छोटा वरुण। परिजनों को इस बात का भी कोई अंदाजा नहीं है कि धर्मबीर निर्माणाधीन शोरूम की लिफ्ट के बेसमेंट में कैसे पहुंचा। 

पुलिस की प्रारंभिक जांच में मृतक के सिर व कमर पर चोट के निशान भी मिले हैं। पुलिस ने मौके से एक ईंट को भी कब्जे में लिया है, जिस पर खून लगे होने का अंदेशा है। वहीं, निर्माणाधीन शोरूम संचालक राजेंद्र सिंह ने बताया कि उन्हें यहां काम कर रहे मजदूरों ने हादसे की जानकारी दी।

उन्हें नहीं मालूम की धर्मबीर यहां क्या कर रहा था और ये हादसा कैसे हुआ। डीएसपी वीरेंद्र सिंह व सिविल लाइन पुलिस थाना एसएचओ रमेशचंद्र की टीम ने मौके पर घटना के संबंध में छानबीन की और वहां पड़ी एक ईंट को भी कब्जे में ले लिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भेज दिया है। 

आसपास के सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस
निर्माणाधीन शोरूम के आसपास दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे भी पुलिस खंगाल रही है। पुलिस धर्मबीर के यहां कैसे पहुंचा और कौन उसके साथ था इस सवालों के जवाब ढूंढ रही है। हालांकि धर्मबीर के घर से निर्माणाधीन शोरूम की दूरी भी महज सौ से डेढ़ सौ मीटर है। पुलिस ने शोरूम मालिक राजेंद्र सिंह से भी बातचीत की है। वहीं, बनाए जा रहे लिफ्ट के बेसमेंट के अंदर दीवारों पर भी पुलिस को खून के छींटे मिले हैं। 

निर्माणाधीन शोरूम की लिफ्ट में एक व्यक्ति के शव मिलने की सूचना पुलिस को दी गई थी। मौके पर निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए गए हैं, जबकि शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की वजह स्पष्ट होगी, फिलहाल परिजनों के बयान दर्ज कर इस संबंध में आगामी कार्रवाई की जाएगी। - वीरेंद्र सिंह, डीएसपी भिवानी। 

अज्ञात लोगों के  खिलाफ हत्या का केस दर्ज
पुलिस ने मृतक धर्मबीर के छोटे भाई राधेश्याम की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। शिकायत में राधेश्याम ने बताया कि दो मई की रात करीब 10 बजे उसका भाई धर्मबीर खाना खाकर घूमने निकला था। कुछ लोग उसे बहला-फुसलाकर ले गए। इसके बाद सिर व हाथ-पैर पर चोट मारकर हत्या कर दी।

हम पूरी रात उसे खोजते रहे। सुबह हमें पता चला कि धर्मबीर का शव एक निर्माणाधीन भवन में पड़ा है। वहां जाकर देखा तो उसके सिर पर गहरा घाव था और हाथ-पैर पर भी चोट के निशान थे। राधेश्याम ने कहा कि मामले की जांच होनी चाहिए और मौत के असल कारणों का पता लगना चाहिए।
... और पढ़ें

भिवानी: पेपर आउट करने वाले परीक्षार्थी पकड़े गए, यूएमसी दर्ज करने की तैयारी

भिवानी में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मंढोली कलां में 30 मार्च को सीनियर सेकेंडरी के हिंदी विषय की परीक्षा का प्रश्नपत्र आउट करने वाले परीक्षार्थी परीक्षा देते पकड़े गए। परीक्षार्थियों की पहचान हो गई है। अब उनके यूएमसी दर्ज करने की तैयारी है। हालांकि परीक्षार्थियों को नोटिस देकर बोर्ड मुख्यालय बुलाया जाएगा, जहां बातचीत और अपराध के आधार पर सजा तय की जाएगी। वहीं, गुरुवार को हुई पुन: परीक्षा में 16 नकलची दबोचे गए। दो मुन्नाभाई भी पकड़े गए, जिनके प्रतिरूपण का केस दर्ज किया गया।

गौरतलब है कि 30 मार्च को सीनियर सेकेंडरी के पहले ही पेपर में मंढोली कलां गांव के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के परीक्षा केंद्र से प्रश्नपत्र आउट किया गया था, जिस कारण वहां की परीक्षा रद्द कर दी गई थी। साथ ही परीक्षा केंद्र को भी बहल शिफ्ट कर दिया गया था। बोर्ड अधिकारियों के मुताबिक एक छात्रा प्रश्नपत्र को सामने रख फोटो खिंचवा रही थी। फोटो शिक्षक ने खिंची थी। इस तथ्य के प्रकाश में आने के बाद से ही  बोर्ड के अधिकारी और उनकी टीम इस मामले की तह तक जाने में जुट गई थी।

गुरुवार को बोर्ड चेयरमैन प्रो. जगबीर सिंह भिवानी के मॉडल संस्कृति केएम वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित 12वीं की पुन: परीक्षा में निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान पेपर आउट करने वाले परीक्षार्थी पकड़े गए। एक परीक्षार्थी की उसकी घड़ी व हाथ से पहचान की गई, जिसके बाद परीक्षार्थी ने भी कबूल किया शिक्षक ने फोटो खिंची थी। बोर्ड चेयरमैन ने बताया कि शिक्षक के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के लिए पहले ही विभाग को लिखा जा चुका है। इन परीक्षार्थियों को नोटिस देकर मुख्यालय बुलाया जाएगा, जिसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

16 नकलची पकड़े, दो प्रतिरूपण के केस
गुरुवार को हुई 12वीं की पुन: परीक्षा में 16 नकलची पकड़े गए। बोर्ड अध्यक्ष प्रो. जगबीर सिंह ने भिवानी के परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। बोर्ड उपाध्यक्ष वीपी यादव ने पलवल के राकवमावि, पलवल-10 पर दो मुन्नाभाई पकड़े। अनुक्रमांक 3022369304 एवं 3022369674 पर असली परीक्षार्थियों के स्थान पर नकली परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे थे। इनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई गई और प्रतिरूपण के केस दर्ज किए गए। संयुक्त सचिव के उड़नदस्ते ने झज्जर व नारनौल में सात नकलची, जिला प्रश्नपत्र उड़नदस्ते ने नूंह में तीन, सोनीपत में दो, पलवल में दो नकलची पकड़े।

पुन: परीक्षा 30 को
बोर्ड चेयरमैन ने बताया कि सीनियर सेकेंडरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय) की 27 अप्रैल को रद्द हुई विषय की पुन: परीक्षा 30 अप्रैल को दोपहर 12.30 बजे से दोपहर साढ़े तीन बजे तक संचालित करवाई जाएगी। इस परीक्षा में 412 परीक्षार्थी भाग लेंगे। चरखी दादरी के रावमावि, मिसरी-01 परीक्षा केंद्र की शारीरिक शिक्षा विषय की परीक्षा अब आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, नजदीक ढ़ाणी फाटक , गांधी नगर चरखी दादरी-01 परीक्षा केंद्र पर तथा गुरुग्राम के रा.मॉडल सस्कृति वमावि., सुशांत लोक सेक्टर-43 गुुरुग्राम-30 की शारीरिक विषय की परीक्षा डी.ए.वी.व.मा.वि., खाडसा रोड़, गुरुग्राम-2(बी-1) पर होगी।
... और पढ़ें

भिवानी: कार से रस्सी बांधकर उखाड़ी एटीएम, एटीएम काट नहीं पाए तो तीन किलोमीटर दूर खेतों में छोड़कर भाग गए बदमाश

exam
हरियाणा के भिवानी के बहल कस्बे के झुंपा रोड पर लगी एचडीएफसी बैंक के एटीएम को बदमाश कार से रस्सी बांधकर उखाड़ ले गए। बदमाश एटीएम को करीब तीन किमी दूर सुरपुरा खुर्द गांव के खेतों में ले गए, जहां काटकर नकदी चोरी का प्रयास किया मगर कामयाबी नहीं मिली। आखिरकार वे खेतों में ही मशीन को छोड़कर भाग गए। एटीएम में उस समय करीब पौने दो लाख रुपये थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बैंक अधिकारियों को सूचित किया और एटीएम को अपने कब्जे में लिया।
 
बहल कस्बे में एचडीएफसी बैंक ने अभी शाखा की शुरुआत नहीं की है पर झुंपा रोड पर बैंक का एटीएम है। एटीएम में करीब पौने दो लाख रुपये का कैश था। गुरुवार सुबह करीब चार बजे बदमाशों ने एटीएम को कार से रस्से से बांधा और उसे खिंचकर उखाड़ दी। बदमाश उसे करीब तीन किमी दूरी तक घसीटते हुए ले गए।
 
बदमाशों ने एटीएम को तोड़कर उसमें से पैसे निकालने की कोशिश की पर कामयाब नहीं हुए। इसके बाद वे एटीएम को सुरपुरा खुर्द गांव की सीमा में सड़क किनारे फेंक दिया और फरार हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और एटीएम को कब्जे में लिया और बैंक अधिकारियों को घटना के बारे में सूचित किया।
 
दोपहर बाद रोहतक से बैंक अधिकारी मौके पर पहुंचे और मशीन में डाले गए कैश का मिलान किया। पुलिस के अनुसार, अधिकारियों ने बताया कि एटीएम में 1,74,500 रुपये का कैश था, जो कि सुरक्षित है। पुलिस ने एजीएस ट्रांसक्ट टेक लिमिटेड कंपनी के सीनियर फील्ड एक्जिक्यूटिव प्रदीप सूरी के बयान पर विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। 

सीसीटीवी में कैद हुई वारदात
यह वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। सीसीटीवी फुटेज में वीरवार की सुबह करीब सवा चार बजे तीन युवक एटीएम को रस्सा बांधकर कार के पीछे बांधते नजर आ रहे हैं। तीनों युवकों ने अपने मुंह कपड़े से ढक रखे थे और तीनों की उम्र करीब 35 से 40 साल के करीब है। आरोपियों का सुराग लगाने के लिए पुलिस अभी आसपास की दूसरी फुटेज को भी खंगालेगी। 
 
 
... और पढ़ें

हरियाणा बोर्ड परीक्षा: चरखी दादरी और गुरुग्राम के केंद्र में फैली थी उत्तर कुंजियां, दो केंद्रों पर परीक्षा रद्द

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में नकल का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। बुधवार को बारहवीं के शारीरिक शिक्षा विषय की परीक्षा में भी खूब नकल हुई। चरखी दादरी के मिसरी और गुरुग्राम के एक परीक्षा केंद्र में उत्तर कुंजियां, पर्चियां फैली हुई थीं। बोर्ड अधिकारियों ने नकल के कारण दोनों परीक्षा केंद्रों की परीक्षा रद्द कर दी। प्रदेशभर में 56 नकलची भी पकड़े गए। बुधवार को हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सीनियर सेकेंडरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय) शारीरिक शिक्षा विषय की परीक्षा के लिए 1070 परीक्षा केंद्रों पर 114456 परीक्षार्थी प्रविष्ट हुए। 

दादरी और गुरुग्राम में नकल का खुलेआम खेल
बोर्ड उपाध्यक्ष वीपी यादव ने जिला-चरखी दादरी के परीक्षा केंद्र रावमावि, मिसरी(चरखी दादरी) के परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान खुलेआम नकल का खुलेआम खेल चल रहा था। यहां वस्तुनिष्ट प्रश्नों ए व सी कोड की उत्तर कुंजियां परीक्षार्थियों के पास मिली तो पर्चियां भी खूब थीं। इसके बाद बोर्ड उपाध्यक्ष ने परीक्षा रद्द करने की सिफारिश की। बोर्ड अध्यक्ष प्रो. जगबीर सिंह ने बताया कि इस केंद्र की रद्द परीक्षा अब 30 अप्रैल को चरखी-दादरी जिला मुख्यालय पर करवाई जाएगी।

राजकीय मॉडल संस्कृति वमावि, सुशांत लोक, गुरुग्राम-30 के परीक्षा केंद्र में हस्तलिखित पर्चियां फैली थी। यहां परीक्षार्थियों के प्रश्नपत्रों में उत्तरों के सामने निशान लगे थे। यहां अध्यक्ष के विशेष उड़नदस्ते और प्रश्नपत्र उड़नदस्ता ने निरीक्षण कर यह देखा और परीक्षा रद्द करने की सिफारिश की। राकवमावि, मेला ग्राउंड, सिरसा-08 (बी-1) पर अनुक्रमांक 2215410294 असली परीक्षार्थी के स्थान पर नकली परीक्षार्थी परीक्षा दे रहा था, जिसके खिलाफ प्रतिरूपण का केस दर्ज किया गया।

56 नकलची दबोचे
बोर्ड अध्यक्ष प्रो. जगबीर सिंह के उड़नदस्ते ने भिवानी में एक नकलची पकड़ा। संयुक्त सचिव के उड़नदस्ते ने फतेहाबाद में नौ नकलची पकड़े। बोर्ड अध्यक्ष के विशेष उड़नदस्तों ने 26, अन्य उड़नदस्तों ने 20 नकलची पकड़े। अब तक 3602 नकलची इन परीक्षाओं में पकड़े गए और 97 केस प्रतिरूपण के दर्ज किए गए।

रद्द परीक्षा आज
सीनियर सेकेंडरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय) परीक्षा मार्च-2022 में कुछेक परीक्षा केंद्रों पर रद्द विषयों की पुन: परीक्षा 28 अप्रैल को होगी, जिसमेें 5,754 परीक्षार्थी भाग लेगे।
... और पढ़ें

सुपरिंटेंडेंट हत्याकांड: दीवार पर खून के धब्बों ने बयां की दरिंदगी, हत्यारे ने किया वार पर वार...पुलिस जता रही ये शक

हरियाणा के भिवानी में बाल सेवा आश्रम के सुपरिंटेंडेंट मनमोहन गिरि की हत्या करने वाला मन में इतनी रंजिश पाले था कि पाइप से उनके सिर में 16 से 20 वार किए। किसी से रंजिश इतनी गहरी थी कि इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि छत तक की दीवारें खून से सनी थी। मनमोहन गिरि ने बचाव में हाथ भी आगे किया तो पाइप से उस पर वार किए गए। हाथ पर भी चोट के निशान हैं। हत्या में शक की सुई बाल आश्रम के ही किसी सदस्य या यहां रहने वाले की ओर घूम रही है। पुलिस इस एंगल से जांच में जुटी है।

रेलवे स्टेशन के नजदीक बाल सेवा आश्रम में सोमवार रात सुपरिंटेंडेंट मनमोहन गिरि की उनके क्वार्टर में ही हत्या कर दी गई। वह अपनी चारपाई पर ही मृत मिले। सुबह स्टाफ सदस्यों ने उनका फोन मिलाया, तो नहीं उठाया। इसके बाद स्टाफ ने अंदर जाकर देखा तो वे अपनी चारपाई पर ही मृत पड़े थे। सूचना के बाद शहर थाना पुलिस के अलावा सीआईए, एफएसएल टीम ने मौके का निरीक्षण किया और तथ्य जुटाए। 
... और पढ़ें

सुपरिटेंडेंट हत्याकांड: 44 घंटे बाद भी हत्यारे का नहीं लगा कोई सुराग, गमगीन माहौल में हुआ मनमोहन गिरि का अंतिम संस्कार

हरियाणा के भिवानी में बाल सेवा आश्रम के अधीक्षक मनमोहन गिरि के हत्यारे का 44 घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं लगा है। इस हत्याकांड में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छह टीमें जुटी हुई हैं। बुधवार को मनमोहन गिरि के शव का भिवानी के नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया। वहीं, हैदराबाद से मृतक की पत्नी, बेटा और बेटी भी भिवानी पहुंचीं। भिवानी के रामबाग में गमगीन माहौल में मनमोहन गिरि का अंतिम संस्कार किया गया। 

बाल सेवा आश्रम में सोमवार की रात को आश्रम के अधीक्षक मनमोहन गिरि (65) की लोहे के पाइप से हमला कर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में आरोपियों का सुराग लगाने के लिए सीआईए प्रथम, सीआईए द्वितीय, सिटी पुलिस व संबंधित चौकी इंचार्ज के अलावा साइबर सैल व डीएसपी की टीम भी जांच में जुट गई है।
 
आश्रम के कर्मचारी हरेंद्र ने बताया कि इस घटना के बाद सभी कर्मचारी सहम गए हैं। मनमोहन गिरि का स्वभाव अच्छा था और कर्मचारियों के प्रति भी वे काफी मिलनसार रहे थे। बुधवार को उनकी पत्नी और बेटा वशिष्ठ गिरि, जो हैदराबाद में आयकर विभाग में निरीक्षक  हैं वे यहां पहुंचे।
 
जबकि मनमोहन गिरि की बेटी सीमा भी यहां पहुंची। पुलिस ने अंतिम संस्कार की रस्म के बाद परिजनों से भी पूछताछ कर हत्या के पीछे वजह जानने की कोशिश की, लेकिन परिजनों को भी उनकी हत्या का कोई आभास नहीं था और न ही किसी से कोई रंजिश की बात सामने आई। 
 
आश्रम में रात को ये कर्मचारी कर रहे थे ड्यूटी
जिस समय मनमोहन गिरि की क्वार्टर नंबर दस में बेरहमी से हत्या हुई, उस दौरान आश्रम में एक चौकीदार, बच्चों के वार्डन व लड़कियों की महिला वार्डन, गेट कीपर ड्यूटी पर थे। इसके अलावा मनमोहन के क्वार्टर नंबर दस के पास ही क्वार्टर नंबर नौ में परचेजर का परिवार भी सो रहा था। आश्रम में 11 लड़के और 20 लड़कियां भी थी। किसी को इस हत्याकांड की भनक तक नहीं लगी। 
 
सात सालों में नहीं हुआ कोई विवाद
मनमोहन गिरि मूलरूप से यूपी के जिला बलिया की तहसील बंशदीन के गांव केवरा केमठिया का रहने वाला था। मनमोहन पहले शहर के रोहतक गेट स्थित एक निजी विद्यालय में बतौर योगा टीचर लंबे अर्से तक तैनात रहे थे। सेवानिवृत्ति के बाद उन्होंने बाल सेवा आश्रम में बतौर सुपरिंटेंडेंट की नौकरी शुरू कर दी थी। यहां रहते हुए उनके साथ कोई विवाद नहीं हुआ। अचानक ही उनकी किसी ने बेरहमी से हत्या कर दी। अब ये सवाल कर किसी को कचोट रहा है। 

प्रशासक नियुक्त किए जाने की मांग
हरियाणा राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के पूर्व सदस्य सुशील वर्मा ने बाल सेवा आश्रम में पिछले कुछ अर्से से कुप्रबंधन के आरोप लगाते हुए हरियाणा राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष ज्योति बैंदा से प्रशासक नियुक्त कराने की मांग की है। उन्होंने अध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा है कि आश्रम में अवांछित गतिविधियों की वजह से संस्था बच्चों के हितकर नहीं है। इसमें कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिससे यहां बच्चों की सुरक्षा पर भी सवाल खड़ा हो रहा है। ऐसे में बाल सेवा आश्रम में अतिरिक्त उपायुक्त, एसडीएम या सीटीएम को प्रशासक नियुक्त कराया जाए। 
 
... और पढ़ें

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड: सीनियर सेकेंडरी की विभिन्न विषयों की हुई परीक्षा, 25 नकलची पकड़े

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की मंगलवार को हुई सीनियर सेकेंडरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय) की विभिन्न विषयों की परीक्षा में 25 नकलची पकड़े गए। वहीं, 21 अप्रैल को पेपर आउट करने के मामले में पुलिस ने सोनीपत के डीसी जैन माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य राकेश जैन को गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को हुई सीनियर सेकेंडरी के विभिन्न विषयों की परीक्षा के लिए प्रदेशभर में 706 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, जिन पर 36695 परीक्षार्थी पहुंचे। बोर्ड चेयरमैन ने प्रो. जगबीर सिंह और बोर्ड उपाध्यक्ष वीपी यादव ने महेंद्रगढ़ के परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। बोर्ड सचिव कृष्ण कुमार ने जींद में तीन नकलची पकड़े। संयुक्त सचिव ने सोनीपत में दो नकलची पकड़े। अन्य उड़नदस्तों ने 20 नकलची पकड़े। 

पेपर आउट करने के मामले में केंद्र अधीक्षक गिरफ्तार
बोर्ड अध्यक्ष प्रो. जगबीर सिंह के उड़नदस्ते ने 21 अप्रैल को सीनियर सेकेंडरी राजनीति विज्ञान की परीक्षा में सोनीपत के परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान परीक्षा केंद्र डीसी जैन वमावि, सोनीपत-47 (बी-1) पर प्राचार्य कक्ष में एक अध्यापिका निशा कौशिक मोबाइल फोन सहित पकड़ी गई थीं।

मोबाइल में पेपर मिला था। परीक्षा केंद्र की सीसीटीवी फुटेज निकलवाने पर पाया गया कि प्रमुख केंद्र अधीक्षक, स्कूल संचालक व स्टाफ को पेपर आउट कर रहे थे, जिस पर केस दर्ज कराया गया था। बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि पुलिस द्वारा कार्रवाई करते हुए प्रमुख केंद्र अधीक्षक (स्कूल प्राचार्य) राकेश जैन को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, अध्यापिका निशा कौशिक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है। बोर्ड अध्यक्ष द्वारा संबंधित विद्यालय की संबद्धता रद्द करने के लिए तुरंत कार्रवाई करने हेतु आदेश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

भिवानी में वारदात: बाल सेवा आश्रम के सुपरिंटेंडेंट की हत्या, बलिया के रहने वाले थे

हरियाणा के भिवानी में तोशाम रोड रेलवे स्टेशन के समीप बाल सेवा आश्रम में सोमवार रात को लोहे के पाइप से वार कर आश्रम के सुपरिंटेंडेंट की हत्या कर दी गई। मंगलवार सुबह प्रबंधन के अधिकारियों को इस घटना के बारे में भनक लगी। वारदात की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर शहर थाना पुलिस की टीम के अलावा सीआईए और फोरेंसिक एक्सपर्ट एवं डॉग स्क्वॉड की टीम भी पहुंची। पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह और डीएसपी (हेडक्वार्टर) वीरेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंचकर घटना के बारे में जानकारी जुटाई। 

मूलरूप से यूपी के बलिया जिला निवासी 65 वर्षीय मनमोहन गिरि भिवानी के बाल सेवा आश्रम में पिछले सात साल से सुपरिंटेंडेंट के पद पर कार्यरत थे। आश्रम में बच्चे भी उन्हीं की निगरानी में यहां रहते थे और वे खुद भी यहां क्वार्टर नंबर दस में रहते थे। दो माह पहले ही उनकी पत्नी अपने बेटे के पास हैदराबाद चली गई थीं।

उनका बेटा वशिष्ठ गिरि हैदराबाद में आयकर विभाग में निरीक्षक है। उनकी बेटी भी शादीशुदा है। बाल सेवा आश्रम के प्रधान डॉ. रामफल आर्य एडवोकेट ने बताया कि मंगलवार सुबह करीब 10.15 बजे लेटर हेड लेने के लिए यहां आए थे। इस दौरान स्टाफ सदस्यों से मनमोहन गिरि के बारे में पूछा था। स्टाफ ने बताया था कि मनमोहन गिरि अभी तक अपने क्वार्टर से नहीं आए हैं। 

आश्रम का ही एक लड़का गोलू उन्हें बुलाने क्वार्टर गया और थोड़ी देर बाद ही रोते हुए लौटा, जिसके बाद प्रबंधन के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे, तो मनमोहन गिरि चारपाई पर ही खून से लथपथ पड़े थे। उनके सिर और चेहरे पर पाइप से चोट के निशान थे। आश्रम के अध्यक्ष ने बताया कि यहां 20 लड़की और 11 लड़के रह रहे हैं। 28 लोगों का यहां पर स्टाफ भी तैनात है। 

क्वार्टर के पिछले हिस्से में मिला खून से सना लोहे का पाइप
एसपी अजीत सिंह और डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि निरीक्षण के दौरान सीआईए की टीम को क्वार्टर के पिछले हिस्से में खून से सना लोहे का पाइप मिला है, जिसका एक सिरा नुकीला यानी एलबो लगा हुआ था। इसी पाइप से मनमोहन गिरि की बेरहमी से हत्या की गई थी। ये पाइप भी हत्यारे ने उसी के क्वार्टर के अंदर रखे बेकार पाइपों में से उठाकर हत्या के लिए हथियार बनाया था, जिसे पुलिस ने बरामद किया है। 

काफी दूर तक सूंघी पुलिस के कुत्ते ने हत्यारे की गंध
डॉग स्क्वॉड टीम में शामिल कुत्ते ने काफी दूर तक हत्यारे की गंध सूंघी। कुत्ता क्वार्टर के आसपास भी काफी देर तक चक्कर लगाता रहा। मनमोहन गिरि के क्वार्टर के पास ही लड़कों का वार्ड भी बना हुआ था। जबकि उनके साथ में लड़कियों के रहने का अलग से वार्ड बना हुआ था। इन दोनों ही वार्डों के बाहर सीसीटीवी कैमरे भी लगे थे, लेकिन मनमोहन गिरि के क्वार्टर की तरफ किसी भी कैमरे की लोकेशन नहीं थी। 

हत्यारे ने आश्रम की सुरक्षा में भी सेंधमारी की
सुपरिंटेंडेंट की हत्या से आश्रम की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े हो गए हैं। हत्यारे ने आश्रम की सुरक्षा में भी सेंधमारी कर दी, जहां सुपरिंटेंडेंट की हत्या हुई वह इलाका आश्रम के बीचोंबीच था, जबकि बाहरी दीवारों पर भी कटीले तार व ऊंची दीवारें बनी हुई थी। बाहर से कोई आता और हत्या कर चला जाता, यह प्रारंभिक दृष्टि से संभव नहीं है। इसी को लेकर पुलिस की हत्या की सुई आश्रम में रहने वालों पर ही घूम रही है। 
 
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00