बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पंचकूला के सरकारी होटल में फंदे पर लटका मिला ट्राइसिटी का बड़ा कारोबारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पंचकूला (हरियाणा) Published by: ajay kumar Updated Thu, 23 Jul 2020 02:40 AM IST
विज्ञापन
रेड बिशप होटल
रेड बिशप होटल - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
पारिवारिक कलह से परेशान ट्राइसिटी के बड़े उद्योगपति 76 वर्षीय गुरकृपाल सिंह चावला ने बुधवार रात सेक्टर-1 स्थित रेड बिशप होटल के कमरे में फंदा लगाकर जान दे दी। घटना की सूचना मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए और उनको फंदे से उतारकर सेक्टर-6 स्थित सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद अस्पताल से सूचना पर सेक्टर-5 थाना पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू कर दी। पुलिस ने होटल के कमरे को सील कर दिया है। घटना रात करीब साढ़े नौ बजे की है। पुलिस को अभी कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।
विज्ञापन


मोहाली निवासी 76 वर्षीय गुरकृपाल सिंह चावला के शव को पुलिस ने सेक्टर 6 स्थित सामान्य अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। घटनास्थल पर पहुंचे चौकी इंचार्ज मुकेश ने बताया कि परिजनों की शिकायत दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि प्राथमिक जांच में पता चला है कि मृतक गुरकृपाल सिंह चावला के चंडीगढ़ और मोहाली में कई फिलिंग स्टेशन हैं। इसके अलावा अंबाला रोड पर हवेली रेस्टोरेंट और एक फिलिंग स्टेशन भी है। इसके अलावा उनका प्रॉपर्टी का भी बड़ा कारोबार था।


होटल पहुंचे परिजन फंदे से उतारकर ले गए अस्पताल
मृतक गुरकृपाल सिंह पारिवारिक कलह के चलते पिछले पांच-छह साल से परेशान चल रहे थे। बुधवार शाम को वह अपने ड्राइवर के साथ सेक्टर-1 स्थित रेड बिशप होटल में पहुंचे और कमरा बुक करवाया। इसके बाद ड्राइवर का फोन भी अपने पास रख लिया लेकिन जब ज्यादा समय हो गया तो ड्राइवर ने कमरे का दरवाजा खटखटाया। अंदर से कोई जवाब न मिलने पर उसने परिजनों को सूचना दी। मामले की जानकारी मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए। दरवाजा तोड़कर अंदर गए तो देखा कि वह फंदे से लटके हुए हैं। परिजनों ने उनको नीचे उतारकर अस्पताल पहुंचाया और पुलिस को सूचना दी।

फंदा लगाने से पहले बंद कर दिया था फोन
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, उद्योगपति गुरकृपाल सिंह पिछले कुछ सालों से मानसिक रूप से परेशान चल रहे थे। बुधवार शाम को वह अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर घर से निकले थे। उनके साथ उनका ड्राइवर भी था। रात करीब 9:30 बजे तक उन्होंने ड्राइवर का मोबाइल अपने पास रखा था। इसके बाद उन्होंने मोबाइल ड्राइवर को दे दिया। इसके थोड़ी देर बाद उन्होंने सुसाइड कर लिया।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

प्रसिद्ध उद्योगपतियों में होती थी गुरकृपाल चावला की गिनती

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us