विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

बिहार

गुरूवार, 22 अगस्त 2019

अपराध, भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता के साथ कोई समझौता नहीं: नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि अपराध, भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा और प्रदेश में कानून का राज, विधि व्यवस्था एवं सामाजिक सौहार्द्र का वातावरण कायम है।

73वें स्वतंत्रता दिवस पर पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में तिरंगा फहराने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा कि किसी विद्वेष और भेदभाव के बिना, प्रदेश में कानून का राज कायम किया गया है।

राज्य में सामाजिक सौहार्द्र और सांप्रदायिक सद्भाव का वातावरण होने का दावा करते हुए उन्होंने कहा कि विधि व्यवस्था और अपराध अनुसंधान की अलग-अलग इकाई व्यवस्था आज से हर थाने में लागू कर दी गयी है। अपराध नियंत्रण के लिए गश्ती दल पर नजर रखने के उद्देश्य से वाहनों में जीपीएस उपकरण लगाए जाएंगे।

नीतीश ने कहा कि भ्रष्टाचार से कभी समझौता नहीं किया गया और न ही कभी किया जाएगा। अपराध, भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता के साथ किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। ... और पढ़ें

पटना में बीच सड़क पर पूर्व आईएएस की पिटाई, थानेदार बोला- घटना मेरे इलाके की नहीं

बिहार में बाइकर्स गैंग का उन्माद बढ़ता ही जा रहा है। पटना में बीच सड़क पर एक पूर्व आईएएस अधिकारी को बाइकर्स गैंग ने जमकर पीटा। किसी तरह जान बचाकर रिटायर्ड आईएएस ने अधिकारियों से हमले की जानकारी दी। इसके बाद थानेदार ने यह कहते हुए कार्रवाई से इनकार कर दिया कि यह घटना हमारे क्षेत्र में नहीं हुई है। 

जानकारी के अनुसार मंगलवार रात को रामकृष्ण नगर थाने के इलाके में बाइकर्स गैंग के बदमाशों ने पूर्व अधिकारी अजय वर्मा को घेर कर पिटाई कर दी। पिछले साल उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) ले ली थी। 


अजय वर्मा ने बताया कि वे अपनी पत्नी और बेटे के साथ खरीदारी करने के लिए गए थे। बाजार से लौटते वक्त उनकी कार से एक बाइक की टक्कर हो गई जिसके बाद वर्मा ने कार से उतर कर बाइक की चाबी निकाल ली। 

जिसपर युवक ने अपने दोस्तों दो फोन कर बुला लिया। जिसके बाद युवकों ने मिलकर लात-घूसों से पूर्व आईएएस की पिटाई कर दी। साथ ही कार के ड्राइवर को भी पीटा। वर्मा के बेटे और पत्नी से भी बदसलूकी की गई।

अजय वर्मा की शिकायत के बाद रामकृष्ण नगर थाने की पुलिस आधे घंटे की देरी से मौके पर पहुंची। पुलिस ने पूर्व अधिकारी को अस्पताल में भर्ती करवाया। पुलिस ने छापेमारी शुरू कर दी है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों से आरोपियों की शिनाख्त की जा रही है। वहीं कुछ गाडियों के नंबर पुलिस को हाथ लगे हैं जिनसे बदमाशों की पहचान की जा रही है।

पूर्व आईएएस की पत्नी के अनुसार घटना स्थल पर करीब आधे घंटे तक पुलिस नहीं पहुंची। पुलिस महकमे के वरीय अधिकारियों से बात करने के बाद एक थानेदार ने फोन कर हाल जाना, लेकिन उसने यह कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि घटना उसके क्षेत्र में नहीं हुई है। 
... और पढ़ें

इलाज के पैसे न होने पर गरीब मां ने लिया अपने ही बच्चों को बेचने का फैसला

बिहार के नालंदा में गरीबी से परेशान एक महिला का हैरान करने वाला मामला सामने आया है। पैसे न होने के कारण महिला अपने इलाज के लिए अपने दोनों बच्चों को बेचना चाहती थी। वहीं महिला का पति उसे छोड़कर भाग गया है। 

महिला को अभी नालंदा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अभी तक महिला को किसी भी प्रकार की सरकारी मदद मुहैया कराने की रिपोर्ट सामने नहीं आई है। 


बताया गया है कि महिला बच्चों को पालने का खर्च भी नहीं उठा पा रही है। साथ ही पिछले साल से महिला कुपोषण और ट्यूबरक्लोसिस से जूझ रही है। महिला के पति ने दूसरी महिला से शादी के लिए उसे छोड़ दिया था। जब उसे बीमारी के डर से जान जाने का खतरा बढ़ता दिखा और उसकी मदद के लिए कोई आगे आते नहीं दिखा तो उसने अपने इलाज के लिए दोनों बच्चों को बेचने का फैसला लिया। 

बाद में महिला ने इस बात को स्वीकार किया कि वह अपने बच्चों को बेच रही थी। महिला ने बताया कि मेरी मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया और मैं कभी भी मर सकती थी। 

महिला की हालत इस कदर खराब है कि वह अपने बच्चों के लिए कोई भी दाम लेने को तैयार है। उसने बताया कि बच्चों के लिए अगर कोई कुछ भी पैसे देता तो वह उसे ले लेती। हालांकि जिस अस्पताल में महिला भर्ती है उसके मैनेजर सुरजीत कुमार ने बताया कि जैसे ही मुझे इसकी जानकारी मिली मैंने महिला को अस्पताल में भर्ती कराया। उसके बच्चे भी कुपोषण के शिकार हैं और उनका भी इलाज चल रहा है। 

मां के साथ उसके बच्चों को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है और तीनों का इलाज चल रहा है। मैनेजर सुरजीत कुमार ने बताया कि महिला बहुत ही गरीब है और उसका पति उसे छोड़कर भाग गया है।
... और पढ़ें

जगन्नाथ मिश्रा के अंतिम संस्कार के दौरान गार्ड ऑफ ऑनर में नहीं चली 22 में से एक भी राइफल

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्रा का बुधवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार में मिश्रा को गार्ड ऑफ ऑनर दिए जाते समय एक अजीब सी घटना हुई। मिश्रा को गार्ड ऑफ ऑनर देने के लिए 22 जवान थ्री नॉट थ्री की राइफल के साथ तैनात थे पर मौके पर एक भी राइफल से फायर नहीं हो पाया।

फायर ना हो पाने के बाद अधिकारियों ने राइफलों की दोबारा जांच की और फिर फायर करने की कोशिश की गई। दोबारा कोशिश करने पर भी वहीं नतीजा रहा, किसी भी राइफल से कोई फायर नहीं हुआ। इसके बाद बिना फायर किए ही मिश्रा का अंतिम संस्कार किया गया। खास बात ये है कि इस दौरान सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी भी मौजूद थे। 

जगन्नाथ मिश्रा तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके है। वे चारा घोटाले में सजा काट रहे थे। बीमारी और बढ़ती उम्र के आधार पर उन्हें जमानत दी गई थी, इसी दौरान सोमवार को नई दिल्ली में मिश्रा का निधन हो गया था। जगन्नाथ मिश्रा के अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद थे। नीतीश कुमार ने मिश्रा के सम्मान में तीन दिन के राजकीय शौक की घोषणा की है।
  ... और पढ़ें
जगन्नाथ मिश्रा (फाइल फोटो) जगन्नाथ मिश्रा (फाइल फोटो)

महिला पार्षद ने कहा: आंख मारता है मेयर का बेटा, शिकायत दर्ज

बिहार में एक महिला वार्ड पार्षद ने नगर परिषद मेयर के बेटे पर छेड़खानी का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि मेरे नजरअंदाज करने पर भी वह लगातार मुझे छेड़ता रहा। 


दरअसल, पिंकी देवी पटना के एक वार्ड से पार्षद है। उनका आरोप है कि जब वह पटना नगर निगम की बोर्ड बैठक के लिए कार्यालय पहुंची। वहां बैठक के दौरान नगर परिषद मेयर के बेटे ने उन्हें बार-बार आंख मारीं। 

उन्होंने बताया कि मेयर का बेटा शिशिर बार-बार मेरी तरफ देखकर मुस्कुराता रहा और साथ ही लगातार आंख मारता रहा। मैंने उसे नजरअंदाज कर दिया लेकिन वह बार-बार आंख मारता रहा। 

पिंकी देवी ने बताया कि मैंने उसे चेतावनी दी कि अगर वह ऐसा करेगा तो मैं उसकी मां से उसकी शिकायत कर दूंगी। जिसके जवाब में उसने कहा कि आगे बढ़ो और बता दो। जब मैंने इस घटना के बारे में नगर परिषद से शिकायत की, तो उसने मुझ पर आरोप लगाया कि मैं खबरों में आने के लिए ऐसा कर रही हूं। पिंकी देवी ने कदमकुंआ थाना में केस दर्ज कराया है।
 

पिंकी देवी ने कहा कि अगर उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो वो महिला आयोग भी जाएंगी। साथ ही कहा कि मैं चाहती हूं कि इस घटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कार्रवाई करें ताकि इस तरह की घटना दोबारा न हो। 




 
... और पढ़ें

पाक गोलीबारी में शहीद के पिता बोले- छुट्टी बिताकर तीन दिन पहले ही कश्मीर गया था बेटा

पाकिस्तान की ओर से मंगलवार को संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की। जम्मू कश्मीर में पूंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में हुई इस गोलीबारी में बिहार के लाल रविरंजन सिंह शहीद हो गए। बिहार के डेहरी ओन सोन क्षेत्र के गोपीबिगहा निवासी 70 वर्षीय रामनाथ सिंह के पुत्र थे। 

36 वर्षीय बिहार के लाल रविरंजन सिंह के शहादत की खबर जैसे ही गांव पहुंची, उनके घर पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। शहीद जवान रविरंजन के पिता रामनाथ लकवा से पीड़ित हैं। उन्होंने बताया कि रविरंजन एक महीने की छुट्टी बीताकर तीन दिन पहले 17 अगस्त को कश्मीर गया था। सोमवार को उसने ड्यूटी ज्वाइन की थी और मंगलवार को उसकी शहादत की खबर आ गई। शहीद के पिता ने कहा कि उनके दोनों बेटों के भारतीय सेना में शामिल होकर उन्हें गौरवान्वित किया है। 

'बेटे की शहादत बेकार नहीं जाएगी'

पिता रामनाथ ने कहा कि छुट्टी में जब रवि घर आया हुआ था तो बता रहा था कि धारा 370 हटने से कश्मीर में शांति कायम होगी। इससे बौखला कर पाकिस्तान जवानों और आम लोगों को निशाना बनाने की फिराक में है, लेकिन भारतीय सेना उनके हर मंसूबे को नेस्तनाबूत कर देगी। उन्होंने कहा कि उनके बेटे की शहादत बेकार नहीं जाएगी। रविरंजन अपने पीछे मां-पिता के साथ पत्नी, दो बेटे और एक बेटी से भरा परिवार छोड़ गए हैं। 
 
... और पढ़ें

बिहार के छपरा में पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग, दो पुलिसकर्मियों की मौत

बिहार में मढ़ौरा बाजार स्थित एलआईसी कार्यालय के सामने मंगलवार की रात करीब 7:00 बजे स्कॉर्पियो सवार अपराधियों ने एसआईटी के पुलिसकर्मियों पर भीषण गोलीबारी कर दारोगा मिथिलेश कुमार साह और सिपाही फारूक अंसारी की हत्या कर दी। सिपाही रजनीश कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया।

डीआईजी विजय कुमार वर्मा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि मढ़ौरा के अवारी गांव में कुछ अपराधी पहुंचे हुए हैं और किसी बड़े आपराधिक घटना को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। इस सूचना पर एसआईटी को मढ़ौरा भेजा गया। बोलेरो पर एसआईटी की टीम सवार थी। छापेमारी कर पुलिस की टीम जैसे ही एलआईसी कार्यालय के सामने पहुंची, तभी दो स्कॉर्पियो सवार अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। करीब 15 मिनट तक अपराधी फायरिंग करते रहे। पुलिसवालों को पोजीशन लेने तक का भी मौका नहीं मिला।

इस घटना को नट गिरोह के द्वारा अंजाम दिए जाने की आशंका है। हालांकि पुलिस ने अभी इसका खुलासा नहीं किया है। सूत्रों के अनुसार मिथिलेश कुमार साह नट गिरोह के निशाने पर थे। उन्होंने हाल के वर्षों में नट गिरोह के कई कुख्यात को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

दारोगा ने जैसे ही अपनी पिस्टल निकाली, अपराधियों ने कर दी गोलियों की बौछार

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि शाम में अंधेरा होने को था। एसआईटी के एसआई मिथलेश कुमार के नेतृत्व में टीम छपरा की तरफ लौट रही थी। टीम पुराने एसबीआई चौक के करीब पहुंची थी। सड़क पर पानी होने से बोलेरो की रफ्तार कम थी। तभी अपराधियों ने एसआईटी की बोलेरो को घेर लिया। इससे दारोगा मिथिलेश का अपराधियों के साथ कहा-सुनी हुई।

इस दौरान दारोगा ने अपनी पिस्टल निकालने का प्रयास किया तभी अपराधियों ने फायर झोंक दी। बोलेरो के ड्राइवर ने मोबाइल निकाल कर कही सूचना देने का प्रयास किया तो अपराधियों ने उसे भी गोली मार दी। संयोग से ड्राइवर को गोली जांघ में लगी और वह वही सीट पर लुढ़क गया।

गोलीबारी में बीच की सीट पर बैठे एक सिपाही को भी गोली लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। थोड़ी देर बाद जख्मी हवलदार हिम्मत कर गाड़ी से बाहर आया और मदद की गुहार लगाने लगा। लेकिन दहशत में लोग पास भी आने से हिचक रहे थे। घटना के समय एक अन्य दारोगा और एक सिपाही भी बोलेरो में मौजूद थे जो किसी तरह से भाग कर अपनी जान बचाई।


  ... और पढ़ें

एके-47 रखने वाले विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें बढ़ीं, अदालत ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया

बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। उनके आवास से एके-47 राइफल जब्त किए जाने को लेकर अदालत ने अनंत सिंह के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। पुलिस ने 16 अगस्त को अनंत के आवास से एके-47 राइफल जब्त की थी जिसके बाद वह फरार हो गए थे।
 



बता दें कि गिरफ्तारी के डर से फरार अनंत सिंह ने एक वीडियो जारी कर खुद का बचाव किया था। उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तार होने का डर नहीं है। मैं अगले 3-4 दिनों में आत्मसमर्पण करूंगा। मैं उस घर में पिछले 14 साल से रह रहा हूं इसलिए उसमें एके- 47 रखने का कोई सवाल ही नहीं है।

ज्ञात हो कि शनिवार को पटना पुलिस जब विधायक को गिरफ्तार करने के लिए उनके आवास पर पहुंची, तब वह घर के पीछे के दरवाजे से फरार हो गए थे। पुलिस ने उनके सरकारी आवास से छोटन को गिरफ्तार कर लिया था। छोटन अनंत का करीबी है और उसपर हत्या के 22 मामले दर्ज हैं।
... और पढ़ें

बिहार: लखीसराय में नक्सलियों ने दो लोगों को एके-47 से मारी गोली, बताया पुलिस का मुखबिर

अनंत सिंह (फाइल फोटो)
बिहार के लखीसराय में नक्सलियों ने दो लोगों की पुलिस का मुखबिर होने के शक में एके-47 से गोली मारकर हत्या कर दी। घटना को चानन थाना के मननपुर स्थित चाय-नाश्ते की दुकान पर अंजाम दिया गया। हत्या के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

मृतकों में से एक की पहचान मदन यादव जबकि दूसरे की छोटू कुमार के रूप में हुई है। मृतक मदन यादव मननपुर बस्ती निमियाटाड़ का जबकि चालक छोटू कुमार भलूई गांव का रहने वाला था। 



  ... और पढ़ें

कैंसर से जूझ रहे बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा ने ली आखिर सांस, बिहार में 3 दिन का राजकीय शोक

बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा का निधन हो गया। वो 82 साल के थे और काफी समय से बीमार भी थे। उनका निधन दिल्ली में हुआ। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने मिश्रा के निधन पर शोक जताया है। मिश्रा के निधन पर बिहार में 3 दिन के राजकीय शोक का ऐलान किया गया है।
  ... और पढ़ें

बिहार: एके-47 वाले विधायक अनंत सिंह ने कहा, तीन-चार दिन में करूंगा आत्मसमर्पण

घर से एके-47 और हथगोले मिलने के बाद गिरफ्तारी के डर से फरार बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक बाहुबली अनंत सिंह ने अब एक वीडियो जारी कर खुद का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तार होने का डर नहीं है। मैं अगले 3-4 दिनों में आत्मसमर्पण करूंगा। मैं उस घर में पिछले 14 साल से रह रहा हूं इसलिए उसमें एके- 47 रखने का कोई सवाल ही नहीं है।

ज्ञात हो कि शनिवार को पटना पुलिस जब विधायक को गिरफ्तार करने के लिए उनके आवास पर पहुंची, तब वह घर के पीछे के दरवाजे से फरार हो गए थे। पुलिस ने उनके सरकारी आवास से छोटन को गिरफ्तार कर लिया था। छोटन अनंत का करीबी है और उसपर हत्या के 22 मामले दर्ज है।
 

  ... और पढ़ें

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का लंबी बीमारी के बाद निधन

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का 82 साल की उम्र में दिल्ली में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया है। वह काफी समय से बीमार थे। उनका दिल्ली के अस्पताल में इलाज चल रहा था। वह तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे।



बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने राज्य में तीन दिनों के शोक की घोषणा की है। मिश्रा को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी। वहीं केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह ने ट्विटर के जरिए मिश्रा को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, 'बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जगन्नाथ मिश्रा जी का निधन हो गया है। प्रभु उनकी आत्मा को शांति दे।'

मिश्रा कैंसर और अन्य बीमारियों से ग्रस्त थे। जनवरी 2018 में चारा घोटाले से जुड़े चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में अदालत ने उन्हें दोषी करार देते हुए पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी। एकसमय कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे मिश्रा ने अपने बड़े भाई ललित नारायण मिश्रा से राजनीति का पाठ सीखा था।

मिश्रा ने प्रोफेसर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वह बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर बने। बचपन से ही उनकी रुचि राजनीति में  थी। उनके बड़े भाई ललित नारायण मिश्रा राजनीति में थे और रेल मंत्री की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। उन्हीं से जगन्नाथ ने राजनीति का ककहरा सीखा। 

छात्रों को पढ़ाने के दौरान मिश्रा कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए। इसके बाद उन्होंने तीन बार राज्य की कमान संभाली। सबसे पहले 1975 से 1977 तक, दूसरी बार 1980 से 1983 तक और तीसरी बार 1989 से 1990 तक। 1990 के दशक के मध्य में वह केंद्रीय कैबिनेट मंत्री की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। उन्हें बिहार के बड़े नेताओं के तौर पर जाना जाता है।

बिहार में जगन्नाथ मिश्रा कांग्रेस के आखिरी मुख्यमंत्री थे। उनके बाद पार्टी राज्य की सत्ता की कमान अपने पास रखने में असफल रही है। मिश्रा के बाद 1990 में लालू प्रसाद यादव राज्य के मुख्यमंत्री बने। इसके बाद पिछले 30 सालों से कांग्रेस अपने बलबूते राज्य में सरकार बनाने में असफल रही है। वहीं करीब 15 सालों से नीतीश कुमार राज्य की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।
... और पढ़ें

'बाहुबली' अनंत सिंह: जुर्म की दुनिया से सियासत तक की दास्तां, राजनीति में लाए 'सुशासन बाबू'

बिहार के बाढ़ और मोकामा में 'छोटे सरकार' के नाम से पहचान बनाने वाले बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर यूएपीए एक्ट के तहत संभवत देश में पहला मामला दर्ज किया गया है। अगर उनपर आरोप साबित होता है तो उनकी संपत्ति जब्त करने के साथ ही आतंकवादी भी करार दिया जा सकता है।

अनंत सिंह के खौफ और रसूख के किस्से पूरे बिहार में सुनने को मिलते रहते हैं। साल 2007 में एक महिला से दुष्कर्म और हत्या के केस में बाहुबली विधायक का नाम आया था। जब इसके बारे में एक निजी समाचार चैनल के पत्रकार उनका पक्ष जानने पहुंचे तो सत्ता के नशे में चूर विधायक और उनके गुंडों ने पत्रकार की जमकर पिटाई की। 
 

अनंत सिंह के आवास पर छापेमारी, आठ लोगों की गई थी जान
इससे पहले अनंत सिंह के घर पर मोकामा में साल 2004 में जब बिहार पुलिस की एसटीएफ ने छापेमारी की तब दोनों तरफ से घंटों गोलीबारी हुई। दरअसल, अनंत सिंह ने महलनुमा बने अपने आवास में कई समर्थकों को शरण दे रखी थी जिससे पुलिस की छापेमारी में वह आसानी से बच जाए। इसके अलावा खुद को सुरक्षित रखने के लिए उसने एक विशेष कमरे का निर्माण भी कराया था। इस घटना के बाद अनंत सिंह सुर्खियों में आए।

इस गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी समेत अनंत सिंह के आठ समर्थक मारे गए। कहा जाता है कि इस घटना में विधायक को भी गोली लगी थी लेकिन वह फरार हो गया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
विज्ञापन