Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Varanasi ›   Canal dug to reduce flood pressure firms did mining arbitrarily sand extracted from foothills of Ganga Varanasi

वाराणसी: बाढ़ का दबाव कम करने के लिए खोदी थी नहर, फर्मों ने मनमानी तरीके से किया खनन, गंगा की तलहटी तक से निकाली बालू

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Published by: गीतार्जुन गौतम Updated Sat, 29 Jan 2022 11:33 AM IST
गंगा पार अवैध खनन।
गंगा पार अवैध खनन। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

काशी के घाटों पर गंगा के बढ़ रहे दबाव को कम करने के दावे के साथ खोदी गई नहर और उसके नाम पर खनिज उठान के टेंडर में मनमाने तरीके से काम किया गया है। करीब सात किलोमीटर लंबी नहर से निकले बालू के सात अलग-अलग लॉट को दिखाकर टेंडर किया गया। मगर, बाढ़ में लॉट बह गए तो खनन विभाग ने गंगा पार रेती पर बिना किसी औपचारिकता के क्षेत्र ही दे दिया। यही कारण है कि फर्मों ने लॉट की जगह खोदाई कर गंगा की तलहटी तक से बालू निकाल लिया है।

विज्ञापन


दरअसल, मानसून से ठीक पहले गंगा में नहर बनाने के लिए ड्रेजिंग शुरू कराई गई। इस दौरान कार्यदायी संस्था यूपीपीसीएल ने आननफानन में खोदाई से निकल रहे बालू के लाट का खनन विभाग के जरिए टेंडर जारी करा दिया। नौ फर्मों में सात फर्मों को अलग-अलग लॉट दे दिए और यहां से बालू का उठान भी कराया गया।


इसके बाद गंगा में आई बाढ़ में टेंडर वाला खनिज बह गया और पानी घटने के बाद विभाग की शह पर फर्मों ने अवैध खनन शुरू कर दिया। यही कारण है कि अलग-अलग घनमीटर के बालू उठान वाली फर्मों ने कई फीट गहरी तक खोदाई कर दी।

यहां बता दें कि अवैध खनन में बिना रायल्टी के पट्टाधारकों ने मनमाने तरीके से गंगा किनारे गहरे गहरे गड्ढे बना दिए हैं। सबसे अहम बात यह है कि दिन रात चले इस अवैध खनन में किसी भी विभाग और अफसर ने निगरानी की जहमत नहीं उठाई।

समयावधि समाप्त होने के बाद रेत में मशीनें
गंगा पार रेती से बालू उठान के लिए पांच फर्मों की समयावधि दिसंबर में पूरी हो गई थी और एक फर्म की 27 जनवरी 2022 को पूरी हुई है। इस वक्त एक ही फर्म के पास लॉट उठाने की अनुमति है। बावजूद इसके जेसीबी और वाहनों की मदद से अलग-अलग क्षेत्रों में गुपचुप तरीके से अवैध खनन किया जा रहा है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00