सहायक कर रहा था इलाज, क्लीनिक का लाइसेंस रद्द

unnao Updated Fri, 09 Feb 2018 11:36 PM IST

उन्नाव। झोलाछापाें के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने हसनगंज के बरहा में छापेमारी की। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बरहा में एक रजिस्टर्ड क्लीनिक में छापा मारा। यहां सहायक डाक्टर की अनुपस्थिति में मरीजों को दवा देता मिला।

इस पर क्लीनिक का लाइसेंस रद्द कर दिया गया। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार क्षेत्रीय स्वास्थ्य कर्मी क्लीनिक पर कई दिन से नजर बनाए थे। यहां डाक्टर की अनुपस्थिति में मरीजों का इलाज किया जा रहा था।

शासन के निर्देश पर जिले में झोलाछापाें के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। शुक्रवार को एसीएमओ डा. तन्मय कक्कड़ ने नीरज निगम के साथ हसनगंज के बरहा के एक क्लीनिक में छापा मारा।

एसीएमओ डा. तन्मय कक्कड़ के अनुसार जिस डाक्टर के नाम से क्लीनिक रजिस्टर्ड है, वह नहीं मिले। एक युवक मरीजों को दवा दे रहा था। एसीएमओ ने बताया कि उन्हें इस बात की कई दिनों से शिकायत मिल रही थी। इस पर क्लीनिक पर नजर रखी जा रही थी। डा. तन्मय कक्कड़ ने बताया कि डाक्टर के गायब रहने पर क्लीनिक का रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया है। क्लीनिक डा. केके यादव के नाम पर रजिस्टर्ड था।

Spotlight

Most Read

Meerut

नर्स से दो साल तक दुष्कर्म, वीडियो बनाई

नर्स से दो साल तक दुष्कर्म, वीडियो बनाई

20 फरवरी 2018

Related Videos

उन्नाव में हुए इस हादसे को देख आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे

उन्नाव में एक सड़क हादसा हुआ। जिसमें दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। दो लोगों की मौत हो गई। सभी घायलों का इलाज अस्पताल में जारी है। ये हादसा कैसे हुआ। इस बारे में पूरी खबर इस रिपोर्ट में जानिए।

11 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen