विज्ञापन
विज्ञापन
आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट
Janam Kundali

आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

खून का बदला खून... युवती की हत्या से गांव में पसरा सन्नाटा, खौफनाक है मर्डर ये कहानी

मुजफ्फरनगर जिले के गांव बलीपुरा में रीना की हत्या से हड़कंप मचा हुआ है। प्रथम दृष्टया जांच में रीना की हत्या को करीब चार माह पूर्व हुई कुलदीप की हत्या से जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस भी इसी दिशा में हत्याकांड की जांच कर रही है।

मीरापुर थाना क्षेत्र का गांव बलीपुरा कस्बे से महज दो किलोमीटर की दूरी पर मेरठ-पौड़ी हाईवे पर स्थित है। करीब चार माह पूर्व सात जून को दिनदहाड़े गांव निवासी कुलदीप पुत्र बिल्लू की सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। कुलदीप की हत्या में उसके परिजनों ने ब्रह्मसिंह के बेटे मनीष व शिवकुमार के साथ ही गुरदीप व रणधीर पुत्रगण ओमवीर के खिलाफ हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्यारोपी मनीष व शिवकुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जबकि दोनों अन्य नामजद आरोपियों की हत्याकांड में संलिप्तता को लेकर जांच की जा रही है। 

मीरापुर इंस्पेक्टर पंकज कुमार त्यागी ने बताया कि कुलदीप हत्याकांड की जांच में सामने आया था कि कुलदीप के हत्यारोपी भाइयों मनीष व शिवकुमार की बहन रीना के साथ प्रेम संबंध थे। इन्हीं प्रेम संबंधों के चलते कुलदीप की हत्या की गई थी।

यह भी पढ़ें: 
मर्डर: गोली मारकर एक किलोमीटर तक दौड़ाया, किसी घर में घुसा तो खींचकर फिर बरसा दी गोलियां
... और पढ़ें

आरोपी भाई बोला- कब तक बर्दाश्त करता... इज्जत से खिलवाड़ कर रही थी, इसलिए गोली मारी

मुजफ्फरनगर जिले के मोहल्ला खालापार में मंगलवार देर रात महिला को गोली मारने के आरोपी भाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। महिला के पति ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पूछताछ में हमलावर भाई ने महिला के चालचलन पर उंगली उठाते हुए कहा कि वह लगातार इज्जत से खिलवाड़ कर रही थी, आखिर कैसे और कब तक बर्दाश्त करता ? इसीलिए उसे गोली मार दी। उधर, मेरठ मेडिकल में भर्ती महिला की हालत गंभीर बनी हुई है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला खालापार में मंगलवार देर रात महिला शाहिदा पत्नी नन्ना को उसी के भाई मोनी उर्फ शाहिद ने घर में घुसकर गोली मार दी थी। गंभीर हालत में शाहिदा को जिला अस्पताल से मेरठ रेफर कर दिया गया था। शाहिदा के पति नन्ना ने मामले में हमलावर शाहिद उर्फ मोनी के खिलाफ नामजद तहरीर देकर बताया कि आरोपी ने घर में घुसकर दो मोबाइल चोरी कर लिए थे, जिसे रोकने पर उसने शाहिदा को गोली मार दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है। 

यह भी पढ़ें: 
यूपी: भाई ने अपनी छोटी बहन का गला काटकर मार डाला, वारदात के बाद आरोपी ने किया सरेंडर

पुलिस के अनुसार पूछताछ में शाहिद उर्फ मोनी का कहना है कि उसकी बहन के मोहल्ले के ही एक युवक से संबंध थे, जिसे कई बार समझाया गया, लेकिन वह नहीं मानी। इसके चलते उन्होंने करीब एक साल पूर्व उससे सभी संबंध खत्म कर लिए थे। शाहिद ने बताया कि कुछ माह पूर्व बहन ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसकी नाबालिग बेटी का भी अपहरण करा दिया था, तभी से वह बहन से बदला लेने की फिराक में था और इसी के चलते उसने मंगलवार देर रात उसे गोली मार दी। हमलावर भाई का कहना है कि उसे बहन को गोली मारने का कोई अफसोस नहीं है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर: वृद्ध की पीट- पीटकर हत्या, बेटे-बेटी पर भी हमला, जानें- क्या था मामला

मुजफ्फरनगर जनपद में कस्बा मीरापुर के मोहल्ला कोटला में घर के बाहर गाली-गलौज करने से रोकने पर वृद्ध की पीटकर हत्या कर दी गई। वृद्ध को बचाने पहुंचे उसके बेटे और बेटी पर भी हमला कर कर दिया गया। मामले में चार हमलावरों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। सभी आरोपी फरार हैं, पुलिस आरोपियों की तलाश करने में लगी है। 

मीरापुर कस्बे के मोहल्ला कोटला निवासी महताब (62) के बेटे शादाब ने तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कराई। उसमें बताया कि उनके घर के बाहर रविवार रात करीब नौ बजे कुछ लोग आपस में गाली-गलौज कर रहे थे। महताब ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो युवकों ने उन पर हमला कर दिया। आरोप है कि घर से बाहर खींचकर महताब को नीचे गिराकर बुरी तरह पीटा गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। शोर शराबा सुनकर उनके बेटे फरमान व शाहवेज और बेटी चांदनी बचाने पहुंची तो उन पर भी धारदार हथियारों से हमला कर दिया गया, जिससे वह भी घायल हो गए। भीड़ इकट्ठा होने पर आरोपी धमकी देकर फरार हो गए। परिजन गंभीर हालत में महताब को चिकित्सक के यहां ले गए, जहां से उन्हें मेरठ रेफर कर दिया गया। मेरठ के एक हॉस्पिटल में उपचार के दौरान महताब की मौत हो गई, जिस पर परिजन शव लेकर घर लौट आए।

यह भी पढ़ें: 
सहारनपुर: भाई और भाभी ने की युवक की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी दंपती फरार
... और पढ़ें

तस्वीरें: खौफनाक तरीके से सलमान की हत्या, पंचायत में चार लाख रुपये लगाई जान की कीमत

मृतक युवक का फाइल फोटो और विलाप करते परिजन मृतक युवक का फाइल फोटो और विलाप करते परिजन

यूपी: रिटायर्ड इंजीनियर के घर डकैती, वारदात से इलाके में दहशत, जांच में जुटी पुलिस

मुजफ्फरनगर में नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के पटेल नगर मोहल्ले में मंगलवार रात में बदमाशों ने रिटायर्ड इंजीनियर के घर पर लाखों की डकैती डालकर सनसनी फैला दी। बदमाशों ने रिटायर इंजीनियर और उनकी प्रोफेसर पत्नी को बंधक बनाकर इस वारदात को अंजाम दिया। बदमाश नगदी और लाखों के जेवरात लूटकर फरार हो गए। देर रात घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस में हड़कंप मच गया। पुलिस जांच पड़ताल और बदमाशों की तलाश में जुटी है।

नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के पटेल नगर में रामलीला मैदान के निकट रहने वाले विनय कुमार अग्रवाल बिजली विभाग से रिटायर्ड इंजीनियर है, जबकि उनकी पत्नी मीना अग्रवाल डीएवी डिग्री कॉलेज में प्रोफेसर हैं। बच्चे उनके बाहर रहते हैं। दोनों मंगलवार देर शाम को कहीं बाहर गए थे। रात करीब साढे़ आठ बजे वह वापस घर पहुंचे। दोनों दरवाजा खोल कर जैसे ही मकान में अंदर गए, तभी वहां पहले से घात लगाए खड़े चार-पांच नकाबपोश बदमाश उनके पीछे मकान में घुस आए। बदमाशों ने दंपती को तमंचे के बल पर आतंकित कर गोली मारने की धमकी देकर चुपचाप रहने को कहा। इसके बाद बदमाश दोनों को अंदर ले आए और बाथरूम में बंद कर उन्हें बंधक बना दिया। इसके बाद बदमाशों ने इत्मीनान से घर में मौजूद करीब 70 हजार की नकदी और लाखों का जेवरात लूट लिया।करीब आधे घंटे तक लूटपाट कर कैश और जेवरात लूटकर बदमाश फरार हो गए। बदमाशों के जाने के बाद पीड़ित दंपती ने शोर मचाया। उनका शोर-शराबा सुनकर ऊपर पहली मंजिल पर रहने वाले किराएदार नीचे पहुंचे। उन्होंने दंपती को बंधन मुक्त किया।

इसके बाद दंपती ने घटना की जानकारी किराएदारों को दी। बाद में पुलिस को वारदात की सूचना दी। नई मंडी इंस्पेक्टर और सीओ मौके पर पहुंचे। बताया गया है कि बदमाश लाखों के जेवरात लूटकर ले गए हैं। वारदात की खबर मिलने पर देर रात एसएसपी अभिषेक यादव ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर वारदात की जानकारी ली। मौके पर फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट व डॉग स्क्वाड को भी बुलाया गया। देर रात तक पुलिस जांच पड़ताल और बदमाशों की तलाश में लगी रही। डकैती की वारदात से इलाके के लोगों में दहशत व्याप्त है।

यह भी पढ़ें: 
एसटीएफ ने 50 हजार के इनामी शहजाद को दबोचा, दिया था इस बड़ी वारदात को अंजाम
... और पढ़ें

यूपी: कोविड-19 में चुनौती बना क्राइम कंट्रोल पुलिस ने भी तौर-तरीकों में किया बदलाव

कोविड-19 के चलते उपजे आर्थिक हालातों में लगातार बढ़ रहा अपराध पुलिस के लिए चुनौती बन गया है। लगातार हो रही आपराधिक वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए मुजफ्फरनगर जनपद पुलिस ने भी अपने तौर-तरीके बदलते हुए अब थानों के टॉप-टेन व जमानत पर घूम रहे अपराधियों को निशाने पर लिया है।

कोरोना वायरस के चलते 25 मार्च की अर्द्धरात्रि से लागू किए गए लॉकडाउन के समय से ही अनलॉक प्रक्रिया शुरू होने पर अपराध वृद्धि की आशंकाएं जताई जाने लगीं थीं। कारण, करीब दो माह तक चले लॉकडाउन से लोगों के रोजगार व नौकरियां प्रभावित हुईं, जिससे आर्थिक हालात बदतर होने लगे। अनलॉक प्रक्रिया शुरू होने के बाद ये आशंकाएं सही साबित होने लगी, जिसके चलते लगातार एनकाउंटर के बावजूद लगातार अपराध बढ़ रहे हैं।
... और पढ़ें

मेरठ में बदल रहा हत्याओं का ट्रेंड, खौफनाक मर्डर के बाद क्रूरता से शव को ठिकाने लगा रहे अपराधीे 

muzaffarnagar police
पश्चिमी यूपी की क्राइम सिटी कहे जाने वाले मेरठ में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। चोरी की छुटपुट घटनाओं के अलावा हत्या जैसे क्राइम यहां आम बात हैं। वहीं पिछले कुछ महीनों की बात करें तो एक तरफ अपराध का ग्राफ बढ़ा है, तो दूसरी ओर हत्या जैसे संगीन मामलों में तेजी आई है।

हैरान करने वाली बात यह भी है कि अपराध करने वाले न सिर्फ मर्डर जैसी घिनौनी वारदात को अंजाम दे रहे हैं बल्कि हत्या के बाद शवों को बेहद क्रूर तरीके से ठिकाने लगा रहे हैं। आइए नजर डालते हैं मेरठ के ऐसे ही कुछ हत्या के मामलों पर जिनमें आरोपियों ने हत्या के बाद शवों को छिपाने के लिए क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं:-
... और पढ़ें

मुठभेड़: पुलिस अफसरों ने 25 हजार के इनामी कुख्यात को मारी गोली, एसआई समेत दो पुलिसकर्मी भी घायल

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में सोमवार को नगवा मार्ग पर गांव अटाली के जंगल में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने सुशील मूंछ गैंग के शार्प शूटर और 25 हजार के इनामी सुक्रमपाल उर्फ भगत को गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में एसआई और कांस्टेबल भी गोली लगने से घायल हुए हैं। इनामी शूटर के खिलाफ हत्या समेत 30 से अधिक मुकदमे दर्ज बताए जा रहे हैं।

बुढ़ाना कोतवाली पुलिस सोमवार दोपहर बाद नगवा मार्ग पर गश्त कर रही थी। इसी दौरान गांव अटाली के जंगल में बाइक सवार दो संदिग्ध लोगों को पुलिस ने रोकने की कोशिश की। सीओ बुढ़ाना गिरिजा शंकर त्रिपाठी ने बताया कि बाइक सवार बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर भागने लगे। एसआई राकेश शर्मा और कांस्टेबल कौशल हाथ में गोलियां लगने से घायल हो गए। सूचना पर भारी फोर्स के साथ अफसर खुद मौके पर पहुंचे और बदमाशों की घेराबंदी की। जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश पैरों में गोलियां लगने से घायल होकर वहीं गिर पड़ा, जबकि दूसरा फरार हो गया। घायल बदमाश की पहचान सुक्रमपाल उर्फ भगत निवासी गांव चंदनहेड़ी थाना छपरौली जनपद बागपत के रूप में हुई है, जिसके बाद से एक पिस्टल-कारतूस और लूट की बाइक बरामद की गई है।  

यह भी पढ़ें: 
तस्वीरें: ढाई लाख के इनामी बदन सिंह बद्दो की डांस पार्टी, सामने आए पांच चेहरे, आईजी बोले...

सीओ ने बताया कि सुक्रमपाल उर्फ भगत कुख्यात सुशील मूंछ गैंग का शॉर्प शूटर है, जिसके खिलाफ हत्या जैसी संगीन धाराओं में 30 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। पूर्व में वह मेेरठ पुलिस की ओर से दो लाख का इनामी रह चुका है। वर्तमान में भी बुढ़ाना कोतवाली से उस पर लूट के एक मामले में 25 हजार रुपये का इनाम था। घायल बदमाश को जिला अस्पताल और दरोगा और सिपाही को सीएचसी में भर्ती किया गया है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर: फाइनेंसर अमित के हत्यारोपी साथी अनुज का शव जमीन में दबा मिला, इस बाद पर हुई दोनों दोस्तों की हत्या

मुजफ्फरनगर शामली के फाइनेंसर अमित के हत्यारोपी साथी अनुज चौधरी उर्फ अन्नू की भी हत्या कर दी गई। उसका शव पुलिस ने छपार थाना क्षेत्र के गांव बढेड़ी के जंगल से जमीन में दबा हुआ मिला है। पुलिस ने इस संबंध में एक आरोपी को गिरफ्तार किया। उसी की निशानदेही पर शव बरामद किया है।

पुलिस के अनुसार पैसों के लेनदेन को लेकर डबल मर्डर किया गया है। पुलिस दोहरे हत्याकांड में शामिल अन्य लोगों की तलाश में लगी है। एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि सोमवार को दोहरे हत्याकांड का खुलासा कर दिया जाएगा।

शामली जनपद के गांव सिंभालका निवासी अमित अपने साथी नईमंडी क्षेत्र के शांतिनगर के अनुज चौधरी उर्फ अन्नू के साथ फाइनेंस का काम करता था। सोमवार 29 जून को अचानक अमित और अनुज चौधरी के मोबाइल स्विच ऑफ हो गए थे।
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर: क्रिकेट के विवाद को लेकर आपस में भिड़े युवक, मदरसे में फायरिंग, पांच घायल

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के भोपा थाना क्षेत्र के गांव रूडकली में स्थित एक मदरसे में मंगलवार शाम को वालीबॉल खेलने को लेकर हुए विवाद में दो युवकों के बीच मारपीट हो गई। देर रात को एक युवक ने मदरसे में जाकर फायरिंग कर दी। इस दौरान दो बच्चे घायल हो गए।

जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जांच पड़ताल की। इंस्पेक्टर भोपा संजीव कुमार ने बताया कि फायरिंग की घटना में 5 साल का फैजान और 7 साल के अब्दुल्ला समेत छर्रे लगने से घायल हुए हैं। बच्चों को उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया गया है। वहीं फायरिंग की घटना को अंजाम देकर युवक फरार हो गया। उसकी तलाश की जा रही है।
 
नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

यूपी: मुजफ्फरनगर में बाइक सवार बदमाशों से सीधी मुठभेड़, पुलिस की गोली से 25 हजार का इनामी घायल

उत्तर प्रदेश के मुजफरनगर में सोमवार को पुलिस की बाइक सवार दो बदमाशों से सीधी मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी बदमाश पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया जबकि उसका साथी मौका पाकर फरार हो गया।

दबोचे गए बदमाश की पहचान इनामी आसिफ पुत्र शमशाद निवासी गाजियाबाद के रूप में हुई है। सीओ बुढ़ाना गिरताशंकर त्रिपाठी और एसपी देहात नेपाल सिंह भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस टीम ने फरार बदमाश की तलाश में कई घंटे तक काॅम्बिंग की लेकिन वह हाथ नहीं लग सका। वहीं घायल बदमाश को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

रतनपुरी थाना क्षेत्र में इंचौडा मार्ग पर पुलिस की बाइक सवार दो बदमाशों से सीधी मुठभेड़ हो गई। इस सम्बंध में एसपी देहात नेपाल सिंह ने बताया कि थानाध्यक्ष रतनपुरी राजेन्द्र गिरि को मुखबिर से सूचना मिली कि बदमाश आसिफ भनवाड़ा में एक मामले के वादियों को धमकी देने आने वाला है। इस पर थानाध्यक्ष राजेन्द्र गिरि व उपनिरीक्षक दुजेन्द्रपाल सिंह पुलिसबल के साथ इंचौडा मोड़ पर चेकिंग शुरू की।
... और पढ़ें

देहरादून के हिस्ट्रीशीटर को गोलियों से भूना, लावारिस खड़ी फॉर्च्यूनर की डिग्गी से बरामद हुआ शव

देहरादून के हिस्ट्रीशीटर पंकज सिंह की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई। पंकज का शव मुजफ्फरनगर में लावारिस खड़ी फॉर्च्यूनर की डिग्गी से बरामद हुआ। पंकज को शुक्रवार रात साथी घर से बुलाकर ले गए थे।
 
पत्नी ने पति की हत्या में जेल में बंद बदमाश जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती समेत चार लोगों को नामजद कराया है। दून पुलिस गैंगवार में हत्या की आशंका जता रही है। अपराध की दुनिया में लंबे समय तक सक्रिय रहा पंकज सिंह 2010 में एक साथी की हत्या में जेल गया था।

नेहरू कालोनी थाना क्षेत्र के नत्थनपुर निवासी पंकज सिंह का शव शनिवार सुबह मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में जानसठ बस अड्डे पर पुलिस सहायता केंद्र के बाहर खड़ी काले रंग की फ ॉर्च्यूनर की डिग्गी में मिला। सीओ खतौली आशीष प्रताप सिंह की मौजूदगी में पुलिस ने कार का शीशा तोड़कर शव को बाहर निकाला। कार के अंदर ड्राइवर के बराबर वाली सीट खून से सनी हुई थी। खिड़की से गोली निकलने का निशान था। कार से शराब की बोतल और तमंचा बरामद हुआ है। 
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X