विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

मुजफ्फरनगर

मंगलवार, 28 जनवरी 2020

अदालत ने किसान हत्या मामले में छह आरोपियों को सुनाई उम्रकैद की सजा

मुजफ्फरनगर में रतनपुरी थाना क्षेत्र के गांव रियावली नंगला में पांच साल पूर्व हुई किसान की हत्या के मामले में न्यायालय ने छह आरोपियों को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही 25-25 हजार रुपये के अर्थदंड से भी दंडित किया है। 2014 में हुए इस हत्याकांड को दंगे के बाद सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की गई थी। 

अभियोजन पक्ष के अनुसार रतनपुरी थाने पर 8 जून 2014 को रियावली नंगला निवासी गुलजार ने अपने पिता तरीकत की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसमें बताया था कि रात में उसके पिता तरीकत फसल की सिंचाई करने नलकूप पर गए थे। वहां गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई। हत्याकांड में गांव के ही शाकिर, जाकिर उर्फ मुखिया, नौशाद उर्फ नोटी पुत्रगण तैमूर के अलावा जाहिद उर्फ फत्ता, तुल्ला व साबिर पुत्रगण फतेह मोहम्मद को नामजद किया था। हत्या का कारण पुरानी रंजिश और ग्राम प्रधान पद की चुनावी रंजिश बताया था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजने के बाद विवेचना पूर्ण होने पर चार्जशीट दाखिल की थी। मुकदमे की सुनवाई अपर सत्र न्यायाधीश (कोर्ट संख्या एक) वीर नायक सिंह के न्यायालय में हुई। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता जितेंद्र कुमार त्यागी और वादी के अधिवक्ता प्रमोद त्यागी ने कोर्ट में 11 गवाह और सबूत पेश किए। न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की दलील सुनकर पत्रावली का अवलोकन और साक्ष्यों के आधार पर हत्याकांड में सभी छह आरोपियों को दोषी करार दिया। अदालत ने शाकिर, जाकिर, नौशाद, जाहिद, तुल्ला और साबिर को उम्रकैद और 25-25 हजार रुपये अर्थदंड से दंडित किया है। सजा सुनाए जाने के बाद हत्यारों को जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें: 
चर्चित तेवड़ा हत्याकांड: कोर्ट ने तीन भाइयों समेत आठ आरोपियों को सुनाई उम्रकैद की सजा
... और पढ़ें

देश भर में फैला है सॉल्वर गैंग का जाल, पद के हिसाब से एक करोड़ तक लेते हैं रकम, गढ़ बना यह जिला

बिजनौर में सॉल्वर गैंग कई सालों से सक्रिय है। बैंक में नौकरी लगवाने से लेकर एमबीबीएस की परीक्षा पास कराने के लिए गैंग मोटी रकम लेता है। गैंग के सदस्यों के तमाम बड़े लोगों से ताल्लुक हैं। गैंग चोरी छिपे अपने काम को अंजाम देता रहता है। हर विभाग में पद के हिसाब से भर्ती की रकम तय की जाती थी।

मुजफ्फरनगर में लोअर पीसीएस परीक्षा पास कराने में पकड़े गए गैंग में बिजनौर के भी युवक शामिल हैं। बिजनौर की कुटिया कॉलोनी निवासी अमित कुमार, विशेषांक, हरेंद्र सिंह को पुलिस ने दबोचा है, जबकि विवेक फरार हो गया। बिहार के रोहताश जिले का मुकेश बिजनौर के हीमपुरदीपा थाने के गांव टुंगरी के ऋषभ कुमार की जगह परीक्षा दे रहा था। मुकेश को पकड़ने पर ही गैंग का खुलासा हुआ। पुलिस ने ऋषभ को भी दबोच लिया है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गैंग का पूरे देश में जाल फैला हुआ है। किसी भी परीक्षा को पास कराने का गैंग ठेका ले लेता है। कई सालों से बिजनौर में गैंग सक्रिय है। गैंग के सदस्य मेरठ में भी दबोचे जा चुके हैं। शेरकोट में हरेवली मार्ग पर राकेश कुमार का दुर्गा महाविद्यालय है। महाविद्यालय का वह खुद प्रधानाचार्य है। 19 नवंबर 2018 को एसटीएफ मेरठ ने राकेश को यूपी टीईटी का फर्जी पेपर बनाते हुए दबोचा था। उसके कई साथी भी बाद में पकड़े गए थे।
... और पढ़ें

रिमांड पर बड़े राज खोलेगा गिरोह का सरगना, विदेशों में फैला था नेटवर्क, सामने आएगी असली सच्चाई

साध्वी हत्याकांड: स्विफ्ट कार से खुलेगा कत्ल का राज, लाश को घसीटने के मिले हैं निशान, देखें तस्वीरें

बरामद कार बरामद कार

मुजफ्फरनगर: हाईवे स्थित मिली वृद्ध की लाश, दो दिनों से लापता था सीताराम

मुजफ्फरनगर में गांव मेदपुर के निकट बुधवार दोपहर हाईवे स्थित रजबहे की नाली में वृद्ध की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। शव की पहचान गांव घुमावटी निवासी फेरी विक्रेता के रूप में हुई, जो दो दिन से लापता था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी भेज दिया है।

छपार थाना क्षेत्र के गांव मेदपुर के जंगल में हाईवे स्थित रजबहे की नाली में बुधवार दोपहर वृद्ध की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई। खेत मालिक सत्यप्रकाश शर्मा ने शव के बारे में पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस ने शव की तलाशी ली तो उसकी जेब से आईडी व तीन सौ रुपये नकद मिले। आईडी के आधार पर शव की पहचान सीताराम (65) पुत्र बलजीत निवासी गांव घुमावटी के रूप में हुई। सूचना पर पहुंचे वृद्ध के परिजनों ने बताया कि वह साइकिल से घूमकर अचार बेचने का काम करता था। दो दिन पूर्व वृद्ध फेरी करने निकला था, लेकिन घर नहीं लौटा। परिजन तभी से अपने स्तर से वृद्ध की तलाश कर रहे थे। 

यह भी पढ़ें: 
दोस्तों ने साथी युवक को मार डाला, गन्ने के खेत में छिपाई लाश, ये रही कत्ल की बड़ी वजह

रामपुर चौकी प्रभारी एसआई रविंद्र कसाना का कहना है कि शव की पहचान सीताराम के रूप में हुई है, जो फेरी करता था। मौके से उसकी साइकिल नहीं मिली है, जिसे संभवत: कोई उठा ले गया। वृद्ध नशे का आदी था और संभवत: नशे की हालत में वह रजबहे की नाली में गिर पड़ा और नशा अधिक होने से उसकी मौत हो गई। शव को मोर्चरी भेजा गया है और पीएम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

खून का बदला खून... युवती की हत्या से गांव में पसरा सन्नाटा, खौफनाक है मर्डर ये कहानी

मुजफ्फरनगर जिले के गांव बलीपुरा में रीना की हत्या से हड़कंप मचा हुआ है। प्रथम दृष्टया जांच में रीना की हत्या को करीब चार माह पूर्व हुई कुलदीप की हत्या से जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस भी इसी दिशा में हत्याकांड की जांच कर रही है।

मीरापुर थाना क्षेत्र का गांव बलीपुरा कस्बे से महज दो किलोमीटर की दूरी पर मेरठ-पौड़ी हाईवे पर स्थित है। करीब चार माह पूर्व सात जून को दिनदहाड़े गांव निवासी कुलदीप पुत्र बिल्लू की सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। कुलदीप की हत्या में उसके परिजनों ने ब्रह्मसिंह के बेटे मनीष व शिवकुमार के साथ ही गुरदीप व रणधीर पुत्रगण ओमवीर के खिलाफ हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्यारोपी मनीष व शिवकुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जबकि दोनों अन्य नामजद आरोपियों की हत्याकांड में संलिप्तता को लेकर जांच की जा रही है। 

मीरापुर इंस्पेक्टर पंकज कुमार त्यागी ने बताया कि कुलदीप हत्याकांड की जांच में सामने आया था कि कुलदीप के हत्यारोपी भाइयों मनीष व शिवकुमार की बहन रीना के साथ प्रेम संबंध थे। इन्हीं प्रेम संबंधों के चलते कुलदीप की हत्या की गई थी।

यह भी पढ़ें: 
मर्डर: गोली मारकर एक किलोमीटर तक दौड़ाया, किसी घर में घुसा तो खींचकर फिर बरसा दी गोलियां
... और पढ़ें

आरोपी भाई बोला- कब तक बर्दाश्त करता... इज्जत से खिलवाड़ कर रही थी, इसलिए गोली मारी

घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस
मुजफ्फरनगर जिले के मोहल्ला खालापार में मंगलवार देर रात महिला को गोली मारने के आरोपी भाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। महिला के पति ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पूछताछ में हमलावर भाई ने महिला के चालचलन पर उंगली उठाते हुए कहा कि वह लगातार इज्जत से खिलवाड़ कर रही थी, आखिर कैसे और कब तक बर्दाश्त करता ? इसीलिए उसे गोली मार दी। उधर, मेरठ मेडिकल में भर्ती महिला की हालत गंभीर बनी हुई है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला खालापार में मंगलवार देर रात महिला शाहिदा पत्नी नन्ना को उसी के भाई मोनी उर्फ शाहिद ने घर में घुसकर गोली मार दी थी। गंभीर हालत में शाहिदा को जिला अस्पताल से मेरठ रेफर कर दिया गया था। शाहिदा के पति नन्ना ने मामले में हमलावर शाहिद उर्फ मोनी के खिलाफ नामजद तहरीर देकर बताया कि आरोपी ने घर में घुसकर दो मोबाइल चोरी कर लिए थे, जिसे रोकने पर उसने शाहिदा को गोली मार दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है। 

यह भी पढ़ें: 
यूपी: भाई ने अपनी छोटी बहन का गला काटकर मार डाला, वारदात के बाद आरोपी ने किया सरेंडर

पुलिस के अनुसार पूछताछ में शाहिद उर्फ मोनी का कहना है कि उसकी बहन के मोहल्ले के ही एक युवक से संबंध थे, जिसे कई बार समझाया गया, लेकिन वह नहीं मानी। इसके चलते उन्होंने करीब एक साल पूर्व उससे सभी संबंध खत्म कर लिए थे। शाहिद ने बताया कि कुछ माह पूर्व बहन ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसकी नाबालिग बेटी का भी अपहरण करा दिया था, तभी से वह बहन से बदला लेने की फिराक में था और इसी के चलते उसने मंगलवार देर रात उसे गोली मार दी। हमलावर भाई का कहना है कि उसे बहन को गोली मारने का कोई अफसोस नहीं है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर: वृद्ध की पीट- पीटकर हत्या, बेटे-बेटी पर भी हमला, जानें- क्या था मामला

मुजफ्फरनगर जनपद में कस्बा मीरापुर के मोहल्ला कोटला में घर के बाहर गाली-गलौज करने से रोकने पर वृद्ध की पीटकर हत्या कर दी गई। वृद्ध को बचाने पहुंचे उसके बेटे और बेटी पर भी हमला कर कर दिया गया। मामले में चार हमलावरों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। सभी आरोपी फरार हैं, पुलिस आरोपियों की तलाश करने में लगी है। 

मीरापुर कस्बे के मोहल्ला कोटला निवासी महताब (62) के बेटे शादाब ने तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कराई। उसमें बताया कि उनके घर के बाहर रविवार रात करीब नौ बजे कुछ लोग आपस में गाली-गलौज कर रहे थे। महताब ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो युवकों ने उन पर हमला कर दिया। आरोप है कि घर से बाहर खींचकर महताब को नीचे गिराकर बुरी तरह पीटा गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। शोर शराबा सुनकर उनके बेटे फरमान व शाहवेज और बेटी चांदनी बचाने पहुंची तो उन पर भी धारदार हथियारों से हमला कर दिया गया, जिससे वह भी घायल हो गए। भीड़ इकट्ठा होने पर आरोपी धमकी देकर फरार हो गए। परिजन गंभीर हालत में महताब को चिकित्सक के यहां ले गए, जहां से उन्हें मेरठ रेफर कर दिया गया। मेरठ के एक हॉस्पिटल में उपचार के दौरान महताब की मौत हो गई, जिस पर परिजन शव लेकर घर लौट आए।

यह भी पढ़ें: 
सहारनपुर: भाई और भाभी ने की युवक की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी दंपती फरार
... और पढ़ें

प्यार से बुलाकर मासूम की हत्या, फिर घर में छिपाकर रखी लाश, रूह कंपा देगी ये घटना, तस्वीरें

खुद को कमरे में बंद कर फांसी के फंदे पर लटक गया शख्स, मौत, परिजनों ने बताई ये वजह

मुजफ्फरनगर शहर के मोहल्ला रामपुरी में एक युवक ने शनिवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया, जिस पर पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को उनके सुपुर्द कर दिया।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला रामपुरी निवासी गौरव (30) पुत्र राधेश्याम सोनू पाल के मकान में किराए पर रहता था। गौरव की शादी करीब दस साल पूर्व दिल्ली की पूजा कॉलोनी निवासी पायल से हुई थी। दंपती को लंबे समय तक कोई बच्चा न होने पर गौरव ने छोटे भाई के बच्चे को गोद ले लिया था। करीब ढाई माह से पायल किसी वजह से अपने मायके दिल्ली में ही रह रही थी। शनिवार सुबह करीब छह बजे गौरव ने खुद को कमरे में बंद कर फांसी लगा ली। सुबह काफी देर तक भी गौरव के कमरे से बाहर न आने पर मकान मालिक ने शक होने पर अंदर झांककर देखा तो वहां उसका शव फांसी के फंदे से लटका हुआ था। मकान मालिक ने तत्काल पुलिस कंट्रोल रूम को घटना की जानकारी दी, जिस पर एसआई भूपेंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे और शव को फंदे से नीचे उतारा। सूचना पर गौरव के परिजन भी मौके पर पहुंच गए। 

यह भी पढ़ें: 
आत्महत्या से पहले फेसबुक पर डाला वीडियो, कहा- मैं आज मर रहा हूं, मजबूरी है मेरी

एसआई भूपेंद्र शर्मा ने बताया कि पूछताछ में पीड़ित परिजनों ने गौरव के कुछ समय से मानसिक तनाव में होने की जानकारी देते हुए बताया कि संभवत: इसी वजह से उसने आत्महत्या की हो। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की बात कही तो परिजनों ने कार्रवाई करने से इंकार कर दिया। इस पर पंचनामा भरकर शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

दशहरा पर्व के बाद कई शहरों में तनाव,भाजपा नेता की हत्या, आंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त, फोर्स तैनात

यूपी: सिपाही समेत चार के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज, ग्रामीणों में भारी आक्रोश

मुजफ्फरनगर में रामराज थानाक्षेत्र के नया गांव नीला जलालपुर में ग्रामीण के सिर पर डंडे से वार कर हत्या कर दी गई। सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने में एक सिपाही भी शामिल है। मृतक के परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर गांव की सड़क जाम लगा कर धरना दिया। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि सिपाही समेत नामजद आरोपी फरार हैं। पुलिस ने फरार आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने का आश्वासन देकर जाम को खुलवाया। ग्रामीणों ने गमगीन माहौल में अधेड़ का अंतिम संस्कार कर दिया। 

रामराज थाना क्षेत्र के ग्राम नया गांव में तीन अक्तूबर को गांव के कुछ लोग बैठकर खा रहे थे। इसी दौरान किसी बात को लेकर सुरेंद्र उर्फ लक्कड़ (50) और यूपी पुलिस के सिपाही सचिन उर्फ भयंकर आदि के बीच कहासुनी हो गई। आरोपियों ने सुरेंद्र के साथ मारपीट कर दी। आरोप है कि सचिन ने डंडे से उसके सिर में गंभीर प्रहार किए, जिससे वह घायल हो गया। घायल के परिजनों ने सुरेंद्र को उपचार के लिए मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। साथ ही घायल के पुत्र गौतम ने अपने पिता पर जानलेवा हमला करने के आरोप में सिपाही सचिन उर्फ भयंकर, विनोद उर्फ चीटी, अमर सिंह और बुंदू को नामजद किया।

यह भी पढ़ें: 
नशीली लस्सी पिलाई, बेहोश होते ही बांधे हाथ-पांव, फिर चहेते भाई ने चाकू से काट डाला बहन का गला
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन