बचत बचत

Moradabad Bureau Updated Sat, 30 Sep 2017 08:59 PM IST
विदेशी करेंसी के धंधेबाजों के पकड़े जाने का मामला
थाईलैंड में धंधेबाजों के मेल-मिलाप से शुरू हुआ था धंधा
पाक के जायद खान से मुलाकात के बाद अमरोहा के गजेंद्र के संपर्क में आया था जम्मू-कश्मीर का मुश्ताक
नोएडा के सेक्टर पंद्रह में भी किराये के मकान में छापी गई थी नकली करेंसी
अमर उजाला ब्यूरो
अमरोहा। विदेशी करेंसी के कारोबार का भारत में सरगना अमरोहा जिले के हसनपुर क्षेत्र के गांव हाकमपुर निवासी गजेंद्र सैनी और पंकज सैनी गांव मलपुर थाना छजलैट जिला मुुरादाबाद लंबे समय से विदेशी करेंसी छापने का काम रहा था। इस काले कारोबार को लेकर इन दोनों का मलेशिया, थाईलैंड आना जाना था। इसी बीच पाकिस्तान के जायद खान उर्फ गुलजार से बैंकॉक में मुलाकात होने के बाद जम्मू कश्मीर का मुश्ताक अहमद खान गजेंद्र के संपर्क में आया था। एसपी संतोष कुमार मिश्रा के अनुसार बकौल गजेंद्र दो बार बैंकॉक व एक बार मलेशिया गया था। वहां पर उसकी मुलाकात पाकिस्तान के रहने वाले जायद खान उर्फ गुलजार खान से हुई। जो नकली नोटों की तस्करी का मास्टर माइंड है। इसी दौरान गजेंद्र की मुलाकात ताजमहल होटल पातांग बीच बैंकॉक में रहने वाली पूजा उर्फ मिस लोलिता से हुई जो नकली नोट छापने का धंधा करती है। जो यंगून (म्यांमार) की रहने वाली है। जिसने अपने भाई उदय कुमार से नकली नोट छापना सीखा था। पाकिस्तान निवासी जायद खान उर्फ गुलजार खान ने ही बताया था कि मुश्ताक और कुपवाड़ा कश्मीर निवासी मुनीर भारत में उसके एजेंट हैं जो नकली नोटों की कालाबाजारी करते हैं। वहीं बताया कि जायद खान मलेशिया, पाकिस्तान, नेपाल और बैंकॉक में भी अपने गैंग के सदस्यों के माध्यम से पर्यटकों को नकली नोट सप्लाई करता है। इस खुलासे के बाद से एनआईए, आईबी समेत कई एजेंसियां अलर्ट हो गई है।

बरामद नकली करेंसी और उपकरण
अमरोहा। अमरोहा पुलिस टीम को गिरफ्तार पांच आरोपियों से 15 लाख 14 हजार की नकली करेंसी, एक लाख 7 हजार के अधबने नकली नोट, 27 हजार के असली नोट, एक डॉलर अमेरिकन करेंसी, एक 500 नोट म्यांमार, एक 500 का नोट मलेशिया करेंसी, एक 20 का नोट मलेशिया करेंसी, 100 के दो नोट बैंकॉक करेंसी और नोट छापने के कागज, कंप्यूटर, प्रिंटर, इंटरनेट राउटर, लैपटॉप, पावर केबल, चार्जर, एक्सटेंशन, कैंची, कागज के बंडल, पेन कार्ड, परिचय पत्र, डेबिट कार्ड और पासपोर्ट बरामद हुआ है।

इस पुलिस टीम ने की कार्रवाई
अमरोहा। हसनपुर कोतवाली निरीक्षक देवेंद्र कुमार शर्मा, साइबर सैल प्रभारी राजीव कुमार शर्मा, उप निरीक्षक सुरेश चंद गौतम, उपनिरीक्षक कश्मीर सिंह, उपनिरीक्षक सुनील कुमार मलिक, उपनिरीक्षक प्रवीण कुमार, सिपाही योगेश कुमार, विवेक कुमार, विजय शर्मा, अनिल कुमार, जयप्रकाश, विजेंद्र, अरूण कुमार, धनुज कुमार ने संयुक्त से बड़ी कार्रवाई की अंजाम दिया।

नकली नोट की तस्करी का मामला:
बैंक मैनेजर बनकर मुरादाबाद की दीपक कालोनी में छिपे थे तस्कर
रामपुर में बताया था खुद को कार्यरत
साथ में दो युवतियां भी रहती थीं
अमर उजाला ब्यूरो
मुरादाबाद। अमरोहा पुलिस द्वारा पकडे़ गए नकली नोट के सौदागरों के दो सदस्य कटघर की पीतल नगरी स्थित दीपक कालोनी में बैंक मैनेजर बनकर छिपे थे। आरोपियों ने किराए पर दो कमरे लिए थे, जिसमें वह नकली नोट की छपाई करते थे। करीब 25 दिन से नोट की छपाई की जा रही थी लेकिन स्थानीय पुलिस को इसकी भनक नहीं लग सकी।
दीपक कालोनी में फड़ लगाने वाले एक व्यक्ति का मकान है। मकान के ग्राउंड फ्लोर पर गृह स्वामी परिवार के साथ रहता है। गृह स्वामी की पत्नी ने बताया कि तीन सितंबर को कालोनी में ही रहने वाली एक महिला ने दो युवकों पंकज सैनी व एक अन्य को उसके मकान की पहली मंजिल पर बने दो कमरे किराए पर दिलवाए थे। दोनों युवकों को महिला ने अपना रिश्तेदार बताया था। युवकों के साथ दो युवतियां भी रहती थीं, जिन्हें वह अपना रिश्तेदार बताते थे। मकान मालकिन ने बताया कि आरोपियों ने कहा था कि वह रामपुर स्थित एक निजी बैंक में मैनेजर हैं।

मकान मालिक के बच्चों को भी नहीं जाने देते थे कमरे में
मुरादाबाद। मकान मालकिन ने बताया कि किराए पर कमरा देने के बाद उनके बच्चों का छत पर जाना भी मुश्किल हो गया था। आरोपी युवक अक्सर सीढ़ियों पर बने दरवाजे की कुंडी लगाकर रखते थे। वह कहते थे कि कमरों में बैंक के कागज रखे रहते हैं। इसलिए वह नहीं चाहते कि बच्चे उनके कमरे में आए। दरअसल, आरोपियों को डर था कि अगर मकान मालिक या उनके बच्चे कमरों में गए तो उनके द्वारा की जा रही नकली नोट की छपाई के धंधे की पोल खुल सकती है।

फिल्मी स्टाइल में पुलिस को गच्चा देकर भागे थे आरोपी
मुरादाबाद। आरोपियों को पकड़ने के लिए अमरोहा पुलिस ने 20 सितंबर की रात की दीपक कालोनी में दबिश दी। जब पुलिस की टीम आरोपियों के ठिकाने पर पहुंची तो उन्हें इसकी भनक लग चुकी थी। सूत्रों की मानें तो आरोपियों को कालोनी में ही रहने वाले उनके ही रिश्तेदार के लड़के ने कॉल कर पुलिस को सूचना दे दी थी, जिसके कारण आरोपी छत की कुंडी लगाकर पड़ोसियों के मकान की छतों पर होते हुए वहां से भाग निकले थे। जाते वक्त आरोपियों ने छत पर बने दरवाजे की कुंडी लगा दी थी, जब तक पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तब तक आरोपी काफी दूर निकल चुके थे।

पुलिस की दबिश से दो दिन पहले ही युवतियां छोड़ चुकी थी ठिकाना
मुरादाबाद। नकली नोट के सौदागरों के साथ रुकी युवतियों को उन्होंने अपना रिश्तेदार बताया था लेकिन मकान मालकिन को उन लोगों के रिश्ते को लेकर शक हो रहा था। इसलिए उन्होंने आरोपियों से मकान खाली करने के लिए चेतावनी दे दी थी। इसके बाद आरोपियों ने युवतियों को दूसरी जगह भेज दिया था, यही वजह थी कि दबिश के वक्त युवतियां मौके पर मौजूद नहीं थी। आरोपियों के भाग जाने के बाद पुलिस ने उनके कमरे की तलाशी ली तो उसमें कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज हाथ लगे थे। इसके साथ ही कमरे से नकली नोटों की छपाई का सारा सामान पुलिस ने कब्जे में ले लिया था।

बिना आईडी प्रूफ जमा किए दिया था कमरा
मुरादाबाद। मकान मालकिन ने बताया कि उन्होंने युवकों से आईडी प्रूफ नहीं लिया था। इसकी वजह कालोनी में ही रहने वाली आरोपियों की रिश्तेदार थी। पुलिस ने शुक्रवार को आरोपियों के पकडे़ जाने के बाद दोबारा अमरोहा के सीनियर अफसरों के साथ दीपक कालोनी में दबिश दी तो मकान मालिक को बिना आईडी प्रूफ के कमरा न देने की चेतावनी दी।

मुरादाबाद बन रहा ठिकाना, ट्रेस करने में स्थानीय पुलिस हो रही फेल
मुरादाबाद। मुरादाबाद में नकली नोट के तस्करों के सक्रिय होेने का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी कई बार शहर में नकली नोट की छपाई और तस्करी का भंडाफोड़ दूसरे जिलों की पुलिस ने किया है। हाल ही में पाकबड़ा में भी दो युवकों को नकली नोट की छपाई करते हुए अमरोहा पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इससे पहले गाजियाबाद पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान नकली नोट के एक तस्कर को मुरादाबाद से पकड़ा था। सूत्रों की मानें तो नकली नोट की तस्करी से जुडे़ कई सदस्य अब भी मुरादाबाद में सक्रिय हो सकते हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

लखनऊ में रेयान इंटरनेशनल की जैसी घटना से हड़कंप, छात्र को टॉयलेट में मारे चाकू

लखनऊ के एक स्कूल में छात्र को टॉयलेट में बंधक बनाकर चाकू मारे जाने की घटना से हड़कंप मच गया।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : बच्चियों को ट्रेन से फेंकनेवाले दरिंदे पिता ने बताई पूरी वारदात

बीते साल अक्टूबर में चलती ट्रेन से अपनी बच्चियों के फेंकनेवाले हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और मीडिया के सामने इद्दू अंसारी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper