विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

गजब : हाईस्कूल के छात्र को भी चाहिए लाइसेंसी असलहा, बताया जान-माल का खतरा

सदर कोतवाली इलाके के एक गांव में रहने वाले हाईस्कूल के छात्र पीयूष मिश्रा को शस्त्र लेने का भूत सवार है। छात्र के मुताबकि उसे जान का खतरा है। आवेदन पत्र की पुलिस ने जांच की तो सारी बातें झूठी साबित हुईं। अफसरों ने इसकी रिपोर्ट भेजी तो पीयूष ने जन सुनवाई पोर्टल में शिकायत दर्ज करा दी।

दरअसल कोतवाली इलाके का एक छात्र इन दिनों बीए कर कर रहा है। हाईस्कूल के दौरान ही उसकी उम्र 18 वर्ष पूरी हो चुकी थी। घर में शान-शौकत की कोई कमी नहीं थी। बस, कमी थी तो असलहे की। इस वजह से उसने अध्यनरत रहते हुए शस्त्र लेने के लिए आवेदन कर दिया। आवेदन में लिखा कि उसे जान से मारे जाने का खतरा है। आवेदन पत्र की पुलिस ने जांच कराई तो स्थानीय दरोगा ने लिखा कि पीयूष को किसी से खतरा नहीं है। वह शौकिया असलहा लेना चाहता है।


इसी रिपोर्ट पर इंस्पेक्टर, सीओ, एएसपी और एसपी ने भी अपनी मुहर लगाकर जिलाधिकारी को प्रेषित कर दी। फाइल दाखिल दफ्तर होेने के कगार पर पहुंची ही थी कि पीयूष ने जन सूचना में शिकायत कर अपने आवेदन पत्र को गायब किए जाने के बाबत जानकारी मांग ली। इसे लेकर पुलिस महकमें हड़कंप मच गया। पुराने दस्तावेज खंगाले गए तो हकीकत का पता चला कि इसकी रिपोर्ट तो पहले ही भेजी जा चुकी है।
... और पढ़ें

कौशाम्बी में परीक्षा से पहले डीएलएड के पेपर हुए वायरल, डीएम ने प्राचार्य डायट से तलब की रिपोर्ट

डीएलएड (पूर्व में बीटीसी) चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा मजाक बनकर रह गई है। बुधवार को सुबह 10 बजे से हिंदी, दोपहर 12 बजे से अंग्रेजी और दोपहर बाद दो बजे से शांति शिक्षा की परीक्षा थी, जिसके पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। डीएम ने पर्चा लीक होने की बात को भ्रामक बताया है। मामले में उन्होंने डायट प्राचार्य से रिपोर्ट तलब की है।

हिंदी का पेपर सुबह 10 बजे से शुरू हुआ। मंगलवार को पेपर वायरल होने के चलते इस परीक्षा में प्रशासन की थोड़ी बहुत सख्ती थी। लेकिन दोपहर 12 बजे से आयोजित अंग्रेजी की परीक्षा से पहले करीब 11:20 पर ही पेपर वायरल हो गया। इसी तरह 01:25 बजे ही शांति शिक्षा का भी पेपर वायरल हो गया। जिस किसी अभ्यर्थी के पास पेपर पहुंचा, वह या तो रट्टा मारने में लग गया या फिर चिट में नोट करने लगा।

जब पेपर खत्म होने के बाद वायरल हुए प्रश्न पत्र के हल से अभ्यर्थियों ने सवाल मिलाए तो पता लगा कि जो प्रश्नपत्र व्हाट्सएप पर वायरल हुआ था, उसमें और असली परचे में कोई फर्क नहीं था। इस बाबत डीएम सुजीत ने बताया कि डीएलएड का पर्चा लीक होने की सूचना भ्रामक है। प्रारंभिक जांच में वायरल पेपर और परीक्षा में बटे पेपर में भिन्नता मिली है। गणित के पेपर में सिर्फ एक प्रश्न का मिलान हो रहा है। उसे इत्तफाक कहा जा सकता है। फिर, भी डायट प्राचार्य से 24 घंटे के भीतर विस्तृत रिपोर्ट तलब की गई है। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

दुनिया में आंख खोलने के पहले मां ने लाडले को फेंका, पुलिस ने चाइल्ड लाइन के हवाले किया

एक औलाद के लिए देश के जहां तमाम दंपती आईवीएफ जैसी तकनीक में लाखों रुपये पानी की तरह बहा कर रहे हैं वहीं समाज में कुछ ऐसे भी युवक और युवतियां हैं जो प्रेम के कारण रिश्ते बनाकर औलाद तो पैदाकर लेते हैं, लेकिन समाज में उस बच्चे को अपना नाम देने की हिम्मत नहीं जुटा पाते। ऐसी ही एक घटना बुधवार को पश्चिमशरीरा थाने के अमीना गांव के समीप हुई। जहां एक मां ने अपने कलेजे के टुकड़े को मरने के लिए खेत में फेंक दिया था।

अमीना गांव के लोग बुधवार सुबह अपने खेतों की तरफ गए थे। तभी धान के खेत के बीच से एक नवजात के कराहने की आवाज ने उनका दिल दहला दिया। कौतूहलवश लोग मौके पर पहुंचे तो देखा कुछ पहले ही जन्मा हुआ बच्चा पड़ा था। उसके शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था। एक किसान ने अपने अंगौछे से बच्चे के शरीर को लपेटा। देखते ही देखते यह बात पूरे इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई। शिशु लड़का था, सो तमाम ऐसे दंपती उसे गोद लेने भी पहुंचे जिनके संतान नहीं थी। इस बीच सूचना पर पुलिस भी आ गई। पुलिस ने कानूनी बाध्यता बताते हुए बच्चे को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : चाकू मारकर हत्या करने के आरोपी को न्यायालय ने सुनाई उम्रकैद की सजा

अपर जिला जज कक्ष संख्या-7 की अदालत ने शुक्रवार को हत्या के एक मामले में अहम फैसला सुनाया है। कोर्ट ने हत्यारोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए 11,500 का अर्थदंड लगाया है। अदालत ने हत्या में शामिल फरार एक अन्य आरोपी की फाइल अलग करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया है।

अभियोजन के मुताबिक 23 मई वर्ष 2014 में सरायअकिल कस्बे के बुद्घपुरी मोहल्ला निवासी अमीर चंद्र जायसवाल के बाहर सफाई कर्मी झाड़ू लगा रहा था। इसी बीच पड़ोसी संदीप पांडेय और उसका पिता उमाशंकर पांडेय आए और सफाई कर्मी को अपने दरवाजे पर झाड़ू लगाने के लिए बुलाए ले जा रहा था। अमीरचंद्र ने इसका विरोध किया तो पड़ोसी पिता-पुत्र से विवाद हो गया। बात बढ़ने पर बाप-बेटे ने मिलकर अमीरचंद्र को चाकू घोंप दिया।

इससे उसकी मौत हो गई। मामले में मृतक के भतीजे सचिन जायसवाल ने आरोपी पिता-पुत्र के खिलाफ उसी दिन सरायअकिल कोतवाली में हत्या की एफआईआर दर्ज करा दी थी। मुकदमा पंजीकृत होने के बाद विवेचक ने आरोप पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया।मुकदमे की सुनवाई अपर जिला जज कक्ष संख्या-7 नीरज कुमार उपाध्याय की अदालत मैं चली। राज्य की ओर से विशेष लोक अभियोजक शशांक खरे ने कुल नौ गवाहों को पेश किया। दोनों पक्षों की बहस व पत्रावली में मौजूद साक्ष्यों का अवलोकन करने के बाद शुक्रवार को कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया।

एक हत्यारोपी फरार, फैसला सुरक्षित
अमीरचंद्र जायसवाल की हत्या करने के बाद आरोपी उमा शंकर पांडे फरार हो गया था। अब तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। मुकदमे की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने हत्यारोपी उमाशंकर की फाइल पृथक कर फैसला सुरक्षित रख लिया है।
... और पढ़ें
कोर्ट कोर्ट

कौशाम्बी : दुष्कर्म के आरोपी तांत्रिक को दस साल का सश्रम कारावास

अपर जिला न्यायाधीश नीरज कुमार उपाध्याय की अदालत ने बृहस्पतिवार को बीमार महिला से दुष्कर्म के आरोपी तांत्रिक बाबा को दस साल की कठोर कारावास की सजाई सुनाई। अदालत ने दुष्कर्मी तांत्रिक पर 13 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। अदालत का फैसला आते ही अभियुक्त को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया। 

अभियोजन के अनुसार महेवाघाट कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली महिला काफी दिन से बीमार चल रही थी। दवा-इलाज के बाद भी आराम नहीं मिलने पर परिजन उसे 20 मई 2015 को महेवाघाट स्थित शनिधाम के पुजारी रामकिशोर शुक्ल (तांत्रिक बाबा) के पास झाड़-फूंक कराने ले गए। आरोप है कि झाड़-फूंक के बाद इलाज के नाम पर तांत्रिक ने उसके साथ दुष्कर्म करने के साथ ही वीडियो क्लिप तैयार कर ली।

इसके बाद से तांत्रिक बाबा वीडियो क्लिप के जरिये ब्लैकमेल कर महिला के साथ अक्सर मनमानी करने लगा। हद तो तब हो गई जब आरोपी तांत्रिक गड़ा धन का झांसा देकर उसके घर तक पहुंच गया और वहां भी जबर्दस्ती करने लगा। मामले में पीड़िता ने 18 फरवरी 2018 को नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई। एफआईआर दर्ज कर महेवाघाट कोतवाली ने अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया।

मुकदमे की सुनवाई एडीजे कक्ष संख्या-7 नीरज कुमार उपाध्याय की अदालत में चली। विशेष लोक अभियोजक एडवोकेट शशांक खरे ने कुल पांच गवाहों को प्रस्तुत किया। दोनों पक्षों की बहस व पत्रावली में मौजूद साक्ष्यों का अवलोकन करने के बाद बृहस्पतिवार को कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया।
... और पढ़ें

 मिशन शक्ति की धज्जियां : मेडिकल कराने के बहाने दुष्कर्म पीड़िता से दरोगा ने लिखाया सुलहनामा

कौशाम्बी की पुलिस महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध में अभी पुराने रवैये पर ही चल रही है। ताजा मामला सदर कोतवाली इलाके के एक गांव का है। यहां दुष्कर्म की शिकायत लेकर कोतवाली पहुंची युवती को महिला सिपाही की अभिरक्षा में मेडिकल कराने की बात कहकर बैठाया गया और बाद में उससे सादे कागज में हस्ताक्षर बनाकर सुलहनामा लिखकर अफसरों को रिपोर्ट भेज दी गई। मामले की जानकारी होने के बाद पीड़िता व उसके परिवार ने सोमवार को डीएम सुजीत कुमार व एसपी राधेश्याम से शिकायत कर कार्रवाई किए जाने की मांग की।

कोतवाली इलाके के एक गांव की युवती का कहना है कि 25 अगस्त को वह शौच के लिए खेत में गई थी। आरोप है कि लौटते वक्त घात लगाकर बैठे गांव के दो लोगों ने उसे दबोच लिया और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। उसने शोर मचाने का प्रयास किया तो आरोपियों ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। किसी तरह घर पहुंची युवती ने यह बात परिवार के लोगों को बताई तो उन्होंने यूपी 112 को खबर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में ले लिया।

कोतवाली पुलिस युवती का मेडिकल कराने के लिए कहकर घर से बुलाकर कोतवाली लाई। यहां कोतवाली में उसे रात भर महिला सिपाही की अभिरक्षा में रखने के बाद सादे कागजाद में हस्ताक्षर करा लिया गया। पकड़े गए आरोपी को भी छोड़ दिया गया। कहा गया कि जल्द ही मुकदमा लिखकर कार्रवाई की जाएगी। बाद में पता चला कि पुलिस ने युवती से जिस  कागज पर हस्ताक्षर कराया था वह सुलहनामा था। पीड़िता की शिकायत पर एसपी राधेश्याम ने मामले की जांच सीओ से कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
... और पढ़ें

हैवानियत : पोर्न फिल्म दिखाकर पांच साल के बच्चे से कुकर्म, आरोपी हिरासत में

कोतवाली इलाके के एक गांव में एक युवक ने पांच साल के बच्चे को मोबाइल पर फिल्म दिखाने का लालच देकर अपने घर बुलाया और उसके साथ जबरन कुकर्म किया। बच्चे का कहना है कि उसे गंदी फिल्म दिखाई जा रही थी। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। फिलहाल घटना की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है।

कोतवाली इलाके के एक गांव का व्यक्ति का कहना है कि उसका भांजा इन दिनों उसेक यहां आया था। सोमवार शाम गांव का एक युवक उसके पांच वर्षीय भांजे को अकेला पाकर मोबाइल पर फिल्म दिखाने के बहाने अपने घर ले गया। आरोप है कि युवक ने वहां बच्चे को फिल्म दिखाने की बजाय पोर्न दिखाई और कुकर्म किया।

रोते हुए घर पहुंचे भांजे ने यह बात परिवार के लोगों को बताई तो वह लोग सन्न रह गए। मामले की शिकायत पुलिस से की गई। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है। थानाध्यक्ष का कहना है कि आरोपी को हिरासत में लिया गया है। पीड़ित परिवार की तरफ से तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : घर के बाहर सो रहे मजदूर की गला रेत कर हत्या, ग्रामीणों ने लगाया जाम

प्रतीकात्मक तस्वीर
नगर पालिका परिषद भरवारी के आंबेडकर नगर वार्ड (बिसारा) में बुधवार देर रात घर के बाहर सो रहे ईंट भट्ठा मजदूर की अज्ञात बदमाशों ने गला रेत कर हत्या कर दी। वह रात को घर के बाहर सो रहा था। सुबह पत्नी ने दरवाजा खोला तो देखा कि पति का खून से लथपथ शव चारपाई पर पड़ा है। वारदात के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना पर सीओ सिराथू सहित इंस्पेक्टर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। दोपहर बाद पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। इधर, शाम को शव पोस्टमार्टम के बाद ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। इस दौरान करीब दो घंटे तक जाम लगा रहा। सीओ के समझाने पर ग्रामीण मानें। 

कोखराज कोतवाली के आंबेडकर नगर मोहल्ला में रहने वाली पूनम देवी ने बताया कि उसका पति देवराज (45) ईंट भट्ठे पर मजदूरी करता था। बुधवार रात खाना खाने के बाद वह घर के बाहर चारपाई बिछाकर सो गया। इसके बाद सुबह जब वह घर से बाहर निकली तो देखा कि पति का शव चारपाई पर खून से लथपथ पड़ा है। उसके शोर मचाने पर मोहल्ले के लोग जमा हो गए। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

सूचना पर सीओ सिराथू योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह, इंस्पेक्टर ज्ञान सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। देवराज की हत्या किसी धारदार हथियार से गला रेत कर की गई थी। पुलिस ने परिवार व मोहल्ले के लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई ऐसा कुछ ठोस सुराग नहीं दे सका। मृतक की पत्नी की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बृहस्पतिवार दोपहर पोस्टमार्टम के बाद शव गांव पहुंचा तो ग्रामीणों का गुस्सा भड़क उठा। शाम को ग्रामीणों ने शव बिसारा टॉवर के समीप सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया।

करीब छह बजे तक चले जाम से मंझनपुर, रोही और भरवारी मार्ग पर वाहनों की कतार लग गई। मामले की सूचना पर सीओ सिराथू योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह मौके पर पहुंचे। ग्रामीण पीड़ित परिवार को मुआवजा व कातिलों को शीघ्र गिरफ्तार किए जाने की मांग कर रहे थे। सीओ के समझाने के बाद ग्रामीणों ने जाम समाप्त किया। सीओ हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। परिजनों ने शुक्रवार को शव का अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया है।

रात एक बजे लौटी थी बेटी
परिवार के लोगों के अनुसार देवराज के घर से करीब सौ मीटर की दूरी पर दुर्गा पूजा पंडाल सजा था। बुधवार रात देवराज की 13 वर्षीय बेटी वंदना पंडाल में देवी प्रतिमा देखने गई थी। वंदना के मुताबिक रात एक बजे वह घर लौटी। इस दौरान उसके पिता जिंदा थे। पुलिस ने भी बेटी से बातचीत कर जानकारी जुटाई। 

ससुराल में रहता था देवराज
देवराज का एक और भाई है। देवराज परिवार के साथ ससुराल में रहता था। गांव वालों के मुताबिक देवराज यहां अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ अकेला रहता था। उसका किसी से कोई लेना-देना नहीं था। रात दिन कमाना और घर आकर खा-पीकर सो जाना। यही उसकी दिनचर्या थी।

इनका कहना
घटना के बाबत परिवार के लोग कुछ बोलने के स्थिति में नहीं है। बड़ी बेटी का कहना है कि रात एक बजे जब वह पूजा पंडाल से लौटी तो पिता जिंदा थे। फिलहाल, कई बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा। - योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह, सीओ सिराथू
... और पढ़ें

प्रयागराज: मुफ्त में बांटे गए सिम और डिवाइस लगे बल्ब पर खुफिया एजेंसियां सक्रिय

मेजा और कौशाम्बी के भरवारी में उज्ज्वला योजना के नाम पर बांटे गए एलईडी बल्ब में सिम लगी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस निकलने के बाद आईबी तथा अन्य खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गईं हैं। इस मामले में आतंकी साजिश का भी शक जताया जा रहा है। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लगे एलईडी बल्ब कब, क्यों और कैसे यहां लाए गए, इसका पता लगाने के लिए एसओजी के साथ ही एसटीएफ ने भी जिले में डेरा डाल दिया है। वहीं कौशामबी में मामले से जुड़े पांच संदिग्ध युवकों को पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया है। बृहस्पतिवार को आईजी रेंज भी इसकी जांच करेंगे। 

मेजा के अमरोहा गांव में बुधवार को बाइक सवार दो युवक पहुंचे। उन्होंने खुद को बिजली विभाग से जुड़ा बताया। गांव के ही राजेश तिवारी को बल्ब का एक पैकेट देते हुए कहा कि जिन लोगों ने बिजली का कनेक्शन लिया है, उनको यह बल्ब निशुल्क बांटा जा रहा है। पैकेट देने के बाद दोनों युवक चले गए। राजेश ने बाद में पैकेट खोला तो होल्डर में सिम लगी डिवाइस मिली। जिसके बाद मेजा चौकी को सूचना दी गई। इधर, भरवारी कस्बे में भी कुछ ऐसा ही हुआ। कुछ युवकों ने लोगों से उज्ज्वला योजना के तहत नि:शुल्क एलईडी बल्ब और होल्डर देने की बात कही।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : पैतृक आवास पहुंच डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पुण्यतिथि पर पिता को दी श्रद्धांजलि

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बुधवार को पैतृक आवास सिराथू पहुंचे। जहां पर उन्होंने पिता स्व. श्याम लाल की तीसरी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान विधि विधान के साथ हवन पूजन किया गया। डिप्टी सीएम के पिता की पुण्यतिथि होने के कारण उनके आवास पर सुबह से ही भाजपाइयों सहित कस्बे के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। 

डिप्टी सीएम ने माता एवं बड़े भाई सुखलाल और भाभी से मुलाकात करते हुए आशीर्वाद लिया। परिवार के छोटे सदस्यों को आशीर्वाद देते हुए उनका कुशलक्षेम जाना। डिप्टी सीएम ने कहा कि वह पिता के बताए मार्ग पर चलकर जनता की लगातार सेवा करते रहेंगे। उन्हीं की प्रेरणा और मार्गदर्शन के चलते वह इस मुकाम पर पहुंचे है। निश्चित तौर से आज पिता की कमी तो बहुत खल रही है।

इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर, सांसद विनोद सोनकर, विधायक सिराथू शीतला प्रसाद, विधायक सदर लाल बहादुर, विधायक चायल संजय गुप्ता, भाजपा जिलाध्यक्ष अनीता त्रिपाठी, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि लवकुश मौर्य, भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष रमेश पाल, उपाध्यक्ष बच्चा केशरवानी, अरूण केशरवानी, धर्मराज मौर्य आदि सैकड़ों भाजपाई सहित कस्बाई मौजूद रहे।

दिव्यांगों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ा जा रहा : केशव

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सिराथू स्थित आवास पर 35 दिव्यांगों को इलेक्ट्रिक ट्राई साइकिलें वितरित की। इस दौरान डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रदेश के सभी दिव्यांगों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है। 

 केशव ने कहा कि हमारी सरकार गरीबों के हित के लिए ठोस कदम उठा रही है। विभिन्न योजनाओं के माध्यम से गरीबी हटाने के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन विरोधी दलों को सरकार की यह कार्यशैली रास नहीं आ रही है। विरोधी दलों को लगता है कि यदि गरीबी दूर होकर जातिवाद की दीवारें टूटीं तो वह राजनीति किसके सहारे करेंगे।

उन्होंने दिव्यांगों से कहा कि किसी भी तरह की हीन भावना को मन में न रखें और शारीरिक क्षमता के अनुरूप अपने पसंद का कार्य करें। इस दौरान सांसद विनोद सोनकर, सिराथू विधायक शीतला प्रसाद, सदर विधायक लाल बहादुर, चायल विधायक संजय गुप्ता, भाजपा जिलाध्यक्ष अनीता त्रिपाठी, रमेश पाल, बच्चा केशरवानी, अरुण केशरवानी, सुनील मिश्रा, कृष्णा रौनियार समेत सैकड़ों भाजपाई मौजूद रहे। 

डिप्टी सीएम ने आम लोगों से की मुलाकात 
 डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को पिता की पुण्यतिथि पर हवन-पूजन किया। इसके बाद वह दूर-दराज से आए लोगों से मुलाकात की। उन्होंने अपनों की तरह सभी लोगों से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना।  
... और पढ़ें

कौशाम्बी : सिराथू ओवरब्रिज पर आग का गोला बानी बोलेरो, बाल बाल बचे लोग

नवनिर्मित ओवरब्रिज पर मंगलवार की देर रात सगाई समारोह से लौट रही एक बोलेरो आग का गोला बन गई। धू-धूकर जलती बोलेरो देख मौके पर हड़कंप मच गया। आनन फानन बोलेरो सवार सभी आठ लोगों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया।
 
फतेहपुर जनपद के डेडाशही निवासी महेश कुमार मंगलवार को अपने गांव से कुछ लोगों को लेकर प्रेम नगर (खागा) में आयोजित एक सगाई समारोह में गया था। रात करीब दस बजे वह अपनी बोलेरो में चार महिलाएं और तीन पुरुषों को बैठाकर सिराथू के रास्ते घर लौट रहा था।

रास्ते मे सिराथू कस्बा स्थित नवनिर्मित ओवरब्रिज पर पहुंचते ही बोलेरो में अचानक आग लग गई। धू-धू कर जल रही बोलेरो पर जब लोगों की नजर पड़ी तो हड़कंप मच गया। हादसा देख जुटे स्थानीय लोगों  ने सक्रियता से बोलेरो सवार सभी लोगों को सकुशल बाहर निकला। सूचना स्थानीय फायर स्टेशन को दी गई, लेकिन सूचना के 40 मिनट बाद भी मौके पर कोई नहीं पहुंचा। इस दौरान पूरी गाड़ी धू-धू कर जल कर राख हो गई।
... और पढ़ें

हाईकोर्ट : भरवारी नगर पंचायत को नगर पालिका परिषद बनाने का निर्णय उचित, उच्चीकृत के विरोध में दायर याचिका खारिज

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कौशाम्बी की नगर पंचायत भरवारी को उच्चीकृत कर नगर पालिका परिषद बनाने की 26 अक्तूबर 16 की अधिसूचना को सांविधानिक करार दिया है। कहा है कि जनसंख्या वृद्धि प्रतिदिन हो रही है। पंचायत को परिषद में उच्चीकृत करना जनहित में है। इससे बेहतर विकास होगा। कोर्ट ने कहा कि जिलाधिकारी ने आपत्तियों पर विचार करने के बाद राज्यपाल को संस्तुति की और राज्यपाल ने संविधान के उपबंधों के तहत उच्चीकृत करने का फैसला लिया।

कोर्ट ने आरटीआई रिपोर्ट को सक्षम प्राधिकारी की नहीं माना और कहा कि अधिशासी अधिकारी की जनसंख्या वृद्धि दर की रिपोर्ट तथ्यात्मक है। अनुच्छेद 226 के तहत दाखिल याचिका पर विचार नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने नगर पंचायत भरवारी को नगर पालिका परिषद उच्चीकृत करने की अधिसूचना की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका खारिज कर दी है।
 
यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीता अग्रवाल तथा न्यायमूर्ति साधना रानी ठाकुर की खंडपीठ ने ग्राम प्रधानों व ग्रामीणों की तरफ से दाखिल सुषमा देवी, 8 अन्य, संतोष कुमार त्रिपाठी व 7 अन्य की याचिका पर दिया है। याची का कहना था कि 10 नवंबर 2014 के शासनादेश में निकायों के उच्चीकृत करने के मानक तय किए गए हैं। मानक के अनुसार वार्षिक आय, जनसंख्या, जनसंख्या घनत्व प्रति वर्ग किमी के आधार पर निकाय को उच्चीकृत किया जा सकता है।

भरवारी नगर पंचायत के मामले में इसका ख्याल नहीं रखा गया है। शासनादेश का उल्लंघन किया गया है। 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या व घनत्व कम है। नगर पंचायत के लिपिक द्वारा जारी आरटीआई के अनुसार वार्षिक आय कम है।

सरकार का कहना था कि 2016 में अधिसूचना जारी की गई है। पिछले पांच सालों में जनसंख्या वृद्धि हुई है। वार्षिक आय पर अधिशासी अधिकारी ने रिपोर्ट दी है। याची की रिपोर्ट विश्वसनीय नहीं है। सक्षम प्राधिकारी की रिपोर्ट नहीं है। शासनादेश एक गाइड लाइंस है। निर्णय सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए राज्यपाल द्वारा किया गया है। निर्णय संविधान के अनुच्छेद 243 एक्स के तहत लिया गया है।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : क्षेत्र बंटवारे को लेकर भिड़े किन्नरों के गुट, मौके पर पहुंची पुलिस ले गई थाने

कोखराज कोतवाली के शहजादपुर पुलिस चौकी के समीप शनिवार किन्नरों के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई। घटना में दोनों पक्ष के लोग जख्मी हो गए। शोरगुल सुन स्थानीय चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने दोनों पक्षों को कोतवाली भेज दिया है।

चौकी प्रभारी गौरव द्विवेदी ने बताया कि इलाके में किन्नरों ने कुछ ग्रुप लोगों के यहां बधाई आदि गाकर पैसा लेते हैं। सोमवार को एक ग्रुप की रेशमा व दूसरे पक्ष की मुस्कान पक्ष के पीछ विवाद हो गया। दोनों तरह से जमकर मारपीट हुई।

इस  बीच किसी स्थानीय लोगों ने बीच-बचाव करने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली ले गई। वहां क्षेत्र के बंटवारे को लेकर विवाद की बात सामने आ रही थी। देर शाम तक पुलिस किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सकी थी।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00