किसान नेता टिकैत ने कहा : बंदूक की ताकत पर सरकार बनाएंगे ये, जैसे तालिबान ने बनाई

Bareily Bureau बरेली ब्यूरो
Updated Mon, 20 Sep 2021 01:47 AM IST

सार

उन्होंने सरकार पर वार करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था को संचालित करने के लिए बना चुनाव आयोग केंद्र सरकार के कब्जे में है। दूसरी संवैधानिक संस्थाओं में भी सरकार की दखलअंदाजी है।
पूरनपुर में एक ढाबे पर किसानों ने साथ भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत।
पूरनपुर में एक ढाबे पर किसानों ने साथ भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत। - फोटो : PILIBHIT
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन की धुरी बने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत को विधानसभा चुनाव में धांधली का अंदेशा नहीं है बल्कि यकीन है। उन्होंने सरकार पर वार करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था को संचालित करने के लिए बना चुनाव आयोग केंद्र सरकार के कब्जे में है। दूसरी संवैधानिक संस्थाओं में भी सरकार की दखलअंदाजी है। कोई संस्था स्वतंत्र रूप से काम नहीं कर पा रही है। इसीलिए विधानसभा चुनाव में उसी तरह से धांधली होगी जिस तरह से जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में धांधली सामने आई थी।
विज्ञापन


दो दिवसीय भ्रमण पर आए राकेश टिकैत का रविवार को भाकियू जिलाध्यक्ष सतविंदर सिंह कहलो ने किसानों के साथ देवहा पुल पर स्वागत किया। इसी दौरान हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा हो या भाकियू का पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में उतरने का कोई इरादा नहीं है क्योंकि हम सब आंदोलनकारी हैं। किसान के मुद्दों पर तब तक लड़ाई जारी रखेंगे जब तक कृषि कानून वापस नहीं हो जाते। किसान विरोधी ताकतों को पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में हराएंगे। अगर इसके बाद भी बीजेपी जीत जाती है तो जान लीजिए की गुंडागर्दी की जीत हुई है।


चुनाव नहीं, किसान के हित में लड़ेंगे
मुजफ्फरनगर की खतौली विधानसभा सीट से 2007 में निर्दलीय उम्मीदवार की हैसियत से राकेश टिकैत चुनाव लड़ चुके हैं। इसके बाद वर्ष 2014 में अमरोहा लोकसभा क्षेत्र से आरएलडी के टिकट पर चुनाव लड़े थे। राकेश टिकैत से जब वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर सवाल पूछा गया तो जवाब में वह बोले-चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि चुनाव लड़कर देख चुके हैं। उन्होंने खुद को आंदोलनकारी बताया और कहा कि किसानों के हित में लड़ते रहेंगे।

बंदूक की ताकत पर सरकार बनाएंगे ये, जैसे तालिबान ने बनाई
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने तराई क्षेत्र किसानों के बीच पहुंचे। जिले के अमरिया, पीलीभीत, मझोला, पूरनपुर में उन्होंने केंद्र की सरकार के साथ भाजपा को निशाने पर लिया। गुरुद्वारा नानकसर परिसर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान वह भाजपा की तुलना तालिबान से कर बैठे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बंदूक की ताकत पर यह लोग सरकार बना लेंगे, जैसे तालिबान ने बनाई है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रविवार को दोपहर गुरुद्वारा नानकसर बड़ापुरा में पहुंचकर अरदास में शिरकत की। श्री गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका। इसके बाद पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए। भाजपा द्वारा 2022 के विधान सभा चुनाव में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने का दावा करने को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि जब विपक्ष वालों के पर्चे ही कैंसिल हो जाएंगे तो ऐसे में सौ से ज्यादा विधायक इंडिपेंडेंट जीतेंगे। भाजपा को जिताने के लिए बाहर से चचाजान (ओवैसी) आ रहे हैं। चचाजान की पार्टी, बीजेपी की बी टीम है। इनके टिकट भी भाजपा ही बांटेगी। टिकैत ने कहा कि कैमरे और कलम पर बंदूक का पहरा है। जो इनके खिलाफ बोलेगा उसको किसी न किसी मामले में फंसा दिया जाएगा। साथ ही कहा कि यह लोग बंदूक की ताकत पर सरकार बना लेंगे। जैसे तालिबान ने बनाई है। इस मौके पर जत्थेदार बाबा मोहन सिंह, बलजिंदर सिंह मान, अजीत सिंह, जितेंद्र सिंह, ज्योति सिंह, नवजोत सिंह गिरेवाल, रमनदीप सिंह आदि मौजूद रहे।

गुलड़िया में स्वागत हुआ, मझोला में खुला भाकियू कार्यालय

मझोला में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश शिकायत बड़ेपुरा गुरुद्वारे से चलकर उत्तराखंड होते हुए उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश कर मझोला पहुंचे। इससे पहले गुलड़िया के लोगों ने राकेश टिकैत का स्वागत किया। राकेश टिकैत मझोला पुलिस चौकी चौराहे किसान नेता स्वर्गीय सरदार जरनैल सिंह के कार्यालय को ही किसान यूनियन का क्षेत्रीय कार्यालय बना दिया।

भाकियू नेता ने किसानों को हक मांगने व एकजुट होकर संघर्ष करने के लिए प्रेरित किया। 11 वर्षों से बंद मझोला चीनी मिल के मामले को गंभीरता से लेते हुए कहा कि इसका भी रास्ता निकालेंगे। किसानों के द्वारा धान की पराली जलाने पर लगी रोक के बारे में शिकायत लेकर आए किसानों ने राकेश टिकैत से वार्ता की। टिकैत ने कहा कि सरकार इसमें किसानों के लिए राहत दे। भरा पचपेड़ा की जमीन पर बसे गरीब मजदूरों के घरों को खमीर फैक्टरी का एरिया बता कर बेदखल करने के मामले में कटाक्ष करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार किसानों के साथ मजदूरों को भी बेघर करना चाहती है। इसलिए वोट के अधिकार का इस्तेमाल किसान सोच समझ कर करें ।

जनता को धोखा देती है उसे कोई नहीं बचा सकता
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि जो सरकार झूठ बोलती है और अपनी जनता को धोखा देती है। उसे कोई बचा नहीं सकता। शर्म आनी चाहिए दिल्ली और लखनऊ में बैठे नुमाइंदों को। तराई में किसानों से धान खरीद के नाम पर लूट की जाती है। समर्थन मूल्य से एक हजार रुपये तक सस्ता धान खरीदा जाता है

राकेश टिकैत रविवार को सुबह बंडा से अमरिया जाते समय असम हाईवे पर किसान नेता स्वराज सिंह के ढाबे पर किसानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आंदोलन में शांतिपूर्वक सहयोग करते रहें। जो गर्म दिमाग का हो उसे घर में ही रहने दें और खेत में काम करने को कहें। आंदोलन में ठंडे दिमाग वाले किसानों की जरूरत है। जिसे जहां बैठा दिया जाए वहां ही बैठा रहे। आंदोलन लंबा चलेगा। कितने दिन चलेगा कहा नहीं जा सकता? एक दिन सम्मान के साथ किसान को जीत मिलेगी। बैठक के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत की और सरकार पर वार किया। वह बोले- समर्थन मूल्य से एक हजार रुपये तक सस्ता धान खरीदा जाता है लेकिन इस मामले में दिल्ली और लखनऊ में बैठे लोग झूठ बोलते हैं। जो सरकार झूठ बोलती है अपनी जनता के साथ धोखा करती है उसे कोई बचा नहीं सकता। बैठक में अजीत सिंह, बलजिंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह औजला, स्वराज सिंह, रमेश मिश्रा, हरजीत सिंह, लल्लन शुक्ला, टिंकू शुक्ला, जसवीर सिंह, जसकरन सिंह आदि थे। टिकैत का खालसा निवास रुरिया, गोमती गुरुद्वारा सहित कई स्थानों पर किसानों ने स्वागत किया।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00