विज्ञापन

बलरामपुर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बलरामपुर में दिल दहला देने वाला मामला: परिजनों ने राप्ती नदी में फेंक दिया कोरोना पीड़ित का शव

बलरामपुर में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। कोरोना पीड़ित के शव को घर ले जा रहे परिजनों ने तुलसीपुर हाईवे पर स्थित राप्ती नदी के सिसई घाट से शनिवार की दोपहर बारिश के दौरान एक शव नदी में फेंक दिया। मामले का वीडियो वायरल हो जाने से प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

जिसके बाद एडीएम ए के शुक्ल ने मामले की जांच सीएमओ को सौंपी। सीएमओ डॉक्टर वी बी सिंह ने बताया कि जांच के बाद यह पता चला है कि शोहरतगढ़ जनपद सिद्धार्थ नगर निवासी प्रेम नाथ मिश्रा को गत 25 मई के दिन सांस लेने में दिक्कत हुई थी। उनके भतीजे संजय कुमार ने प्रेमनाथ को इलाज के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया था। इलाज के दौरान 28 मई को प्रेम नाथ की मौत हो गई। 29 मई की दोपहर प्रेमनाथ का शव भतीजे संजय कुमार ने कोरोना प्रोटोकॉल के तहत प्राप्त किया।



शव को घर ले जाते समय संजय कुमार तथा उसके साथी ने बारिश के बीच शव पुल से राप्ती नदी में फेंक दिया और फरार हो गए। शव को फेंकने के दौरान कार से गुजर रहे कुछ लोगों ने घटना का वीडियो बना लिया। वीडियो मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देने वाला है। 

देहात कोतवाली में संजय कुमार तथा उनके एक अज्ञात साथी के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज करा दिया गया है। देहात कोतवाल विद्यासागर वर्मा ने बताया कि आरोपियों की तलाश की जा रही है।

बता दें कि कोरोना काल के दौरान मई महीने में बड़ी संख्या में शव प्रदेश के कई जिलों में गंगा नदी में उतराते देखे गए थे जिसे लेकर प्रदेश सरकार निशाने पर आ गई थी। तब लोगों में आम धारणा यह थी कि कोरोना संक्रमण से बड़ी संख्या में हो रही मौतों से शवों का अंतिम संस्कार भी ठीक से नहीं हो पा रहा है। राप्ती नदी में शव फेंके जाने का यह वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
... और पढ़ें

बलरामपुर: पूर्व सांसद व हिस्ट्रीशीटर रिजवान जहीर के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई

पूर्व सांसद व हिस्ट्रीशीटर रिजवान जहीर के खिलाफ पुलिस ने एनएसए की कार्रवाई कर दी है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान के दौरान तुलसीपुर थाना क्षेत्र के बेलीकला गांव में रिजवान जहीर व कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थकों के बीच हिंसा हुई थी। हिंसा के दौरान कांग्रेस समर्थकों के दो वाहनों को जला दिया गया था और दो वाहन क्षतिग्रस्त कर दिए गए थे।

एसपी हेमंत कुटियाल ने शनिवार को बताया कि 26 अप्रैल को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान के दिन तुलसीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बेलीकला में रिजवान जहीर व यूथ कांग्रेस मध्य जोन के पूर्व अध्यक्ष दीपांकर सिंह के बीच हिंसा हुई थी।

घटना में दीपांकर सिंह के दो वाहनों को जला दिया गया था और दो वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। तुलसीपुर थाने में अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्त रिजवान जहीर समेत कुल 11 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था।

घटना में शामिल रिजवान जहीर की आगजनी व लोक व्यवस्था छिन्न-भिन्न करने में अग्रणी भूमिका रही है। इस प्रकरण में 27 अप्रैल को पुलिस ने रिजवान जहीर व अन्य को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में लिया और जिला कारागार में निरुद्ध करा दिया।

अभियुक्त रिजवान जहीर के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। रिजवान जहीर के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, बलवा, शस्त्र अधिनियम व एनएसए के तहत कुल 14 मामले पंजीकृत हैं।
... और पढ़ें

बलरामपुर: संदिग्ध परिस्थितियों में छत के कुंडे से लटका मिला आरक्षी का शव

बलरामपुर की गैसड़ी कोतवाली में तैनात आरक्षी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। आरक्षी की 22 मई को शादी होनी थी। एएसपी अरविंद मिश्र ने प्रभारी निरीक्षक गैसड़ी कोतवाली चंद्रमणि शुक्ल को मामले की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

एएसपी ने शनिवार को मामले का खुलासा करते हुए कहा कि गोरखपुर जिले के थाना खजनी ग्राम कूड़ाबुजुर्ग निवासी रविशंकर निषाद (22) गैसड़ी कोतवाली में आरक्षी के पद पर तैनात था। प्रभारी निरीक्षक चंद्रमणि शुक्ल के मुताबिक आरक्षी मुंशी के पद पर काम कर रहा था। आरक्षी की ड्यूटी रात में लगी थी।

रात करीब डेढ़ बजे वह अपने कमरे में पानी लेने गया और रात दो बजे तक वापस नहीं आया। आरक्षी की तलाश की गई। कमरे पर जाकर देखा तो दरवाजा बंद था। आवाज देने पर दरवाजा नहीं खोला गया तो उसे तोड़ दिया गया। आरक्षी का शव छत के कुंडे से लटकता हुआ पाया गया है। आरक्षी को तत्काल सीएचसी ले जाया गया।

जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मामले की छानबीन कराई जा रही है। आरक्षी रविशंकर निषाद की 22 मई को शादी होने वाली थी।
... और पढ़ें

बलरामपुर: पुलिस मुठभेड़ में दो गोवंश तस्कर गिरफ्तार, एक के पैर में लगी गोली

बलरामपुर पुलिस ने सोमवार देर रात गोकशी के आरोपियों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में भागते समय एक बदमाश के पैर में गोली लगी है।

आरोपियों के पास से पुलिस को कट्टा, कारतूस ,मांस और गौ हत्या में प्रयुक्त होने वाला सामान बरामद हुआ है। विदित हो कि ग्राम मचलपुर घाट में गोकशी की घटना हुई थी। जिसका मुकदमा स्थानीय थाने में दर्ज करवाया गया था।

आरोपी दीन मोहम्मद उर्फ पप्पू निवासी अमीन पुरवा, थाना सादुल्लाह नगर, साजिद अली उर्फ चिनकाऊ पुत्र जैनुउला निवासी अचलपुर घाट, सैदुल रहमान उर्फ फैज उर्फ फैजू निवासी गडरिया मजरा इटई रामपुर थाना उतरौला और सरातुल्लाह पुत्र चीनी निवासी अमीन पुरवा थाना सादुल्लाह नगर सोमवार शाम चेकिंग के दौरान पुलिस द्वारा गाड़ी रोकने पर भागने लगे।

पुलिस टीम द्वारा पीछा करने पर उनके द्वारा पुलिस टीम पर फायरिंग की गई जिसमें प्रभारी निरीक्षक सादुल्लाह नगर आर के सरोज के बुलेट प्रूफ जैकेट में गोली लगी। वह बाल-बाल बच गये।

पुलिस द्वारा आत्म रक्षार्थ की गई फायरिंग में दीन मोहम्मद और साजिद अली के पैर में गोली लगी जिसमें वह दोनों घायल हो गए जबकि अन्य दो भागने में सफल रहे। घायलों को इलाज के लिए सीएचसी सादुल्लाह नगर भेजा गया है बाकी की तलाश जारी है।

पुलिस को मौके से दो अदद तमंचा, एक मिस कारतूस, एक जिंदा कारतूस, 3 खोखा कारतूस और एक मोटरसाइकिल हीरो स्प्लेंडर बिना नंबर, एक बोरी में गौमांस और बांट माप तथा तराजू, 2 बांका और 2 छुरी बरामद हुई हैं।
... और पढ़ें
बलरामपुर में पुलिस एनकाउंटर। बलरामपुर में पुलिस एनकाउंटर।

बलरामपुर: हिस्सेदारी को लेकर हुए चले ईंट पत्थर, एक की मौत, मुकदमा दर्ज

बलरामपुर जिले के ललिया थाना क्षेत्र के अमवा गांव में हिस्सा बंटवारे को लेकर बड़े भाई ने छोटे भाई को मार डाला। पुलिस ने बेटे के तहरीर पर चार लोगों के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

ललिया थाना क्षेत्र के अमवा गांव में हिस्सा बंटवारे को लेकर विश्राम पाल व राम अभिलाष पाल में मंगलवार के शाम को झगड़ा हो गया जिसमें ईंट पत्थर बरसने चले। ईंट पत्थर लगने से छोटे भाई राम अभिलाष (55) की जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

निरीक्षक संतोष कुमार तिवारी ने बताया कि मृतक के बेटे बिक्रम पाल की तहरीर पर विश्राम पाल, पोता अमन पाल, पोती पुनीता पाल, बहु प्रेम कुमारी पाल के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा गया है।
... और पढ़ें

खुलासा: पूर्व सांसद ने विधानसभा चुनाव में टिकट मिलने में रोड़ा बनने पर करवाई थी नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष फिरोज की हत्या

तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष फिरोज अहमद की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस मामले में पूर्व सांसद रिजवान जहीर, उनकी बेटी जेबा व दामाद रमीज समेत छह लोगों को मामले में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने पूर्व सांसद, उनकी बेटी व दामाद को घटना का मुख्य साजिशकर्ता बताया है। पुलिस का दावा है कि पूर्व सांसद ने अपना राजनीतिक वर्चस्व कायम करने के लिए पूर्व अध्यक्ष की हत्या कराई है। अपर मुख्य सचिव गृह ने घटना की खुलासा करने वाली पुलिस टीम को एक लाख रुपये का नकद इनाम दिया है।

घटना का खुलासा करते हुए सोमवार को एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि गत चार जनवरी की रात 10.20 बजे तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष फिरोज अहमद उर्फ पप्पू की अज्ञात लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी। घटना के खुलासे के लिए एसटीएफ समेत पुलिस की टीमें लगाई गईं थीं। घटना में शामिल मेराजुलहक, महफूज तथा शकील को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो हत्या की साजिश का परत दर परत खुलासा होता गया। 

मेराजुलहक व महफूज ने पूछताछ में बताया कि फिरोज अहमद व पूर्व सांसद की बेटी जेबा रिजवान समाजवादी पार्टी से तुलसीपुर विधान सभा के लिए टिकट के दावेदार थे। जेबा के पति रमीज पूर्व अध्यक्ष की बढ़ती राजनीतिक लोकप्रियता को लेकर खुन्नस रखते थे। पूर्व अध्यक्ष पहले रिजवान जहीर के गुट में थे लेकिन बाद में उन्होंने क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना ली थी। 

बीते 10 सालों से वह तथा अब उनकी पत्नी कहकशां तुलसीपुर नगर पंचायत की अध्यक्ष हैं। फिरोज का राजनीतिक वर्चस्व तेजी से बढ़ रहा था। दोनों पक्ष टिकट पाने के लिए पुरजोर तरीके से पैरवी कर रहे थे। इसी बात को लेकर पूर्व सांसद और फिरोज के बीच राजनीतिक कटुता बढ़ती जा रही थी। रमीज तथा पूर्व सांसद के समर्थक मेराजुल हक ने कई बार फिरोज को चैलेंज किया था और सोशल मीडिया पर टिप्पणी भी की थी। घटना से पूर्व दोनों पक्ष टिकट के लिए लखनऊ भी गये थे। 

फिरोज को तुलसीपुर क्षेत्र में हिंदू-मुस्लिम दोनों का समर्थन प्राप्त था और वह टिकट पाने के लिए अलग-अलग माध्यम से कोशिश कर रहे थे। पूर्व सांसद, जेबा, रमीज व शकील ने फिरोज की हत्या की साजिश रची और इसके लिए इन लोगों ने नजदीकी मेराजुलहक व महफूज को लगाया। पिछले करीब एक महीने से यह लोग फिरोज की हत्या का प्रयास कर रहे थे। तीन बार इन लोगों ने फिरोज को मारने का प्रयास भी किया लेकिन सफल नहीं हो सके। 

चार जनवरी को जब फिरोज लखनऊ से वापस आए तो रमीज ने शकील के माध्यम से मेराजुलहक व महफूज को अपनी कोठी पर बुलाया तथा काम पूरा करने के लिए बोला। शाम को जब फिरोज अपने मित्र शाहिद के साथ घर से निकले थे तभी से मेराजुलहक व महफूज ने गली में घात लगाए थे और उनके वापस आने का इंतजार कर रहे थे। घटना स्थल के पास लगी स्ट्रीट लाइट महफूज ने बुझा दी थी। फिरोज के अकेले ही घर जाते समय इन दोनों ने लोहे की रॉड व चाकू से हमला कर हत्या कर दी। घटना के बाद मेराजुलहक ने रमीज को सूचना दी और रात में ही उनकी कोठी पर जाकर रुक गया। मेराजुलहक तथा महफूज जरवा रोड तुलसीपुर निवासी हैं। शकील जेठवारा जनपद प्रतापगढ़ का रहने वाला है। एसपी ने बताया कि सभी लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

सपा नेता की हत्या से आक्रोश: समर्थकों की धमकी 24 घंटे में हत्यारों की गिरफ्तारी न हुई तो उग्र प्रदर्शन करेंगे

तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष तथा सपा नेता फिरोज पप्पू की मंगलवार देर रात घर के पास ही अज्ञात बदमाशों ने धारदार हथियार से गला काट कर हत्या कर दी। वारदात के बाद हत्यारे मौके से फरार हो गए। वारदात के बाद सपा समर्थन आक्रोशित हैं। उन्होंने एलान किया है कि अगर 24 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

पुलिस फिरोज को सीएचसी तुलसीपुर ले आई जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। रात में ही समर्थकों की भारी भीड़ जुटता देख पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल ले आई। बुधवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद भारी सुरक्षा के बीच शव को तुलसीपुर ले जाया गया।

क्षेत्र में आक्रोश को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। विदित हो कि वर्तमान समय में फिरोज पप्पू की पत्नी कहकशां फिरोज नगर पंचायत तुलसीपुर अध्यक्ष हैं। करीब दो माह पूर्व फिरोज ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली थी।

इसके पहले उन्होंने पंचायत चुनाव में सक्रियता दिखाते हुए अपने करीबी मुशीर पप्पू की भाभी को जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जिताया था। फिरोज पप्पू हिंदू तथा मुस्लिम दोनों वर्गों में काफी लोकप्रिय थे। लोकसभा चुनाव 2014 में वह कांग्रेस पार्टी में भी रह चुके थे। उनकी हत्या से समर्थकों में भारी आक्रोश है।
... और पढ़ें

बलरामपुर: पुलिस मुठभेड़ में ग्राम प्रधान की हत्या में शामिल तीन आरोपी गिरफ्तार

फिरोज पप्पू के घर के बाहर लगी समर्थकों की भीड़।
महाराजगंज तराई बलरामपुर स्थानीय थाना क्षेत्र के रूप नगर गांव में गत 26 दिसंबर को दिनदहाड़े ग्राम प्रधान की गोली मारकर की गई हत्या के मामले में नामजद चार अभियुक्तों में से 3 को पुलिस ने मंगलवार रात मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया है। एक बदमाश को गोली लगी है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

प्रभारी निरीक्षक महाराजगंज तराई अशोक सिंह ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर मंगलवार रात करीब 11:00 बजे घटना में शामिल अभियुक्त शिवनारायण यादव उर्फ इस्वी यादव को खरझार पहाड़ी नाले के पास से गिरफ्तार किया गया है।

खुद के बचाव में बदमाश द्वारा की गई फायरिंग में पुलिस का कोई नुकसान नहीं हुआ है। जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से शिवनारायण घायल हो गया है। उसके दाहिने पैर के निचले हिस्से में गोली लगी है। शिवनारायण को इलाज के लिए संयुक्त जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

शिवनारायण की निशानदेही पर घटना में शामिल उसके भाई रामनारायण व श्याम नारायण को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

बलरामपुर: पुरानी रंजिश में ग्राम प्रधान की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, चचेरा भाई अस्पताल में भर्ती

महाराजगंज तराई थाना क्षेत्र के ग्राम रूपनगर के वर्तमान प्रधान राधेश्याम वर्मा उर्फ मिठाई लाल की बदमाशों ने पुरानी रंजिश के चलते दिनदहाड़े हत्या कर दी। घटना में मिठाई लाल का चचेरा भाई मनीष उर्फ कल्लू भी घायल हो गया।

घटना का कारण पुरानी चुनावी रंजिश बताई जा रही है। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार रूपनगर के वर्तमान प्रधान मिठाई लाल रविवार दोपहर में अपने गन्ने के खेत से वापस घर लौट रहे थे। इसी बीच बदमाशों ने उन पर पीछे से हमला कर मार डाला।

मिठाई लाल के पीछे उनका चचेरा भाई कल्लू बाइक से आ रहा था। घटना को देखकर वह भागने लगा और बाइक से गिरकर बेहोश हो गया। कुछ लोगों का कहना है कि मिठाई लाल की गोली मारकर हत्या की गई है वहीं कुछ लोग इसे नुकीले हथियार से मारने की बात कर रहे हैं। हालांकि अभी किसी ने ना तो थाने में कोई तहरीर दी है और ना ही यह बता पा रहे हैं कि हत्या किस हथियार से की गई है।

कल्लू को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके पर पहुंचे सीओ राधा रमन सिंह तथा प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।
... और पढ़ें

बलरामपुर: संदिग्ध हालात में तालाब में डूबने से मां-बेटी की मौत

बलरामपुर: महिला ग्राम प्रधान को सोते समय बदमाशों ने मारी गोली, हालत गंभीर

बलरामपुर जिले के नगर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पंचायत सीरिया की महिला ग्राम प्रधान फूल कुंवारी को शुक्रवार मध्य रात्रि सोते समय अज्ञात बदमाशों ने सिर में गोली मार दी। गंभीर हालत में उन्हें इलाज के लिए बहराइच रेफर किया गया है।

बताया जा रहा है कि यह घटना चुनावी रंजिश के कारण अंजाम दी गई। घटना के समय महिला ग्राम प्रधान अपने पति और बच्चे के साथ सो रही थी। इसी बीच बदमाश उन्हें गोली मारकर फरार हो गए। बदमाशों की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

परिजनों की तहरीर पर नगर कोतवाली की पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। नगर कोतवाल मानवेंद्र पाठक ने बताया कि संदेह के आधार पर दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। शीघ्र ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

बलरामपुर: घर में घुसे डकैतों ने किशोर को मारी गोली, तीन अन्य को भी पीटा

बलरामपुर के स्थानीय थाना क्षेत्र हरैया सतघरवा के धौरी खुर्द गांव में एक बंगाली परिवार के घर में डकैती की नीयत से घुसे बदमाशों ने विरोध करने पर किशोर को गोली मार दी। बदमाशों ने तीन अन्य लोगों को भी लाठी-डंडों से पीटकर घायल कर दिया। गोली से घायल किशोर को इलाज के लिए बहराइच रेफर कर दिया गया है।

पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरु कर दी है। धौरी खुर्द निवासी प्रवीर मंडल का बंगाली परिवार छोटे-मोटे रोजगार कर अपना भरण-पोषण करता है। प्रवीर मंडल ने बताया कि शुक्रवार रात उनका परिवार भोजन करने के बाद घर से बाहर सो गया।

घर का चैनल गेट खुला हुआ था। रात लगभग एक बजे तीन अज्ञात बदमाश लाठी-डंडे व असलहे से लैस होकर उनके घर में घुस गए। बदमाशों ने बिस्तर पर रखे दो मोबाइल उठाकर घर के पीछे सागौन के बाग में फेंक दिया। विरोध करने पर बदमाशों ने प्रवीर, बेटे प्रनव मंडल तथा भाई रंजीत मंडल पर हमलाकर दिया। शोर मचाने पर बदमाशों ने तमंचे से प्रनव (17) को गोली मार दी। गोली मारने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए।

गोली प्रनव के सीने में लगी है। प्रनव को सीएचसी शिवपुरा से इलाज के लिए बहराइच रेफर कर दिया गया है। प्रवीर व रंजीत का इलाज बहराइच में ही चल रहा है। प्रभारी निरीक्षक एसबी सिंह ने बताया कि प्रवीर की पत्नी ढुकू मंडल की तहरीर पर तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है। सीओ ललिया राधारमण सिंह ने बताया कि शीघ्र ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

यूपी : पॉवर कॉरपोरेशन के जेई व अन्य कर्मियों को एसडीएम ने कमरे में बंद कर पीटा, जेई ने दी तहरीर

तुलसीपुर (बलरामपुर) विद्युत उपखंड तुलसीपुर के जेई संतोष मौर्या ने स्थानीय एसडीएम पर स्वयं सहित अन्य कर्मियों को कमरे में बंद कर मारने-पीटने व अभद्रता करने का आरोप लगाया है। जेई ने विभागीय अधिकारियों के साथ तुलसीपुर थाने में एसडीएम व उनके साथियों के खिलाफ तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है।

थाने में दी गई तहरीर में विद्युत उपकेंद्र तुलसीपुर के जेई संतोष कुमार मौर्य ने कहा कि संविदा कर्मियों की हड़ताल के कारण मंगलवार शाम पुरानी बाजार फीडर में तकनीकी खराबी के कारण विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। मैंने परमानेंट लाइनमैंन राम आशीष को शट डाउन लेकर खराबी दूर करने का निर्देश दिया। इसी बीच सूचना मिली कि वैरागीपुरवा से थाना मोड़ के बीच तार टूट गया है। कर्मी तार की मरम्मत के लिए पहुंचे तो वहां कुछ लोगों ने विरोध किया। मैंने मामले की सूचना एसडीओ तुलसीपुर को दी। मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मी भी काम शुरु नहीं करा सके।

एसडीओ ने मौके पर मौजूद कर्मी संपत श्रीवास्तव को निर्देश दिया कि खराब लाइन खोलकर तहसील की लाइन बहाल कर दी जाए। इसी बीच करीब सवा आठ बजे मौके पर एसडीएम तुलसीपुर विनोद सिंह पहुंच गए और संपत श्रीवास्तव के साथ अभद्रता करते हुए विद्युत उपकेंद्र की ओर चले गए। मैं उपकेंद्र पर पहुंचा तो एसडीएम ने मुझे कमरे में बंद कर मारा पीटा और गाली गालौज करते हुए जान से मारने की धमकी देने लगे। उन्होंने विभाग की लॉगशीट पर गलत सूचना दर्ज कर उसे प्रमाणित करने का दबाव भी बनाने लगे। मैंने घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को देना चाही तो उन्होंने धमकी दिया कि उच्चाधिकारियों को बताओगे तो फर्जी मुकदमें में फंसाकर जेल भेज दूंगा। उन्होंने उपकेंद्र कर्मी को भी कंट्रोल रूम में बंद कर मारा पीटा और गलत सूचना जबरन लॉगशीट पर दर्ज कराया। घटना का पूरा फु टेज सीसीटीवी कैमरे में कैद है।

तहरीर देते समय मौके पर एसडीओ तुलसीपुर विमलेंद्र श्रीवास्तव सहित विभाग के तमाम अधिकारी व कर्मचारी भी मौजूद थे। जेई ने प्रभारी निरीक्षक से मामले में केस दर्ज कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।  इस संबंध में एसडीएम तुलसीपुर विनोद सिंह का कहना है कि तहसील की बिजली बाधित थी। लिखित सूचना तथा बार-बार फोन करने के बाद भी घंटो आपूर्ति बहाल नहीं हुई। इस बीच पता चला कि उपकेंद्र के जेई व एसडीएम शाम को बलरामपुर मुख्यालय चले जाते हैं। मैं उपकेन्द्र पहुंचकर इसी बीच का निरीक्षण कर रहा था। मारपीट का आरोप निराधार व झूठा है।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें
सबसे तेज और बेहतर अनुभव के लिए चुनें अमर उजाला एप
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00