मोबाइल की डिटेल आते ही बेनकाब होगे चेहरे

Meerut Bureau Updated Fri, 08 Dec 2017 12:54 AM IST
बागपत। बागपत जेल में मिले दो मोबाइलों की पुलिस डिटेल निकालने में लगी हुई है। जिनका अभी तक पता नहीं चला रहा है। उनके मिलने के बाद कई चेहरे बेनकाब होंगे। पुलिस गोपनीय रूप से जांच में लगी हुई है। एसपी ने मेरठ कमिश्नर को रिपोर्ट सौंप दी है।
बागपत जेल में मेरठ कमिश्नर डॉक्टर प्रभात कुमार के निर्देश पर पांच दिसंबर को छापामारी हुई थी। मेरठ एडीएम (प्रशासन) सत्यप्रकाश पटेल और एसपी बागपत जय प्रकाश ने चेकिंग की थी। हाई सिक्योरिटी बैरक के पास खेत से एक स्मार्ट फोन और एक बाथरूम से मोबाइल मिला था। इसके अलावा भी अन्य प्रतिबंधित सामान मिला था। जेल से मिले मोबाइल ही बंदियों की पोल खोलेंगे। इसके लिए पुलिस गोपनीय रूप से जांच पड़ताल में लगी हुई है। सर्विलांस का सहारा लिया जा रहा है। पुलिस सूत्रों की माने तो पुलिस अफसरों को कई महत्वपूर्ण जानकारी मिल गई है। स्मार्ट फोन हाई सिक्योरिटी बैरक में बंद बंदियों में से एक का ही है। हालांकि अफसर इस बारे में कोई जानकारी नहीं दे रहे हैं। यह तय है कि मोबाइल की कॉल डिटेल से पता चलेगा कि अपराधी किन-किन के संपर्क में थे। आशंका जताई रही कि अपराधी इसी मोबाइल के जरिए कई राज्यों में अपना नेटवर्क चला रहा था। उधर, एसपी जय प्रकाश का कहना है कि मोबाइल की डिटेल आने के बाद ही सहीं पता चलेगा। उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। जेल से मिले मोबाइल और अन्य प्रतिबंधित सामान के बारे में मेरठ कमिश्नर को रिपोर्ट दे दी गई है।

Spotlight

Most Read

Meerut

मेडिकल में भाजपाइयों का हंगामा

मेडिकल में भाजपाइयों का हंगामा

25 फरवरी 2018

Related Videos

बागपत में ग्रामीणों और ठेकेदार के बीच पत्थरबाजी और फायरिंग

बागपत में दो पक्षों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई और फायरिंग हुई। रेत खनन के लिए रास्ता बनाने का विरोध कर रहे ग्रामीणों पर ठेकेदार पक्ष के गुट ने फायरिंग कर दी। जिसमें काफी लोग घायल हो गए।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen