चौथे दिन भी लेखपाल और वकील आमने-सामने

औरैया Updated Thu, 05 Oct 2017 10:53 PM IST
On the fourth day the writman and lawyer face-to-face
धरने पर नारेबाजी करते लेखपाल - फोटो : अमर उजाला
लेखपालों व वकीलों की हड़ताल गुरुवार को भी जारी रही। वकीलों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। संघ ने लेखपालों के खिलाफ कार्रवाई व लेखपालों की ओर से किए गए मुकदमें को वापस लेने के की मांग की। इधर, लेखपाल भी आरोपी वकीलों ने खिलाफ कार्रवाई को लेकर तहसील सभागार में धरने पर बैठे रहे। वकीलों व लेखपालों की तनातनी में तहसील व रजिस्ट्रार कार्यालय का काम बंद पड़ा हुआ है।
तहसील के सभागार में वकीलों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा और आज सुबह से शहीद पार्क में गांधी की प्रतिमा के सामने उपवास करने की भी बात कही। संघ के अध्यक्ष देवेंद्र नाथ उपाध्याय ने कहा कि लेखपाल आम आदमी से काम करने के लिए वसूली करते हैं।  पंतजलि दुबे ने वकीलों के साथ अभद्र व्यवहार किया है और फर्जी मुकदमे दर्ज कराए हैं। जब तक इसे वापस नहीं लिया जाएगा, हम धरने पर बैठे रहेंगे। इस मौके पर राजवीर सिंह, महामंत्री शेखर मिश्रा मौजूद रहे । इधर लेखपाल संघ के अध्यक्ष दीपक कुमार ने कहा कि वकीलों का काम लोगों को न्याय दिलाना होता है। लेकिन आज खुद ही गलत राह पर हैं। वहीं पंतजलि दुबे ने कहा कि मेरी वकीलों से कोई लड़ाई नहीं है, लेकिन सुशील कुमार व उनके साथी लेखपाल को उसके दफ्तर में मारा गया। अगर आज इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई, तो आगे इस तरह की घटनाएं बढ़ जाएंगी। धरने मेें अमरेश गोपाल, जय प्रताप आदि लोग उपस्थित रहे।

Spotlight

Most Read

Pratapgarh

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

20 जनवरी 2018

Related Videos

ट्रक लूटकर भाग रहे थे बदमाश, पुलिस ने दबोचा

औरेया में पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने ट्रक लूट कर भाग रहे तीन शातिर बदमाशों को मुठभेड़ के बाद धर दबोचा। पुलिस ने बदमाशों के पास से तमंचा, कारतूस और चाकू बरामद की है।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper