20 रुपये का काम और मांग रहे थे 200, एक झटके में गया लाइसेंस

विज्ञापन
ब्यूरो/अमर उजाला आगरा Published by: Updated Tue, 18 Jul 2017 08:51 PM IST
bribe
bribe

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
आगरा में जनसेवा केंद्रों पर खुली लूट हो रही है। प्रमाण पत्र बनवाने के नाम पर लोगों से अवैध वसूली की जा रही है। ऐसे ही चार मामले जिलाधिकारी द्वारा गठित एसएनटीसी (से नो टू करप्शन) प्रकोष्ठ ने खोले हैं।
विज्ञापन


यहां जाति, आय, निवास प्रमाण पत्र बनवाने की निर्धारित फीस 20 रुपये के बदले प्रति प्रमाण पत्र 200 रुपये वसूले जा रहे थे। डीएम ने जिला सूचना विज्ञान अधिकारी को इन चारों जनसेवा केंद्रों के लाइसेंस निरस्त करने का आदेश दिया है।


एसएनटीसी की टीम ने चार जुलाई को चार ऐसे लोगों से औचक फोन पर बात की, जिन्होंने अलग-अलग सेवा केंद्रों पर विभिन्न प्रमाण पत्र बनवाए थे। इसमें पता चला कि इन चारों से ही केंद्रों पर निर्धारित फीस से अधिक की वसूली की गई। इन मामलों की बाद में और पड़ताल की गई। इसमें सभी मामले सही पाए गए। 

मंगलवार को डीएम ने इन मामलों को गंभीरता से लेते हुए उक्त कृत्य को भ्रष्टाचार की श्रेणी में मानकर जिला सूचना विज्ञान अधिकारी को इन चारों केंद्रों के लाइसेंस तत्काल निरस्त करने का आदेश दिया है। डीएम ने सात दिन में इन पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट भी मांगी है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

ये थे मामले

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X