हिमाचल के सेब बागवानों को इस साल लगी 1000 करोड़ की चपत

ब्यूरो/अमर उजाला, शिमला Updated Wed, 15 Nov 2017 11:43 AM IST
1000 crore rupee loss to apple growers in himachal
हिमाचल के सेब बागवानों को इस साल करीब 1000 करोड़ रुपये की मोटी चपत लगी है। मौसम की बेरुखी के चलते इस सीजन में सेब उत्पादन में एक करोड़ पेटी की गिरावट दर्ज की गई है। सूबे में औसतन तीन करोड़ पेटियों का कारोबार होता है, लेकिन इस बार सेब की महज दो करोड़ पेटियों (कार्टन) की ही पैदावार हो पाई है।
किन्नौरी सेब की आखिरी खेप के मंडियों में बिकते ही प्रदेश में सेब सीजन खत्म हो गया है। बागवानी निदेशालय से मिले आंकड़ों के मुताबिक  राज्य में सेब के बगीचों में लगभग दो करोड़ पेटियों का ही उत्पादन हो पाया है। इनमें भी देश भर की मंडियों में महज एक करोड़ 81 लाख 32 हजार 639 सेब की पेटियां ही उतर पाई हैं।

18 लाख पेटियां घरेलू उपभोग में इस्तेमाल की गई हैं। वर्ष 2016 में दो करोड़ 10 लाख 999 सेब की पेटियां मंडियों में भेजी गईं। वर्ष 2015 में तीन करोड़ 49 लाख 70 हजार 662 पेटियों और 2014 में दो करोड़ 81 लाख 33 हजार 953 कार्टन का उत्पादन हुआ।

एक अनुमान के मुताबिक प्रदेश में सेब का करीब 3500 से 4000 करोड़ रुपये का सालाना कारोबार होता है। इस बार यह लगभग 3000 करोड़ रुपये के आसपास ही सिमट गया है।
आगे पढ़ें

खराब मौसम से कम हुई सेब पैदावार

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Roorkee

विवाह बंधन में बंधा पूर्व सांसद फूलनदेवी का हत्यारा

विवाह बंधन में बंधा पूर्व सांसद फूलनदेवी का हत्यारा

21 फरवरी 2018

Related Videos

अब कुत्ते के काटने पर नहीं लगेंगे महंगे इंजेक्शन, हिमाचल के डॉक्टर ने की ये बड़ी खोज

हिमाचल प्रदेश के डॉ उमेश भारती ने एक नई खोज की है। जिसके बाद कुत्ते और बंदर के काटने पर मरीजों का इलाज और भी सस्ता हो जाएगा।

8 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen