लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   Doctors got beaten after the death of patients in Amethi.

अमेठी: मरीज की मौत पर परिजनों ने जिला अस्पताल में किया बवाल, डॉक्टरों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, अमेठी Published by: ishwar ashish Updated Sun, 16 May 2021 11:29 PM IST
सार

अमेठी के जिला अस्पताल में मरीज की मौत से भड़के परिजनों ने डॉक्टरों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और जमकर तोड़फोड़ की।

बवाल के बाद का एक दृश्य।
बवाल के बाद का एक दृश्य। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

संयुक्त जिला अस्पताल की इमरजेंसी में शनिवार देर रात एक महिला की मौत होने से नाराज तीमारदारों ने जमकर तांडव मचाया। परिवारीजनों व उनके साथ आए लोगों ने ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। अस्पताल में तोड़फोड़ भी की। सूचना पर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे एसडीएम व सीओ ने स्थिति संभाली।



मुंशीगंज क्षेत्र के गरथोलिया गांव निवासी मंजीत कुमार की मां सोना देवी (55) को शनिवार देर रात सीने में दर्द होने लगा। परिवारीजन कुछ ग्रामीणों के साथ उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गए। परिवारीजनों का आरोप है कि देर तक ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक आए ही नहीं। समय से इलाज न मिलने के चलते सोना देवी की मौत हो गई। वहीं ड्यूटी पर मौजूद फार्मासिस्ट मनीष शर्मा का कहना है कि जब सोना देवी को इमरजेंसी में लाया गया तब वह उनकी मौत हो चुकी थी। उनकी ओर से इसकी सूचना डॉ. हनुमान प्रसाद को दी गई तो वह भी आए। डॉक्टर ने देखने के बाद सोना देवी को मृत घोषित कर दिया।

 
इसके बाद मौजूद परिजन व उनके साथ आए लोगों ने डॉक्टर व फार्मासिस्ट की पिटाई कर दी। दोनों बचने के लिए भागे तो दौड़ाकर पीटा। आरोप है कि मृतका के परिवारीजनों ने अस्पताल में तोड़-फोड़ भी की। सूचना पर पहुंचे एसडीएम संजीव कुमार मौर्य, सीओ गुरुमीत सिंह तथा कोतवाल संजय सिंह ने स्थिति को संभाला। परिवारीजनों को समझाकर शव उनके घर भेजा गया। उधर जिला अस्पताल के चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों ने बिना सुरक्षा के कार्य न करने की चेतावनी दे दी। मौके पर पहुंचे सीएमओ डॉ. आशुतोष दुबे तथा एसडीएम ने डॉक्टरों को समझाकर अस्पताल परिसर में पर्याप्त फोर्स की तैनाती का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया।

अधीक्षक ने सीएमओ को भेजी तहरीर
गौरीगंज सीएचसी अधीक्षक डॉ. पीके उपाध्याय ने अस्पताल की इमरजेंसी में शनिवार रात हुई मारपीट व तोड़फोड़ के मामले में महिला के पुत्र, परिवारीजनों व साथ आए अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है। तहरीर में चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों को मारने पीटने, अस्पताल में तोड़फोड़ करने आदि का आरोप लगाया गया है। अधीक्षक ने बताया कि तहरीर सीएमओ कार्यालय भेज दी गई है जहां से थाने भेजकर केस दर्ज कराया जाएगा। 

अस्पताल में तैनात रहेगी पर्याप्त फोर्स : एसपी
एसपी दिनेश सिंह ने कहा कि जिला अस्पताल गौरीगंज तथा रेफरल अस्पताल रास्तामऊ तिलोई में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती की जाएगी। एएसपी विनोद पांडेय को दोनों अस्पताल में पुलिस फोर्स तैनात करने के लिए कार्ययोजना तैयार कर उपलब्ध कराने को कहा गया है। पुलिस फोर्स रात दिन वहां मौजूद रहेगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00