विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों को निशाना बना रहे ठग, पुलिस ने किया सचेत, इन बातों का रखें ध्यान

बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग साइटों पर खरीदारी करने वाले लोगों को ठग अपना निशाना बना रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन के बाद हिमाचल साइबर क्राइम विंग ने इस संबंध में लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है।

साइबर क्राइम विंग के अनुसार शॉपिंग करते समय इस बात का ध्यान रखें कि साइट पर या तो कैश ऑन डिलीवरी का ऑप्शन आएगा या फिर ऑनलाइन ही पैसा जमा करना होगा।

इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति फोन कॉल, एसएमएस या ईमेल के जरिये संपर्क कर सामान मंगवाने की जानकारी देकर ग्राहक से बैंक अकाउंट, मोबाइल नंबर जैसी जानकारी मांगे तो उससे साझा न करें।

सीआईडी के अधिकारियों का कहना है कि संभव है कि ऑनलाइन शॉपिंग साइटों से ग्राहक का डाटा लीक हो रहा है और उसी लीक डाटा की मदद से ठग उपभोक्ता को निशाना बना रहे हैं। 
... और पढ़ें

शातिर ने पहले खाते में डाले 13 हजार, फिर एक लाख रुपये निकाले, ऐसे लगाई चपत

साइबर ठगी के मामले बढ़ जाने से लोगों में अपने बैंक खातों में जमा पूंजी की सुरक्षा का भी डर सताने लगा है। हिमाचल के ऊना जिले में एक स्कूल की अध्यापिका को भी 50 हजार की चपत लगी है।

वहीं, गगरेट के एक निजी उद्योग में कार्यरत विवेक गोयल भी साइबर ठगी का शिकार हो गया है। जिसके सेलरी खाते से लगभग एक लाख पांच हजार रुपये शातिर बड़ी ही चालाकी से निकाल ले गए। पीड़ित ने बताया कि पहले उसके बैंक खाते में शातिरों ने 13 हजार रुपये डाले।

इसके बाद उसके मोबाइल पर खाते में पैसे जमा होने का एसएमएस आया। अभी वह इस असमंजस में ही था कि खाते में पैसे कैसे आए। अगले दिन ही खाते से पैसे निकलने का मैसेज आया। फिर उसके बाद खाते से पैसे निकलने का दौर शुरू हो गया।

पीड़ित का एटीएम उसके पास था फिर भी उसके एटीएम से पैसे निकलने के मैसेज आ रहे थे। कुछ ट्रांसफर के मैसेज भी आए। इस पर विवेक ने तुरंत बैंक का रुख किया और जांच में पाया गया कि पैसे दिल्ली में निकले गए हैं।

विवेक तब तक लगभग एक लाख पांच हजार की ठगी का शिकार हो चुका था। इस मामले में ठगी के शिकार विवेक गोयल ने गगरेट थाना में रपट दर्ज करवाई है।  एएसपी विनोद धीमान ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि इसकी जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

पुलिस भर्ती फर्जीवाड़ा: कई 'नालायकों' को इंजीनियर बना चुके हैं 'सॉल्वर', जांच में हुआ बड़ा खुलासा

पुलिस कांस्टेबल भर्ती लिखित परीक्षा फर्जीवाड़े में बड़ा खुलासा हुआ है। भर्ती की लिखित परीक्षा में पकड़े गए सॉल्वर कई नालायक युवाओं को इंजीनियर बनाने में सहायता कर चुके हैं, जबकि कइयों की जमा दो भी पास करवाई है। 

गिरफ्तार सॉल्वरों ने दूसरे प्रदेश में स्कूलों और जेईईई की परीक्षा देने की बात कबूली है। सॉल्वर बीटेक इंजीनियरिंग करने वाले नालायक प्रशिक्षुओं के पेपर दे चुके हैं। इसके अलावा कइयों की स्कूलों की परीक्षाएं देकर जमा दो पास करवा चुके हैं। अब एसआईटी ने सॉल्वरों की कबूली बात पर छानबीन शुरू कर दी है।

फर्जीवाड़े मामले में कांगड़ा पुलिस ने अभी तक 10 सॉल्वर पकड़े हैं, जिसमें सबसे ज्यादा सात हरियाणा, दो उत्तर प्रदेश और एक राजस्थान का आरोपी शामिल है, जो पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा दूसरे के स्थान पर देने के आरोप में गिरफ्तार हुए हैं।

यह भी पढ़ें: 
वायु सेना के जवान ने सर्विस राइफल से खुद को मारी गोली, मौके पर मौत
... और पढ़ें

चेकिंग को रोका तो बाइक सवार पुलिस कर्मी को दूर तक घसीटता ले गया

पांवटा साहिब के बातापुल में जांच के दौरान एक बाइक सवार चालक द्वारा पुलिस कर्मी को साथ घसीटने का मामला सामने आया है। इस घटना में मुख्य आरक्षी कुलदीप कुमार घायल हो गए। पांवटा पुलिस टीम ने आरोपी बाइक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि सरकार द्वारा पारित कर्फ्यू के आदेशों की अनुपालना को मुख्य आरक्षी बातापुल चौक पांवटा साहिब में अपनी ड्यूटी पर तैनात था।

इन बीच एक बाइक बाता मंडी की तरफ से चौक की तरफ पहुंची। नाके में जांच को रोककर सड़क पर घूमने का कारण पूछा गया। बाइक के चालक ने कहा कि गेहूं की फसल काट कर अपने घर जा रहा है। इस बीच पुलिस जवान को युवक की जेब में कुछ संदिग्ध सामान दिखाई दिया। जेब में रखे सामान के बारे में पुलिस जवान ने पूछा, जिसके बाद बाइक चालक मौके से भागने का प्रयास करने लगा। नाके पर तैनात मुख्य आरक्षी कुलदीप कुमार ने दौड़ने का प्रयास करने वाले बाइक सवार को रोकने का प्रयास किया तो, जवान घसीटते हुए सड़क पर गिरा।

मुख्य आरक्षी कुलदीप कुमार को चोटें भी आई हैं। पुलिस के अनुसार बाइक  चालक का नाम अर्जुन सिंह निवासी बातापुल तहसील पांवटा साहिब बताया जा रहा है। डीएसपी पांवटा सोमदत्त ने इसकी पुष्टि की है। आरोपी बाइक सवार अर्जुन सिंह के खिलाफ लॉकडाउन के दौरान सरकार के आदेशों की अवहेलना करने पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस थाना पांवटा साहिब टीम मामला दर्ज कर तलाश में जुटी है।
... और पढ़ें
फाइल फोटो फाइल फोटो

एएसआई ने रेहड़ी संचालक को जड़ा थप्पड़, पांवटा बाजार में हंगामा

पांवटा साहिब में कर्फ्यू और लॉकडाउन के बीच मिलने वाली छूट के दौरान बाजार में रेहड़ी लगा रहे व्यक्ति को एएसआई ने थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद पांवटा बाजार में खूब हंगामा हुआ। व्यापार मंडल ने इस पर संज्ञान लेते हुए एएसआई के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। हंगामे के बीच कारोबारियों ने जरूरी वस्तुओं की दुकानें भी बंद करनी शुरू कर दीं। स्थानीय विधायक और डीएसपी ने मौके पर पहुंचकर कारोबारियों को शांत करवाया और निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया। इसके बाद ही कारोबारियों ने दुकानें खोलीं। 

जानकारी के अनुसार पांवटा साहिब मुख्य बाजार में रेहड़ी संचालक विजय कुमार (58) फलों की रेहड़ी लेकर शनिवार को पहुंचा। बाजार में जरूरी सामान की दुकानों के खुलने का समय सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक है। बताया जा रहा है कि वक्त से पहले ही गीता भवन मुख्य बाजार में पहुंचने पर रेहड़ी संचालक को एक एएसआई ने उसे थप्पड़ जड़ दिए। रेहड़ी संचालक की पिटाई से पांवटा बाजार में तनाव हो गया। इसकी सूचना लिखित में जिला सिरमौर अधीक्षक नाहन को भी भेज दी गई है।

नाराज व्यापारी डीएसपी कार्यालय के बाहर एकत्रित हो गए। व्यापारियों ने एएसआई के खिलाफ कार्रवाई की मांग रखी है। व्यापार मंडल अध्यक्ष अनिंद्र सिंह नौटी ने कहा कि मारपीट करने वाले एएसआई को लाइन हाजिर किया जाए या फिर सस्पेंड किया जाए। वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए पांवटा विस क्षेत्र के विधायक सुखराम चौधरी भी मौके पर पहुंच गए।

व्यापारियों और एएसआई के बीच पनपे माहौल को शांत करने का प्रयास किया। उधर, डीएसपी पांवटा सोमदत्त ने कहा कि पावंटा व्यापार मंडल का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को मिला है। डीएसपी ने कहा कि शिकायत की निष्पक्ष जांच होगी। इस बारे में उच्चाधिकारियों को भी सूचित कर दिया गया है।
... और पढ़ें

कर्फ्यू के दौरान वारदात, हुड़दंगियों ने पुलिस पर ही कर दिया हमला

कर्फ्यू के बाद शिलाई क्षेत्र में नशे में धुत लोगों ने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया। हमले में दो पुलिस कर्मियों को चोटें आई हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। शिलाई विधानसभा क्षेत्र की हालाहां पंचायत में नैनीधार-गत्ताधार सड़क पर धुमखर के पास मारपीट की यह घटना हुई। इसमें रोनहाट चौकी प्रभारी दलीप सिंह राठौर और कांस्टेबल वीरेंद्र चौहान लहूलुहान हो गए।

बताया जा रहा है कि हलाहां के धुमखर गांव से कुछ दूर सड़क पर प्रशासन और इन हुड़दंगियों की गाड़ी का आमना-सामना हुआ। पुलिस कर्मियों ने युवकों को घर जाने के लिए कहा और कर्फ्यू के चलते सरकार के आगामी आदेशों तक अपने घरों में रहने का आग्रह किया। इतना सुनते ही शराब के नशे में धुत हुड़दंगियों ने गाड़ी से उतरकर पुलिस कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया और हमला कर दिया। 

कोरोना संक्रमित देशों से भारत लौटने वाले लोगों के स्वास्थ्य जांच के लिए प्रशासन ने कुछ टीमें बनाई हैं। इनमें डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, राजस्व और पुलिस कर्मी संयुक्त रूप से शामिल किए गए हैं। यह टीम कोरोना संदिग्ध लोगों की सूचना मिलने पर उनके घरों में उनका हेल्थ चेकअप कर रही हैं। क्षेत्र से लोगों को जागरूक करने के बाद टीम अपने गंतव्य की ओर लौट रही थी।

इसी बीच, हुड़दंगियों का पुलिस से सामना हो गया। नशे में धुत लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। इसमें एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। दो लोग फरार हो गए हैं। डीएसपी सोमदत्त ने बताया कि पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। एक आरोपी को हिरासत में लिया है। हुड़दंगियों की गाड़ी भी जब्त की गई है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।
... और पढ़ें

सात साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म, दो गिरफ्तार

निर्भया रेप कांड के दरिंदों को फांसी पर लटकाए जाने के बाद जहां पूरा देश जश्न में डूबा है, वहीं सिरमौर में सात साल की एक बच्ची के साथ दो लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। वारदात के बाद बच्ची दहशत में है। बच्ची का मेडिकल कॉलेज नाहन में मेडिकल करवाया गया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार दुष्कर्म को अंजाम देने वाले दोनों आरोपी सगे भाई बताए जा रहे हैं। महिला पुलिस थाना नाहन में मामला दर्ज होने के बाद ही पुलिस ने आरोपी प्रियांशु व हिमांशु को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार पीड़ित बच्ची के माता-पिता आरोपियों के घर पर ही किराये के मकान में रहते हैं। बीते दिन आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया। 

बताया जा रहा है कि दोनों आरोपियों ने नशे की हालत में बच्ची से घिनौनी हरकत की। दुष्कर्म के बाद सहमी बच्ची के माता-पिता ने रात के समय महिला पुलिस थाना में मामला दर्ज करवाया। इसके तुरंत बाद ही पुलिस ने आरोपियों को धर दबोचा।

मामले की पुष्टि करते हुए पुलिस अक्षीधक अजय कृष्ण शर्मा ने बताया कि महिला पुलिस थाना में रात को मामला दर्ज हुआ है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि बच्ची की हालत ठीक है। पुलिस ने पॉक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। 
... और पढ़ें

30 हजार रुपये की रिश्वत लेते महिला पुलिस कर्मी रंगे हाथ गिरफ्तार

सांकेतिक तस्वीर
रिश्वतखोर मुलाजिमों के खिलाफ स्टेट विजिलेंस एवं एंटी क्रप्शन ब्यूरो की मुहिम हिमाचल के  सिरमौर में रंग ला रही है। जिले की धार्मिक नगरी पांवटा साहिब में टीसीपी अधिकारी को दबोचने के बाद अब ब्यूरो ने नाहन में कामयाबी हासिल की है। इस बार पुलिस महकमे में तैनात एक महिला पुलिस कर्मी को 30 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है।

विजिलेंस की टीम ने वीरवार दोपहर बाद मेडिकल कालेज नाहन के समीप ही इस कार्रवाई को अंजाम दिया। रिश्वत लेते गिरफ्तार महिला एचएचसी (मानक मुख्य आरक्षी) के पद पर पुलिस लाइन नाहन के वायरलेस विंग में तैनात है। गुरुवार को विजिलेंस ने दबिश देकर महिला कर्मी को रिश्वत लेते दबोच लिया। इस मामले के सामने आने के बाद खाकी को भी शर्मसार होना पड़ा है।

महिला पुलिस कर्मी को रिश्वत लेते दबोचने का इस साल का प्रदेश में यह पहला मामला है। जानकारी के अनुसार एचएचसी सत्या देवी ने शिकायतकर्ता से बेटे को पुलिस महकमे में विशेष पुलिस अधिकारी का पद दिलाने के लिए 30 हजार रुपये की मांग की थी। इसकी जानकारी शिकायतकर्ता ने विजिलेंस को दी। लिहाजा, विजिलेंस ने गोपनीय रणनीति से आरोपी को दबोचने के लिए जाल बिछाया।

इसके तहत शिकायतकर्ता मेडिकल कालेज नाहन के समीप महिला कर्मी को रिश्वत देने पहुंची। जैसे ही शिकायतकर्ता ने रिश्वत की राशि आरोपी महिला कर्मी को दी, विजिलेंस टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी महिला का दिवंगत पति भी पुलिस महकमे में तैनात था। 
... और पढ़ें

विजिलेंस ने एक लाख रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा प्लानिंग ऑफिसर

विजिलेंस की सिरमौर टीम ने शुक्रवार को सुनियोजित प्लानिंग के तहत नगर नियोजन विभाग (टीसीपी) के प्लानिंग अफसर को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। आरोपी ने स्थानीय प्रापर्टी डीलर से भूखंड की प्लाटिंग करवाने के एवज में एक लाख रुपये रिश्वत मांगी थी।जानकारी के अनुसार टीसीपी के प्लानिंग अफसर अक्षित मेहता निवासी कुमारसैन ने भूखंड की प्लाटिंग के लिए शिकायतकर्ता प्रापर्टी डीलर पांवटा निवासी हरदेव सिंह से एक लाख रुपये की मांग की। प्रापर्टी डीलर ने इसकी शिकायत विजिलेंस को कर दी। इसके बाद विजिलेंस की टीम ने शुक्रवार को आरोपी रिश्वतखोर अफसर को रंगे हाथ दबोचने के लिए जाल बिछाया।

टीम ने  आरोपी को एक लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। देर शाम खबर लिखे जाने तक देहरादून-पांवटा के एनएच-7 के साथ सीमा बैरियर पर टीसीपी अधिकारी कार्यालय परिसर में कार्रवाई जारी थी। बताया जा रहा है कि जिला सिरमौर विजिलेंस की टीम शनिवार को आरोपी को अदालत में पेश करेगी। डीएसपी विजिलेंस तरणजीत सिंह ने मामले की पुष्टि की है। डीएसपी ने कहा कि इस बारे में अधिक जानकारी उच्चाधिकारी दे सकते हैं, जबकि इस मामले में आईजी विजिलेंस जेपी सिंह से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई। 
... और पढ़ें

नौ लाख रुपये के साथ बाबा और पांच सेवक हिरासत में

सिरमौर पुलिस ने राजगढ़ थाना के अंतर्गत यशवंत नगर में नाके के दौरान एक बाबा और पांच सेवकों से लगभग नौ लाख रुपये की नकदी बरामद की है। गुजरात राज्य के शुरदरू निवासी बाबा शंकर भारती अपने अन्य साथियों के साथ यह रकम लेकर कहां जा रहे थे, इसका पता नहीं चल पाया है। न ही वे पुलिस को नकदी से संबंधित कोई दस्तावेज प्रस्तुत कर पाए हैं। पुलिस ने राशि कब्जे में लेकर आयकर विभाग को सूचित कर दिया है।

अब यह मामला आयकर विभाग के सुपुर्द किया जाएगा। राजगढ़ पुलिस टीम ने गिरिपुल के पास नाका लगाया हुआ था। इस दौरान गुजरात नंबर की एक कार (जीजे 12 डीएस 2314) सोलन के चायल की ओर से आ रही थी। कार में छह लोग सवार थे। पुलिस ने कार को रोका और तलाशी ली तो 8,99,991 रुपये मिले। पूछताछ के बाद पुलिस ने पाया कि कैश को भारती संन्यास आश्रम ले जाया जा रहा था।

पुलिस ने कार में सवार शंकर भारती नाम के बाबा और उसके अन्य पांच सेवकों को हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। एसपी अजय कृष्ण शर्मा ने कहा कि बाबा नकदी के कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा पाए हैं। लिहाजा, आयकर विभाग को इस बारे सूचित कर दिया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

नाहन के जोगीवन में युवक का गला रेता, अधमरा छोड़ भाग गए हमलावर

जिले की बोहलियो पंचायत के जोगीवन गांव में तेजधार हथियार से युवक का गला रेतकर हमलावर उसे अधमरा छोड़कर मौके से फरार हो गए। हमलावरों ने युवक के सिर पर भी कई वार किए हैं। वारदात सोमवार सुबह पांच बजे की बताई जा रही है। युवक की हालत गंभीर बनी हुई है। नाहन मेडिकल कॉलेज में प्राथमिक उपचार के बाद उसे पीजीआई रेफर कर दिया गया है।

नाहन पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। अभी तक हमला करने वालों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने पीड़ित के परिजनों के बयान भी दर्ज किए हैं। जानकारी के अनुसार बोहलियां पंचायत के जोगीवन के पास पुल के नीचे कमलेंद्र कुमार नामक युवक घायल अवस्था में पाया गया। सुबह करीब आठ बजे उसे लोगों ने देखा। 108 एंबुलेंस और पुलिस को सूचना दी गई।

उसे मेडिकल कॉलेज नाहन लाया गया, लेकिन हालत गंभीर होने पर उसे पीजीआई रेफर कर दिया गया। पुलिस के अनुसार युवक अपने घर में सोया था, लेकिन सुबह वह पुल के नीचे घायलावस्था में मिला। वह स्वयं ही कहीं गया था या फिर हमलावर उसे घर से उठाकर ले गए। इसका पता नहीं चला है। हमलावरों के बारे में भी अभी पता नहीं चला है। पुलिस ने घायल युवक के परिजनों के बयान लिए हैं।

परिजनों के मुताबिक युवक वह घर पर ही था। रात को वह कैसे घर से निकला, इसकी उन्हें भी जानकारी नहीं है। घायल युवक बयान देने की स्थिति में नहीं है। पुलिस ने भादंसं की धारा 341 और 323 के तहत मामला दर्ज किया है। पीड़ित का बयान लेने के बाद इसमें हत्या का प्रयास करने की धारा भी जोड़ी जा सकती है। डीएसपी हेडक्वार्टर पदम देव ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। घायल अभी बयान देने की स्थिति में नहीं है। चिकित्सकों के अनुसार उसकी हालत खतरे से बाहर है।
... और पढ़ें

बहस के बाद पार्षद पर चाकू से हमला, जानिए पूरा मामला

हिमाचल के पांवटा साहिब के केदारपुर में सहारनपुर के पार्षद पर चाकू से हमला कर घायल करने का मामला सामने आया है। मामूली हादसे में जमकर बहस के बाद चाकूबाजी तक बात पहुंच गई। घायल को उपचार के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। पुलिस टीम सूचना मिलने पर जांच में जुट गई है।
विवेक सैनी ने बताया कि नाहन कि तरफ  से यूपी सहारनपुर के पार्षद सिद्धार्थ सैनी पांवटा साहिब को आ रहे थे।

केदारपुर के पास उनके वाहन की दूसरी कार से मामूली टक्कर हो गई। कार से उतरकर कुछ लोगों ने बहस शुरू कर दी। जो मारपीट में बदल गई। एक व्यक्ति ने सिद्धार्थ को चाकू मारकर घायल कर दिया। विवेक सैनी ने बताया कि उनके साथ कार में बैठी  महिलाओं के साथ भी अभद्र व्यवहार व मारपीट की गई है। आरोप है कि सिद्धार्थ सैनी जो कि घायल हुए हैं उनके गले से सोने की चेन भी खींच ली गई है।

अस्पताल में सिद्धार्थ का इलाज किया जा रहा है। महिलाओं का भी मेडिकल करवाया जा रहा है। सूचना मिलने पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। पांवटा सिविल अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर केएल भगत ने बताया कि घायल का उपचार किया जा रहा है। इस बारे में स्थानीय पुलिस को भी सूचना दे दी गई है। उधर, डीएसपी पांवटा साहिब सोमदत्त ने बताया कि सूचना मिलने पर जांच टीम अस्पताल भेज दी गई है। 
... और पढ़ें

इस कंपनी में सैकड़ों खाताधारकों के फंसे करोड़ों, पुलिस में शिकायत

सहारा इंडिया कंपनी में सैकड़ों खाताधारकों के करोड़ों रुपये फंस गए हैं। हैरानी की बात है कि मैच्योरिटी के बाद भी उपभोक्ताओं को उनकी देय राशि का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इसको लेकर सहारा के कुछ एजेंटों समेत अन्य खाताधारकों ने इसकी शिकायत पुलिस थाना नाहन में की है। इस मामले में कंपनी के कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और धोखाधड़ी का केस दर्ज करने की मांग की है।

आरोप है कि सहारा इंडिया कंपनी की नाहन शाखा में पिछले कई सालों से खाताधारकों को उनकी जमा राशि नहीं लौटाई जा रही है, जबकि मैच्योरिटी के कई साल बीत चुके हैं। कंपनी की विभिन्न स्कीमों के तहत एफडी, आरडी के साथ एमआईएस के माध्यम से खाताधारकों से पैसा एकत्रित किया गया है। यह राशि करोड़ों में है। कई उपभोक्ता ऐसे हैं, जिनका 10 से 50 लाख तक जमा है।

खाताधारक जितेंद्र सिंह, विक्रम, बीर सिंह, अमर सिंह, कौशल्या देवी, ब्रह्मानंद, ममता, विक्रांत, सुखदेव, बबिता शर्मा आदि ने बताया कि कंपनी ने कम अवधि में अधिकतम ब्याज, रकम दोगुनी करने जैसे कई आश्वासन देकर उपभोक्ताओं को गुमराह किया गया। खाताधारकों ने बताया कि कई खातों की मैच्योरिटी को पांच साल से ऊपर का समय बीत गया है, लेकिन कंपनी में तैनात कर्मचारी नया से नया बहाना बनाकर टालते आ रहे हैं।

अब तक शाखा कार्यालय के सैकड़ों चक्कर काटे जा चुके हैं, मगर शाखा के अधिकारी पैसा लौटाने में आनाकानी कर रहे हैं। खाताधारकों ने आरोप लगाया कि कंपनी में तैनात कर्मी अपने चहेतों के पैसे लौटा रहे हैं। उन्होंने पुलिस से मांग की कि शाखा कार्यालय का पिछले पांच साल का रिकार्ड देखा जाए कि कितने खाताधारकों का भुगतान हुआ है और कितने लोगों के पैसे नहीं दिए जा रहे हैं।

खाताधारकों ने पुलिस से मांग की कि कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया जाए। उधर, सदर थाना नाहन के एसएचओ मानवेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि खाताधारक उनसे मिले हैं। गुन्नूघाट पुलिस को मामले की छानबीन करने के निर्देश दिए गए हैं। इस मामले में आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन