विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

प्रेमी जोड़े को जूतों की माला पहना गांव से निकाला, गुप्तांग में सरिया डालने समेत लगे ये आरोप

करनाल थाना सदर क्षेत्र में एक प्रेमी जोड़े की पिटाई करने के बाद मुंह काला करने और जूतों की माला पहनाकर गांव में घुमाने का मामला प्रकाश में आया है।

22 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

रोहतक

गुरूवार, 22 अगस्त 2019

यमुना के बांध से पानी उतरकर 1000 एकड़ फसल डूबी, खेतों के रास्ते भी बह गए, टोकी में घुसा पानी

सोनीपत। हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया 8.28 लाख क्यसेक पानी सोनीपत में पहुंचने के बाद यमुना पूरी तरह से उफान पर आई हुई है। जहां सोमवार तक केवल यमुना के तटबंध के अंदर ही फसल डूबी थी, वहीं यमुना उफान पर आने के कारण पानी बांध से उतरकर खेतों में पहुंच गया और उससे लगभग एक हजार एकड़ फसल डूब गई। यमुना के पानी से खेतों में जाने वाले रास्ते भी बह गए तो टोकी गांव तक पानी घुस गया। प्रशासन के सोमवार को गांव खाली कराने के बाद लोग दोबारा वहां आ गए थे, लेकिन वहां मंगलवार दोपहर बाद पानी पहुंचा तो लोगों से दोबारा गांव खाली कराकर मंदिर में रोका गया। प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने गांवों में कैंप किया हुआ है तो डीसी समेत अन्य अधिकारी निरीक्षण कर रहे है। वहीं यमुना के पानी में डूबने से सब्जी की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई है तो मक्का व धान की फसल में नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है। हरियाणा - यूपी पुल के पास पानी मंगलवार शाम तक 216 मीटर के निशान पर चल रहा था, हालांकि इसके रात से लेकर बुधवार सुबह तक कुछ कम होने की उम्मीद जताई जा रही है।
पहाड़ों पर पिछले कई दिनों तक लगातार बारिश होने के कारण हथिनीकुंड बैराज से शनिवार रात से रविवार दोपहर तक लगभग 8.28 लाख क्यूसक पानी छोड़ा गया था। यह पानी सोमवार देर शाम से सोनीपत में पहुंचना शुरू हुआ और यह मंगलवार दोपहर तक बढ़ता रहा। जिससे यमुना पूरी तरह से उफान पर आ गई। जहां यमुना के अंदर की पूरी फसल सोमवार को डूब गई थी, वहीं यमुना उफान पर आने के कारण गढ़ मिर्कपुर के पास बांध के ऊपर से पानी उतरकर खेतों में घुस गया और वहां खेतों में जाने वाला रास्ता भी बंद हो गया तो गन्ने व ज्वार की फसल भी पानी में डूब गई। असदपुर के पास यमुना उफान पर आने के बाद खेतों की ओर जाने वाला रास्ता भी कई जगह से टूटकर बह गया और वहां भी फसल डूब गई। इसके अलावा टोकी गांव के आसपास खेतों में पानी भरने से सब्जी, मक्का व धान की फसल डूब गई। इस तरह यमुना के पानी में लगभग एक हजार एकड़ फसल डूब गई। फसल डूबने के बाद मंगलवार दोपहर को पानी टोकी गांव में पहुंचने लगा तो वहां से सभी लोगों को मंदिर में भेजा गया।
टोकी में दोबारा पहुंचे ग्रामीण तो पानी आने पर खाली कराया
टोकी गांव को सोमवार को पानी आने के डर से प्रशासन ने खाली करा दिया था। वहां सोमवार रात में पंद्रह से ज्यादा पुलिस कर्मियों को तैनात कर दिया गया था, जिनमें महिला पुलिस कर्मी भी शामिल थी। जिससे रात में पानी आने पर तुरंत वह मदद कर सके। लेकिन वहां रात में पानी नहीं आया तो मंगलवार सुबह को गांव के लोग दोबारा से अपने घरों में पहुंच गए। उस समय तक केवल खेतों में फसल डूबी थी और वहां दोपहर के बाद अचानक पानी बढ़ गया जो टोकी गांव में घुसने लगा। उसको देखते हुए अधिकारियों ने तुरंत ही गास्त्रत्त्ंव को खाली कराया और ग्रामीणों को मंदिर में रखा गया। ग्रामीण मंगलवार देर शाम तक मंदिर में डटे हुए थे और वहां प्रशासनिक अधिकारी कैंप किए हुए है।
15 गांवों में बना रहा बाढ़ का खतरा
यमुना किनारे के लगभग 15 गांवों में बाढ़ का खतरा बना रहा। जिनमें गढ़ी असदपुर, मनौली, टोकी, बड़ौली, बेगा, पीरगढ़ी, गढ़ी बिलंदा, ग्यासपुर, पबनेरा, चंदौली, टिकौला आदि शामिल है। इसको देखते हुए ही प्रशासनिक अधिकारी यमुना किनारे के गांवों में दौरा करते रहे और वहां लोगों से बातचीत कर स्थिति का जायजा लेते रहे। वहां लोगों से बताया गया कि वह वह यमुना के पास जाने से बचे, क्योंकि यमुना का जलस्तर काफी ऊपर चल रहा है। अधिकारियों का मानना है कि जब तक यह पानी सोनीपत से आगे नहीं निकल जाता है, उस समय तक स्थिति पर नजर रखना जरूरी है।
डीसी की अभी ठीकरी पहरा लगाने की अपील
प्रशासन ने जहां लोगों के यमुना किनारे जाने पर रोक लगा दी है। प्रशासन का मानना है कि यमुना में पानी के तेज बहाव के कारण किनारों से मिट्टी का कटाव होगा और ऐसे में कोई यमुना के किनारे वहां देखने भी जाता है तो मिट्टी गिरने से हादसा हो सकता है। इसके साथ ही डीसी डा. अंशज सिंह ने अभी ठीकरी पहरा लगाए जाने की अपील लोगों से की है। डीसी ने कहा है कि जल स्तर बढ़ने की स्थिति में उत्पन्न होने वाली किसी भी प्रकार की परेशानी से निपटने को लेकर ठीकरी पहरे का प्रावधान किया गया है। गांवों के सभी युवा अपने - अपने क्षेत्र में पड़ने वाली यमुना नदी के तटबंधों को टूटने से बचाने के लिए ठीकरी पहरा देना चाहिए। इसके साथ ही सभी थानाध्यक्षों व बीडीपीओ को ग्रामीणों के संपर्क में रहने के निर्देश दिए गए हैं।
भाजपा हर संभव मदद करेगी : मोहन लाल
भाजपा के व्यापारी कल्याण बोर्ड के सदस्य मोहनलाल बड़ौली ने यमुना नदी में बढ़ते जलस्तर को लेकर मंगलवार सुबह को टोकी गांव का दौरा किया। मोहन लाल बड़ौली ने लोगों को आश्वस्त किया कि उनको किसी भी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी और उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत करते हुए समस्याएं जानकर उनके निस्तारण का आश्वासन भी दिया। मोहन लाल बड़ौली ने नायब तहसीलदार हवा सिंह से बात की तो वह भी वहां पहुंच गए और ग्रामीणों को बताया कि इस समय यमुना उफान पर चल रही है। यहां से पानी मंगलवार की रात में आगे निकलना शुरू हो जाएगा और उसके बाद किसी तरह का खतरा नहीं रहेगा। टोकी गांव के लोगों ने बताया कि यमुना के पानी में डूबकर सब्जी, धान व मक्का की फसल बर्बाद हो गई है, जिससे किसानों को बड़ा नुकसान हुआ है।
गन्नौर क्षेत्र में यमुना किनारे दौरा करते रहे अधिकारी
एसडीएम सुरेंद्र पाल के नेतृत्व में बीडीपीओ जितेंद्र कुमार, तहसीलदार गुलाब सिंह, एसएचओ दिनेश कुमार, ओंकार कानूनगो, जय भगवान एससीपीओ, ग्राम सचिव, दिलावर पटवारी सहित अन्य ने घाटों को दौरा किया। वहीं इनमें से कई अधिकारी घाट पर डेरा जमाए रहे, जिससे किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके। वहां लोगों ने बताया कि सब्जी की फसल में पानी भर गया है, जिससे उनमें काफी नुकसान हो सकता है।
हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया पानी यहां पहुंचने से जलस्तर काफी बढ़ गया था। यहां किसी तरह की जान माल की हानि नहीं हुई है और अब यमुना का जलस्तर कम होने के बाद स्थिति सामान्य हो जाएगी। प्रशासनिक अधिकारियों की टीम लगातार दौरा करती रही और इसके अलावा यमुना के पास वाले गांवों में अधिकारी कैंप किए हुए थे। डॉ. अंशज सिंह, डीसी
 असदपुर गांव में पानी के तेज बहाव के कारण टूटा रास्ता
असदपुर गांव में पानी के तेज बहाव के कारण टूटा रास्ता- फोटो : Sonipat
टोकी गांव में डूबी फसल व गांव तक पहुंचा पानी
टोकी गांव में डूबी फसल व गांव तक पहुंचा पानी- फोटो : Sonipat
... और पढ़ें

गोभी की फसल का मौसम आया, लगाएं और लाखों रुपये कमाएं किसान, जानिए कैसे होगी रोपाई

सब्जियों की खेती करने वाले किसानों के लिए एक अच्छा समय है गोभी की फसल लगाने का। हाल में गोभी की फसल लगाएं और ढाई महीने में ही मालामाल हो जाएं। इस फसल को लगाने का सही समय आ चुका है। कम समय में तैयार होने वाली यह सब्जी वाली फसल आपको अच्छा मुनाफा दे सकती है। फूल गोभी आमतौर पर सितंबर व अक्टूबर महीने में की जाती है।

मौसम की मार से बचने पर अगेती खेती करने वाले किसान ही इसका अधिक मुनाफा कमाते हैं। लेकिन नए तरीकों से संबधित बीजों से अब गोभी की खेती सालों - साल होने लगी है। इस फसल की आधा दर्जन वैराइटी वैज्ञानिकों ने तैयार की है। जिसमें फूल गोभी, पत्ता गोभी, गांठ वाली व  सलाद वाली गोभी की भी मार्केट में खूब डिमांड है।

वैरायटी के साथ - साथ तीन कलर में तैयार होने लगी है। बागवानी विभाग का कहना है कि पहले इसकी पौध तैयार की जाती है। उसके बाद खेत को तैयार करके इसकी रोपाई की जाती है। किसान एक एकड़ में 18 से 20 हजार पौधे लगाएं। जो 70 - 75 दिन में फसल उत्पादन देना शुरू कर देती है । उनका कहना है कि किसान इस फसल को लगाकर कम समय में अधिक मुनाफा ले सकते हैं। ... और पढ़ें

पढ़ें, सशक्त बनें, काम को पैशन बनाएं युवा : गुलिया

रोहतक। युवा पढ़ें, सशक्त बनें और काम को पैशन बनाएं। वे अपनी जिम्मेदारी समझें। इसके बाद समाज सेवा करें। शिक्षकों, अभिभावकों व बड़ों का सम्मान करें। यह कहना है मोटीवेशनल स्पीकर नवीन गुलिया का। वे सोमवार को एमडीयू के टैगोर सभागार में विवि के स्टूडेंट इंडक्शन कार्यक्रम में बोल रहे थे। साहसिक खेल पुरोधा एवं पूर्व सैनिक नवीन गुलिया ने कहा कि हम अपनी ऊर्जा व क्रोध को सृजनात्मक दिशा दें। उसे दूसरों पर भड़क कर निकालने के बजाय सकारात्मक रूप में लेते हुए अपने अंदर रखें और जीवन में आगे बढ़ने में प्रयोग करें।काम को बेहतर ढंग से करने के लिए कौशल विकसित करें। युवा समय की अहमियत को समझते हुए समाज व राष्ट्र के सरोकारों से जुड़ कर सकारात्मक सोच के साथ देश हित में कार्य करें। कार्यक्रम के प्रारंभ में नवीन गुलिया के जीवन के चुनिंदा पहलुओं पर लघु फिल्म दिखाई गई।
एमडीयू कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने विश्वविद्यालय में स्टूडेंट इंडक्शन प्रोग्राम का उद्घाटन करते हुए कहा कि विश्व में प्रतिस्पर्धात्मक माहौल है। इसे ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों को अपने पाठ्यक्रम के अध्ययन के साथ लाइफ स्किल्ज, साफ्ट स्किल्ज व आईसीटी स्किल्ज में पारंगत होना जरूरी है। युवा जीवन में नौकरी के पीछे भागने की जगह निश्चित लक्ष्य निर्धारित कर अपनी भूमिका तय करें। पढ़ाई के साथ खेल, सांस्कृतिक, साहित्यिक गतिविधियों में हिस्सा लें। उन्होंने बताया कि एमडीयू ने नैक से ए प्लस ग्रेडिंग व एनआईआरएफ 2019 रैंकिंग में भारत के पहले 100 विश्वविद्यालयों की सूची में स्थान प्राप्त कर अपनी विशेष पहचान बनाई है। वर्ष 2018 में राष्ट्रीय स्वच्छता रैंकिंग सर्वे में एमडीयू ने देश में पहला स्थान प्राप्त किया। हमें उत्कृष्टता की संस्कृति विकसित करते हुए ए प्लस प्लस ग्रेडिंग प्राप्त करने का प्रयास करना होगा। भविष्य में विवि वैल्यू एडेड कोर्सेज, रेमेडियल क्लासेज, विद्यार्थियों के कॅरियर मार्गदर्शन के कार्यक्रम भी प्रारंभ करेगा।
इससे पूर्व, कार्यक्रम में मानविकी संकाय के अधिष्ठाता प्रो. सुरेंद्र कुमार ने महर्षि दयानंद सरस्वती के जीवन व व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने महर्षि दयानंद के समाज व राष्ट्र के योगदान को प्रस्तुत कर विद्यार्थियों को प्रेरित किया। शैक्षणिक मामलों के अधिष्ठाता प्रो. एके राजन ने विवि के विजन, मिशन व कोर वेल्यूज के साथ विश्वविद्यालय की विकास यात्रा के बारे में बताया। कुलसचिव प्रो. गुलशन लाल तनेजा ने विद्यार्थियों से निरंतर कर्म करते रहने व समय प्रबंधन पर ध्यान देने की सलाह दी। इस मौके पर निदेशक युवा कल्याण डॉ. जगबीर राठी, निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी, डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. राजकुमार, डॉ. माधुरी हुड्डा, डॉ. सतीश मलिक, डॉ. डीएस ढुल, प्रो. देसराज, मौजूद रहे। ... और पढ़ें

डेंगू का दूसरा पाजिटिव केस मिला

डेंगू का एक और पॉजिटिव केस मिला
रोहतक। जिले में सीजन का दूसरा डेंगू पॉजिटिव केस सामने आया है। यह केस अमृत कॉलोनी से है। स्वास्थ्य विभाग ने मरीज की पुष्टि के बाद बुधवार को क्षेत्र में फोगिंग कराई। इधर, एंटी लारवा एक्टिविटी के तहत टीम को 114 जगह लारवा मिला। सभी को नोटिस देकर चेतावनी दी गई है कि अगर दोबारा लारवा मिलता है चालान किया जाएगा।
जिला मलेरिया अधिकारी डॉ अनुपमा मित्तल ने बताया कि मलेरिया के जिले में आठ व डेंगू के अब तक दो पाजिटिव केस सामने आए हैं। यही नहीं अमृत कॉलोनी में डेंगू पाजिटिव केस मिलने पर यहां एंटी लारवा एक्टिविटी के दौरान 32 घरों में मच्छर का लारवा पाया गया। विभाग की 11 टीमों ने शहर के अलग-अलग हिस्सों में एंटी लारवा एक्टिविटी चलाई। इसके तहत नेहरू कॉलोनी में 22, न्यू जनता कॉलोनी में 17, ओल्ड अनाज मंडी में 17, सूर्या नगर में 15, प्रताप मोहल्ला चार, कमला नगर तीन, मॉडल टाउन दो व जेपी कालोनी के दो घरों में लारवा पाया गया। विभाग ने बुधवार को कुल 114 घरों में नोटिस जारी किए। यहां लोगों को मच्छरों का लारवा पनपने की जानकारी दी गई। ... और पढ़ें

अंत्योदय पोर्टल

लोकहित की योजनाओं के लिए प्रयोग करें अंत्योदय सरल पोर्टल
रोहतक। अंत्योदय सरल पोर्टल का उपयोग सरकार की लोकहित योजनाओं का लाभ उठाने के लिए कर सकते हैं। यह नागरिक योजनाओं और सेवाओं के पूर्ण डिजिटलीकरण की प्रक्रिया पर काम करता है। यह बात बुधवार को अंत्योदय सरल योजना की समीक्षा बैठक में उपायुक्त आरएस वर्मा ने कही।
उन्होंने सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली योजनाएं और सेवाएं निवासी प्रमाण पत्र, राजस्व डीलर प्वाइंट पंजीकरण, परिवहन, नया राशन कार्ड, खाद्य और आपूर्ति, आय प्रमाणपत्र, वृद्धावस्था सम्मान भत्ता, सामाजिक न्याय, बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन, डॉ अंबेडकर मेधावी छात्र योजना, विवाह पंजीकरण आदि योजनाओं का लाभ लोगों को सुनिश्चित करवाने के लिए कहा। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त अजय कुमार, एसडीएम एवं संयुक्त आयुक्त नगर निगम राकेश कुमार, एसडीएम सांपला महेंन्द्र कुमार आदि मौजूद रहे। ... और पढ़ें

उदय कालीन अष्टमी नवमी युक्त व रोहणी नक्षत्र दोनों होने के कारण 24 को मनाई जाएगी जन्माष्टमी

रोहतक। हिंदू मान्यताओं के अनुसार सृष्टि के पालनहार श्री हरि विष्णु के 8वें अवतार श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है। इस साल जन्माष्टमी की तिथि को लेकर लोगों में काफी असमंजस है। लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि जन्माष्टमी 23 अगस्त को मनाई जाए या फिर 24 अगस्त को। भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद यानी भादो माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। अगर अष्टमी तिथि के हिसाब से देखें तो 23 अगस्त को जन्माष्टमी होनी चाहिए, लेकिन अगर रोहिणी नक्षत्र को मानें तो फिर 24 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी होनी चाहिए। पंडित मनोज मिश्र के अनुसार उदय कालीन अष्टमी नवमी युक्त हो उसी दिन जन्माष्टमी मनाई जाती है। 24 अगस्त शनिवार को उदय कालीन अष्टमी नवमी युक्त और रोहणी नक्षत्र दोनों ही होने से कृष्ण जन्माष्टमी 24 अगस्त शनिवार को ही मनाई जाएगी।
---
जन्माष्टमी की तिथि और शुभ मुहूर्त
जन्माष्टमी की तिथि 23 अगस्त और 24 अगस्त हैं। अष्टमी तिथि 23 अगस्त को सुबह 08 बजकर 09 मिनट से प्रारंभ होकर 24 अगस्त को सुबह 08 बजकर 32 मिनट तक रहेगी। रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्त को सुबह 03 बजकर 48 मिनट से से शुरू होकर 25 अगस्त को सुबह 4 बजकर 17 मिनट तक रहेगा।
---
व्रत का महत्व
भगवान कृष्ण का जन्म भाद्रपद कृष्ण अष्टमी को हुआ था। इसकी वजह से इस दिन को कृष्ण जन्माष्टमी कहते हैं। भगवान कृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में हुआ था इसलिए जन्माष्टमी के निर्धारण में रोहिणी नक्षत्र का बहुत ज्यादा ध्यान रखते हैं। जन्माष्टमी के व्रत को व्रतराज कहा गया है। भविष्य पुराण में इस व्रत के सन्दर्भ में उल्लेख है कि जिस घर में यह देवकी-व्रत किया जाता है, वहां अकाल मृत्यु, गर्भपात, वैधव्य, दुर्भाग्य व कलह नहीं होती। जो एक बार भी इस व्रत को करता है वह संसार के सभी सुखों को भोगकर विष्णुलोक में निवास करता है।
---
पूजन विधि
जन्माष्टमी के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर स्वच्छ वस्त्र धारण करें। इसके बाद पूर्व या उत्तर की ओर मुख करके व्रत का संकल्प लें। माता देवकी और भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति या चित्र पालने में स्थापित करें। पूजन में देवकी, वासुदेव, बलदेव, नंद, यशोदा आदि देवताओं के नाम जपें। रात्रि में 12 बजे के बाद श्री कृष्ण का जन्मोत्सव मनाएं। पंचामृत से अभिषेक कराकर भगवान को नए वस्त्र अर्पित करें और लड्डूगोपाल को झूला झुलाएं। पंचामृत में तुलसी डालकर माखन-मिश्री व धनिए की पंजीरी का भोग लगाएं तत्पश्चात आरती करके प्रसाद को भक्तजनों में वितरित करें। ... और पढ़ें

मोहन के लिए आए मनमोहक हिंडोले

रोहतक। जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में बाजार लड्डू गोपाल के झूलों, चौकियों, वस्त्रों और शृंगार के विभिन्न सामानों से गुलजार हैं। जन्माष्टमी को लेकर लोगों ने घरों में सजावट शुरू कर दी है। बाजार में इस साल राधा-कृष्ण के लिए रंग-बिरंगी एलईडी लाइट लगे झूलों की डिमांड बढ़ रही है। बाजारों में मोहन के शृंगार के लिए तमाम चीजें है तो झुलाने के लिए शानदार हिंडोले उपलब्ध हैं। बाजार में 100 रुपये से लेकर हजार रुपये तक के झूले मौजूद हैं। किला रोड से लेकर चमेली मार्केट तक हर गली में अपना अलग स्टाइल का झूला है। श्रीगणेश गिफ्ट गैलरी के संचालक विकास ने बताया कि बाजार में एलईडी लाइट लगे और मोतियों से सजे शानदार झूले की डिमांड ज्यादा है।
मुकुट की जगह पगड़ी, पोशाकें भी शानदार
बाल गोपाल को सजाने के लिए शानदार पोशाकें भी हैं। कढ़ाई वाली पोशाक अधिक पसंद की जा रही है। इस बार एक ओर बदलाव दिखेगा। नंदकिशोर के शृंगार में मुकुट की जगह पगड़ी दिखाई देगी। बाजारों में पगड़ी की खरीदारी अधिक हो रही है।
मोर पंख से बना हिंडोला पोशाक भी
मोरपंख से बने इस हिंडोले की खासियत यह है कि इसमें घरों में सामान्य तौर पर इस्तेमाल होने वाला सामान लगा है। दुकान संचालक विकास का दावा है कि अन्य सामान को बनाने के बाद जो पॉलिथीन, कागज और गत्ता बचा उससे यह हिंडोले तैयार किए गए हैं। इसके साथ ही बाल गोपाल के लिए हिंडोले के साथ 4 से 5 पोशाकें बनाई गई हैं।
मोतियों और सितारों से सजा हिंडोला
हिंडोले को रंग-बिरंगे प्लास्टिक के मोती और सितारों से सजाया गया है। झूले की सीट पर मयूर बना है। झुलाने के लिए मोती पिरोई हुई रस्सी लगी हुई है। इन पर अन्य सजावट भी की गई है। इसकी कीमत 200 रुपये से शुरू होकर दो हजार रुपये तक है। ... और पढ़ें

हुडा कमेटी ने ऑटो मार्केट की 147 दुकानों की कराई वीडियोग्राफी, 118 दुकानों का सर्वे होगा आज

रोहतक। ट्रांसपोर्ट नगर में आवंटन को लेकर ऑटो मार्केट के दुकानदारों के निरस्त हुए आवेदनों की जांच करने के लिए हुडा कमेटी ने बुधवार को दुकानों की वीडियोग्राफी कराई। सुबह दस बजे से शाम पांच तक यूनियन पदाधिकारियों के साथ टीम ने 147 दुकानों का सर्वे किया। बची हुई 118 दुकानों का सर्वे वीरवार को किया जाएगा। दूसरी ओर काठमंडी के दुकानदार अपनी मांगों पर अड़े रहे। हुडा प्रशासक के साथ होने वाली बैठक का बहिष्कार किया। उनका कहना है कि उन्हें सहकारिता मंत्री से मिलना है। उनके हिसाब से अगली कार्रवाई करेंगे।
ट्रांसपोर्ट नगर में बसने के लिए आवेदन करने वाले ऑटो मार्केट के दुकानदारों के निरस्त हुए आवेदनों की जांच के लिए हुडा टीम ने वीडियोग्राफी की। इस दौरान वह दुकान मालिक से पहचान पत्र देखने के साथ कब से कारोबार कर रहे हैं। इसकी जानकारी रिकॉर्ड की। गौरतलब है कि ऑटो मार्केट यूनियन के लोगों की मंगलवार को हुडा प्रशासक से मुलाकात हुई थी। इसके बाद वीडियोग्राफी का फैसला हुआ था। हुडा ने वीडियोग्राफी के बाद निरस्त आवेदनों को सही करने का भरोसा भी दिया है।
दूसरी ओर काठमंडी के कारोबारी अपनी मांग पर अड़े हुए हैं। वीरवार सुबह दस बजे हुडा प्रशासक के साथ बैठक के लिए कार्यालय से फोन आया था पर कारोबारियों ने बैठक करने से इनकार कर दिया। उनका कहना है कि उनकी तीन प्रमुख मांगें हैं। जब तक वह नहीं मान ली जाती हैं तब तक वह हुडा की किसी प्रक्रिया में भाग नहीं लेंगे। काठमंडी पंचायत के पदाधिकारी पिंकी यादव का कहना है कि कारोबारी सहकारिता मंत्री से मिलेंगे। उनके हिसाब से ही अगली कार्रवाई की जाएगी। वह अभी व्यस्त हैं। जल्द ही उनसे मुलाकात की जाएगी।
--------
हुडा के जेई का फोन आया था। हुडा कार्यालय बुलाया जा रहा था। काठमंडी के कारोबारी अपनी मांग को लेकर अडिग हैं। उन्होंने हुडा का बहिष्कार किया है।
-राजू भूटानी प्रधान, मार्बल टाइल्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन
-------
काठमंडी के कारोबारियों के विस्थापन को लेकर जल्द ही सहकारिता मंत्री से मुलाकात करेंगे। वह इस प्रोजेक्ट को लेकर काफी गंभीर हैं। दुकानदार उनसे मिलने वाले अगले निर्देश के बाद कार्रवाई करेंगे।
-उम्मेद सिंह प्रधान, काठमंडी पंचायत
---------
ट्रांसपोर्ट नगर के लिए आवेदन करने वाले ऑटो मार्केट के दुकानदारों के निरस्त आवेदन की वीडियोग्राफी करायी जा रही है। हुडा एक्ट के हिसाब से ही मार्केट में आवंटन किया जाएगा।
-गजेन्द्र सिंह, संपदा अधिकारी हुडा ... और पढ़ें

सुंडाना स्कूल में डीपीई की पिटाई

रोहतक/कलानौर। शहीद वजीर सिंह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सुंडाना के डीपीई को बुधवार सुबह प्रार्थना सभा के बाद पीट दिया। मारपीट करने वालों में स्कूल के ही कुछ विद्यार्थी व उनके परिजन शामिल रहे। इस घटना की वजह एक दिन पहले मंगलवार को विद्यार्थियों की गेंद लड़कियों को लगने पर डीपीई ने 11वीं कक्षा के विद्यार्थियों को डांटना बताया गया है। ग्रामीणों का हंगामा बेकाबू होते देख प्राचार्य को पुलिस बुलानी पड़ी। घटना के बाद शाम तक गांव में तनाव बना रहा। पुलिस ने डीपीई की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पांच नामजद समेत 20 अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। केस की जांच करते हुए पुलिस ने छह आरोपियों को बुधवार शाम गिरफ्तार कर लिया।
बुधवार सुबह स्कूल में प्रार्थना सभा के बाद कुछ विद्यार्थी व उनके परिजन सुंडाना स्कूल पहुंचे। यहां इन लोगों ने मिलकर डीपीई ओमबीर को पीट दिया। ग्रामीणों व स्कूल स्टाफ ने बड़ी मुश्किल से बीच-बचाव कर डीपीई को उनसे छुड़ाया। हालात बेकाबू होते देख स्कूल प्राचार्य ने पुलिस बुलाई। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाकर किसी तरह शांत किया व डीपीई को उपचार व मेडिकल जांच के लिए पीजीआई ले गए।
प्राचार्य रमेश चौहान ने बताया कि मंगलवार को स्कूल में इंटरवल के समय एक विद्यार्थी की गेंद कक्षा में पढ़ रही एक छात्रा को जा लगी। छात्रा ने डीपीई ओमबीर सिंह से इसकी शिकायत की। इसके चलते छात्र को प्राचार्य कक्ष में बुलाकर डांटा गया। इसके बाद विद्यार्थी अपने अभिभावकों को स्कूल बुला लाया। अभिभावकों ने वहां डीपीई के साथ अभद्रता की। उस समय स्टाफ ने बीच बचाव करते हुए मामला रफादफा कर दिया। बुधवार को फिर से डीपीई पर हमला किया गया। इस मामले में पांच नामजद समेत 20 अन्य के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी गई है। विभाग के उच्च अधिकारियों को भी इस बारे में अवगत करा दिया गया है।
लड़की को धमकाने उसके घर पहुंचे लड़के के परिजन
विद्यालय की जिस छात्रा को गेंद लगी थी, उस छात्रा का कहना है कि वह कक्षा में बैठी इतिहास पढ़ रही थी। इस दौरान उसे गेंद आकर लगी। इसकी शिकायत प्राचार्य व डीपीई से की। डीपीई सर ने उस छात्र को कक्षा में ही डांटा। छुट्टी होने के बाद लगभग 20 लोग मेेरे घर आए। इनमें उस लड़के के परिजन व अन्य लोग शामिल थे। इन्होंने मुझे धमकाया।
एसपी से मिला स्कूल स्टाफ व शिक्षक संघ
प्राचार्य रमेश चौहान ने बताया कि इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा से मुलाकात की। इसमें स्कूल स्टाफ के साथ शारीरिक शिक्षक संघ के सदस्य भी शामिल रहे। उन्होंने एसपी को मामले से अवगत कराते हुए गांव में बेहतर सुरक्षा व्यवस्था बनाने की अपील की। एसपी ने गांव का माहौल बेहतर बनाने को लेकर वीरवार से पुलिस के कुछ जवानों की ड्यूटी स्कूल में लगाने का आश्वासन दिया। राइडर से स्कूल के पास गश्त भी लगाना सुनिश्चित किया।
सोशल मीडिया पर छाया मामला
स्कूल के डीपीई के साथ मारपीट का मामला बुधवार को सोशल मीडिया पर छाया रहा। इस पर लोगों ने कमेंट कर अपनी भड़ास निकाली। किसी ने शिक्षकों की पिटाई को गलत बताया तो किसी ने बच्चे को डांटने पर एतराज जताया। इस मुद्दे पर लोग एकमत नजर नहीं आए।
पुलिस ने इन्हें किया गिरफ्तार
डीपीई से मारपीट मामले में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें सुडांना निवासी रोकी, सागर, साहिल, अंकित, राहुल व दीपक शामिल है। इन्हें वीरवार को अदालत में पेश किया जाएगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
-----
बुधवार सुबह सुंडाना गांव में अध्यापक के साथ मारपीट का मामला सामने आया। इस सूचना पर टीम के साथ मौके पर पहुंचे और व्यवस्था को संभाला। पीड़ित अध्यापक ने पांच लोगों को नामजद करते हुए शिकायत दी है। इस पर कार्रवाई करते हुए छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।
-भूषण कुमार, चौकी इंचार्ज, काहनौर ... और पढ़ें

दो तटबंध टूटे, ग्रामीणों ने जोड़ा

गांव झांसा में मारकंडा नदी में आए 10943 क्यूसेक पानी से मारकंडा नदी उफान पर चल रही है। इस सीजन का सबसे ज्यादा पानी चलने से गांव ठसका मीरांजी में दो जगह पर मारकंडा नदी का तटबंध टूनने से मारकंडा नदी का 2 से 3 फुट पानी खेतों में घूस गया। ग्रामीणों की सुझबूझ व प्रशासन की मुस्तैजी के चलते मारकंडा नदी के दो जगह से टूटने के बाद भी उस पर काबू पा लिया गया तथा प्रशासन ने जेसीबी मशीनों की मदद से टूटे हुए तट का दुरुस्त कर दिया जिसके बाद किसानों व डेरावासियों ने राहत की सांस ली।
तट टूटने की सूचना मिलते ही एसडीएम पिहोवा संजय कुमार, थाना प्रभारी महिंद्र सिंह तथा नहरी विभाग के एसडीओ विनोद कुमार मौके पर पहुंचे। बुधवार को गांव झांसा में मारकंडा नदी में इस सीजन का सबसे ज्यादा पानी आया। मंगलवार को भी मारकंडा नदी खतरे के निशान से काफी ऊपर चल रही थी। जिसके चलते विभाग द्वारा क्षेत्र में हाई अर्लट किया हुआ था। बुधवार को करीब 11 बजे गांव ठसका मीरांजी से गुजर रही मारकंडा नदी का तटबंध गांव मेघा माजरा की तरफ से दो जगह से टूट गया। सबसे पहले मुखत्यार सिंह के खेत में तथा उसके बाद जोगा सिंह के खेत में मारकंडा नदी का तटबंध टूटने से किसानों में आहाकार मच गया। किसानों ने अपनी जान की प्रवाह किए बिना टूटे हुए तटबंधों के बीचों बीच खेड़े होकर पौधों की टहनियों व झाडियां आदि रख कर पानी के बहाव को कम किया तथा उसके बाद प्रशासन ने मौके पर पहुंच की जेसीबी की मदद से टूटे हुए दोनों तटबंधों को दुरुस्त किया तथा वहां पर मिट्टी से भरे कट्टे आदि लगवाए। लेकिन तब तक आसपास के किसानों के खेतों में 2 से 3 फुट पानी जमा हो गया था। ... और पढ़ें

हरियाणाः मानसून पड़ा सुस्त, अब 24 तक शुष्क रहेगा मौसम, कहीं ज्यादा तो कहीं कम हुई बारिश

पहाड़ से लेकर मैदान तक भारी बारिश कराने और बाढ़ लाने के बाद मानसून हरियाणा में फिलहाल सुस्त पड़ गया है। देश में जहां सामान्य से दो प्रतिशत अधिक बारिश दर्ज की गई है, वहीं हरियाणा में 26 कम बारिश हुई है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, हरियाणा में 24 अगस्त तक बारिश की संभावना नहीं है।

भारतीय मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, 1 जून से 19 अगस्त के बीच देशभर में कुल 620.2 मिलीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई, जो औसत 635.1 मिमी बारिश की तुलना में 2 फीसदी अधिक है। वहीं हरियाणा में 227.0 मिमी वर्षा हुई है, जबकि अब तक सामान्य रूप से 380.3 मिमी बारिश होनी चाहिए यानी हरियाणा अब भी 26 प्रतिशत कम बारिश से संघर्ष कर रहा है।

चंडीगढ़़ मौसम केंद्र ने 24 अगस्त तक किसी प्रकार की चेतावनी जारी नहीं की है। जाहिर है कि मानसून की सुस्ती की वजह से कुछ दिनों तक मौसम शुष्क बना रहेगा। मौसम साफ रहने से दिन का तापमान बढ़कर 5 डिग्री तक ऊपर जा सकता है। हालांकि 24 से 26 अगस्त के बीच राजस्थान और हिमाचल प्रदेश से सटे इलाकों में छिटपुट बारिश के आसार हैं। ... और पढ़ें

पति से झगड़े के बाद हेडकांस्टेबल की पत्नी बेटे-बेटी के साथ नहर में कूदी, तीनों की मौत

पति से झगड़ा होने पर हेडकांस्टेबल की पत्नी ने बुधवार सुबह मासूम बेटे-बेटी के साथ दिल्ली रोड स्थित जेएलएन नहर में छलांग लगा दी। डूबने से तीनों की मौत हो गई। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से तीनों के शव बाहर निकलवाए।
सदर थाने में तैनात महेंद्रगढ़ निवासी हेडकांस्टेबल संदीप की पत्नी ममता (28) ससुराल में सास-ससुर और जेठ के परिवार के साथ रहती थी। बुधवार सुबह जेठ के साथ बच्चों संजीता (6) और रजत (3) को लेकर दिल्ली रोड स्थित पुलिस लाइन में पति के क्वार्टर पर पहुंची। वहां किसी बात को लेकर पति के साथ उसका झगड़ा हो गया। बात बढ़ी तो वह दोनों मासूम बच्चों को साथ लेकर पुलिस लाइन के पास ही जेएलएन नहर में कूद गई। तीनों के गायब होने के बाद पति संदीप और उसके भाई ने उनकी तलाश शुरू की। सुबह 9:30 बजे किसी ने नहर में शव होने की सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच महिला के शव को बाहर निकाला। उसकी पहचान ममता के रूप में की गई। इसके बाद दोनों बच्चों की तलाश शुरू की। एक घंटे बाद रजत का शव मिला। संजीता के शव को तलाश करने में गोताखोरों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। दोपहर करीब 1:00 बजे संजीता का शव पुल के नीचे पिलर में फंसा मिला। एसपी नाजनीन भसीन ने बताया कि जांच की जा रही है। शुरुआती जांच में पति के साथ कलह की बात निकल कर सामने आई है। ... और पढ़ें

एसएचओ पर फैसले का दबाव बनाने का आरोप, एसएचओ बोले-आरोप बेबुनियाद

फ्लैग : इनलो के पूर्व विधायक एवं हत्यारोपी बाली पहलवान पर पूर्व सरपंच को धमकी देने का मामला
हेडिंग -एसएचओ पर फैसले का दबाव बनाने का आरोप, एसएचओ बोले-आरोप बेबुनियाद
बार-बार धमकी कितने बजे, क्यों, कहां जैसे सवाल पूछ किया जा रहा परेशान
माई सिटी रिपोर्टर
रोहतक। बसाना गांव के पूर्व सरपंच सीताराम राठी ने धमकी के मामले में एसएचओ पर ही फैसले के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। आरोप है कि एसएचओ आरोपी बाली पहलवान से पूछताछ की बजाय उनसे ही धमकी कितने बजे, क हां, और क्यों दी गई जैसे सवाल किए जा रहे हैं। पीड़ित ने आईजी और डीजीपी से मामले की शिकायत करने का दावा किया है। उधर, एसएचओ ने आरोप को बेबुनियाद बताया है।
जानकारी के अनुसार बसाना गांव के पूर्व सरपंच सीता राम ने पुलिस को बताया था कि छह अगस्त को वह कलानौर की अनाज मंडी में वर्ष 2011 में हुए विष्णु हत्याकांड में गवाही के लिए रोहतक कोर्ट में आया था। आरोप है कि जैसे ही कोर्ट परिसर में घुसा तो जमानत पर छूटे हत्याकांड के आरोपी इनेलो के पूर्व विधायक बलवीर सिंह चार अन्य के साथ पहुंचे और उसे सीढ़ियों के पास ही रुकवा लिया। आरोप है कि इसके बाद उस पर गवाही नहीं देने का दबाव बनाया गया। कहा कि यदि उसके खिलाफ गवाही दी तो उसकी व उसके परिवार की हत्या कर दी जाएगी। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने पूर्व विधायक पर केस दर्ज कर लिया था।
पूर्व सरपंच का आरोप है कि एसएचओ ने उसे थाने पर बुलाया तथा धमकी प्रकरण में फैसले का दबाव बनाया गया। मामले की शिकायत आईजी और डीजीपी से करने का दावा पूर्व सरपंच ने किया है।
धमकी प्रकरण की जांच की जा रही है। फै सले का दबाव बनाने का आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। जांच के बाद ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
-नरेंद्र कुमार, एसएचओ थाना आर्य नगर ... और पढ़ें

विफलताओं से डरे नहीं, मजा कठिन कार्य करने में आता है : डबास

रोहतक। कार्य कठिन हो तो करने के योग्य होता है। साधारण कार्य तो कोई भी कर सकता है। जीवन में बाधाओं का सकारात्मक रुख से सामना कर उन पर विजय पाने व सफलता की मंजिल हासिल करने का यह मंत्र मंगलवार को प्रबंधन विशेषज्ञ एवं एमडीयू के पूर्व छात्र आरएस डबास ने विद्यार्थियों को दिया। उन्होंने विवि में आयोजित स्टूडेंट इंडक्शन प्रोग्राम के दूसरे दिन मोटीवेशनल लेक्चर दिया।
एमडीयू के इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज ऐंड रिसर्च के वर्ष 1976-78 बैच के छात्र आरएस डबास ने कहा कि जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए सपने जरूरी हैं। विद्यार्थियों को अपने स्वप्न को पूरा करने के लिए निरंतरता से प्रयास करने, आशावादी बने रहने, साहसी बनने, अपने कार्य में वैल्यू एडीशन करने व अपने कार्य को पूरे मनोयोग से करने का परामर्श दिया। उन्होंने कहा कि 300 रुपये मासिक वेतन से प्रारंभ होकर सालाना एक करोड़ रुपये से अधिक के वतन पैकेज तक पहुंचा हूं। यह सब अपनी मेहनत व हाथ में लिए काम को पूरा करके पाया है। उन्होंने विफलता के डर से बचने की नसीहत देते हुए जीवन में हर परिस्थिति में खुश रहने की सलाह दी।
कार्यक्रम का संचालन निदेशक युवा कल्याण डॉ. जगबीर राठी ने किया। इस मौके पर निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी, प्रो. सुरेंद्र कुमार, डीन स्टूडेंट वेल्फेयर प्रो. राजकुमार, रजिस्ट्रार प्रो. गुलशन लाल तनेजा, परीक्षा नियंत्रक डॉ. बीएस सिंधु आदि मौजूद रहे।
विद्यार्थियों को अच्छे नागरिक बनने के लिए प्रेरित किया
विवि के टैगोर ऑडिटोरियम में आयोजित स्टूडेंट इंडक्शन प्रोग्राम के दूसरे दिन विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रस्तुति दी। मंच पर युवा फिल्मी गीतों पर जमकर थिरके। इस दौरान कुलसचिव प्रो. गुलशन लाल तनेजा ने नवागंतुक विद्यार्थियों को प्रशासनिक कार्य प्रणाली, परीक्षा प्रणाली, विद्यार्थी कल्याण गतिविधियों समेत विभिन्न पहलुओं की जानकारी दी। परीक्षा नियंत्रक डॉ. बीएस सिंधु ने विश्वविद्यालय की परीक्षा प्रणाली की विस्तृत जानकारी देते हुए व्यवस्था की विशिष्टताओं को साझा किया। एमडीयू के प्रॉक्टर प्रो. एससी मलिक ने अनुशासन संबंधित नियमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय परिसर में किसी तरह की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान विद्यार्थियों को अच्छे नागरिक बनने के लिए प्रेरित किया।
विशिष्ट अतिथि पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ के प्रबंधन विभाग के प्रोफेसर व इमसॉर के 1982-84 बैच के पूर्व छात्र डॉ. बीबी गोयल ने कहा कि जीवन में विद्यार्थियों के लिए प्लानिंग व टाइम मैनेजमेंट महत्वपूर्ण है। विद्यार्थी जीवन पर्यंत सीखने की भावना रखें। इस मौके पर प्राध्यापिका डॉ. कविता ढुल ने यौन उत्पीड़न व महिला हिंसा की रोकथाम संबंधित प्रावधानों और नियमों की जानकारी दी। विद्यार्थियों ने सोलो डांस, ड्यूट, देशशक्ति थीम आधारित काव्य पाठ, पोस्टर मेकिंग, मेहंदी एवं रंगोली प्रतियोगिताओं में भी अपनी प्रतिभा प्रदर्शित की। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree