यहां बिकती है एमबीबीएस, बीटेक और पीएचडी की डिग्री, कीमत केवल 60 हजार रूपए

ब्यूरो/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 17 Feb 2017 01:34 PM IST
gang of fake degree makers busted in delhi
फर्जी ड‌िग्री बनाने वाले धरे गए - फोटो : अमर उजाला
पश्चिमी जिला पुलिस ने फर्जी मार्कशीट और सर्टिफिकेट बनाने वाले एक ऐसे गिरोह के चार लोगों को दबोचा है जो रुपयों के बदले किसी भी कोर्स की मार्कशीट व सर्टिफिकेट बना देते थे। पकड़े गए आरोपियों की पहचान दिल्ली निवासी रूपेश कुमार (27) मुकेश ठाकुर (27) बिहार निवासी रितेश कुमार (29) और राजेंद्र नगर, रोहतक, हरियाणा निवासी सोमीर कुमार (36) के रूप में हुई है।
पुलिस की मानें तो आरोपी गैंग एमबीबीएस, बीटेक और पीएचडी की डिग्री के लिए साठ हजार से पांच लाख रुपये तक वसूल लेते थे। आरोपियों के पास से 200 फर्जी मार्कशीट, पांच मोबाइल, एक लैपटॉप, एक स्कैनर और प्रिंटर के अलावा छह अन्य सर्टिफिकेट बरामद हुए हैं। शुरूआती जांच के बाद पुलिस को पता चला है कि गोरखधंधे के कारोबार के तार भिवानी से जुड़े हैं। तिलक नगर थाना पुलिस को गैंग के कुछ अन्य लोगों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

पश्चिम जिला पुलिस उपायुक्त विजय कुमार ने बताया कि 23 जनवरी को तिलक नगर निवासी शाहबाजुल हक नामक युवक ने नकली मार्कशीट व सर्टिफिकेट के नाम पर ठगी की शिकायत तिलक मार्ग थाने में की थी। पीड़ित ने बताया कि वह 10वीं कक्षा में दाखिले के लिए रूपेश कुमार नामक शख्स के पास गया था।
आगे पढ़ें

व्हाट्सऐप या ई-मेल के जरिये भेज दी जाती थी फोटो

Spotlight

Most Read

National

शादी के उपहार में आई शुभकामना ने बनाया दुल्हन को विधवा

ओडिशा के बोलांगिर जिले के पटनागढ़ में शादी की खुशी में अचानक मातम पसर गया यहां रिसेप्शन समारोह में किसी ने गिफ्ट पैक में विस्फोटक भेज दिया।

24 फरवरी 2018

Related Videos

अधिकारियों को मारना चाहिए, ठोकना चाहिए: आप विधायक

दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश बालियान ने एक विवादित बयान देकर चीफ सेक्रेटरी से मारपीट विवाद को हवा दे दी है।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen