विज्ञापन

पूर्व छात्र नेता लारेंस बिश्नोई और मोंटी शाह को 2-2 साल कैद

अमर उजाला ब्यूरो, चंडीगढ़ Updated Tue, 26 Jul 2016 12:20 AM IST
विज्ञापन
lawrence bishnoi
lawrence bishnoi
ख़बर सुनें
पूर्व छात्र नेता लारेंस बिश्नोई और बुड़ैल निवासी मोंटी शाह के खिलाफ सेक्टर-34 थाना पुलिस की ओर से दर्ज हत्या के प्रयास, दंगा करने और चोट पहुंचाने की आपराधिक धाराओं में दर्ज मामले में जिला अदालत ने दोनों को 2-2 साल कैद की सजा सुनाई है।
विज्ञापन

अदालत ने दोनों को सजा केवल दंगा करने और चोट पहुंचाने की आपराधिक धाराओं में सुनाई है। दोनों के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा साबित नहीं हो सकी। वहीं अदालत ने दोनों पर 4-4 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। 
सेक्टर-34 थाना पुलिस ने रजत शर्मा की शिकायत पर 12 अगस्त 2012 को लारेंस और मोंटी के खिलाफ केस दर्ज किया था। बता दें कि हमले में घायल होने वाला रजत शर्मा खुद मोहाली में एक वकील की हत्या के मामले में आरोपी है। मामले में शिकायतकर्ता रजत का भाई अंकुश था।
पुलिस को दी शिकायत में उसने कहा था कि 11 अगस्त 2012 की रात करीब साढ़े 10 बजे वह और रजत सेक्टर-45 स्थित दुकान बंद कर पार्किंग में खड़ी कार की ओर जा रहे थे। रजत आगे चल रहा था और अंकुश उससे कुछ पीछे था।

इसी बीच एक गाड़ी में से 4-5 युवक उतरे और रजत पर हमला कर दिया। हमलावर स्लगर और डंडों से लैस थे। इनमें मोंटी शाह और लारेंस बिश्नोई के अलावा अन्य शामिल थे। अंकुश रजत को बचाने आया तो सभी आरोपी वहां से फरार हो गए। रजत और अंकुश के बयान के आधार पर पुलिस ने माेंटी शाह और लारेंस बिश्नोई के खिलाफ केस दर्ज किया था। 


 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कार जलाने और धमकाने के मामले में हो चुका है बरी 

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us