विज्ञापन

रिश्तेदारों ने मांगी थी रंगदारी

शामली/अमर उजाला/ब्यूरो Updated Mon, 03 Sep 2018 11:58 PM IST
arrest
arrest - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
शामली। शहर के एक व्यापारी से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। एसटीएफ, स्वॉट टीम और शामली कोतवाली पुलिस ने रंगदारी मांगने के पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। व्यापारी से कुख्यात बदमाश सुनील राठी के नाम से रंगदारी मांगी गई थी। गिरफ्तार पांच आरोपियों में से तीन नजफगढ़ (दिल्ली) और दो मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। आरोपियों में तीन पीड़ित व्यापारी के रिश्तेदार हैं, जिन्होंने व्यापार में घाटा होने पर रंगदारी मांगने का षड्यंत्र रचा था।  
विज्ञापन
सोमवार को कैराना रोड स्थित कैंप कार्यालय पर प्रेसवार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने बताया कि शामली की कमला कालोनी निवासी उद्यमी परमानंद शर्मा से करीब एक माह पूर्व एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। रंगदारी कुख्यात बदमाश सुनील राठी के नाम का सहारा लेकर चिट्ठी भेजकर और कॉल करके मांगी गई थी। इस मामले में शामली कोतवाली में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी।

मामले की जांच करने के लिए स्वॉट टीम, सर्विलांस टीम के साथ ही एसटीएफ टीम भी लगी हुई थी। मुखबिर से सूचना मिलने पर सोमवार सुबह करीब साढ़े चार बजे शामली में मेरठ रोड से पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों के कब्जे से एक पिस्टल 32 बोर, कारतूस, मोबाइल फोन और दो सिम कार्ड बरामद हुए। गिरफ्तार आरोपी सचिन और नितिन पीड़ित व्यापारी परमानंद के साले के बेटे हैं, जबकि तीसरा आरोपी देवभूषण उर्फ मोनू भी इनका रिश्तेदार है।

गिरफ्तार पांचों आरोपियों को दोपहर बाद न्यायालय में पेश करके जेल भेज दिया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार करने में शामिल पुलिस टीम को पुरस्कृत किया जाएगा।  वहीं, इसके अलावा पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सचिन और नितिन पीड़ित व्यापारी परमानंद शर्मा के साले के बेटे हैं। इन दोनों ने पहले तो सुनार की दुकान खोली थी, जो फेल हो गई। इसके बाद इंवर्टर  बैटरी का व्यापार किया था, उसमें भी घाटा आ गया और करीब              एक करोड़ रुपये की देनदारी हो गई थी।

इसी के चलते आरोपी सचिन ने अपने फूफा परमानंद से रंगदारी मांगने का षड्यंत्र रचा था। रंगदारी मांगने में लगाया खूब दिमाग : पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया कि बागपत की जेल में कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या का मामला होने पर उन्होंने कुख्यात बदमाश सुनील राठी के नाम का सहारा लेकर रंगदारी मांगने का प्लान बनाया। इसके बाद हरिद्वार से एक सिम कार्ड खरीदा, जिससे व्यापारी परमानंद को धमकी दी गई। उस सिम कार्ड को तोड़कर गंगनहर में फेंक दिया था। इसके बाद एक सिम कार्ड मेरठ से खरीदा और उससे कॉल करके धमकी दी गई। इसके बाद चिट्ठी भेजकर रंगदारी की मांग की गई थी। 

विकास ने बताया था रंगदारी मांगने का तरीका

व्यापारी से एक करोड़ रुपये रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तार आरोपी अनिल और सचिन ने बताया कि मुजफ्फरनगर के ककरौली थाना क्षेत्र के रहने वाले विकास ने रंगदारी मांगने के तरीका बताया था। सचिन और अनिल की मुलाकात मुजफ्फरनगर में विकास से हुई थी। विकास ने उन्हें बताया था कि पहले तो एक सिम कार्ड खरीदकर हरिद्वार से कॉल करनी है और फिर मेसेज भेजना हैं। इसके बाद मेरठ से दूसरा सिमकार्ड खरीदकर कॉल करनी है तथा फिर चिट्ठी भेजनी है। बकौल अनिल उसको विकास ने बताया था कि कॉल करने पर खुद को राठी बताना। अनिल ने यह भी बताया कि उसे रंगदारी की धमकी देने के लिए कॉल करने और चिट्ठी भेजने के लिए 50 हजार रुपये मिलने थे। इसके चलते पुलिस अब विकास को गिरफ्तार करने के प्रयास में भी लग गई है।

गिरफ्तार आरोपी

1. सचिन पुत्र देवराज जांगडा निवासी मकान नंबर 144/145 अभय पार्क नया बाजार नजफगढ़ (दिल्ली)
2. नितिन पुत्र देवराज जांगड़ा निवासी मकान नंबर 144/145 अभय पार्क नया बाजार नजफगढ़ (दिल्ली)
3. देवभूषण उर्फ मोनू पुत्र ब्रजपाल जांगड़ा निवासी मकान नंबर 1050 मैन बाजार नजफगढ़ (दिल्ली)
4. पुष्पेंद्र उर्फ बबलू पुत्र धर्मवीर निवासी भोकरहेड़ी थाना भोपा, मुजफ्फरनगर  
5. अनिल पुत्र दलबीर निवासी मोहपुर थाना ककरौली, मुजफ्फरनगर

अनिल और मोनू का है आपराधिक रिकार्ड 
रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तार अनिल और देवभूषण उर्फ मोनू का पुराना आपराधिक रिकार्ड बताया गया है। पुलिस के मुताबिक अनिल ने कुछ समय पूर्व देहरादून में रूपेश त्यागी नामक बदमाश के इशारे पर व्यापारी से रंगदारी मांगी थी। उसका मुकदमा देहरादून में दर्ज है। देहरादून जेल में ही अनिल की मुलाकात रूपेश त्यागी से हुई थी। इसके अलावा देवभूषण उर्फ मोनू की नजफगढ़ के एक बदमाश मोहित के गैंग से अदावत चल रही है, जिसमें मोनू के खिलाफ जानलेवा हमला का मामला भी दर्ज है। 

एक आरोपी पूर्व में भेजा जा चुका है जेल

व्यापारी से रंगदारी मांगने के मामले में शामली कोतवाली पुलिस ने पूर्व में मिथुन पुत्र गजेंद्र निवासी देवीपुरा थाना ज्वालापुर (हरिद्वार) को गिरफ्तार कर लिया था। उसको न्यायालय में पेश करके जेल भेज दिया था।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shamli

कारोबारी ने गोली मारकर आत्महत्या की

शामली में कई सामाजिक और धार्मिक संगठनों से जुड़े प्रिंटिंग प्रेस संचालकविजय संगल ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से कनपटी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

20 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

भगवान राम के कहने पर मुस्लिम शख्स ने अपनाया हिंदू धर्म, बेटे का भी बदला नाम!

शामली में धर्म परिवर्तन का एक अलग ही मामला सामने आया है। यहां पर एक मुस्लिम शख्स ने हिंदू धर्म अपना लिया है, अपने साथ ही बेटे का नाम भी बदल दिया है। धर्म परिवर्तन करने वाले की माने तो उसे ऐसा करने के लिए भगवान राम ने कहा है। देखिए, ये रिपोर्ट।

3 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree