बाईपास निर्माण में आएगी तेजी, रायबरेली-प्रयागराज हाईवे से पेड़ हटवाने का काम शुरू

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Thu, 25 Nov 2021 12:18 AM IST
Bypass construction will accelerate, the work of removing trees from Rae Bareli-Prayagraj highway will start
विज्ञापन
ख़बर सुनें
रायबरेली। लखनऊ-प्रयागराज हाईवे पर बनने वाले बाईपास का निर्माण अब रफ्तार पकड़ेगा। हाईवे के किनारे लगे 3300 पेड़ों को हटाने का काम शुरू हो गया है।
विज्ञापन

‘अमर उजाला’ में खबर छपने के बाद वन विभाग ने कार्य शुरू करा दिया है। इसमें 2500 पेड़ों को दूसरी जगह शिफ्ट करने की तैयारी है। जबकि शेष 1300 पेड़ों को वन निगम कटवाएगा।
वन विभाग अभी इन पेड़ों को हाईवे और शारदा सहायक नहर के बीच लगवा रहा है। इसके अलावा इन पेड़ों को एम्स और अन्य वन ब्लॉकों और राजमार्गों के किनारे लगवाया जाएगा।

रायबरेली-प्रयागराज हाईवे पर जिले की सीमा में आने वाले जगतपुर, बाबूगंज और ऊंचाहार बाईपास का निर्माण कराया जाना है। इन बाईपासों और हाईवे पर करीब 3300 पेड़ हटाए व काटे जाने हैं।
एनएचएआई के अफसरों का दावा है कि पेड़ हटाने और काटने के लिए वन विभाग और वन निगम को एक करोड़ नौ लाख रुपये दे दिए गए हैं।
इसके बाद वन विभाग ने पेड़ हटवाने का काम शुरू कर दिया है। जगतपुर के पहले हाईवे के किनारे वाले पेड़ों को जेसीबी और हाईड्रा की मदद से उखाड़कर शारदा सहायक और हाईवे के बीच में गड्ढे खोदवाकर लगवाया जा रहा है।
....तो क्या फिर से हरे-भरे हो पाएंगे ये पेड़
वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि 2500 पेड़ों को हटाने और दूसरी जगह शिफ्ट कराने के लिए जिस तरह से कवायद चल रही है, उससे नहीं लगता कि ये छोटे-बड़े पेड़ फिर से हरे हो पाएंगे। जेसीबी से खुदाई में ही पेड़ों की काफी जड़ें कट जाती हैं।
उसके बाद हाईड्रा से ऊपर उठाने में मुख्य जड़ टूट जाती है। कृषि विज्ञान केंद्र दरियापुर के उद्यान वैज्ञानिक डॉ. एसबी सिंह ने का कहना है कि वैसे तो बरसात के समय वायु में आर्द्रता (नमी) रहती है। इस दौरान पेड़ लगाने से नई पत्तियां निकल आती हैं। यह समय इस कार्य के अनुकूल नहीं है, क्योंकि मौसम विपरीत है। इसके अलावा जड़ों से मिट्टी नहीं हटनी चाहिए।
पूरी सुरक्षा के साथ लगवाए जा रहे पौधे
रायबरेली-प्रयागराज हाईवे पर वन विभाग को 2500 हजार पौधे दूसरी जगह शिफ्ट करना है। 40 सेंटीमीटर से अधिक मोटे पेड़ों को वन निगम कटवाएगा। बाकी को शिफ्ट कराया जाएगा। उनका दावा है कि पेड़ उखाड़ने से लेकर लगाते समय तक में पूरी सुरक्षा का ध्यान दिया जा रहा है।
-सुरेश कुमार पांडेय, जिला वन अधिकारी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00