विज्ञापन

जेल में निरुद्ध बंदी ने इलाज के दौरान तोड़ा दम

Allahabad Bureau Updated Sun, 09 Sep 2018 07:48 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जेल में निरुद्ध बंदी ने इलाज के दौरान तोड़ा दम
विज्ञापन
गांजा व स्मैक में रानीगंज पुलिस ने भेजा था जेल
दो दिन पहले ज्यादा खराब हुई थी तबियत
अमर उजाला ब्यूरो
प्रतापगढ़। जेल में निरुद्ध बंदी की इलाज के दौरान इलाहाबाद के एसआरएन अस्पताल में मौत हो गई। खबर मिलने पर जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया। जेल प्रशासन भी इलाहाबाद पहुंचा। पोस्टमार्टम के बाद लाश परिजनों के हवाले अंतिम संस्कार के लिए कर दी गई।
रानीगंज थाना क्षेत्र के पचरास रहने वाले दिनेश कुमार ऊमरवैश्य उर्फ बच्चा (32) को रानीगंज पुलिस ने 26 जुलाई को चार लोगों के साथ स्मैक व गांजा में चालान भेजा था। जिसके बाद वह जेल में निरुद्ध था। गुरूवार की रात उसकी तबियत खराब होने लगी। उसे जेल अस्पताल ले जाया गया। सुधार न होने पर उसे जिला अस्पताल लाया गया। शनिवार को डाक्टरों ने उसे इलाहाबाद भेज दिया। एसआरएन में इलाज के दौरान भोर में उसकी मौत हो गई। यह खबर जेल प्रशासन के पास पहुंची तो हडक़ंप मच गया। परिवार के लोग भी रोते बिलखते इलाहाबाद भागे। जेल प्रशासन ने बंदी दिनेश के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। देर शाम पोस्टमार्टम के बाद वीडियोग्राफी के बीच शव परिवार के लोगों के सुपुर्द कर दिया गया। परिजन शव लेकर घर के लिए रवाना हो गए। प्रभारी जेल अधीक्षक आरपी चौधरी का कहना है कि जेल आने से पहले वह पूरी तरह नशे की गिरफ्त में था। ऐसे में वह एनीमिया का शिकार हो गया। खून की कमी के चलते वह अक्सर बीमार हो जाता था। उसे उपचार के लिए इलाहाबाद ले जाया गया। जहां उसकी मौत हो गई।
इनसेट----
नशे के चलते पत्नी से हो गया था अलगाव
रानीगंज थाना क्षेत्र के पचरास का रहने वाला दिनेश उर्फ बच्चा कई सालों से नशे की गिरफ्त में आ चुका था। इससे परिवार के लोग भी आजिज हो चुके थे। उसकी शादी पांच साल पहले हुई थी, मगर उसकी हरकतों से तंग आकर पत्नी अपने मायके चली गई। दोनों के रिश्ते को लेकर समाज के लोगों की पंचायत हुई। शादी के एक साल बाद ही उनके बीच अलगाव हो गया था। पत्नी उसकी हरकतों से तंग हो चुकी थी।
इनसेट-----
नशे में बर्बाद कर दी थी दुकान
रानीगंज के पचरास के रहने वाले दिनेश उर्फ बच्चा अपनी नशे की पूर्ति के लिए घर के लोगों के सामान भी चोरी चुपके से उड़ा देता था। थोक किराने की दुकान को भी नुकसान पहुंचाया था। परिवार के लोग उससे आजिज आ गए थे। तीन भाइयों में मझले दिनेश के दो बहनें हैं। बाजार के कुछ साथियों की संगत ने उसका जीवन बर्बाद कर दिया था।
इनसेट------
चार लोगों को पुलिस ने भेजा था जेल
रानीगंज पुलिस ने 26जुलाई को मादक पदार्थों के साथ पकड़े गए दिनेश समेत चार लोगों को जेल भेजा था। दिनेश के साथ मिथुन निवासी देवकली, श्यामबाबू निवासी रूपीपुर और सईद निवासी सवैया को भी जेल भेजा गया था। दिनेश के पास से एक किलो गांजा व 10 पुड़िया स्मैक बरामद होना दिखाया गया था।


व्यापार मंडल के गठन पर आक्रोश
कोहड़ौर। स्थानीय बाजार के व्यापार मंडल के गठन को लेकर व्यापारियों में आक्रोश है। लोगों का आरोप है कि बिना सूचना के व्यापार मंडल गठन कर लिया गया। संगठन का गठन सभी की मौजूदगी में होना चाहिए। इस मौके पर आशीष तिवारी, शशिभूषण पांडेय, आनंद जायसवाल, कृष्णकुमार, राजेश सोनी, दिनेश समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Pratapgarh

बेकाबू ट्रेलर ने युवक समेत ममेरी बहन को रौंदा, मौत

नगर कोतवाली इलाके में सोमवार को बेकाबू ट्रेलर ने बाइक सवार युवक और उसकी ममेरी बहन को रौंद दिया। इससे दोनों की मौत हो गई, जबकि साथ रहा बालक जख्मी हो गया। उसकी हालत गंभीर देख डाक्टरों ने प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया।

12 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: ग्रामीणों की शिकायत पर CM योगी ने मंच पर ही लगाई अफसरों को फटकार

लोगों की समस्याएं और सरकार की योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रतापगढ़ पहुंचे। यहां सीएम ने लोगों की शिकायत पर अफसरों को जमकर फटकार लगाई।

24 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree