धुंध छंटी, दमघोंटू हवा का कहर जारी

मुरादाबाद/अमर उजाला ब्यूरो Updated Fri, 10 Nov 2017 01:43 AM IST
dam ghotu hava ka kahar jari
कोहरे में पहुंच रही ट्रेन। - फोटो : amar ujala
मुरादाबाद में तीन दिनों से छाई प्रदूषणकारी धुंध बृहस्पतिवार की दोपहर के बाद छंट गई। लेकिन हवा में घुला जहर में मामूली कमी आई है।फिलहाल प्रदेश के सबसे दूषित शहरों में गुरुवार को मुरादाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक 414 प्रति घन मीटर दर्ज किया गया जो छठे नंबर पर रहा। विशेषज्ञों के अनुसार वायु प्रदूषण की स्थिति किसी भी स्वस्थ व्यक्ति को बीमार करने के लिहाज से अभी भी खतरनाक है।
पिछले तीन दिन से वातावरण में छाई धुंध की परत मुरादाबाद वासियों के लिए चिंता का सबब बनी हुई है। गुरुवार को सुबह धुंध छंटने के बाद धूप निकली लेकिन हवा काफी जहरीली है। इसकी वजह यह है कि यहां अभी भी गिरावट दर्ज करने के बावजूद एक्यूआई चार सौ प्रति घन मीटर से ऊपर आ रहा है।

वैज्ञानिकों का मानना है कि मौसम में आए बदलाव और स्थिर हुई हवा ने जिले को वायु प्रदूषण और धुंध की चपेट में ला दिया है। हवा के स्थिर होने की वजह से प्रदूषण बढ़ाने वाले धूल और हानिकारक गैसों के कण छंट नहीं पा रहे हैं। यही वजह है कि हानिकारक कण हवा में मौजूद हैं।

पर्यावरणविद् डॉ. अनामिका त्रिपाठी ने बताया कि यह हवा सामान्य व्यक्ति को भी लंबे समय तक संपर्क में रहने पर बीमार बना सकती है। इससे आंखों में जलन और सांस की बीमारी से लेकर हाइपरटेंशन, उच्च रक्तचाप जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अस्थमा के मरीजों को प्रदूषित हवा में जाने से बचना चाहिए।

गैस चैंबर बने हुए प्रदेश के शहर
शहर            सात नवंबर   आठ नवंबर   नौ नवंबर

मुरादाबाद       500               439       414
वाराणसी        291               318       358

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Shimla

भर्ती के लिए इंटरव्यू को लेकर जयराम सरकार ने लिया ये फैसला

जयराम सरकार भी तृतीय और चतुर्थ श्रेणियों के कर्मचारियों की भर्ती के लिए इंटरव्यू नहीं लेगी।

23 फरवरी 2018

Related Videos

मुरादाबाद में मासूम ने आत्महत्या की! परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

मुरादाबाद के भगतपुर में 14 वर्षीय छात्र ने मदरसे में खुद को फांसी लगाकर जान दे दी। घटना के बाद से इलाके में सन्नाटा पसरा हुआ है। स्थानीय लोगों की माने तो इस क्षेत्र में ऐसी ये पहली घटना है।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen