पिछले वर्ष से 17.33 फीसदी बारिश कम, अक्तूबर के प्रथम सप्ताह तक बढ़ सकता है मानसून

Moradabad  Bureau मुरादाबाद ब्यूरो
Updated Tue, 21 Sep 2021 01:41 AM IST
17.33 percent less rain than last year, monsoon may increase till first week of October
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मुरादाबाद। मौसम विभाग ने इस वर्ष मानसून अक्तूबर माह के प्रथम सप्ताह तक बढ़ने की संभावना व्यक्त की है। वैज्ञानिकों का कहना है कि बार-बार मानसून सक्रिय होने की वजह से यह उम्मीद है। हालांकि अभी तक हुई बारिश पिछले वर्ष के मुकाबले 17.33 फीसदी कम है। ऐसे में संभावना है कि आने वाले दिनों मेें यह बारिश सामान्य स्थिति तक पहुंच सकती है।
विज्ञापन

पंत नगर विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ. आरके सिंह ने बताया कि इस सप्ताह में कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। हालांकि आगे की दिनों की स्पष्ट स्थिति मंगलवार को जारी होने वाले पूर्वानुमान स्पष्ट हो जाएगा।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अभी 30 सितंबर तक मानसून की विदाई की घोषणा की है, लेकिन जिस तरह से बार-बार मानसून सक्रिय हो रहा है और दिल्ली व लखनऊ में पिछले दिनों में भारी बारिश हुई है, उससे अनुमान व्यक्त किया जा रहा है कि मानसून का सीजन अक्तूबर माह के प्रथम सप्ताह तक बढ़ सकता है। अभी तक सामान्य से बारिश कम है, लेकिन उम्मीद व्यक्त की जा रही है कि बारिश सामान्य स्थिति तक हो जाएगी।
इस वर्ष मानसून समय से एक सप्ताह पहले 18 जून शहर में आ गया था और मौसम विभाग ने सामान्य बारिश होने की संभावना व्यक्त की थी। मानसून का अब अंतिम चरण चल रहा है, लेकिन मुरादाबाद में पिछले वर्ष के मुकाबले अभी भी 17.33 फीसदी बारिश कम हुई है। 19 सितंबर तक मुरादाबाद में बारिश 818.5 मिली मीटर बारिश हुई है, जो पिछले वर्ष 990 मिली मीटर बारिश के मुकाबले 82.67 फीसदी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00