बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

हाथरस कांड : सफाई कर्मी हड़ताल पर, नहीं हो सकी शहर की सफाई

Meerut Bureau मेरठ ब्यूरो
Updated Fri, 02 Oct 2020 01:54 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
हाथरस कांड : सफाई कर्मी हड़ताल पर, नहीं हो सकी शहर की सफाई
विज्ञापन

मेरठ। हाथरस कांड को लेकर बृहस्पतिवार को सफाई कर्मचारी सांकेतिक हड़ताल पर रहे और शहर की सफाई नहीं की। डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन कार्य भी प्रभावित रहा। सफाई कर्मियों ने नगर निगम कार्यालय पर धरना देकर सरकार को कोसा। सिटी मजिस्ट्रेट को छह सूत्रीय मांग का ज्ञापन देकर धरना खत्म कर दिया। निगम अधिकारियों ने आउटसोर्स कर्मियों से सिविल लाइन क्षेत्र में सफाई कराने की कोशिश की। कर्मचारी नेताओं ने सफाई बंद करा दी। दोपहर बाद ढ़लावघरों से कूड़ा उठाया गया।
हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता की दर्दनाक मौत पर बृहस्पतिवार को नगर निगम के सफाई कर्मियों ने एक दिन की सांकेतिक हड़ताल और शहर की सफाई व्यवस्था ठप रखने का एलान किया था। सुबह न तो कहीं झाड़ू लगी और न ही गलियों से कूड़ा ही उठा। संयुक्त सफाई कर्मचारी संघर्ष समिति के बैनर तले सफाई कर्मियों ने नगर आयुक्त कार्यालय पर धरना दिया। सफाई कर्मियों के समर्थन में अन्य कर्मचारी भी शामिल हुए। निगम में कार्य ठप हो गया।

डीएस-4 के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश चंद गैरा, उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ अध्यक्ष राजू धवन और महामंत्री कैलाश चंदौला ने हाथरस कांड के लिए प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए नारेबाजी की। धरने पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट को कर्मचारियों ने ज्ञापन सौंपा। जिसमें पीड़िता के आरोपियों और दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई, मामले की जांच सीबीआई से कराने, पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये व एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने आदि की मांग की।
सपा नेताओं ने भी दिया समर्थन
सपा नेताओं ने भी धरने पर पहुंचकर सफाई कर्मचारियों का समर्थन करने का एलान किया। पूर्व विधायक प्रभु दयाल वाल्मीकि और गुलाम मोहम्मद ने कहा कि प्रदेश में जंगलराज है। यहां बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। इस मौके पर मोहम्मद अब्बास, जयवीर सिंह, चैतन्य देव स्वामी आदि सपा नेता शामिल रहे।
राहुल-प्रियंका की गिरफ्तारी से नाराज कांग्रेसियों का हंगामा
मेरठ। दुष्कर्म पीड़िता के परिवार को सांत्वना देने हाथरस जा रहे राहुल और प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किए जाने के बाद यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं में आक्रोश फैल गया। कार्यकर्ताओं ने सड़क पर निकलकर गिरफ्तारी का जमकर विरोध जताया।
महानगर उपाध्यक्ष सलीम पठान और पंडित नवनीत नागर ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार तानाशाही पर उतर आई है। राहुल और प्रियंका गांधी मृतका के परिजनों को सांत्वना देने जा रहे थे, उन्हें रोककर गिरफ्तार किया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। इसी बीच सूचना मिली कि राहुल व प्रियंका को कार्यकर्ताओं सहित रिहा कर दिया गया है। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ता लौट गए। इस मौके पर सैयद सलीमुद्दीन शाह, आशाराम, मुजीब उर रहमान, आस्था वर्मा, मासूम असगर, तेजपाल सिंह, नईम राणा, हाशिम अंसारी, विनोद सोनकर, अंकित कुमार वाल्मीकि, अंसार अहमद, इशरत कुरैशी, शमसुद्दीन चौधरी, जिया उर रहमान, वसीम अंसारी मौजूद रहे।
दुष्कर्म और हत्या करने वालों पर हो कड़ी कार्रवाई
मेरठ। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी के गेट पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस मौके पर अभाविप की सहमंत्री अंजली चौधरी, प्रदेश संगठन मंत्री महेश राठौर, उत्तम सैनी, अंशु शर्मा, हंस चौधरी, राहुल विकल, सनी तोमर, अंकित स्वामी, अंबर अग्रवाल, अभिषेक मौर्य, सौरभ भाटी, सनी मोदी, आदित्य हून आदि रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us