विज्ञापन
विज्ञापन

लाखों रुपये की लागत से तैयार सचिवालय हैं बदहाल

Jhansi Bureauझांसी ब्यूरो Updated Wed, 12 Sep 2018 01:45 AM IST
ख़बर सुनें
लाखों रुपये की लागत से तैयार सचिवालय हैं बदहाल
विज्ञापन
विज्ञापन
उठ रहे ग्रामीण सचिवालयों के अस्तित्व पर सवाल
ग्रामीणों ो नहीं मिल पाती योजनाओं की जानकारी
किसी में बांधे जा रहे जानवर तो किसी में रखे जा रहे कंडे और भूसा
अमर उजाला ब्यूरो
सिलावन (ललितपुर)। ग्रामीण इलाकों में पंचायती राज कायम करने के उद्देश्य से ग्राम पंचायतों में ग्रामीण सचिवालय भवन का निर्माण कराया गया हैं। लेकिन ग्रामीण इन सचिवालय भवनों के अस्तित्व पर सवाल उठा रहे हैं। वजह हैं कई ग्राम पंचायतों में सचिवालय भवनों के निर्माण के बाद भी आज तक ताले तक नहीं खुले हैं। किसी भवन में जानवर आदि बंधे हैं तो किसी में कंडे, भूसा आदि रखा हुआ हैं। ऐसी स्थिति में ग्रामीणों को योजनाओं की जानकारी के लिए मुख्यालय तक जाना पड़ता हैं। अधिकारियों की उदासीनता के चलते सरकार की मंशा पर पानी फिरता दिखाई दे रहा हैं।
ग्रामीण इलाकों में अधिकारियों के पहुंचने पर अक्सर गांव से संबंधित अभिलेखों के मौके पर न होने की कमी अखरती रही हैं। गांव से संबंधित तमाम निर्णय इसी वजह से नहीं हो पाते हैं। ऐसे में पंचायतीराज की मंशा भी अपूर्ण रह जाती हैं। इन हालातों से उबरने के लिए भारत सरकार ने ग्रामीण इलाकों में सचिवालय निर्माण का निर्णय लिया। निर्माण के िलिए ग्राम पंचायतों ने स्थानों का चयन किया और सरकार ने सोलह लाख पचास हजार रुपये प्रति सचिवासलय की लागत से धनराशि जिला पंचायत को सौंप दी। जनपद की लगभग चार सौ ग्राम पंचायत में सचिवालय भवनों का निर्माण कार्य हुए कई वर्ष व्यक्ति हो गए, लेकिन अधिकतर ग्राम पंचायतों में सचिवालय के ताले तक नहीं खुले हैं। निर्मित सचिवालय जहां गौशाला आदि बनकर रह गए हैं। वही कंडे, भूसा आदि रखने के लिए सुरक्षित स्थान भी बने हुए हैं। गांव में सचिवालय भवन होने के बाद भी उसका उपयोग नहीं करने के चलते ग्रामीण उसके अस्तित्व पर सवाल उठा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना हैं कि सचिवालय में कामकाज नहीं होने के कारण एक तो उन्हें योजनाओं की जानकारी नहीं होती हैं दूसरा अधिकारी व जनप्रतिनिधि गुपचुप तरीके से खुली बैठक कर लेते हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन में कितनी पारदर्शिता होगी। इतना ही नहीं कई पंचायतों के ग्रामीण तो सचिवालय निर्माण की गुणवत्ता पर भी सवालिया निशान लगाते हैं। जानकारी तो यहां तक हैं कि कई सचिवालय भवनों में फर्नीचर स्थापना के नाम पर भी धननिकासी हो चुकी हैं, लेकिन उक्त भवनों का फर्नीचर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के घरों की शोभा बढ़ा रहा हैं। ग्रामीणों ने उच्चाधिकारियों का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराया हैं।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lalitpur

सदनशाह क्षेत्र में खूब हुआ उपद्रव, मारपीट, मुकदमा दर्ज

सदनशाह क्षेत्र में खूब हुआ उपद्रव, मारपीट, मुकदमा दर्ज

21 अप्रैल 2019

विज्ञापन

अलीगढ़ के रोडवेज दफ्तर में छलके जाम, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अलीगढ़ डिपो में कर्मचारियों के शराब पीने का वीडियो हुआ वायरल। देखें वीडियो।

21 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election