शहर में बिजली कटौती से मची त्राहि-त्राहि

अमर उजाला ब्यूरो लखीमपुर खीरी। Published by: Updated Wed, 19 Jul 2017 11:00 PM IST
विज्ञापन
बिजली
बिजली - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
फीडरों पर ओवरलोड होने से बढ़ गई ट्रिपिंग 
विज्ञापन

लो-वोल्टेज से कूलर, पंखे, फ्रिज, एसी हुए बेदम

 दो दिन से हो रही अघोषित बिजली कटौती से शहर में बिजली को लेकर त्राहि-त्राहि मची हुई है। रही सही कसर लो-वोल्टेज ने पूरी कर दी है। इसके चलते बिजली उपकरण काम नहीं कर रहे हैं। मंगलवार की रात को करीब आठ बजे से बिजली की ट्रिपिंग बढ़ गई, जिसके बाद दो घंटे की इमर्जेंसी कटौती की गई। रात भर भीषण गर्मी से लोग पसीना-पसीना रहे। वहीं मोहल्ला हिदायतनगर में ट्रांसफार्मर खराब होने से बिजली सप्लाई बाधित रही। खीरी टाउन में अज्ञात वाहन के धक्के से बिजली का खंभा गिर गया, इससे रात में सप्लाई बाधित रही। वहीं तहसील मुख्यालयों पर 18 घंटे की सप्लाई में सात से आठ घंटे इमर्जेंसी कटौती की जा रही है। 
गर्मी का पारा बढ़ते ही शहर से लेकर गांवों में बिजली सप्लाई पटरी से उतर गई है, जिसका कारण उपकेंद्र नई बस्ती, गढ़ी और छाउछ के फीडरों पर ओवरलोडिंग होना बताया जा रहा है। जबकि कुछ माह पहले ही गढ़ी उपकेंद्र की क्षमता में पांच एमवीए की वृद्धि की गई थी, लेकिन इससे भी शहरवासियों को राहत नहीं मिली है। बुधवार को दिन भर बिजली की आवाजाही लगी रही। शाम को आठ बजे से एकाएक कटौती बढ़ गई, इस दौरान लो-वोल्टेज की समस्या बढ़ गई। रात 11.50 बजे से 1.50 बजे तक इमर्जेंसी रोस्टिंग की गई। तब तक लोगों के घरों में इन्वर्टर भी बैठ चुके थे। लिहाजा रात भर लोग पसीना-पसीना रहे। इससे पानी की किल्लत से शहरवासियों को जूझना पड़ा, तो छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हुई है। जिन घंटों में सप्लाई मिलती भी है, तो लो-वोल्टेज से बिजली उपकरण काम ही नहीं कर पा रहे हैं। वाटर पंप, फ्रिज, एसी, कूलर और पंखे बेजान साबित हो रहे हैं। विभागीय अधिकारी इस समस्या के आगे खुद को लाचार महसूस कर रहे हैं। जेई डीएस चौहान ने बताया कि छाउछ में 33केवीए लाइन में फाल्ट आई थी। हिदायतनगर में 400 केवीए का ट्रांसफार्मर फुंका था, जिसे बदल दिया गया है। 

 
क्षमता बढ़ाई पर फीडर नहीं बने
गढ़ी उपकेंद्र पर क्षमता बढ़ाकर 20 से 25 एमवीए कर दी गई है, जिसके बाद दो नए फीडर बनाए जाने थे। अभी तक फीडर बनाने के लिए काम शुरू नहीं कराया जा सका है। इससे भी फीडरों पर ओवरलोड की समस्या हुई है। 
 
ग्रिड से सप्लाई कम हुई है, जिससे वोल्टेज गिरा हैै। लो-वोल्टेज होने से लाइनों में करंट बढ़ जाती है। इससे तार गर्म होकर स्पार्किंग से टूट रहे हैं। इस वजह से शहर में ट्रिपिंग की समस्या गहराई है और फीडर ओवरलोड होने पर सिस्टम को बचाने के लिए कटौती करनी पड़ रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में छह से सात घंटे इमर्जेंसी रोस्टिंग की जा रही है। 
रजनीकांत मिश्रा, अधिशाषी अभियंता
 
कटौती के विरोध में नागरिकों ने किया प्रदर्शन
अमीरनगर। कस्बे में बिजली कटौती से परेशान उपभोक्ताओं का गुस्सा शांत नहीं हुआ है। बुधवार को उपभोक्ताओं ने बिजली विभाग के अधिकारियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। लोगों का आरोप है कि एक संविदा कर्मी की लापरवाही के चलते काफी दिनों से जला ट्रांसफार्मर नहीं बदला गया है, जिससे कई गांवों की बिजली बाधित है। कस्बे के कबीर खा, हसीब बेग, हसीन बेग, शालू, सलमान, आरिफ खां सहित लोगों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से ट्रांसफार्मर बदलवाने की मांग की है। इधर कस्बे का मेन ट्रांसफार्मर भी कई दिनों से फुंका पड़ा है, जिसे बदला गया लेकिन चला नहीं। इससे बाजार मोहल्ले की बिजली गुल है।
मैलानी। योगी सरकार का 18 घंटे बिजली देने का दावा पूरी तरह फेल साबित हो रहा है। पिछले 24 घंटे में बमुश्किल आठ घंटे बिजली ही मिल सकी है। मंगलवार की रात को बारह बजे बिजली आई और डेढ़ घंटे बाद चली गई। रात भर बिजली गायब रहने से लोगों की नींद उड़ गई। वहीं बिजली उपकरण शोपीस बनकर रह गए हैं। क्योंकि लो वोल्टेज की समस्या भी पैदा हो गई है। 
हैरमखेड़ा। कई दिनों से बिजली व्यवस्था बदहाल है। कभी तार टूटने तो कभी उपकेंद्र से तकनीकी खराबी के चलते आपूर्ति ठप रहती है। इससे किसानों की परेशानियां बढ़ गई हैं। धान रोपाई के बाद सिंचाई के अभाव में फसलें सूख रही हैं। किसानों के नलकूप नहीं चल पा रहे हैं। सेमराघाट, चपरतला, निजामपुर, बाइकुआं, हैरमखेड़ा मेें जमकर बिजली कटौती हो रही है। 15 मिनट बाद ट्रिपिंग होती रहती है। 

ट्रांसफार्मर जलने से मची अफरा-तफरी      
    
निघासन। स्थानीय चौराहे पर ट्रांसफार्मर जलने से अफरातफरी मच गई। करीब आधे घंटे तक धुंआ उठता रहा। इस दौरान ट्रांसफार्मर  में भरा तेल भी सड़क पर जा गिरा।      
कस्बे को बिजली सप्लाई करने के लिए स्थानीय चौराहे के पश्चिम तरफ ट्रांसफार्मर रखा है। व्यापार मंडल अध्यक्ष अशोक चौबिया ने बताया कि आए दिन ट्रांसफार्मर जलने से लोग परेशान हैं। खुले में ट्रांसफार्मर रखा होने के कारण उसमें करंट आदि लगने का भी डर बना रहता है। बुधवार की दोपहर करीब तीन बजे ट्रांसफार्मर ने जोरदार आवाज की और जलने लगा। आवाज होने के कारण चौराहे पर अफरातफरी मच गई। किसी ने ट्रांसफार्मर फुंकने की सूचना बिजली विभाग को दी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X