विज्ञापन

भारत बंद का दोआबा में रहा मिलाजुला असर

अमर उजाला ब्यूरो,कौशाम्बी Updated Tue, 11 Sep 2018 01:22 AM IST
कौशाम्बी
कौशाम्बी - फोटो : अमर उजाला ब्यूरो, कौशाम्बी
विज्ञापन
ख़बर सुनें
विपक्ष के भारत बंद के आह्वान का जिले में मिलाजुला असर रहा। मुख्यालय में कांग्रेस तो सिराथू में सपा कार्यकर्ताओं ने बंद की अगुवाई की। सड़क पर जुलूस निकालने के साथ ही धरना देकर केंद्र सरकार की नीतियों पर भड़ास निकाली। अंत में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अफसरों को सौंपा।
विज्ञापन
सोमवार को मंझनपुर में धरने और बंद की अगुवाई कांग्रेस जिलाध्यक्ष तलत अजीम ने की। जिलाध्यक्ष ने कहा भाजपा शासन काल में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बेहिसाब बढ़ोतरी हुई है। अच्छे दिन लाने का सब्जबाग दिखाकर सत्ता में आई भाजपा सरकार ने किसान, युवा, मजदूर और महिलाओं को छला है। आज अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 50 से 60 डालर प्रति बैरल है। इसके बाद भी पेट्रोल 80 से 85 व डीजल 72 से 75 रुपये के पार हो गया। केंद्र सरकार 11 लाख करोड़ की कमाई की। धरना की सूचना पर एडीएम राकेश श्रीवास्तव मंझनपुर चौराहे पर पहुंचे। कांग्रेसियों ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर रामबहादुर त्रिपाठी, फैसल अली, राजेंद्र त्रिपाठी, युगुल किशोर, दुर्गेश प्रजापति, बालेंद्र यादव, विनोद चौधरी, संतोष पटेल, आरके मिश्रा, गौरव पांडेय, कुलदीप शुक्ला, शाहिद सिद्दीकी, मुमताज, जुबैर, बरसाती लाल, देवेश श्रीवास्तव, सईद अहमद सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

मुख्यालय में धरना-प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसियों ने गिरता रुपया महंगा तेल, हाय रे भाजपा का खेल के नारे लगाए। मुख्यालय चौराहे पर कांग्रेसियों ने चक्काजाम करने का भी प्रयास किया। पूर्व मंत्री मतेश चंद्र सोनकर ने कहा सरकार हर मोर्चे पर फेल है। पेट्रो उत्पाद की कीमतें बढ़ने से आम और खास सभी लोग प्रभावित हैं। रसोई गैस के दाम चार गुना तक बढ़ चुके हैं। इसका बोझ आम आदमी की जेब पर पड़ रहा है।

कांग्रेस के जिला महासचिव पप्पू मिश्रा के नेतृत्व में मंझनपुर स्थित पेट्रोल पंप पर प्रदर्शन कर विरोध जताया गया। कुछ देर के लिए पेट्रोल पंप बंद कराया गया था। जुलूस निकालने वाले रास्ते की दुकानों को बंद कराया गया। इस मौके पर वेद पांडेय, राजेंद्र मिश्रा, विष्णु ओझा, नितिन केसरवानी आदि लोग मौजूद रहे।

महंगाई, खराब कानून व्यवस्था सहित 10 सूत्रीय मांगों को लेकर सपाइयों ने तहसील मुख्यालयों में आवाज बुलंद की। मांगों को लेकर राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन दिया गया। मंझनपुर तहसील में धरने की अध्यक्षता विधान सभा अध्यक्ष रामलखन भारतीय ने की। कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार पूरी तरफ से फ्लाप साबित हो रही हैं। डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस, मोरंग, गिट्टी के दाम बेतहासा बढ़े हैं। कानून व्यवस्था बदहाल है। नारीगृहों में उत्पीड़न हो रहा है। समाजवादी पेंशन बंद करके गरीब महिलाओं के साथ अन्याय किया गया। तहसीलदार को 10 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन दिया गया।

इस मौके पर अचल सिंह, पटेल, सुभाष पटेल, परवेज अंसारी, बुधराम यादव, पंकज सिंह, अहमद खान, प्रदीप चौधरी, इजहार हुसैन, शादाब अहमद, निक्के प्रधान, रईश अहमद, वली अहमद आदि मौजूद रहे। सिराथू तहसील में सपा नेता कैलाश चंद्र केसरवानी के नेतृत्व में धरना दिया गया। पूर्व सांसद शैलेंद्र कुमार ने कहा कि भाजपा सरकार आरएसएस के एजेंडे पर चलकर आपातकाल जैसा माहौल पैदा कर रही है। बहन, बेटियों की आबरू सुरक्षित नहीं है। महंगाई ने आम आदमी का जीना दुश्वार कर दिया है। यहां एसडीएम ज्योति मौर्या को ज्ञापन दिया गया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष खड़ग सिंह पटेल, राजकुमार सरोज, सूबेदार सिंह यादव, धीरज निर्मल, भैयालाल, सुमित पांडेय, सचिन यादव, कुलदीप सिंह, शमीम, अनवार अहमद, कलीम, ज्ञान सिंह यादव आदि मौजूद रहे।

पेट्रोल, डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी से नाराज सपाइयों ने भरवारी में अनोखे अंदाज में विरोध जताया। सपा लोहिया वाहिनी के प्रदेश सचिव महबूब आलम सज्जू के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ताओं ने पुरानी बाजार से रेलवे क्रासिंग तक कार में धक्का देकर विरोध जताया। स्टेशन के समीप पेट्रोलियम मंत्री का पुतला फूंका गया। इस मौके पर राहुल श्रीवास्तव, देशराज यादव, अहमद रजा, बिलाल अहमद, जमशेद, संतोष केसरवानी, संदीप कुमार, मो.असद, रसूल अहमद, दिलशाद अहमद, आमिर आदि लोग मौजूद रहे।

भारत बंद के सर्मथन में माडल डिस्ट्रिक बार एसोसिएशन के बैनर तले अधिवक्ताओं ने आमसभा कर कार्य बहिष्कार करने का निर्णय लिया। संगठन के अध्यक्ष नर नारायण मिश्र ने कहा सरकार डीजल, पेट्रोल की बढ़ती कीमत पर नकेल लगाने में नाकाम साबित हो रही है। इसके अलावा एससी-एसटी बिल लागू कर सवर्ण और ओबीसी के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष देवशरण त्रिपाठी, मनुदेव त्रिपाठी, उदित नरायण सिंह, अजय पांडेय, कौशल किशोर, केडी द्विवेदी, वेदप्रकाश मिश्र, भोलानाथ मिश्र, घनश्याम, अविनाश त्रिपाठी, अनीस, इदरीश, सत्यनारायण यादव आदि मौजूद रहे।

भारत बंद का भले ही जिले में खास असर नहीं रहा हो लेकिन पुलिस और प्रशासन के अफसरों ने अपनी तरफ से पूरी चौकसी बरती। सिराथू और भरवारी रेलवे स्टेशन पर जीआरपी और आपीएफ के अलावा स्थानीय पुलिस के जवान भी लगाए गए थे। बस स्टाप के पास भी पर्याप्त फोर्स तैनात की गई थी। पुलिस लाइन में ट्रेनिंग कर रहे रिक्रूट जवानों को भी सुरक्षा व्यवस्था के लिए लगाया गया था। हाथ में डंडा लिए यह भावी सिपाही चौराहे और बस स्टाफ पर खड़े रहकर सारा दिन निगरानी करते रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Kaushambi

मुल्जिम बन गया इंसाफ की राह में भटक रहा दिलसुख

मुल्जिम बन गया इंसाफ की राह में भटक रहा दिलसुख

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बेकाबू डंपर ने घर में सो रहे बुजुर्ग दंपति समेत चार को कुचला

उत्तर प्रदेश के सादिकपुर सेमरहा गांव में बुधवार की सुबह मिट्टी से लदा तेज रफ़्तार डंपर एक घर में घुस गया।

31 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree