40 गांवों में 24 घंटे से ठप रही बिजली आपूर्ति

Allahabad Bureau Updated Thu, 15 Feb 2018 05:48 PM IST
ख़बर सुनें
40 गांवों में 24 घंटे से ठप रही बिजली आपूर्ति
एक फाल्ट आने पर छह जगह टूटे जर्जर विद्युत तार
बिजली न मिलने से गांवों में दिन भर रहा पानी का संकट
अमर उजाला ब्यूरो
मंझनपुर। सरायअकिल विद्युत उपकेंद्र के मंझनपुर फीडर का तार बुधवार की शाम छह जगह टूटकर गिर गया। जानकारी मिलने पर लाइनमैन के हाथ-पांव फूल गए। सब अपना मोबाइल स्विच आफ कर संपर्क से कट गए। उधर बिजली न मिलने से 40 गांवों में रातभर अंधेरा छाया रहा। गुरुवार की सुबह से तार जोड़ने में जुटे लाइनमैन 24 घंटे बाद आपूर्ति बहाल कर सके।
सरायअकिल विद्युत उपकेंद्र के मंझनपुर फीडर से इलाके के 40 गांवों को बिजली आपूर्ति की जाती है। इस लाइन में लगभग 45 साल पहले लगे विद्युत तार पूरी तरह से जर्जर हो चुके हैं। आए दिन तारों के टूटकर गिरने से इलाकाई उपभोक्ताओं को रोस्टर की बिजली नहीं मिल पा रही है। बुधवार की शाम भी ऐसा ही हुआ। फाल्ट की वजह से बरई, इछना, म्योहर, म्योहरिया, बंधुरी व रानीपुर गांव में तार टूटकर गिर गया। सूचना पर तैनात एसएसओ ने आपूर्ति तो ठप कर दिया। लेकिन रात में लाइनमैन ने तार जोड़ने की जहमत नहीं उठाई। इसके चलते फीडर से जुड़े 40 गांव रात भर अंधेरे में डूबे रहे। सुबह टूटे तारों को जोड़ने के लिए एक-एक कर छह स्थानों पर लाइनमैन दिनभर पसीना बहाते रहे। दिनभर की कड़ी मेहनत के बाद मंझनपुर फीडर की आपूर्ति 24 घंटे बाद शाम छह बजे बहाल हुई। बिजली के अभाव में ग्रामीणों को पेयजल संकट से भी जूझना पड़ा।
----------
दो साल से खराब है उपकेंद्र की इनकमिंग
सरायअकिल विद्युत उपकेंद्र की इनकमिंग दो साल से काम नहीं कर रही है। इसके चलते लाइन में फाल्ट आते ही विद्युत तार टूटकर गिर जाते हैं। तार टूटकर गिरने का सिलसिला सबसे अधिक मंझनपुर फीडर में देखने को मिलता है। समस्या से निजात दिलाने के लिए जेई ने कई बार उच्चाधिकारियों को पत्र भेजा पर जर्जर तारों को बदलने के लिए विभाग के जिम्मेदार तैयार ही नहीं हो रहे हैं। सबसे खराब स्थिति तो गर्मी शुरू होने के बाद होती है। लोड बढ़ने के कारण जर्जर विद्युत तार जगह-जगह टूटकर गिरने लगते हैं। इससे लोगों की फसल जलने का भी खतरा रहता है। बावजूद इसके जर्जर हो चुके तारों को न तो बदला जा रहा है और न ही इनकमिंग ठीक कराई जा रही है।
--------
क्या कहते हैं जेई
तार बेहद जर्ज हैं। रही-सही कसर खराब इनकमिंग पूरी कर रही है। मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। कोई इंतजाम न किए जाने से किसी तरह चल रहा है।
सौरभ मौर्य, जेई सरायअकिल

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Lucknow

कैराना व नूरपुर उपचुनाव में भाजपा की मुश्किलें बढ़ाने आया एक और 'खिलाड़ी', सपा-रालोद का देगा साथ

कैराना और नूरपुर में हो रहे उपचुनाव में सपा-रालोद को भाजपा के खिलाफ एक और साथी मिल गया है। ऐसे में भाजपा की राह और मुश्किल हो सकती है।

23 मई 2018

Related Videos

कहीं गौरैया सिर्फ यादों में न रह जाए

यूपी के इलाहाबाद में गौरैया को बचाने के लिए द्वारिका सेवा संस्थान की ओर से जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें संगठन के सदस्यों ने लोगों से गौरैया के लिए अपने घर की छत पर दाना पानी रखने की अपील की।

20 मार्च 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen