अपार्टमेंट की दुनियाः प्रकृति के करीब, मस्ती में सराबोर

गौरव शुक्ला, अमर उजाला, कानपुर Updated Thu, 07 Dec 2017 02:57 PM IST
apartment culture of leela palace kanpur
लीला पैलेस अपार्टमेंट कानपुर
एक ऐसा अपार्टमेंट जिसमें अंदर आते ही पल भर में समझ आ जाता है कि यहां रहने वाले लोग स्वास्थ्य और पर्यावरण के प्रति बेहद संजीदा हैं। अपार्टमेंट के चारों तरफ एंटी पॉल्यूशन और अधिक से अधिक ऑक्सीजन देने वाले पौधे मौजूद हैं। 

अमर उजाला की विशेष प्रस्तुति ‘अपार्टमेंट की दुनिया’ में आइये आज हम आपको लेकर चल रहे हैं कानपुर तिलक नगर खलासी लाइन स्थित लीला पैलेस अपार्टमेंट में। जहां लगभग हर फ्लैट की बालकनी में छोटे-छोटे बगीचे बने हुए हैं। इनमें खासतौर पर वे पौधे लगाए गए हैं जो ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन देकर प्रदूषण दूर करने में सहायक होते हैं। अपार्टमेंट में बने घरों में कई डॉक्टरों के परिवार हैं। उनके लगातार प्रयासों ने उनके परिवारों को ही नहीं, पूरे अपार्टमेंट को अपने पर्यावरण व आसपास की साफ-सफाई के प्रति बेहद जागरूक बना रखा है। 

इस अपार्टमेंट में यूं तो कुल 54 फ्लैट हैं पर इसे अपार्टमेंट कहने की जगह 54 घरों का एक परिवार कहना ज्यादा ठीक लगता है। यहां रहने वाले सभी परिवार ईद, होली, दीपावली और क्रिसमस जैसे त्योहार एक साथ हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। लीला पैलेस अपार्टमेंट साल 1997 में बनकर तैयार हो गया था। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यहां सुबह से देशभक्ति के कार्यक्त्रस्म शुरू हो जाते हैं जो देर शाम तक चलते हैं। बच्चे और युवा बढ़-चढ़कर 15 अगस्त के कार्यक्रमों में भाग लेते हैं। यहां के लोगों की बड़ी सोच और आपसी प्रेम इस अपार्टमेंट की खुशियों को कई गुना बढ़ा देता है। अपार्टमेंट में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, मां दुर्गा अखंड दीप, गणेश चतुर्थी, शिवरात्रि, हनुमान जयंती, वसंत पंचमी, रामनवमी, होली, दीपावली ही नहीं, ईद-क्रिसमस और लोहड़ी भी धूमधाम से मनाई जाती है। 
आगे पढ़ें

24 घंटे फर्स्ट एड, दवा मौजूद

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018