बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

मिलते ही छलक पड़े प्रेमी प्रेमिका के आंसू

अमर उजाला ब्यूरो, हमीरपुर Updated Sun, 04 Jun 2017 10:45 PM IST
विज्ञापन
जिला कारागार के बाहर अशोक से मिलाई करने आई वर्षा उसकी मां , राहुल की मां रानी।
जिला कारागार के बाहर अशोक से मिलाई करने आई वर्षा उसकी मां , राहुल की मां रानी। - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
पिस्टल वाली प्रेमिका मामले में प्रेमी अशोक जेल की हवा खा रहा है। धोखाधड़ी व दहेज उत्पीड़न के मामले में जेल में निरुद्ध अशोक से उसकी प्रेमिका वर्षा सात दिन बाद मिलने आई। उसके साथ उसकी मां और राहुल की मां तथा चचेरा भाई भी आया। कारागार में मुलाकात के बाद दोनों जैसे ही आमने सामने हुए खुशी के आंसू रोक नहीं पाए। वर्षा को रोते देख अशोक भी अपने को नहीं रोक सका।  लेकिन साथ में परिवार के अन्य लोग होने से वर्षा प्रेमी अशोक से खुलकर बात नहीं कर सकी। यह बात वह कारागार से निकलते ही बुदबुदाने लगी। उधर जेल में मुलाकात के बीच अशोक ने राहुल की मां रानी से कहा कि जब  तक जेल से बाहर नहीं निकल आता है उसकी देखरेख करने को कहा। वर्षा ने कहा कि वह अशोक को पाने के लिए हर संघर्ष को तैयार है। हर हाल में अपनी मंजिल पाकर रहेगी। उसके साथ शिवसेना के प्रदेश उपाध्यक्ष रतन ब्रह्मचारी भी साथ आए।  
विज्ञापन

पिछले 15 मई की रात वर्षा ने भवानी गांव से शादी के मंडप से अशोक को पिस्टल की दम पर अगवा कर लिया था। इस घटना के बाद 12 दिनों तक प्रेमी-प्रेमिका का घटनाक्रम व होने वाली दुल्हन के पिता रामसजीवन व दूल्हे अशोक के परिजनों के बीच समझौता कराने का क्रम जारी रहा। 28 मई को पुलिस ने अशोक को जेल भेज दिया और वर्षा राहुल के घर में रह रही है। रविवार सुबह करीब 11 बजे प्रेमी अशोक से मुलाकात करने शिवसेना के पदाधिकारियों के साथ जिला जेल पहुंची वर्षा ने जहां अपनी मंजिल पाने के लिए किसी भी झंझावात से लड़ने में अपने को सक्षम बताया वहीं उसकी मां संतोष कुमारी ने समाज में बदनाम करने का आरोप लगाया। दोस्त राहुल की मां रानी ने कहा कि उसने मिसाल कायम कर मां की भूमिका निभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। वर्षा की सगी मां ने उससे सभी रिश्ते खत्म होने की बात कही तो वहीं रानी ने कहा कि हम ऐसे में उसे अकेला नहीं छोड़  सकते। इसी वजह से वह उनके साथ आई है। जेल में बंद अशोक से वर्षा व राहुल की मां रानी के साथ शिवसेना नेता ने भी मुलाकात की।



वर्षा ने कहा कि वह अशोक के परिजनों का सम्मान करती है और करती रहेगी। शादी के बाद वह अशोक के साथ अलग घर बसाएगी। अशोक के परिजनों ने उसे स्वीकार कर लिया तो वह उनके घर भी जाएगी। वर्षा ने कहा कि अभी उसे उसके परिजनों ने ठुकरा दिया है। इसीलिए वह अशोक  के दोस्त राहुल के घर रह रही है। वहां उसे किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है। अशोक को भारती के परिजनों ने गलत फंसाया है। भारती के पिता को उसके और अशोक के बारे में जानकारी थी लेकिन भारती के पिता ने जानबूझकर यह कदम उठाया। बताया कि भारती के पिता का कहना था कि उनकी लड़की जब अशोक के घर  पहुंचेगी तो सब अपने आप ठीक हो जाएगा।


दोस्त राहुल की मां रानी ने बताया कि वह वर्षा को अकेला नहीं छेाड़ना चाहती है। इसी वजह से वह उसके साथ यहां तकचली आई। इस बात को लेकर उनके नाते रिश्तेदार भी उससे नाराज हैं लेकिन वह फिर भी उसका साथ देती रहेगी। कहा कि वर्षा ने कोई गलत काम नहीं किया बल्कि अपना हक मांगा है।


वर्षा के साथ आई उसकी मां संतोष कुमारी ने मीडिया पर जमकर भड़ास निकाली। साथ ही बेटी पर उन्हें समाज में बदनाम कर देने की बात कही। कहा कि जब तक वर्षा और अशोक की शादी नहीं हो जाती उसे चैन नहीं मिलेगा। कहा कि शादी होने तक वर्षा के लिए उसके घर में कोई जगह नहीं है। कहा कि मीडिया ने जिस तरह से तमंचा लेकर अपहरण की बात उछाली वह एक दम गलत है। कहा कि वह ममत्व के नाते बेटी के साथ घटना क्रम पर नजर बनाए है। साथ ही उन्हाेंने अशोक की कथनी और करनी में अंतर बताते हुए कहा कि बार-बार वह अपनी बात से मुकर जाता है। जब तक वह वर्षा से शादी नहीं कर लेता तब तक वह उसकी बात का भरोसा नहीं करेगी।


शिवसेना प्रदेश उप उपाध्यक्ष रतन ब्रह्मचारी ने फिर वर्षा का साथ देने की बात कही। कहा कि वह भी किसी की बेटी है। उसे न्याय दिलाने में वह उसकी पूरी मदद करेंगे। कहा कि अशोक के जेल से छूटने के बाद वह उसकी शादी धूमधाम से कराएंगे। कहा कि उसने हिम्मत का काम कर भवानी गांव पहुंच केवल अशोक से अपनी बात कही न कि कोई असलहा लेकर उसका अपहरण किया। शिवसेना उसकी लड़ाई लडे़ेगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us