पति से हुई कहासुनी पर फांसी लगाकर जान दी

अमर उजाला ब्यूरो, हमीरपुर Updated Sun, 05 Mar 2017 12:17 AM IST
Husband had spat on Suicide by hanging
धनपुरा में महिला की मौत पर रोती बिलखती महिलाएं। - फोटो : अमर उजाला
थाना बिवांर के धनपुरा गांव में पति से कहासुनी के बाद महिला बीडीसी सदस्य ने फांसी लगा कर जान दे दी। इस बीच छोटी बेटी के चिल्लाने पर पति ने दौड़कर उसे फांसी के फंदे से नीचे उतारा और छानी गांव स्थित सीएचसी लाए। लेकि न चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बाद में ग्रामीणों के सहयोग

से परिजनों ने उसका दाह संस्कार कर दिया। धनपुरा निवासी बरदानी अपनी नानी के साथ रहता है। उसकी पत्नी विमला (30) बीडीसी सदस्य है। प्रधान मयंक निगम ने बताया कि शुक्रवार को बरदानी अपनी नानी को दवा दिलाने के लिए घाटमपुर गया। वहां से शाम करीब छह बजे वापस आया। उन्होंने बताया

कि बरदानी अपनी भांजी का रिश्ता छानी गांव में तय कर रहा था। इसी रिश्ते को लेकर पति-पत्नी में कहासुनी हो गई। इसके बाद पति-पत्नी व बच्चों ने एक साथ बैठकर खाना खाया। इसके बाद वह रात करीब नौ बजे घर के बाहर आकर बैठ गया। तभी उसकी छोटी बेटी पूर्णिमा (8) ने पिता को आकर बताया कि

मम्मी फांसी लगा रही है। जिस पर वह दौड़कर अंदर पहुंचा तो पाया कि  विमला फांसी के फंदे पर झूल गई है। आनन-फानन उसने पत्नी को फंदे से उतारा और छानी गांव स्थित सीएचसी ले गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। शनिवार को सुबह नौ बजे मौत क ी सूचना पर भवई निवासी मृतका

का भाई राजकुमार और फूफा धनपुरा आए। जहां मायके पक्ष के साथ परिजनों और ग्रामीणों ने बातचीत करने के बाद बीडीसी सदस्य का अंतिम संस्कार कर दिया। प्रधान ने कहा कि मृतका की शादी वर्ष 2001 में हुई थी। विमला के पिता संतलाल चित्रकूट जनपद में सिपाही के पद पर तैनात हैं। बताया कि उनकी चुनाव में बनारस में ड्यूटी लगी है। इस मामले में थानाध्यक्ष प्रदीप यादव ने कहा कि घटना की सूचना उनके पास नहीं आई है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

तेज धमाके के बाद खुला दिल्ली की 150 फुट लंबी सुरंग का राज, ये थी बनाए जाने की वजह

राजधानी दिल्ली के द्वारका में 150 फुट लंबी सुरंग मिलने से सनसनी मच गई है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हमीरपुर में इस वजह से एक साथ 30 से ज्यादा बच्चे बीमार

हमीरपुर के थाना कुरारी में एक सरकारी स्कूल के तीस से ज्यादा बच्चों की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

18 जनवरी 2018