विज्ञापन
विज्ञापन

महेन के फार्मासिस्ट ने बेची थी सरकारी दवा

deoria Updated Mon, 27 May 2019 12:09 AM IST
महेन में दवाओं का मिलान करते सीएमओ।
महेन में दवाओं का मिलान करते सीएमओ। - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
देवरिया। लोगों की सेहत को लेकर फिक्रमंद सरकार अस्पतालों में बेहतर इलाज की व्यवस्था और दवाएं मुहैया कराने की कोशिश कर रही है, लेकिन स्वास्थ्यकर्मी दलालों से साठगांठ कर चंद रुपयों की लालच में दवा ही बेच दे रहे हैं। जिला अस्पताल कअलावा ग्रामीण अंचल के सरकारी अस्पतालों में भी दलालों का मजबूत नेटवर्क है। न्यू मेट्रो हॉस्पिटल में बरामद सरकारी दवाओं ने इस गोरखधंधे की पोल खोल दी है। अब तक ही छानबीन में बरामद दवाएं महेन पीएचसी से बेचे जाने की पुष्टि हुई है। उम्मीद की जा रही है कि विभाग की नाक बचाने के जिम्मेदार जल्द बड़ी कार्रवाई कर सकते हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
शहर के नर्सिंग होम संचालकों का सरकारी अस्पताल के डॉक्टर-कर्मचारियों से बेहतर तालमेल है। मानक को दरकिनार कर संचालित कई नर्सिंगहोम में सरकारी अस्पताल के डॉक्टर ऑपरेशन के लिए जाते हैं। कई बार छापेमारी में इसकी पुष्टि हो चुकी है, बावजूद इसके उनकी आदत में कोई सुधार नहीं हुआ। रामनाथ देवरिया के न्यू मेट्रो हॉस्पिटल में सरकारी दवाओं से इलाज करने का पहला मामला जरूर है, लेकिन यह खेल लंबे समय से चल रहा है। दवा बरामद होने के बाद सीएमओ टीम के साथ महेन पीएचसी पर पहुंचे। तीन घंटे प्रयास के बाद स्टॉक के मिलान में दवाएं कम मिलीं। सीएमओ ने सख्ती बरती तो फार्मासिस्ट रामविलास चौधरी ने दवा बेचने की बात स्वीकार की। फार्मासिस्ट ने बताया कि घर पर कोई बीमार था और रुपये की कमी थी। इसकी वजह से सरकारी दवाएं बेच दी थीं। फार्मासिस्ट की करतूत की जानकारी पीएचसी के डॉक्टर और कर्मचारियों को भी नहीं हुई। खुलासा होने के बाद सभी अवाक हो गए।

इनसेट
कुछ दिन पूर्व एक वीडियो हुआ था वॉयरल
देवरिया। न्यू मेट्रो हॉस्पिटल तो सिर्फ एक बानगी है। शहर में चलने वाले अन्य नर्सिंग होम संचालक सरकारी दवाओं का उपयोग करते हैं। जिला अस्पताल की इमरजेंसी और दवा वितरण कक्ष में दलालों की सक्रियता रही है। कुछ दिन पूर्व एक बैग में सरकारी दवाएं लेकर एक शख्स जा रहा था। कुछ लोगों ने दौड़ाया था। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।

पूर्व में हॉस्पिटल पर पड़ चुका है छापा
देवरिया। न्यू मेट्रो हॉस्पिटल पर पूर्व में भी कई बार छापेमारी हुई है, लेकिन विभागीय उदासीनता के कारण कार्रवाई नहीं होने से अस्पताल संचालक का मनोबल बढ़ता गया। शहर के एक मोहल्ले का रहने वाला संचालक विभागीय कर्मचारियों का चहेता है। इसके चलते कार्रवाई से स्वास्थ्यकर्मी मुंह मोड़ते हैं। रामनाथ देवरिया में भी एक अस्पताल मानक को दरकिनार कर चलता है। यहां पर दो-दो बार छापेमारी हुई, संचालक पर केस भी दर्ज हुआ। बावजूद अस्पताल बंद नहीं हुआ और विभागीय मिलीभगत से चल रहा है।

Recommended

'अभिरुचि' एक नई पहल जो बना रही है छात्रों का भविष्य
Invertis university

'अभिरुचि' एक नई पहल जो बना रही है छात्रों का भविष्य

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक - 22/ जुलाई/2019
Astrology

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक - 22/ जुलाई/2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Deoria

युवकों ने ठेकेदार को पीटा, मुंह में तमंचा डाला

युवकों ने ठेकेदार को पीटा, मुंह में तमंचा डाला

20 जुलाई 2019

विज्ञापन

जब पेरिस में रोमांस करने की हुई बात, तब तारा सुतारिया ने सुनाई अपनी सौगात

फिल्म स्टूडेंट ऑफ द इयर के फ्लॉप होने के बाद भी तारा सुतारिया का करियर बुलंदियों पर है। बड़े-बड़े ब्रांड्स उन्हें अपना चेहरा बनाना चाहते हैं।

19 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree