डीएनए टेस्ट के लिए लिए नमूने

चित्रकूट Updated Tue, 06 Jun 2017 10:28 PM IST
police
police
ख़बर सुनें
डीएनए टेस्ट के लिए लिए नमूने
:- डाकू गौरी गैंग ने लवलेश को अपहरण के बाद मारा था
:- दो साल बाद मिला था कंकाल
अमर उजाला ब्यूरो
चित्रकूट। डाकू गौरी यादव गैंग द्वारा सेहरिन के लवलेश का अपहरण के दो साल बाद कंकाल के रूप में शव बरामद मामले में पुलिस ने पहचान के लिए डीएनए टेस्ट की प्रक्रिया शुरू की है। मंगलवार को मृतक के माता-पिता के खून व अन्य नमूने लिए गए।
     गौरतलब है कि एक लाख के इनामी डाकू गौरी यादव गैंग ने प्रधानी के चुनाव को लेकर सेहरिन निवासी लवलेश यादव का गांव के बाहर से दो जुलाई 2015 को अपहरण कर लिया था। उसका शव 21 मई को बहिलपुरवा थानाक्षेत्र के जंगल में कंकाल के रूप में मिला था। जिसकी शिनाख्त उसके पिता व पत्नी ने कुछ कपड़े, चप्पल व हाथ में बंधे धागे से की थी।
       इसी मामले में पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेंद्र सिंह ने बताया कि पहचान पुख्ता करने के लिए डीएनए टेस्ट जरूरी है। इसी क्रम में थानाध्यक्ष जयदेव प्रसाद मंगलवार को मृतक लवलेश के पिता रामसंवारे, मां शांतिदेवी और पत्नी वंदना को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक के मां-पिता के नमूने लिए गए हैं। जिसकी जांच के लिए नमूने लखनऊ भेजे गए हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Dehradun

चार-पांच युवकों ने युवक पर पेट्रोल डालकर लगाई आग 

देर शाम श्यामपुर गांव में एक युवक पर कुछ लोगों ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

24 मई 2018

Related Videos

VIDEO: रेलवे पुलिस की ‘चिंदी-चोरी’ कैमरे में कैद

केंद्र और योगी सरकार ना जाने भ्रष्टाचार को खत्म करने के कितने भी दावे कर ले लेकिन जो तस्वीरंं सामने आ रही हैं वो कुछ और ही बयां कर रही है। अब चित्रकूट से एक वीडियो वायरल हो रहा है जहां रेलवे पुलिस स्टेशन पर यात्रियों से 10-20 रपये वसूल रही है।

5 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen