पर्यवेक्षक ने जंचीं कापियों को देखा

Chitrakoot Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
शिक्षकों को दी हिदायत, मूल्यांकन में लापरवाही अक्षम्य
चित्रकूट। सोमवार को बोर्ड परीक्षा की कापियों के मूल्यांकन के दौरान पर्यवेक्षक महेंद्र प्रताप सिंह ने जंची कापियों को देखा और कुछ गलतियों को दुरुस्त किया। उन्होंने परीक्षकों को हिदायत दी कि मूल्यांकन में किसी प्रकार की लापरवाही अक्षम्य है।
माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा कापियों का मूल्यांकन केंद्र चित्रकूट इंटर कालेज को बनाया गया है। यहां पर सोमवार तक इंटरमीडिएट की कुल 33,843 और हाईस्कूल की 21,033 कापियां जंच चुकी हैं। हाईस्कूल की कुल 97935 और इंटर की कुल 89218 कापियों का मूल्यांकन दस मई तक पूरा करना है। सोमवार को पर्यवेक्षक और राजकीय इंटर कालेज घुरेटनपुर के प्रधानाचार्य महेंद्र सिंह यादव ने केंद्र में जंचीं कापियों को देखा और गलतियों पर हिदायत दी।
इस दौरान कुछ परीक्षकों ने कापियों के अंदर सही ढंग से अंक नहीं चढ़ाए थे। इस पर उनको निर्देश दिया गया कि बाईं ओर अंक लिखे जाएं। सीआईसी में कुल 47 शिक्षकों की टोली बनाई गई है। इनमें से हाईस्कूल में 28 शिक्षक और इंटरमीडिएट में 19 परीक्षक कापी जांच रहे हैं। हाल सहित यहां कुल 15 कमरों में मूल्यांकन की व्यवस्था की गई है।
उधर, उप नियंत्रक डा. रणबीर सिंह चौहान ने बताया कि गैरहाजिर 107 शिक्षकों में से 26 ने सोमवार को मूल्यांकन कार्य शुरू कर दिया। अभी भी 26 गैरहाजिर हैं और इनका लगातार वेतन कट रहा है।
बताया कि अब तक जितनी कापियां जांची जा चुकी हैं उनके अवार्ड ब्लैंक (प्राप्तांक सूची) बोर्ड को व्यक्तिगत वाहक से भेज दी गई है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018