दिवाल फांदकर हजारों का सामान ले गए चोर

Varanasi Bureau Updated Sat, 10 Feb 2018 01:08 AM IST

कंदवा। स्थानीय गांव निवासी सियाराम बिंद के घर के पीछे से दीवार फांदकर घर मे घुसे चोरों ने बुधवार की रात में दस हजार रुपये नकद सहित हजारों रुपये के गहने पर हाथ साफ कर दिया। भुक्तभोगी सियाराम ने गुरुवार की शाम स्थानीय थाने लिखित तहरीर दी। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।
सियाराम बिंद का परिवार के सदस्य बुधवार की रात्रि में भोजन करने के बाद अपने कमरे में सोने चले गए। इसी बीच रात्रि में चोरो ने घर के पीछे की दीवार फांदकर आंगन में प्रवेश कर गए। चोरों ने घर में सोये हुये लोगों के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद करके आराम से अन्य कमरों की तलाशी लिया और दो बाक्स सहित दो हजार नकदी लेकर चलते बने। गुरुवार की भोर में गृहस्वामी के पुत्र सुशील की जब नींद खुली तो कमरे का दरवाजा बाहर से बंद शोरगुल मचाने लगा। मौके पर जुटे पड़ोसियों ने सभी कमरों का दरवाजा खोला। लोगों ने देखा कि घर के सामान बिखरे पड़े हैं और घर में रखा दो बाक्स गायब है। भुग्तभोगी सियाराम ने बताया कि 20 साड़ी, आठ हजार नकदी, चांदी का बाजूबंद, हंसुली, पैजनी, कड़ा और सोने का मंगलसूत्र, मंगटीका, झुमका, लौंग सहित अन्य सामान चोरी हो गया। गुरुवार की देर शाम स्थानीय थाने में चोरी की घटना के संबंध में तहरीर दिया। तहरीर मिलने पर पुलिस ने शुक्रवार को गांव में पहुंचकर मौका मुआयना किया। इस संबंध में सीओ त्रिपुरारी पांडेय ने बताया कि पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

बुधवार को हुई चोरी का दर्ज नहीं हुआ केस
कंदवा। स्थानीय गांव में बुधवार की रात हुई चोरी के मामले में शुक्रवार की शाम तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया है। जिसे लेकर लोगों में तरह तरह की चर्चाएं है। पुलिस ने बताया कि मामला संदिग्ध लग रहा है। मामले की जांच के बाद मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Nainital

जहर खाने से किसान की मौत

जहर खाने से किसान की मौत

23 फरवरी 2018

Related Videos

यूपी के इस जिले में पकड़ा गया 15 हजार में 10वीं पास करा देनेवाला गिरोह

सीएम आदित्यनाथ योगी चाहे जितनी भी कोशिश कर लें पर लगता है कि यूपी में नकल माफिया सुधरनेवाला नहीं। वाराणसी से सटे चंदौली में पुलिस ने ऐसे ही नकल माफिया का भंडाफोड़ किया है जो 15 हजार रुपये में यूपी बोर्ड के पेपर सॉल्व करने का ठेका लिया करता था।

18 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen