बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

बाराबंकी

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बाराबंकी: अधिवक्ता की गला रेत कर हत्या, झाड़ियों में पड़ा मिला शव

एक अधिवक्ता की धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या कर दी गई। वकील का शव हाईवे से करीब 200 मीटर की दूरी पर निकले एक रास्ते के पास लगी झाड़ियों में पड़ा मिला। रविवार की सुबह मामले की जानकारी पर पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा और घटना की जांच शुरू की है।

एसपी ने मामले का खुलासा करने के लिए पुलिस की तीन टीमें लगाई हैं। मूल रूप से सफदरगंज थाना क्षेत्र के ग्राम छेदा पुरवा के रहने वाले कुलदीप रावत (30) पुत्र राम सजीवन रावत शहर कचहरी में अधिवक्ता की प्रैक्टिस करते थे।

पुलिस की माने तो शनिवार रात लगभग 8:00 बजे कुलदीप के पास एक फोन आया जिसके बाद उन्होंने अपनी पत्नी रीता को बताया कि वह क्लाइंट से मिलने जा रहे हैं। इसके बाद वह घर से निकल गए इस बीच रात भर घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने तलाश शुरू की।

इसके बाद रविवार सुबह उनका शव अयोध्या हाईवे से करीब 200 मीटर अंदर शुक्लई गांव के पास रास्ते में झाड़ियों में पड़ा मिला। गला कटा हुआ था व शरीर में चोट के निशान थे जिससे उनकी हत्या धारदार हथियार से किए जाने की बात कही जा रही है। वकील का हेलमेट बाइक और मोबाइल भी पुलिस ने बरामद किया है।

घटना के पीछे क्या कारण है पुलिस इन पहलुओं की तलाश कर रहे है। हालांकि परिजनों ने अभी तक किसी पर कोई शक नहीं जताया है। एसपी का कहना है कि जल्द ही पूरे मामले का खुलासा होगा। पुलिस टीमें लगाई गई हैं।
... और पढ़ें

बाराबंकी: पूर्व प्रधान से 10 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए वीडियो गिरफ्तार, एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथों पकड़ा

एक गांव के पूर्व प्रधान से ग्राम विकास अधिकारी को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई एंटी करप्शन टीम ने की है। आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस थाने लेकर गई है जहां उससे पूछताछ की जा रही है।

दरियाबाद ब्लाक में तैनात वीडियो ग्राम विकास अधिकारी विनोद कुमार सिंह को एंटी करप्शन  लखनऊ की टीम ने एक गांव के पूर्व प्रधान से 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए बुधवार को गिरफ्तार किया है।

बताया जा रहा है कि पूर्व प्रधान से वीडियो गांव में कराए गए विकास कार्यों के बारे में रिश्वत ले रहे थे। इस मामले की शिकायत प्रधान ने एंटी करप्शन टीम से की थी। जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। एसओ दरियाबाद प्रकाश चंद शर्मा ने बताया कि आरोपी को थाने लाकर उससे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि 10 हजार रुपये की बरामदगी हुई है।
... और पढ़ें

बाराबंकी : रात में लगाए जा रहे थे कोरोना के टीके, चार गिरफ्तार, 18 नामजद, 50 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज

जैदपुर (बाराबंकी) ब्लॉक क्षेत्र हरख के मानपुर गांव में रात के अंधेरे में लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा था। मीडिया कर्मियों के पहुंचने पर टीका लगा रहे लोगों ने उनके कैमरे तोड़ दिए और एक कमरे में बंद कर दिया। इस पर मीडिया कर्मियों ने मामले की सूचना डीएम और एसपी को दी गई। उच्चाधिकारियों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस मामले में 18 लोगों को नामजद तथा 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

ग्राम पंचायत मानपुर में शनिवार रात करीब 11 बजे एक मकान में कुछ लोगों द्वारा कोरोना का टीका लगाए जाने की सूचना ग्रामीणों ने मीडिया कर्मियों को दी। यह सूचना मिलते ही कुछ चैनल के लोग मौके पर पहुंच गए और वीडियो बनाने लगे। यह देख टीका लगा रहे लोग भड़क गए और मीडिया कर्मियों के कैमरे ही नहीं तोड़े बल्कि इन लोगों को एक कमरे में बंद भी कर दिया। मीडिया कर्मियों ने पूरे मामले की जानकारी डीएम और एसपी को दी। अधिकारियों की सूचना पर जैदपुर, सतरिख, सफदरगंज और शहर कोतवाली की पुलिस मौके पर पहुंच गई। भारी संख्या में पुलिस देख टीकाकरण कर रहे लोग पूरा सामान समेट कर भाग खड़े हुए। इस दौरान पुलिस ने चार लोगों को मौके से धर दबोचा और मीडिया कर्मियों को मुक्त कराया।

पुलिस ने लखपेड़ाबाग निवासी नितिन श्रीवास्तव की तहरीर पर 18 नामजद और 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस हिरासत में लिए गए लोगों ने बताया कि वे श्रावस्ती से वैक्सीन लाए थे जिसे यहां लोगों को लगाया जा रहा था क्योंकि यहां के लोग पहले श्रावस्ती जाकर टीका लगवा चुके हैं। क्षेत्र में ऐसे गलत ढंग से वैक्सीन लगाने का यह पहला मामला नहीं है।  
-
हरख के मानपुर गांव में रात के अंधेरे में लोगों को कोरोना का टीका लगाए जाने का मामला संज्ञान में आया है। पूरे मामले की जांच के लिए टीम गठित कर मौके पर भेज दी गई है। पूरी जांच रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। शासन से जो निर्देश मिलेगा, उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 
-डॉ. रामजी वर्मा, सीएमओ 
... और पढ़ें

वर्दीधारी बदमाशों का आतंक: बाराबंकी में लूटपाट, छह मकान व एक दुकान को बनाया निशाना

बाराबंकी जिले के रामसनेहीघाट के भिटरिया चौराहे पर वर्दीधारी बदमाशों ने घरों दुकानों में जमकर लूटपाट की। लाखों के आभूषण व हजारों की नकदी उठा ले गए। वही तीन लोगों  की जमकर पिटाई भी की। पुलिस पिकेट स्मार्ट से 100 मीटर की दूरी पर हुई इस घटना ने पुलिस की चौकसी पर भी सवाल खड़े किए। हालांकि सुबह पुलिस कप्तान ने मौके पर पहुंचकर जांच किया और जल्द खुलासे के निर्देश मातहतों को दिए।

रामसनेहीघाट कोतवाली 500 मीटर व भिटरिया चौराहे  पर लगी पुलिस पिकेट से महज सौ मीटर की दूरी पर सोमवार की रात करीब 2:00 बजे वर्दीधारी बदमाशों ने जमकर उत्पात मचाया। जानकारी के मुताबिक बदमाशों ने पहले शिव शंकर वैश्य के घर धावा बोला। दरवाजे पर लगे छह ताले तोड़कर अंदर पहुंचे। जहां उन्होंने शिव शंकर गुप्ता और उनकी पत्नी शांति गुप्ता को बंधक बनाकर महिला के जेवरात उत्तरवा लिए। विरोध करने पर शिव शंकर गुप्ता के सर पर लोहे की रॉड से हमला कर घायल कर दिया।

शोर सुन उनकी पोती आराध्या पहुंची तो उसके बाल नोच डालें। यहां से बदमाश शांति के कान के झुमके तथा गले की जंजीर के साथ ही बक्से में रखे करीब 10 हजार रुपये तथा शिव शंकर गुप्ता के जेब में दुकानदारी के 15 हजार रुपये लूट कर निकल रहे थे कि रास्ते में मिले बेटे कृष्ण कुमार पर भी धारदार हथियार से हमला कर दिया।

इसके बाद बदमाशों ने अनंतराम के घर को अपना निशाना बनाया और धारदार हथियार से हमला कर लूटपाट की। फिर बदमाशों ने भिटरिया निवासी गंगा शरण वैश्य की दुकान पर भी धावा बोला। रात में घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को मामले से अवगत कराया । जिसके बाद मौके पर पहुंचे एसपी अनुराग वत्स ने घटना स्थल के समीप एक फ्लोर मिल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद मातहतों को घटना के खुलासे के निर्देश दिए।
... और पढ़ें
घटना के बाद पूछताछ करते पुलिसकर्मी। घटना के बाद पूछताछ करते पुलिसकर्मी।

बाराबंकी: बांस से सिर पर हमला कर युवक की हत्या, सूखी नहर में पड़ा मिला शव

बांस से सिर पर हमला कर युवक की हत्या कर दी गई। उसके बाद पास स्थित सुखी नहर में शव फेंक दिया गया। सूचना पर पुलिस और फोरेंसिक टीम ने पहुंचकर मामले की जांच की वहीं भाई की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। घटना कुर्सी थाना क्षेत्र के अंबरपुर गांव की है।

देवा थाना क्षेत्र के मदीनपुर निवासी बृजेश सोमवार की शाम गांव के बाहर स्थित रेट नदी की पुलिया पर गया था। देर रात वापस लौटने पर परिजनों की तलाश तो उसका शव पास ही स्थित एक सूखी पड़ी नहर में मिला। पास में एक बांस पड़ा था तो उसके सिर पर गंभीर चोट भी थी।

इसकी सूचना पर कुर्सी पुलिस, डाग स्क्वायड व फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच की । भाई रविंद्र की तहरीर पर पुलिस ने देर रात हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। प्रभारी निरीक्षक धर्मवीर सिंह ने बताया तो मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है जल्दी घटना का खुलासा किया जाएगा।
... और पढ़ें

बाराबंकी: ट्रेन के इंजन से डीजल चुराने वाले गिरोह के आठ सदस्य दबोचे गए, चोरी कर सस्ते दाम पर बेचते थे

बाराबंकी के रामनगर में बुढ़वल जीआरपी व आरपीएफ ने रविवार को एक ऐसे गिरोह का खुलासा किया जो रेलवे स्टेशन पर खड़ी होने वाली ट्रेन के इंजन से डीजल की चोरी करते थे। गिरोह के आठ सदस्य गिरफ्तार किए गए हैं। इनके कब्जे से 13 हजार की नकदी व 660 लीटर डीजल भी बरामद हुआ है।

गिरोह के सदस्य ट्रेन के इंजन से डीजल चोरी कर उसे सस्ते दाम पर बेचते थे। हालांकि गिरोह के तीन सदस्य अब भी फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम लगी हुई है।

बुढ़वल आरपीएफ के इंस्पेक्टर आलोक कुमार के मुताबिक 28 अक्तूबर की रात बिंदौरा रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन के इंजन से 660 लीटर डीजल चोरी हुआ था। वारदात के खुलासे के लिए जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने संयुक्त रूप से ऐक्शन लिया तो डीजल चोरी करने वाले गैंग का खुलासा हो गया।

जीआरपी व आरपीएफ की संयुक्त टीमों ने डीजल चोरी करने वाले गिरोह के सदस्यों बिहार के मोतिहारी निवासी दिलीप साहनी, होरिल साहनी, अखिलेश साहनी, पलटू साहनी, लल्लन साहनी व गोंडा जिले के निवासी फूलचंद्र चौहान व संतोष मिश्रा के अलावा बाराबंकी के रामनगर निवासी महाबली को बिंदौरा रेलवे स्टेशन के पास से रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

इनके कब्जे से 13 हजार की नगदी, 22 करपों में रखा 660 लीटर डीजल और डीजल निकालने वाला पाइप भी बरामद हुआ है। इस गिरोह के तीन आरोपी अभी तक फरार हैं जिनकी पुलिस टीम तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से सभी जेल भेज दिए गए।
... और पढ़ें

बाराबंकी: मुंशी की पिटाई पर लेखपाल व वकील भिड़े, रोड जामकर किया प्रदर्शन

बाराबंकी की सदर तहसील में दो दिन पहले वकीलों द्वारा लेखपाल के मुंशी की पिटाई मामले में दर्ज मुकदमे से आक्रोशित वकील लेखपाल के बीच कहासुनी के बाद विवाद हो गया। दोनों ने एक दूसरे पर रिवाल्वर तान दी। इस दौरान वकीलों की संख्या बढ़ी तो सब ने मिलकर ओवरी के लेखपाल चंद्रसेन कनौजिया की अधिवक्ता धर्मेंद्र वर्मा व अनुराग ने मिलकर जमकर पिटाई कर दी।

विवाद यहीं नहीं थमा वकीलों ने करीब एक घंटे तक रोड जाम कर प्रदर्शन किया जिस पर पुलिस ने वकीलों की तहरीर पर भी मुकदमा दर्ज किया। इस दौरान जहां शहर के अंदर से निकले लखनऊ फैजाबाद मार्ग पर जाम की स्थिति बनी रही व वहीं कई थानों की पुलिस व अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था में लगे रहे।

मौके पहुंचे एडीएम राकेश सिंह व एएसपी दक्षिणी मनोज पांडे ने दोनों पक्षों की ओर से मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई का आश्वासन भी दिया। मगर एफआईआर की नकल की मांग करते हुए वकीलों ने प्रदर्शन जारी रखा। इस दौरान सीओ सिटी सीमा यादव व सीओ सदर रामसूरत सोनकर तहसील पहुंचे। मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

बाराबंकी: दुकान बंद कर घर जा रहे युवक को तेज रफ्तार वाहन ने मारी टक्कर, मौत

बाराबंकी में प्रदर्शन कर विरोध जताते वकील।
दुकान बंद कर घर जा रहे युवक को तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। आनन-फानन में स्थानीय लोगों ने उसे सीएचसी पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हादसा सोमवार की देर रात अयोध्या लखनऊ हाईवे पर रामसनेहीघाट कोतवाली क्षेत्र बड़ेला नारायणपुर के समीप हुआ। थाना क्षेत्र के पूरे नेहाल गांव निवासी  रंजीत (25) हाईवे पर स्थित एक ढाबे के समीप अंडे की दुकान लगाता है।

हमेशा की तरह सोमवार को भी देर रात रंजीत दुकान बंद कर अपने घर जा रहा था। इसी दौरान अयोध्या की ओर से आ रहे तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने जोरदार टक्कर मार दी। यह देख स्थानीय लोगों ने उसे  इलाज के लिए सीएससी पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसकी नब्ज टटोलते ही मृत घोषित कर दिया।

इसकी सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस ने युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं, हादसे में युवक की मौत की खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया।
... और पढ़ें

बाराबंकी: पत्नी ने खाना खाते समय पति के ऊपर खौलता तेल उड़ेल दिया, बुरी तरह झुलसा पति

जिले में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पत्नी ने अपने पति के ऊपर खौलता हुआ तेल उड़ेल दिया। जिससे वह बुरी तरह झुलस गया। वहीं मामला सामने आने के बाद पड़ोसियों ने पीड़ित पति को इलाज के लिये जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसका इलाज चल रहा है।

पीड़ित पति के मुताबिक उसकी पत्नी उसे चार साल से प्रताड़ित कर रही है आज इस वारदात को अंजाम दिया है। पूरा मामला बाराबंकी के नगर कोतवाली क्षेत्र में स्थित सत्यप्रेमी नगर मोहल्ले से जुड़ा है। यहां के निवासी 65 वर्षीय कौशल किशोर नाम के शख्स पर उसकी ही पत्नी ने पीछे से खौलता हुआ तेल उड़ेल दिया। खौलता तेल पड़ते ही पति सिर से लेकर पैर तक बुरी तरह से झुलस गया। पीड़ित पति ने बताया कि वह खाना खा रहा था, इसी दौरान उसकी पत्नी पीछे से आई और उसके ऊपर खौलता हुआ तेल डाल दिया।

पति ने बताया कि उसकी पत्नी ने तेल जब उसके सिर पर डाला, तो वह तड़प गया और जब तक वहां से हटता, गर्म तेल उसके पूरे शरीर पर छिटक के फैल गया और वह झुलस गया। वहीं जब कौशल किशोर को कराहते हुए आस-पास के पड़ोसियों ने सुना तो वह उसे लेकर किसी तरह जिला अस्पताल पहुंचे, जहां उसे भर्ती करके डाक्टर उसका इलाज कर रहे हैं।

पीड़ित पति कौशल किशोर ने बताया कि चार साल से जब से वह डायबिटीज का पेशेंट है तभी से खुद अपना खाना बनाता और खाता है। उसकी पत्नी उसे खाना नहीं देती है। वह आये दिन उससे झगड़ा करती है। कई बार उसकी डंडों और चप्पलों से पिटाई भी कर चुकी है। आज भी वह सुबह खाना खा रहा था, इसी दौरान पीछे से आकर उसकी बीवी ने उसके ऊपर खौलता हुआ तेल डाल दिया। पीड़ित पति ने बताया कि उसके तीन बच्चे हैं और तीनों बाहर हैं।
... और पढ़ें

बाराबंकी: मनीष गुप्ता हत्याकांड में आरोपी दरोगा के घर फिर पहुंची कानपुर एसआईटी

गोरखपुर के होटल में कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड के मामले में आरोपी दरोगा के बाराबंकी के स्थित घर में रविवार को एक बार फिर से एसआईटी की टीम ने छापा मारा।

बताया जाता है कि टीम ने यहां दरोगा के परिजनों से उसके बारे में पूछताछ की। शहर के मोहन नगर मोहल्ले में गोरखपुर में हुए कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड में आरोपी दरोगा अक्षय मिश्रा का घर है। यहीं पर यह कार्रवाई की गई।

कोर्ट में हाजिर होने की फिराक में हत्यारोपित पुलिसकर्मी
बताया जा रहा है कि मनीष गुप्ता की मौत के आरोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह, चौकी इंचार्ज रहे अक्षय मिश्रा कोर्ट में हाजिर होने की फिराक में हैं। कानपुर और गोरखपुर पुलिस का गिरफ्तारी के लिए बढ़ते दबाव के बीच इंस्पेक्टर जेएन सिंह ने गोरखपुर के कई बड़े अधिवक्ताओं से संपर्क साधा है। हालांकि कुछ ने केस लड़ने से मना भी कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, कारोबारी मनीष की 27 सितंबर की रात में मौत हो गई थी। आरोप है कि होटल कृष्णा पैलेस में चेकिंग करने गए इंस्पेक्टर जेेएन सिंह, अक्षय मिश्रा, विजय यादव समेत छह पुलिस वालों की पिटाई से मनीष की मौत हुई थी। इस मामले में रामगढ़ताल थाने में हत्या का केस भी दर्ज है। इसकी जांच कानपुर एसआईटी कर रही है और जांच में पिटाई से मौत का मामला भी साफ हो चुका है। आरोपितों पर एक-एक लाख रुपये का इनाम भी घोषित कर दिया गया है।

बताया जा रहा है कि कानपुर पुलिस के अलावा गोरखपुर पुलिस की भी कुछ टीमें फिर से आरोपितों की तलाश में सरगर्मी से लग गईं हैं। आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस जेएन सिंह या अन्य आरोपितों के हर उस करीबी तक पहुंच चुकी है जिससे कुछ सुराग मिल सके लेकिन अभी पुलिस के हाथ खाली हैं। सूत्रों का कहना है कि जेएन सिंह भी कानून को बारीकी से जानता है  इस वजह से वह कोर्ट में छुट्टी के दिन हाजिर होने की फिराक में है ताकि अधिवक्ताओं के गुस्से से बच सके।
... और पढ़ें

बाराबंकी : अधिवक्ता के पुत्र की हत्या कर मांगी 50 लाख की फिरौती, दो आरोपी गिरफ्तार

फिरौती के लिए एक अधिवक्ता के नाबालिग पुत्र की दो युवकों ने हत्या कर दी। इसकी सूचना पर सक्रिय हुई पुलिस ने दोनों आरोपियो को पकड़ लिया और उनकी निशानदेही पर किशोर का शव एक नाले से बरामद किया है। 

बाराबंकी कोतवाली शहर के फतहाबाद में रहने वाले वकील बीएल गौतम के छोटे पुत्र आशुतोष गौतम उर्फ सूरज (17) गुरुवार सुबह संदिग्ध हालात में लापता हो गया था। वह सफदरगंज के एक कॉलेज में स्नातक प्रथम वर्ष का छात्र था। काफी देर तक घर नहीं आने पर करीब दो बजे परिजनों ने फोन किया तो उसका फोन भी स्वीच आफ था।

परिजन तलाश ही रहे थे की आशुतोष के बड़े भाई अनुराग के फोन पर काल आई और 50 लाख फिरौती न देने पर हत्या की धमकी दी। इससे परेशान परिजन कोतवाली पहुंचे और  पिता ने अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी। हरकत में आई पुलिस ने सर्विलांस के जरिए दोनों आरोपित को लखपेड़ाबाग स्थित एक कमरे से दबोच लिया। 

पकड़े गए दोनों आरोपित में एक बलिया और दूसरा बहराइच का रहने वाला है। इन दोनों की रिश्तेदारी किशोर के गांव में है। यह दोनों बाराबंकी में ही रहकर ठेला लगाकर जीवन यापन करते हैं। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि कमरे में पार्टी करने के दौरान आशुतोष के सिर पर पीछे तवे से हमला कर हत्या की थी। इसके बाद शव को रामसेवक स्कूल के पीछे स्थित एक नाले में फेंक दिया था। सीओ सिटी सीमा यादव ने बताया कोतवाली पुलिस के साथ आरोपियों की निशानदेही पर शव बरामद कराया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

मनीष गुप्ता हत्याकांड: आरोपी दरोगा के बाराबंकी स्थित घर पर छापा, एक परिजन को साथ ले गई एसआईटी

गोरखपुर के होटल में कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड के मामले में आरोपी दरोगा के बाराबंकी के स्थित घर में शुक्रवार को एसआईटी ने छापा मारा। बताया जाता है कि टीम यहां से दरोगा के एक परिजन को भी साथ ले गए हैं । हालांकि पुलिस अधिकारी इस कार्रवाई की पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

शहर के मोहन नगर मोहल्ले में गोरखपुर में हुए कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड में आरोपी दरोगा अक्षय मिश्रा का घर है। पुलिस सूत्रों की माने तो शुक्रवार की सुबह यहां पहुंची एसआईटी ने छापा मारा। वहां दरोगा की तलाश की लेकिन उनका पता नहीं चल सका। इस दौरान दरोगा के परिजन को पुलिस टीम साथ लेकर गई है। इस कार्रवाई को लेकर पुलिस विभाग में चर्चाओं का बाजार गर्म है लेकिन कोई अफसर बोलने को तैयार नहीं है।

फरार पुलिसकर्मियों पर डेढ़ लाख का इनाम
गोरखपुर में हुए मनीष हत्याकांड के मामले में फरार चल रहे छह पुलिसकर्मियों पर कुल डेढ़ लाख का इनाम घोषित किया गया है। सभी पर 25-25 हजार रुपये का इनाम है। एसटीएफ और पुलिस टीम फरार हत्यारोपियों की तलाश में यूपी के छह जिलों में लगातार दबिश दे रही है। फिलहाल अभी तक किसी का सुराग नहीं लगा है। गोरखपुर के रामगढ़ताल स्थित कृष्णा पैलेस होटल में 27 सितंबर की रात पुलिस की पिटाई से बर्रा तीन निवासी मनीष गुप्ता की मौत हो गई थी। वारदात के वक्त वह अपने दो अन्य मित्रों के साथ रूम नंबर 512 में थे। मामले में मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने तत्कालीन थाना प्रभारी जगत नारायण सिंह समेत छह पुलिस कर्मियों के खिलाफ  हत्या समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

मामले में दोषी पाए जाने पर सभी पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद से सभी आरोपी फरार हैं। पुलिस टीम उनकी तलाश में दबिश दे रही है। डीसीपी साउथ रवीना त्यागी ने शुक्रवार को आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह निवासी मुसाफिरखाना, अमेठी, तत्कालीन एसआई अक्षय कुमार मिश्रा निवासी नरही बलिया, एसआई विजय यादव निवासी बक्सा, जौनपुर,  एसआई राहुल दुबे निवासी कोतवाली देहात, मिर्जापुर, मुख्य आरक्षी कमलेश सिंह यादव निवासी थाना परिसर गाजीपुर, आरक्षी प्रशांत कुमार निवासी सैदपुर, गाजीपुर के खिलाफ 25-25  हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।
... और पढ़ें

बाराबंकी : दुष्कर्म के प्रयास के दौरान हत्या, पुलिस ने तहरीर ली सर्पदंश से हुई मौत

खेत की रखवाली करने गई किशोरी की दुष्कर्म के प्रयास के दौरान आरोपियों ने गला दबाकर हत्या कर दी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू की है। पुलिस पहले इस गंभीर मामले को दबाने के लिए पीड़िता के पिता से सर्पदंश की तहरीर ले ली थी और मामला रफादफा करने में जुटी थी। ऐसे में अब लापरवाह पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई भी हो सकती है।

असंद्रा थाना क्षेत्र के गांव की रहने वाली 17 वर्षीय एक किशोरी मंगलवार देर शाम खेत पर फसल की रखवाली करने गई थी। घर नहीं लौटने पर पिता ने तलाश किया तो उसका शव संदिग्ध परिस्थितियों में खेत में पड़ा मिला था। घटनास्थल के आसपास मिले निशान व किशोरी के शरीर पर चोट के निशान को देख पिता ने उसकी हत्या व दुष्कर्म करने की आशंका जताई थी। लेकिन पुलिस ने पिता को फटकार लगाते हुए सर्पदंश से मौत होने की तहरीर ले ली थी।

जब शव का पोस्टमार्टम हुआ तो रिपोर्ट में यह हकीकत सामने आई है कि किशोरी की हत्या गला दबाकर करने के साथ उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास भी हुआ है। इस पर पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध केस दर्ज कर जांच शुरू की है। प्रभारी निरीक्षक शिवाकांत त्रिपाठी ने बताया कि पहले पिता ने सर्पदंश से मौत की बात कही थी। लेकिन बाद में जांच में हत्या की बात सामने आने पर कार्रवाई की जा रही है।
 
पुलिस की कारगुजारी से लोगों में आक्रोश
किशोरी से दुष्कर्म का प्रयास व हत्या जैसे संगीन अपराध को भी पुलिस दबाने में नहीं चूकी। असंद्रा पुलिस की इस कारगुजारी से क्षेत्र में लोगों में आक्रोश व्याप्त हो चुका है। यहां के इंस्पेक्टर का भी गैर जिले के लिए तबादला हो चुका है, लेकिन इसके बाद भी उन्हें अभी तक रिलीव नहीं किया गया। ऐसे में इस मामले में अब पुलिस की लापरवाही पर किसके खिलाफ कार्रवाई होती है, इसका सभी को इंतजार है।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00