पंचायत चुनाव में जाली नोटों की खेप

ब्यूरो/ अमर उजाला बलिया Updated Wed, 30 Sep 2015 11:52 PM IST
Panchayat elections consignment of counterfeit notes
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पंचायत चुनाव में बड़े पैमाने पर जाली नोट की खेप उतारी गई है। कोतवाली क्षेत्र के छितनहरा गांव में मंगलवार की शाम जिला पंचायत के एक प्रत्याशी की ओर से पांच-पांच सौ के जाली नोट बांटे जाने के बाद इस बात को बल मिला है।
विज्ञापन


रसड़ा नगर में ही कुछ दिन पहले एक युवक नकली नोटों के साथ पकड़ा गया था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। बता दें कि उक्त गिरफ्तार युवक भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ने वाला था। लेकिन एक केले वाले की सजगता ने उसे जेल पहुंचा दिया।


छितनहरा गांव में मंगलवार की शाम वोट मांगने आए एक प्रत्याशी ने लोगों को पांच-पांच सौ रुपये के नोट बांटे। रुपये बांटने के बाद अपने पक्ष में मतदान करने की अपील की और चला गया। जब गांव के कुछ लोग बाजार गए और बांटे गए रुपयों से सामान खरीदने लगे तो दूकानदारों ने नकली बताना शुरू कर दिया।

साथ ही दूकानदारों ने कड़ी चेतावनी के साथ वापस कर दिया। नकली नोट की खबर सामने आने के बाद लोग प्रत्याशी का नाम भी बताने से कतरा रहे हैं। घटना के बाद इस बात को बल मिलने लगा है कि पंचायत चुनाव में बड़े पैमाने पर नकली नोट की खेप उतारी गई है।

 अभी दस दिन पहले भी रसड़ा बाजार से ही परसिया निवासी प्रमोद कुमार को पांच-पांच सौ के सात नोट के साथ पुलिस ने पकड़ा था। प्रमोद भी एक केले वाले की सजगता से पकड़ा गया। क्योंकि प्रमोद ने कुछ दिन पहले भी उसी केले वाले को जाली नोट दिया था।

तब से केला वाला उस पर नजर बनाए था। उधर छितनहरा गांव की घटना के बारे में कोतवाल प्रमोद कुमार मिश्रा अनभिज्ञता जाहिर कर रहे हैं। बोले कि उनके पास कोई शिकायत नहीं आई।

मामले में एसपी अनीस अहमद अंसारी का कहना है कि छितनहरा गांव में जाली नोट मिलने की जांच कराई जाएगी। मामला सही मिला तो जाली नोट के कारोबार से जुड़े लोगों के विरुद्घ सख्त कार्रवाई होगी। साथ ही संबंधित उम्मीदवार पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00