विज्ञापन

अमेठी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अमेठी: झाड़-फूक कराने गए दो सगे भाइयों की तालाब में डूबने से मौत

अमेठी कोतवाली क्षेत्र के गांव कुसीताली निवासी मोहम्मद यूसुफ के पुत्र मोहम्मद अब्बास (24) और मोहम्मद इस्लाम (17) शनिवार देर शाम अपने मौसी के लड़के हैदर (17) को लेकर अमेठी पावर हाउस स्थित मजार पर झाड़-फूंक कराने गए थे।

इसी बीच रात करीब 9:30 बजे हैदर अचानक पावर हाउस के बगल तालाब में कूद गया। हैदर को बचाने के लिए इस्लाम तालाब में कूदा और जब इस्लाम भी तालाब में डूबने लगा तो बड़ा भाई अब्बास दोनों को बचाने के लिए तालाब में कूद गया।

घटना में अब्बास और इस्लाम की तालाब में डूबने से मौत हो गई। हालांकि घटना में हैदर की जान बच गई। मौके पर स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से दोनों को बाहर निकाला गया। घटना की सूचना के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है। सूचना पर तहसीलदार पहुंचे और घटना का जायजा लिया।
... और पढ़ें

अमेठी: स्मैक का कारोबार कर रहा था मकान लेकर गांव में शरण लेने वाला युवक, सच सामने आने पर की फायरिंग

स्मैक की तस्करी व इसकी बिक्री से जुड़े एक युवक ने शनिवार को अमेठी थाना क्षेत्र के खजुरी गांव में फायरिंग की। ग्रामीणों के दौड़ाने पर आरोपी तमंचा फेंककर भाग निकला। सूचना पर पहुंची पुलिस तमंचा कब्जे में लेकर स्मैक का कारोबार करने वाले आरोपी की तलाश में जुटी है।

गौरीगंज कस्बा निवासी प्रदीप जायसवाल ने कुछ दिन पूर्व अपनी मां व भाई के साथ यह कहते हुए अमेठी के खजुरी गांव में शरण ली कि बरसात में उसका मकान गिर गया है। इस बीच लोगों को पता चला कि वह परिवार के साथ गांव में स्मैक बेंचकर युवाओं को नशेड़ी बना रहा है।

शनिवार को उसने स्मैक खरीदने पहुंचे किसी युवक से विवाद होने के बाद फायरिंग कर दी। फायरिंग की आवाज सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो युवक रोड किनारे बने कोटेदार घनश्याम तिवारी के मकान में घुस गया।

लोगों ने बाहर से दरवाजा बंद कर दिया तो वह तमंचा फेंककर पीछे के रास्ते फरार हो गया। ग्रामीणों से सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस तमंचा व मौके से मिले स्मैक को कब्जे में लेकर युवक की तलाश में जुटी है। एसएचओ श्याम सुंदर ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

अमेठी: महिला के हाथ-पैर बांधकर उसे धूप में बैठा दिया, वीडियो वायरल होने से मचा हड़कंप

सोशल मीडिया पर शनिवार को एक महिला का रस्सी से हाथ-पैर बांधकर धूप में बैठाने का वीडियो वायरल हुआ तो हड़कंप मच गया। वायरल वीडियो मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र के दादरा गांव का बताया जा रहा है। महिला के पति के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज कर पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

मिशन शक्ति कार्यक्रम में भले ही महिलाओं को सशक्त बनाने की कोशिश की जा रही हो लेकिन जिले में शुक्रवार रात से सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो पुलिस प्रशासन की सक्रियता की पोल खोल रहा है। वायरल वीडियो में एक महिला धूप में बैठी दिख रही है। रस्सी से उसके हाथ-पैर बंधे हुए हैं।

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि महिला मुसाफिर खाना थाना क्षेत्र के दादरा गांव की है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि वीडियो में बंधक बनाई गई महिला का नाम कमलेश व उसके पति का नाम शैलेश बताया जा रहा है।

सूचना अपडेट होते ही पुलिस गांव पहुंची और महिला को बंधक मुक्त कराने के बाद उसकी तहरीर पर शैलेश के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज किया है। एसएचओ परशुराम ओझा ने बताया कि शैलेष फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

Amethi: जिस पत्नी की हत्या के आरोप में जेल गया पति वो अपने प्रेमी व तीन बच्चों के साथ मिली

पत्नी की हत्या में 11 दिन की जेल व अब जमानत पर बाहर पति ने 12 साल बाद पत्नी को खोज निकाला है। आरोपी पति ने न्यायालय में सूचना देते हुए मायके में मौजूद पत्नी के जीवित होने की पुष्टि कराते हुए न्याय दिलाने की मांग की है।

जायस थाना क्षेत्र के कस्बा स्थित अलीनगर चौधराना मोहल्ला निवासी मनोज वर्मा की शादी 2009 में रायबरेली जिला के भदोखर थाना क्षेत्र के गांव कुर्मिन का पुरवा में गणेश की बहन सीमा देवी के साथ हुई थी। मनोज के अनुसार 25 मार्च 2011 को उसकी पत्नी उस समय घर से फरार हो गई जब वे लोग खेत गए थे। शाम छह बजे वापस आए तो उसका पता नहीं चला।

काफी खोजबीन के बाद नहीं मिलने पर जायस थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। कोई सुराग नहीं मिलने पर सीमा के भाई गणेश ने दीवानी न्यायालय में मनोज के साथ ही उनके पिता राम समुझ, मां लखऊ व चार बहन विद्या देवी, सीमा, मीरा व खूशबू के खिलाफ परिवाद दायर कर दिया। आरोप लगाया था कि उक्त लोगों ने दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर उसकी बहन की हत्या कर शव को नष्ट कर दिया। न्यायालय ने आरोपी मनोज को दिसंबर 2019 में जेल भेज दिया था। हालांकि पर्याप्त साक्ष्य के अभाव में 11 दिन बाद ही उसकी जमानत हो गई थी। केस चल रहा है।

मनोज ने बताया कि जब से वह जेल से छूटा तब से उसकी खोजबीन में लगा रहा। बताया कि इस बीच उसे जानकारी मिली कि उसकी पत्नी मायके आई है। मनोज दस जनवरी को भदोखर थाने जाकर वहां की पुलिस के साथ उसके घर गया तो पत्नी सीमा वहां मौजूद मिली। पूछताछ में उसने बताया कि उसने दूसरी शादी बस्ती जिले के शोभ नगर निवासी राम जगत के साथ कर ली है। उसके तीन बच्चे भी हैं। वर्तमान में वह पति राम जगत के साथ पूना में रहती है।

पुलिस की मौजूदगी में बनाए गए वीडियो के आधार पर मनोज के न्यायालय में प्रार्थना पत्र देकर पत्नी के जीवित होने और वर्तमान में मायके में होने की सूचना दी है। कहा कि उसने न्यायालय से मायके में मौजूदगी की पत्नी की तस्दीक कराकर उसके खिलाफ चल रहे हत्या के केस को समाप्त कर गलत तरीके से केस दर्ज कराने वाले के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। कहा कि न्यायालय ने उसके प्रार्थना पत्र पर सुनवाई के लिए 27 जनवरी की तिथि नियत की है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

Amethi: पुत्र व पुत्री की धारदार हथियार से हत्या कर महिला ने लगाई फांसी, घटना से हड़कंप

अमेठी जिले के शिवरतनगंज थाना क्षेत्र के कुकहा गांव में एक महिला ने अपने दो मासूम बच्चों की धारदार हथियार से हत्या कर स्वयं फांसी लगा ली। मंगलवार सुबह घटना का खुलासा हुआ तो हड़कंप मच गया। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

गांव निवासी धर्मराज पासी उर्फ धरमू लखनऊ में रहकर मजदूरी करता है। घर पर उसकी मां ननकाव पत्नी शीतला देई के अलावा चार साल की पुत्री निधि व ढाई साल का पुत्र रितेश रहते थे। सोमवार रात सभी भोजन कर सोने चले गए। सुबह जब घर का दरवाजा नहीं खुला तो सास ननका ने ग्रामीणों से गुहार लगाई। गांव वाले मौके पर पहुंचे। आवाज लगाने पर दरवाजा नहीं खुला तो ग्राम प्रधान की मौजूदगी में दरवाजा तोड़ा गया।

दरवाजा टूटते ही अंदर का दृश्य देखकर सभी लोग भयभीत हो गए। दोनों मासूमों का शव जमीन पर खून से लथपथ पड़ा था। शीतला देई (28) भी रस्सी के सहारे फंदे से लटक रही थी। दोनों बच्चों की गर्दन कटी हुई थी। शिवरतनगंज पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष शिवरतनगंज अमरेंद्र सिंह ने शव को फंदे से नीचे उतरवाया। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में ले लिया है।

महिला का पति धर्मराज उर्फ धरमू लखनऊ में प्राइवेट ड्राइवरी करता है। धरमू का दूसरा भाई आशाराम भी साथ रहता है। वह भी लखनऊ में बहुत दिनों से रहता है। बताते हैं कि धर्मराज पांच वर्ष पहले पड़ोस के रामपुर गांव से शीतला देई से प्रेम विवाह कर लाया था। घटना की सूचना मिलते ही एसपी डॉ. इलामारन जी भी मौके पर पहुंचे हैं।

एसपी डॉ. इलामारन जी का कहना है कि प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि महिला ने अपने दोनों बच्चों को मौत के घाट उतारने के बाद स्वयं फांसी लगाकर जान दी है। बावजूद इसके घटना से जुड़े हर पहलू की जांच की जा रही है। तथ्यों के  आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

Amethi News: महिला सिपाही का दरोगा ने बनाया अश्लील वीडियो, वायरल करने की धमकी देकर बनाया संबंध

हलियापुर थाने में पूर्व में तैनात रहे दरोगा नीशू तोमर पर महिला सिपाही ने अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देकर संबंध बनाने का आरोप लगाया है। पीड़ित महिला सिपाही की तहरीर पर कोतवाली नगर में केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश शुरू कर दी गई है। पीड़िता एसपी दफ्तर में तैनात है, जबकि आरोपी दरोगा अमेठी जिले के मोहनगंज थाने में तैनात है।

सुल्तानपुर के हलियापुर थाने में पूर्व में तैनात रहे दरोगा नीशू तोमर ने थाने में ही तैनात रही एक महिला आरक्षी को प्रताड़ित किया। महिला सिपाही के अनुसार दरोगा मानसिक रूप से उसे प्रताड़ित करते थे जिससे वह अवसाद ग्रस्त होकर बीमार हो गई। इस बीच दरोगा ने दवा दिया, जिसे खाकर वह अपने आवास पर चली गई। आरोप है कि दरोगा नीशू तोमर तबियत का पता करने आवास पर आए उस समय वह अचेत अवस्था में थी। दरोगा ने कमरे के अंदर पहुंचने के बाद उसकी अवस्था का लाभ उठाते हुए अश्लील फोटो खींची व वीडियो भी बनाया। जिसे बाद में वायरल करने की धमकी दी। महिला सिपाही का आरोप है कि इसके बाद ब्लैकमेल करके दरोगा ने संबंध बनाए। लोक लाज के भय के कारण उसने किसी को सूचित नहीं किया।

महिला आरक्षी के अनुसार उसका ट्रांसफर हलियापुर से सुल्तानपुर एसपी दफ्तर में हो गया जबकि दरोगा ने अपना ट्रांसफर सहारनपुर करा लिया। इसके बाद दरोगा ने उसे फोन पर धमकी दी कि फोटो वीडियो परिचित को भेज दूंगा। यही नहीं कोरोना काल के दौरान भी दरोगा उसके सुल्तानपुर स्थित आवास पर पहुंचा और दोबारा संबंध बनाया। महिला सिपाही ने आरोप लगाया कि दरोगा सीतापुर में ट्रेनिंग के लिए गया और वहां से जून 2021 में उसके आवास पर आया। दरवाजा नहीं खोलने पर दीवार फांद कर अंदर आया। मारा-पीटा और इच्छा के विरुद्ध संबंध बनाया।

इसके बाद, सहारनपुर से आरोपी दरोगा नीशू तोमर ने अपना ट्रांसफर अमेठी करा लिया। महिला सिपाही को आरोपी दरोगा ने टेक्स्ट मैसेज के जरिए गालियां दी। महिला सिपाही ने सारे साक्ष्य देकर कोतवाली नगर में केस दर्ज कराया है। सीओ सिटी राघवेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि महिला सिपाही की तहरीर पर आरोपी दरोगा नीशू तोमर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

महिला सिपाही ने पांच लाख रुपये लिया उधारः आरोपी दरोगा
आरोपी दरोगा नीशू तोमर का कहना है कि महिला सिपाही ने उनसे करीब पांच लाख रुपए लिए थे। जिसको वह वापस नहीं लौटा रही थी। करीब तीन महीने पहले कोर्ट में 156/3 के तहत महिला आरक्षी के खिलाफ तहरीर दी गई थी। इस पर उसने पेशबंदी में ऐसा कदम उठाया है।
... और पढ़ें

Amethi: मकान गिराने की धमकी देकर रिश्वत मांगने पर गिरी गाज, अमेठी में तीन महीने में चार लेखपाल हो चुके हैं निलंबित

प्रतीकात्मक तस्वीर
शासन व जिला प्रशासन की तमाम कोशिश के बावजूद लेखपाल सुधरने को तैयार नहीं है। गौरीगंज तहसील के असुरा गांव में तैनात लेखपाल ने एक ग्रामीण को मकान बंजर भूमि पर निर्मित होने पर गिराने की धमकी देते हुए रिश्वत की मांग की थी। लेखपाल की प्रताड़ना से परेशान पीड़ित ने मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की। शिकायत पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार से जांच कराई तो मामला सही मिला। जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम ने लेखपाल को निलंबित कर दिया।

असुरा गांव निवासी सत्यनारायण परिवार समेत शनिवार को जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र के पास पहुंचे थे और राजस्व लेखपाल पर गंभीर आरोप लगाए थे। पीड़ित का कहना था कि लेखपाल उसका पैतृक आवास बंजर भूमि पर होने की बात कहते हुए मकान गिराने की धमकी आए दिन देते रहते हैं।

मकान गिराने से बचाने के एवज में लेखपाल राकेश कुमार मिश्र ने 15 हजार रुपये की डिमांड की है। पीड़ित ने लगातार लेखपाल की प्रताड़ना से परेशान होकर एक हजार रुपये रिश्वत के तौर पर दे भी दिया है। संपूर्ण धनराशि न देने पर लेखपाल मकान गिराने की धमकी दे रहे हैं। पीड़ित सत्यनारायण की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने पूरे प्रकरण की जांच तहसीलदार दिग्विजय सिंह को सौपी।

जांच में तहसीलदार पीड़ित की शिकायत को सही बताते हुए अपनी रिपोर्ट एसडीएम को सौपी। रिपोर्ट मिलने के बाद के जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम राकेश कुमार ने लेखपाल को निलंबित कर दिया। गौरीगंज तहसील में पिछले तीन माह में चार लेखपाल निलंबित हो चुके है। इसके पहले हरदो में तैनात लेखपाल सुकरू राम के साथ सकरावा व जामो में तैनात एक-एक लेखपाल को निलंबित किया जा चुका है।
... और पढ़ें

अमेठी: परीक्षा केंद्र पर हाईस्कूल के छात्र की गोली मारकर हत्या, असलहा लहराते हुए भागे बदमाश

मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र के रसूलाबाद स्थित हनफी इंटर कालेज के बाहर मंगलवार सुबह हाईस्कूल के एक छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई। छात्र की हत्या करने के बाद हत्यारे असलहा लहराते हुए फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। घटना को लेकर क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र के धरौली गांव निवासी सुशील सिंह (16) पुत्र सौरभ उर्फ दिव्यांश मुसाफिरखाना के एएच इंटर कालेज में हाईस्कूल का छात्र था। उसके कालेज का सेंटर हनफी इंटर कालेज रसूलाबाद गया था।

मंगलवार सुबह सौरभ परीक्षा देने अपने साथी विशाल के साथ बाइक से रसूलाबाद पहुंचा था। वह परीक्षा केंद्र के बाहर बाइक खड़ी कर केंद्र की ओर जा ही रहा था कि अचानक पहुंचे पांच हमलावरों ने उसे रोक लिया। हमलावर युवकों ने पहले उसे जमकर पीटा फिर गोली मार दी।

घटना के बाद हमलावर असलहा लहराते हुए फरार हो गया। हमलावरों के भाग जाने के बाद मौके पर पहुंचे लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सौरभ को जिला अस्पताल पहुंचाया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

सौरभ की मौत की खबर मिलते ही उसके परिजन व गांव के लोग अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहुंचे लोगों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। कहा कि पुलिस सूचना के एक घंटे बाद मौके पर पहुंची। मौके पर पहुंचे एसपी दिनेश सिंह ने कहा कि तहरीर मिलते ही केस दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।
... और पढ़ें

अमेठी : सगे बड़े भाई को पीट पीट कर मार डाला, देवर समेत एक अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज

स्थानीय थाना क्षेत्र के मठिया गांव के पास पहले से घात लगाए बैठे एक हमलावर ने अपने सगे बड़े भाई को पीट पीट कर लहूलुहान कर दिया। लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को सीएचसी पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पत्नी की तहरीर पर देवर समेत एक अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

गौरीगज थाना के भटगवां गांव निवासी राम शंकर साहू (50) रविवार सुबह घर से जामो थाना क्षेत्र स्थित मडारीशाह मजार पर दर्शन करने के लिए अपनी मोपेड से निकले थे। वह अभी बलभद्रपुर-जनापुर मार्ग पर स्थित दिगंबरपुरी मठिया गांव के समीप पहुंचे ही थे पहले से मौजूद सगे भाई शिवशंकर उर्फ ननकऊ अपने एक साथी के साथ मिलकर उन पर लाठी डंडा से हमला कर दिया।
 
आसपास के लोग उधर दौड़े तो दोनों वहां से भाग निकले। मौके पर पहुंचे लोगों ने इसकी सूचना 112 पीआरवी कर्मियों को दी। सूचना पर पहुंचे पीआरवी कर्मी गंभीर रुप से घायल रामशंकर को स्थानीय सीएचसी ले गए जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची मृतक की पत्नी सन्तोष कुमारी ने अपने देवर शिव शंकर उर्फ ननकऊ तथा एक अज्ञात के खिलाफ पति की हत्या करने की तहरीर पुलिस को दी।
 
पुलिस ने शव का पंचनामा कराकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। एसओ जामो धीरेन्द्र कुमार यादव ने बताया कि हत्या का केस दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है। मौत के बाद परिवार में कोहराम मचा है।

साइकिल की दुकान करता था मृतक
मृतक की बहू प्रिया ने बताया कि उनकेे ससुर गांव के बाहर सड़क पर साइकिल की दुकान करते थे। वह प्रत्येक सप्ताह बृहस्पतिवार एवं रविवार को मडारी शाह बाबा की मजार पर दर्शन करने जाते थे। आज सुबह साढ़े सात बजे वह घर से दर्शन के लिए निकले थे जहां रास्ते में उनकी हत्या कर दी गई। मृतक के पुत्र प्रदीप कुमार (25) तथा देवराज (20) परिवार के भरण पोषण के लिए दिल्ली में प्राइवेट नौकरी कहते हैं। विपिन (13) तथा विकास (11) घर पर रहकर पढ़ाई कर रहे हैं।
... और पढ़ें

अमेठी: पत्नी व भाई ने मिलकर की थी राकेश की हत्या, 24 घंटे में हुआ हत्या का खुलासा

अमेठी जिले के स्थानीय थाना क्षेत्र के पूरे फल्लू पांडेय मजरे महोना पूरब गांव निवासी राकेश की हत्या पत्नी व भाई ने की थी। पुलिस ने 24 घंटे के भीतर हत्या का खुलासा करते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी व बांका बरामद कर पुलिस ने दोनों का चालान न्यायालय भेज दिया।

स्थानीय थाना क्षेत्र के पूरे फल्लू पांडेय मजरे महोना पूरब गांव निवासी राकेश कुमार पांडेय का शव गांव किनारे खेत में पाया गया था। राकेश के भाई की तहरीर पर पुलिस ने उसकी पत्नी व दूसरे भाई पर केस दर्ज करने के तत्काल बाद दोनों को हिरासत में ले लिया था।

शनिवार को घटना का खुलासा करते हुए एसओ निर्मल सिंह ने बताया कि पूछताछ के दौरान मृतक की पत्नी सावित्री पांडेय ने बताया कि उसका पति राकेश आए दिन नशा करके घर आने पर मारपीट करता था। बताया कि देवर अंकित पांडेय से उसके लंबे समय से नजदीकी संबंध थे। इस बात को लेकर भी राकेश विरोध करता था। पत्नी ने बताया कि 15 मार्च को राकेश अपने कमरे में नशे की हालत में सो रहा था। बच्चे भी बाहर थे। 

मौका पाकर उसने पति के दोनों हाथ पकड़ लिये और देवर अंकित ने बांके से गले व सर पर कई वार करके उसे मौत के घाट उतार दिया। घटना को छिपाने के लिए देवर के माध्यम से गांव में खबर फैला दी कि उनके पति कहीं गायब हो गए हैं। रात में मौका पाकर देवर के साथ मिल कर शव को खेत में फेंक दिया था। एसओ ने बताया कि आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त बांका व कुल्हाड़ी बरामद कर दोनों का चालान न्यायालय भेज दिया है।
... और पढ़ें

अमेठी: घर के बरामदे में सो रहे ग्राम प्रधान के सिर व सीने में मारी गोली, घटनास्थल पर ही मौत

अमेठी जिले के मुसाफिरखाना क्षेत्र के निजामुद्दीनपुर गांव में शुक्रवार को घर के बरामदे में सो रहे ग्राम प्रधान के सिर व सीने में गोली मार दी गयी जिससे ग्राम प्रधान की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। सूचना पर पहुंची पुलिस की टीम ने घटना की छानबीन शुरू की। रात में पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक ने घटना की जानकारी ली। एहतियातन गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। घटना से जहां परिजनों में कोहराम मचा है, वही गांव के लोग स्तब्ध हैं।

कोतवाली क्षेत्र के निजामुद्दीनपुर के गुरु शरण यादव ग्राम प्रधान थे। वे रोज की तरह भोजन के बाद रात में घर के बरामदे में सो रहे थे। शुक्रवार की रात लगभग 12 पहुंचे अज्ञात लोगों ने प्रधान के सिर व सीने पर गोली मार दी। गोली आवाज सुनकर प्रधान की पत्नी केवला घर से निकली तो, वे खून से लथपथ पड़े थे।

इसी समय छत पर सो रहा प्रधान का लड़का गिरेंद्र भी पहुंच गया। जब तक परिवार के लोग एकत्र हुए प्रधान गुरुशरण (59) की मौत हो चुकी थी। घटना से घर में कोहराम मच गया। घटना की सूचना कोतवाली पुलिस को दी गयी। देखते ही देखते गांव के लोग एकत्र हो गए।

सूचना पर कोतवाली पुलिस, क्षेत्राधिकारी मनोज कुमार पहुंच गए। घटना स्थल पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक व अपर पुलिस अधीक्षक ने मातहतों से जानकारी कर आवश्यक निर्देश दिए। रात में ही एहतियातन पीएसी बुलाकर गांव में तैनात कर दी गयी। घटना की तहरीर प्रधान के बड़े पुत्र सत्येंद्र ने अज्ञात के खिलाफ दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
... और पढ़ें

अमेठी : पेड़ से लटकता मिला किशोरी का शव, नाना की तहरीर पर पिता के खिलाफ हत्या का केस दर्ज 

दूसरी पत्नी लाने को लेकर शनिवार शाम पिता-पुत्री के बीच हुए विवाद के बाद रविवार सुबह किशोरी का शव गांव के बाहर यूकेलिप्टस के पेड़ से लटकता मिला। किशोरी की मां ने अपने पति पर पुत्री की हत्या करने का आरोप लगाया है। किशोरी के नाना की तहरीर पर पुलिस ने किशोरी के पिता के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

थाना क्षेत्र के गांव अजबगढ़ निवासी राम कैलाश ने करीब छह माह पूर्व पत्नी मायावती, पुत्री राधना (17), सरस्वती (10) तथा पुत्र प्रियांशु (09) को घर से भगा दिया था। इसके बाद पत्नी बच्चों को लेकर अपने मायके अलीपुर चली गई। शनिवार सुबह राम कैलाश ने पत्नी को फोनकर पुरानी बातें भुलाकर घर आने को कहा। इसके बाद शाम को मायावती बच्चों को लेकर ससुराल पहुंची।

घर में एक महिला को देखकर पुत्री राधना ने उसके बारे में पूछा तो पिता ने बताया कि यह तुम्हारी दूसरी मां हैं। इसी को लेकर पिता-पुत्री के बीच कहासुनी शुरू हो गई। कहासुनी के बाद पिता ने पुत्री की जमकर पिटाई कर दी। ग्रामीणों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। 

रविवार सुबह राधना का शव गांव के बाहर स्थित एक तालाब के समीप यूकेलिप्टस के पेड़ पर फंदे के सहारे लटकता मिला। सूचना पर पहुंचे राधना के नाना छोटेलाल ने राम कैलाश पर नतिनी की हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। तहरीर मिलते ही पुलिस ने राम कैलाश के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। किशोरी की मौत से परिवार में कोहराम मचा है। एसएचओ धीरेंद्र कुमार यादव ने बताया कि आरोपी पिता को गिरफ्तार कर पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।
... और पढ़ें
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00