विज्ञापन

हमेशा से देश में महिलाओं का सम्मान रहा है इस परंपरा को बनाए रखें : उप राष्ट्रपति

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, इलाहाबाद Updated Sun, 14 Oct 2018 01:52 AM IST
Maintain the tradition of respecting women: Vice President
ख़बर सुनें
मीटू के शोर के बीच शनिवार को भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपलआईटी) के 20 वें स्थापना दिवस पर पहुंचे उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू और सूबे के राज्यपाल राम नाईक ने पुरजोर तरीके से महिला स्वाभिमान और सम्मान को रेखांकित किया। कहा, हमेशा से देश में महिलाओं का सम्मान रहा है और महिलाओं ने भी जीवन और समाज के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ चढ़कर अपनी पैठ बनाई है। महिलाओं के सम्मान की इस परंपरा को हमें बनाए रखना होगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
‘बियांड ट्वेंटी बाई 2020’ के उद्घाटन अवसर पर उप राष्ट्रपति नायडू ने कहा हमारे देश का नाम ही भारतमाता है। गंगा, गोदावरी, यमुना, नर्मदा आदि का नामकरण भी महिलाओं के नाम पर ही है। पंचायतों में भी महिलाएं मजबूत हुई हैं, आगे भी महिलाओं का वर्चस्व और बढ़ेगा। इससे पहले उपराष्ट्रपति ने इनोवेशन एवं इन्क्यूवेशन सेंटर तथा इंडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स के शिलान्यास सहित केंद्रीयकृत सुपर कम्युटिंग फैसिलिटी (सीसीएफ) को राष्ट्र को समर्पित किया। 

सीसीएफ को राष्ट को समर्पित करने के साथ उप राष्ट्रपति ने कहा कि 1986 के दौर में जब पहली बार बैंकों में कंप्यूटर आया तो वह छात्र जीवन में रहते हुए इसके विरोध को आगे आए थे, लेकिन यही कंप्यूटर आज जीवन की आवश्यकता बन गया है। उन्होंने ट्रिपलआईटी के छात्रों का आह्वान किया कि रीफार्म, परफार्म के बाद ट्रांसफार्म (बदलाव) आएगा। 

उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि डिजिटल तकनीक के जरिए इकोनामिक ग्रोथ बढ़ाई जा सकती है। इसके लिए युवा आगे बढ़कर काम करें। कार्यक्रम में आए अतिथियों का स्वागत संस्थान के बीओजी के चेयरमैन रविकांत ने किया जबकि कार्यक्रम के बारे में जानकारी और अंत में धन्यवाद संस्थान केनिदेशक प्रो. पी नागभूषण ने किया।

उपराष्ट्रपति ने दिए ये सुझाव

-रिसर्च के लिए छात्र इंटरइंस्टीट्यूट कनेक्शन बनाएं
-एम,ड्रीम और हार्ड वर्क से हासिल करें लक्ष्य
-आपस में संपर्क के लिए करें मातृ भाषा का प्रयोग

जीवन में हमेशा आगे बढ़ने का लक्ष्य रखें : नाईक

राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि अपने देश एवं प्रदेश में महिलाएं हमेशा आगे रही हैं। उन्होंने बताया कि 2017 में 15 लाख 60 हजार विद्यार्थियों को विवि स्तर पर डिग्री प्रदान की गई, इसमें 51 फीसदी महिलाएं हैं जबकि मेडल पाने वालों में 56 फीसदी लड़कियां थी। संस्थान के छात्रों को राज्यपाल ने सफलता का मंत्र समझाते हुए कहा कि छात्र यह संकल्प लें कि उन्हें पीछे मुड़कर नहीं देखना है, हमेशा आगे बढ़ते रहना है। उन्होंने संस्थान की स्थापना में डॉ. मुरली मनोहर जोशी की भूमिका को रेखांकित किया।

तकनीक के उपयोग से लगाएं भ्रष्टाचार पर लगाम : योगी

कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने संस्थान के छात्रों से अपनी मेधा का उपयोग प्रदेश के विकास में लगाने का आह्वान किया। उन्होंने बताया कि किस प्रकार से तकनीक का उपयोग करके छात्रवृत्ति, खाद्यान्न वितरण आदि में व्याप्त भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया। उन्होंने बताया कि आईटी के उपयोग से ही पता चला कि प्रदेश में 30 लाख राशन कार्ड फेक हैं। उन्होंने बताया कि खतौनी को डिजिटलाइज करके जमीन के कब्जे के मामले सामने आए हैं, उन्होंने बताया कि इलाहाबाद में ही 150 एकड़ जमीन से अवैध कब्जा हटवाया गया।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Prayagraj

यूपीपीएससी ने जारी किया समीक्षा अधिकारी-2017 का रिजल्ट, 15342 अभ्यर्थी हुए उत्तीर्ण

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने शुक्रवार को समीक्षा अधिकारी (आरओ)/सहायक समीक्षा अधिकारी (एआरओ)-2017 की प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया।

14 दिसंबर 2018

विज्ञापन

VIDEO: कुंभ मेले में आतंकी हमले के इनपुट के बाद एटीएस सतर्क, संभाला मोर्चा

प्रयागराज में 15 जनवरी से शुरू हो रहे कुंभ मेले के लिए तैयारियां जोरों पर हैं। कुंभ में किसी भी तरह आतंकी घटना को नाकाम करने के लिए यूपी एटीएस ने भी अपनी कमर कस ली है।इस रिपोर्ट में जानिए क्या है यूपी एटीएस का कुंभ को लेकर सिक्योरिटी एक्शन प्लान।

9 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree