विज्ञापन
विज्ञापन

जातीय समीकरणों का चक्रव्यूह: वोटों का गणित साधने में छूट रहा पसीना

मुनेंद्र बाजपेयी, अमर उजाला, प्रयागराज Updated Fri, 10 May 2019 05:46 AM IST
lok sabha elections 2019: Phulpur constituency Of UP, Tough Fight Between BJP and Gathbandhan
- फोटो : अमर उजाला

लोकसभा 2019 नतीजे हर खबर विस्तार से

ख़बर सुनें
प्रथम प्रधानमंत्री पं.जवाहर लाल नेहरू के चुनाव लड़ने से चर्चित रहा फूलपुर संसदीय क्षेत्र मौजूदा समय में जातीय समीकरणों के चक्रव्यूह में उलझ गया है। यहां से बाहुबली अतीक अहमद भी सांसद रहे। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भाजपा का जनाधार बढ़ा कर यहीं से पहली बार सांसद बने। ऐसे चर्चित क्षेत्र में हर दिन सियासी समीकरण बन बिगड़ रहे हैं। सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी जहां दोनों दलों के परंपरागत वोट हासिल करने का दम भर रहे हैं।
विज्ञापन
वहीं भाजपा प्रत्याशी मोदी मैजिक और राजनीतिक अनुभव को आधार मानकर प्रचार कर रही हैं। मुद्दे हाशिए पर हैं, मौजूदा हालात भाजपा और गठबंधन प्रत्याशी में सीधी टक्कर के बने हैं। चुनावी बिसात पर प्रत्याशियों के बीच चल रहे शह मात के खेल में यहां अगड़े-पिछड़े, एससी-एसटी मतदाताओं के वोट निर्णायक होंगे। पटेल बहुल इलाके में प्रत्याशियों का जोर इस बिरादरी के वोटों का ध्रुवीकरण कराने पर है। ब्राह्मण, कायस्थ और वैश्य के साथ अन्य वर्गों को साधने का काम यहां लुप्त दिख रहा है। साफ है कि गांव के साथ शहर में मतों का विभाजन कराने वाले प्रत्याशी के पक्ष में ही परिणाम आएगा।

सबके अपने-अपने दावे : प्रचार में आगे दिख रहीं भाजपा प्रत्याशी केशरी देवी पटेल अपनी बिरादरी के साथ गांव और शहर में पार्टी के परंपरागत वोटों व अन्य वर्गों में सेंधमारी कर रही हैं, लेकिन गठबंधन की ताकत उन्हें डरा रही है। गठबंधन के प्रत्याशी पंधारी यादव को सपा-बसपा के परंपरागत वोटों के साथ मुस्लिम मतों का आसरा है। जातीय गणित में कुछ आगे, पर पार्टी में नाराजगी से मतों में बिखराव का खतरा सभी की कमजोरी बना है। कांग्रेस प्रत्याशी पंकज चंदेल अपना दल के सोने लाल पटेल को याद कर पटेल मतों के ध्रुवीकरण और पार्टी के परंपरागत वोटों के सहारे हैं। शिवपाल यादव की प्रसपा की प्रिया पाल सभी वर्ग के मतों के साथ यादव और सपा के वोटों में बिखराव की आस लगाए हैं।

केशरी को मोदी मैजिक का सहारा
जिला पंचायत अध्यक्ष रहीं केशरी को पंचायत सदस्यों और प्रधानों से नजदीकी का लाभ वोटों के ध्रुवीकरण में सीधे तौर पर मिल रहा है। पहले टिकट मिलने के कारण वह प्रचार में आगे हैं। भाजपा के लिए यह सीट साख की बात है। यहां के संवेदनशील जातीय गणित पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह नजर रख रहे हैं। केशव का जोर शहर उत्तरी तो सिद्धार्थनाथ का शहर पश्चिमी का वोट बैंक बचाए रखने पर है। इन दो विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के परंपरागत वोट खासे निर्णायक होंगे, बशर्ते वोटर घर से बाहर निकलें।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सोनेलाल के नाम पर पटेलों को रिझा रहे

विज्ञापन

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Prayagraj

ठेकेदार के बेटे का अपहरण कर भाग रहे अपहर्ता ने खुद को गोली मारी, बच्चा सकुशल बरामद

प्रयागराज के सिविल लाइंस इलाके में स्थित ब्वायज हाईस्कूल एंड कॉलेज के जिम्नास्टिक हॉल से ठेकेदार के बेटे का अपहरण कर भाग रहे अपहर्ता ने भदोही के सुरियावा इलाके में मुठभेड़ के बाद खुद को गोली मार ली।

22 मई 2019

विज्ञापन

जानिए क्या रहेगा इन स्टार्स का राजनीतिक भविष्य

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों में महज कुछ ही घंटे बचे हैं। हमेशा की तरह इस बार भी बॉलीवुड सेलिब्रिटीज चुनावी मैदान में उतारे हैं। इस लिस्ट में हेमा मालिनी से लेकर सनी देओल का नाम शामिल हैं।

22 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election