रीता बहुगुणा जोशी के घर 20 कांग्रेसियों ने थामा भाजपा का दामन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, प्रयागराज Published by: विनोद सिंह Updated Tue, 02 Apr 2019 02:29 AM IST
Reeta
Reeta - फोटो : प्रयागराज
विज्ञापन
ख़बर सुनें
सूबे की कैबिनेट मंत्री एवं इलाहाबाद ससंदीय सीट से भाजपा की उम्मीदवार डा. रीता बहुगुणा जोशी के घर सोमवार की शाम 20 कांग्रेसी पदाधिकारियों ने भाजपा का दामन थाम लिया। कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, नीलकंठ तिवारी और मेयर अभिलाषा गुप्ता की मौजूदगी में जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष संत प्रसाद पांडेय और प्रवक्ता अवधेश त्रिपाठी समेत 20 पदाधिकारियों को नगर अध्यक्ष अवधेश चंद्र गुप्ता ने कमलपट्टी और भगवा टोपी पहनाई।
विज्ञापन


रीता जोशी को भाजपा प्रत्याशी बनाए जाने के बाद ही इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि तमाम कांग्रेसी भाजपा में शामिल हो सकते हैं। सोमवार की शाम ऐसा हुआ भी। दिन भर चुनाव प्रचार करने के बाद शाम को रीता जोशी मिंटो रोड स्थित अपने आवास पर पहुंची। उनके साथ योगी कैबिनेट के दो मंत्री एवं स्थानीय पदाधिकारी भी पहुंचे। इसके बाद कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष संत प्रसाद पांडेय समेत 20 पदाधिकारियों ने भाजपा ज्वाइन कर ली। ज्वाइन करने वालों में महामंत्री कमलेश मिश्रा, ब्लॉक अध्यक्ष कौंधियारा अरुण तिवारी, उपाध्यक्ष अनिल उपाध्याय,  महामंत्री धर्मराज पांडेय, घनश्याम नारायण त्रिपाठी, उपाध्यक्ष शहर कांग्रेस जयशंकर मिश्र, मदन सिंह, महामंत्री सुरेंद्र त्रिपाठी, मनोज शुक्ला, राजाराम पांडेय, कमलेश त्रिपाठी, धर्मनारायण मिश्र, कन्हैया लाल कोल, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष मेजा रामपति पटेल,  नितिन केसरवानी, संजीव शुक्ला, विमल मेहरोत्रा और शंकर लाल निषाद रहे। इस मौके पर यमुनापार अध्यक्ष शिवदत्त पटेल, दिनेश तिवारी, अभिषेक शुक्ला, मानस शर्मा आदि मौजूद रहे। 


भाजपा प्रत्याशी प्रो. रीता बहुगुणा जोशी को लेकर कांग्रेस में भगदड़ का माहौल बन गया है। सोमवार को जिलाध्यक्ष अनिल द्विवेदी पर उदासीनता का आरोप लगाते हुए 20 पदाधिकारियों ने पार्टी छोड़ दी। अभी और भी कांग्रेस पदाधिकारियों के भाजपा में जाने के संकेत मिले हैं। उधर, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष में दल बदल पर अंकुश लगाने के लिए कड़ा कदम उठाते हुए भाजपा का दामन थामने वाले पदाधिकारियों को देर शाम प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया। घटनाक्रम से प्रदेश नेतृत्व को अवगत करा दिया गया है। साथ ही निष्ठावान पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को ऐसे तत्वों से सजग रहने के लिए चेताया गया है। 

इलाहाबाद संसदीय सीट पर टिकट वितरण से पहले ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने वाले कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष व प्रवक्ता अवधेश त्रिपाठी, जिला उपाध्यक्ष संत प्रसाद पांडेय, महामंत्री कमलेश मिश्रा, कन्हैया लाल कोल, जयशंकर मिश्रा समेत 20 पदाधिकारियों की प्राथमिक सदस्यता निरस्त कर दी गई। जिलाध्यक्ष अनिल द्विवेदी ने बताया कि इन नेताओं की निष्ठा पहले से ही संदिग्ध भनी हुई थी। इसलिए इनको सूचीबद्ध कर लिया गया था। भाजपा में शामिल होने के बाद अवधेश त्रिपाठी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता संगठन के प्रति हमेशा उदासीन रहे हैं। वहां कार्यकर्ताओं को तरजीह नहीं दी जाती। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00