बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

‘विधायक बस्ती में आएं तो जूता मारकर भगा देना’

Aligarh Bureau अलीगढ़ ब्यूरो
Updated Thu, 01 Oct 2020 01:15 AM IST
विज्ञापन
धरना को सम्बोधित करते पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्लाह खान ।
धरना को सम्बोधित करते पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्लाह खान । - फोटो : CITY OFFICE

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
हाथरस जिले के चंदपा की बिटिया की हत्या से आक्रोशित अनुसूचित जाति के युवकों ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में नगर निगम के सेवा भवन के सामने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंक दिया। युवकों का गुस्सा देखकर पुलिस उनको रोकने की हिम्मत तक नहीं जुटा सकी। वहीं, पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्ला खां ने हाथरस के जिलाधिकारी के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल कर माहौल गरम कर दिया। कांग्रेस नेता राजेश राज जीवन ने कहा कि विधायक आपकी बस्ती में आएं तो उनको जूते मार कर भगा देना।
विज्ञापन

चंदपा की अनुसूचित जाति की बिटिया की हत्या के आरोपियों को फांसी के फंदे तक पहुंचाने एवं परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए नगर सफाई मजदूर संघ की ओर से नगर निगम सेवा भवन के सामने धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया। इसमें कांग्रेस, सपा एवं भाजपा से लेकर अन्य दलों के लोग शामिल हुए। इस मौके पर पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्ला खां ने हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किया। भाजपा पर निशाना साधते हुए पूर्व विधायक ने कहा कि ये लोग न हिंदुओं के हैं और न ही मुसलमानों के। उन्होंने कहा कि जब हमारी बहू बेटियां सुरक्षित नहीं है तो किसी की नहीं है। उन्होंने कहा कि आज हिंदुस्तान में सिर्फ वाल्मीकि समाज के पास लड़ाई का दम है। बाकी सब ठंडे पड़ गए हैं।

कांग्रेस नेता राजेश राज जीवन ने पूछा कि क्या यही रामराज है। मनुवादियों ने रामराज में हमारी बहन-बेटियों का अपमान किया था। उन्होंने कहा कि आज वाल्मीकि समाज राक्षस को मारने की लड़ाई लड़ रही है। समाज के लोगों का आह्वान किया कि अगर विधायक आपकी बस्ती में आएं तो जूता मार कर भगा देना। गौरतलब हो कि अलीगढ़ में सभी विधायक भाजपा के हैं।
कांग्रेस नेता श्योराज जीवन ने भाजपा की तरफ इशारा करते हुए कहा कि ये मनुवादी लोग पापी और पाखंडी हैं। ये लोग दलितों से नफरत करते हैं। अचलताल पर वाल्मीकि मंदिर नहीं बनने देना चाहते थे। बेटी के दरिंदों को जब तक फांसी के फंदे पर नहीं चढ़ा देते, तब तक चैन से नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि मुसलमानों पर बहुत जुल्म हुआ है। एएमयूकैंपस में प्रवेश कर पुलिसकर्मियों ने छात्रों को मारा-पीटा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में दम हैं तो एक लाठी मारकर दिखाओ। किसी पुलिसवाले को भागने नहीं देंगे।
इसके बाद सेवा भवन के मुख्य गेट के पास खड़े युवक अचानक मुख्यमंत्री का पुतला लेकर आ गए और आग लगा दी। पुलिसकर्मी युवकों की तरफ लपके लेकिन पांच से छह फूट की दूरी पर आकर ठिठक गए। मुख्यमंत्री का पुतला धू-धू कर जलता रहा और पुलिसकर्मी देखते रहे। जिस समय मुख्यमंत्री का पुतला फूंका जा रहा था, उस समय वहां पर अनुसूचित जाति के कुछ भाजपा के नेता भी मौजूद थे। सभा के दौरान सेवा भवन के सामने एक तरफ का यातायात भी बाधित रहा। इस मौके पर प्रदीप भंडारी, राधे धूरी, आनंद शास्त्री, मानिक लाल नागर, तरुण चौहान, जयमेश वाल्मीकि, राजकुमार, सपा नेता अज्जू इशहाक आदि मौजूद थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us