'My Result Plus

यहां कॉलेज विद्यार्थियों को पढ़ाया जा रहा जातिवाद का पाठ, पाठ्यक्रम पर सवाल

राकेश भारद्वाज, अमर उजाना, धर्मशाला Updated Mon, 08 Jan 2018 02:29 PM IST
lessons of racism being taught to college students in himachal
ख़बर सुनें
प्रदेश के कॉलेजों के छठे सेमेस्टर में अंग्रेजी विषय के पाठ्यक्रम पर सवाल खड़े हो गए हैं। मामला रूसा के पाठ्यक्रम में एक उपन्यास की अनुवादित पुस्तक से जुड़ा है। इसमें जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। 
कक्षाओं में पढ़ाते समय असहज महसूस कर रहे प्राध्यापक इस मामले को धर्मगुरु दलाईलामा के समक्ष उठा चुके हैं। छात्र संगठनों ने भी उपन्यास की अनुवादित पुस्तक की भाषा को जातीय भावना जगाने से प्रेरित बताकर सिलेबस से हटाने की मांग की है।

रूसा पाठ्यक्रम में अंग्रेजी विषय के छठे सेमेस्टर में आजादी से पूर्व ओमप्रकाश वाल्मीकि के लिखे जूठन उपन्यास के अनुवादित अंश शामिल किए गए हैं। इसमें सवर्ण और पिछड़ी जातियों का संबोधन प्रतिबंधित शब्दों में किया गया है। 

छठे सेमेस्टर में इसकी डिटेल स्टडी करवाई जाती है, जबकि परीक्षा में इससे 40 अंकों के प्रश्न भी पूछे जाते हैं। कुछ प्राध्यापकों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पाठ्यक्रम के आपत्तिजनक अंश हटाने की मांग को लेकर वे धर्मगुरु दलाईलामा से भी मिल चुके हैं। 

 
आगे पढ़ें

मामले की होगी जांच : डॉ. अमर देव

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

NH 24 पर बड़ा हादसा, कार में बैठे बच्चे की एक छोटी सी गलती ने सेकेंडों में ले ली 7 लोगों की जान

इस हादसे में तीन मासूम व दूल्हे के पिता समेत सात लोगों की मौत हो गई।

21 अप्रैल 2018

Related Videos

हिमाचल के रोहड़ू में भीषण अग्निकांड, 40 घर राख

घर में होनेवाला छोटा सा शॉर्ट सर्किट आग के कितने बड़े बवंडर में तबदील हो सकता है ये देखने को मिला हिमाचल प्रदेश के रोहड़ू में। रोहड़ू में आग का ऐसा प्रलय आया कि 40 मकान चंद मिनटों में जलकर राख हो गए।

19 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen